सोमवार, 30 मार्च 2020

मेडीकल स्टोर पर ‘‘मास्क व सेनेटाईजर उपलब्ध हैं अथवा नहीं की सूचना लगानी होगी

* करणीदानसिंह राजपूत *

सभी मेडीकल स्टोर संचालको को आदेशित किया गया है कि वह अपने स्टोर पर भारत  सरकार द्वारा निर्धारित दर मास्क 2 प्लाई रूपयें 8 प्रतिनग, 3 प्लाई रूपयें 16 प्रतिनग अनुसार विक्रय करेगें। 

इसी प्रकार हैण्ड सेनेटाईजर निर्धारित दर 200 एमएल 100 रूपयें प्रतिनग व 100 एमएल 50 रूपयें प्रतिनग अनुसार ही विक्रय करेगें।

 उक्त दरें अधिकतम भारत सरकार द्वारा निर्धारित की हुई हैं, अतः इसी दर पर विक्रय किया जावेगा। 

जिन मेडीकल स्टोर के पास उक्त दरों से अधिक एम.आर.पी. का हैण्ड सेनेटाईजर यदि स्टाॅक में उपलब्ध हैं तो वह उसका विक्रय काउण्टर पर केन्द्र अथवा राज्य सरकार के आगामी आदेश से पूर्व नहीं करेगें।

यदि कोई शिकायत किसी मेडीकल स्टोर संचालक के विरूद्ध प्राप्त होती हैं तो उसके विरूद्व ठोस कार्यवाही हेतु अनुशंषा की जावेगी। 

 सभी मेडीकल स्टोर संचालक मास्क व हैण्ड सेनेटाईजर के लिये अनावश्यक भीड़ इकठ्ठा नहीं हो इसके दृष्टिगत अपने मेडीकल स्टोर पर ‘‘मास्क व सेनेटाईजर उपलब्ध हैं अथवा नहीं‘‘ इसकी सूचना लिखित में चस्पा करेगें।  

****



मंडल रेल प्रबंधक श्री संजय कुमार श्रीवास्तव का बीकानेर से सूरतगढ़ तक दौरा- कोरोना वायरस बाबत

* करणीदानसिंह राजपूत *

श्रीगंगानगर, 30 मार्च 2020.

मंडल रेल प्रबंधक श्री संजय कुमार श्रीवास्तव ने बीकानेर से सूरतगढ़ तक दौरा किया। 

 इस दौरे का उद्देश्य  कोविड-19 पर लोकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं की पूर्ति हेतु कार्ररत रेल कर्मचारियों से उनके कार्यस्थल पर आ रही समस्याओं की जानकारी लेना और उनका हौंसला अफजाई करना था। मंडल रेल प्रबंधक ने करोना  वायरस के फैलाव के संबंध में कर्मचारियों को सचेत किया। इस अवसर पर उन्होंने ट्रैफिक स्टाफ, अभियांत्रिक विभाग के कर्मचारियों, गैंगमैन,  की-मैन, सहायक लोको पायलट से इंट्रक्शन किया। 

 उन्होने कहा कि ऐसे मुश्किल समय में उन सभी के द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा कर उन्हें प्रोत्साहित किया। मंडल रेल प्रबंधक ने इस अवसर पर इन रेल कर्मचारियों को मास्क औरसैनिटाइजर भी बांटे। 

-----------




ईओ लालचंद सांखला की 31 को सेवानिवृत्ति- सुमित माथुर ईओ पद संभालेंगे.

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 30 मार्च 2020.

राजस्थान स्वायत शासन विभाग निदेशालय के आदेशानुसार  1 अप्रैल से सुमित माथुर नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी का कार्य भी करेंगे। सुमित माथुर अभी कनिष्ठ अभियंता हैं जो ईओ का अतिरिक्त कार्य करेंगे।

नगर पालिका सूरतगढ़ सूरतगढ़ के अधिशासी अधिकारी लालचंद सांखला  31 मार्च को सेवानिवृत्त होंगे। 

पालिका कार्यों में प्रसिद्ध रहे लालचंद सांखला सूरतगढ़ के निवासी हैं। भादू कटला 13 दिसंबर 2019 को सीज कर सील मोहर करने के कारण अधिक नाम हुआ। 

नगरपालिका में एओ पद पर ईओ का अतिरिक्त कार्य करते रहे।00






रविवार, 29 मार्च 2020

श्रीगंगानगर जिले की सीमाएं पूरी तरह सील रहेगी-महत्वपूर्ण खबरें

*श्रमिकों का पलायन न हो, इसके लिए सुविधाएं दी जाएगी*

श्रीगंगानगर, 29 मार्च 2020.

जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण एवं बाचव को लेकर गृह मंत्रालय के निर्देशानुसार जिले की अन्तर्राज्यीय  एवं राज्य के अन्य जिलों की सीमाए पूरी तरह से सील रहेगी।

जिले का कोई भी नागरिक बाहर नही जा सकेगा और न ही बाहरी नागरिक को जिले में आने दिया जाएगा। 

जिला कलक्टर ने रविवार को जिले के एसडीएम के साथ वीसी एवं चिकित्सा विभाग के ब्लाॅक सीएमएचओ के साथ आयोजित बैठक में आवश्यक निर्देश दिए।

 उन्होने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार के निर्देश है कि जो नागरिक जहान है, वहीं रहे, गरीब व जरूरतमंद को रहने व भोजन इत्यादि की आवश्यकता हो तो, इसकी व्यवस्थाएं करवाई जाएगी। 

उन्होंने कहा कि श्रमिकों, कार्मिकों का पलायन लाॅकडाउन के निर्देशों का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि विश्वव्यापी महामारी से निपटने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है। ब्लाॅक स्तर पर व जिला स्तर पर क्वारटाइन सेंटर पूरी तरह से तैयार रखे जाएं तथा जो भी संदिग्ध है, उन्हे कम से कम 14 दिन का क्वारटाइन किया जाए। 

जिला सहित ब्लाॅक पर भी किराणा की मोबाईल वैन सेवा शुरू

जिला कलक्टर ने बताया कि जिला मुख्यालय तथा खण्ड स्तर पर भी मोबाईल वैन से किराणा आमजन को उपलब्ध करवाया जा रहा है। समस्त एसडीएम को निर्देश दिए गए है कि आवश्यकता के अनुसार मोबाईल वैन संख्या बढा दी जाए। विभिन्न मोबाईल नम्बर पर भी अपनी आवश्यकताएं बताई जा सकती है, उसी के अनुरूप अनावश्यक भीड न हो, आसानी से राशन सुविधा मिल सकेगी। 

+किराणा व आवश्यक खद्य वाले वाहन नही रोके जाएंगे+

जिला कलक्टर ने कहा कि आमजन को घर बैठे ही किराणा, दूध, फल सब्जियां मिलती रहे, इसके लिए इस कार्य में लगे वाहनों को नही रोका जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र के छोटे दुकानदार जो नजदीक के शहर से किराणा का सामान क्रय करते है, ऐसे गुड्स के वाहनों को भी नही रोका जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र में पशु पालकों  को पशु व पक्षियों के फीड के वाहनों को भी नही रोका जाएगा। 

+बाहर से आने वाले हर नागरिक की स्क्रीनिंग जरूरी+

जिला कलक्टर ने चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए है कि जिले में जो नागरिक आए है, उनकी स्क्रीनिंग जरूरी है तथा नये चिकित्सकों को कोविड-19 का प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय की परिस्थितियों को देखते हुए जहां-जहां आईसोलेशन सेंटर बनाए गए है, उस क्षेत्र के निजी चिकित्सालयों के चिकित्सकों व पैरामेडिकल स्टाॅफ की सूचियां तैयार रखी जाए। कटेगरी ए  और बी के जो नागरिक हैं उनकी स्क्रीनिंग की जाए। 

चिकित्सालयों को सेनेटाइज करे, स्टाॅफ अपनी सुरक्षा का ध्यान रखे

जिला कलक्टर ने कहा कि चिकित्सा विभाग के किसी कार्मिक को अवकाश नही दिया जाएगा। स्टाॅफ अपनी सुरक्षा का विशेष ध्यान रखे तथा डब्ल्यूएचओ के प्रोटोकाॅल की पालना की जाए। जिला कलक्टर ने चिकित्सा संस्थानों को सेनेटाइज करने के निर्देश दिए। ब्लाॅक स्तर पर 150-150 लीटर सोडियम हाईपोक्लोराइड तथा 1000-1000 हैण्ड सेनेटाइजार तथा मास्क उपलब्ध करवाए गए है। उन्होंने कहा कि जो स्टाॅफ सर्वे में व नाकों पर है, वहां पर हैण्ड सेनेटाइजर अवश्य रखे। सीमा के नाकों पर लगाए गए दल के अलावा 5-5 अतिरिक्त टीमें  तैयार रखी जाए। 


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 गिरधारी लाल ने बताया कि अब तक 30 नमूने लिए गए थे, उनमें 27 की रिपोर्ट नेगेटिव है तथा 3 की रिपोर्ट आनी शेष है तथा 10 अन्य रोगियों के नमूने आज भेजे गए है।

इस अवसर पर भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री मोहम्मद जुनैद, न्यास सचिव डाॅ0 हरीतिमा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 गिरधारी लाल, डाॅ0 करण, डाॅ0 पवन सैनी, डाॅ0 मुकेश मेहता सहित जिले के ब्लाॅक सीएमएचओ उपस्थित थे। 

---------





श्रीगंगानगर- कोरोना वायरस संक्रमण एवं बचाव मास्क का उपयोग एवं निस्तारण की जानकारी जरूरी

 श्रीगंगागनर, 29 मार्च 2020.

विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा संयुक्त राष्ट्र द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण को पेंडेमिक घोषित करने के पश्चात भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर इस बीमारी के संक्रमण से बचाव के लिए विभिन्न दिशा निर्देश जारी किए गए है। आमजन एवं अन्य प्रवर्तक एजेंसियों में मेडिकल मास्क के उपयोग एवं निस्तारण बाबत, कुछ भ्रान्तिया है, जिस पर ध्यान दिया जाना जरूरी है। 

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने बताया कि केन्द्र एवं राज्य सरकार एवं चिकित्सा विभाग के निर्देशों के अनुसार किस नागरिक को मास्क का उपयोग करना चाहिए तथा किन नागकिरों का बिना मास्क काम चल सकता है, कि जानकाारी होना जरूरी है। कई स्थानों पर पुलिस कार्मिको द्वारा आमजन को एवं निजी संस्थाओें द्वारा अपने कार्मिको को मास्क लगाने के लिए कहा जा रहा है। 

उन्होने बताया कि सामान्य रूप से आमजन में यह भ्रम है यदि मास्क का घर या घर के बाहर उपयोग कर रहे है, तो वह सुरक्षित है। इस भ्रम के कारण बाजार में मास्क की कृत्रिम कमी होने की आशंका के साथ ही आमजन में मास्क के उपयोग एवं समुचित निस्तारण की जानकारी भी आवश्यक है। इस संबंध में चिकित्सा विभाग द्वारा मेडिकल मास्क के उपयोग एवं निस्तारण के संबंध में एडवाइजरी जारी की गई है। 

एडवाइजरी के अनुसार स्वस्थ व्यक्तियों जिनमें संक्रमण के कोई लक्षण नही है, उन्हे मास्क की आवश्यकता नही है। मास्क का प्रयोग इन व्यक्तियों में सुरक्षा की झूठी भावना को पैदा कर सकता है, जिससे व्यक्ति सुरक्षा के अन्य आवश्यक उपायो की उपेक्षा कर सकते है, जैसे हाथ धोना, सामाजिक दूरी बनाए रखना आदि। 

मेडिकल मास्क का कब व किसे उपयोग करना है

चिकित्सा कर्मियों के अलावा कफ, खांसी या बुखार होने पर, चिकित्सक को दिखाने जाने पर, किसी बीमार, संक्रमित, संदिग्ध व्यक्ति की देखभाल करने पर, संदिग्ध, संक्रमित व्यक्तियों के परिवारजन को मास्क का उपयोग करना चाहिए। 

मेडिकल मास्क का उपयोग किस प्रकार करे

एक बार में मास्क अधिकतम 6 घण्टे तक उपयोग किया जाए। पहने हुए मेडिकल मास्क को बार-बार न छूए, यदि इस दौरान मास्क गीला हो जाए तो उसके तत्काल बदला जाए, मास्क को गर्दन में लटका कर न रखे तथा मास्क को हटाते समय मास्क की बाहरी सतह को न छूए। मास्क को हटाते समय पहले उसकी नीचे वाली डोरी खोले, उसके बाद उपर वाली डोरी खाली जाए। उपयोग किये गये मास्क का दुबारा उपयोग न किया जाए। 

मास्क का निस्तारण

मेडिकल मास्क के उपयोग करने के पश्चात निस्तारण के लिए मास्क को वीसंक्रमित करने के लिए 5 प्रतिशत ब्लीच सोलुशन या एक प्रतिशत हाईपोक्लोराइड सोलुशन करने के पश्चात जलाकर या जमीन में गहरा दबाकर नष्ट करे या स्थानीय निकाय के कचरा संग्रहण वाहन के पीले रंग के बैग में डाले। 

----------

शनिवार, 28 मार्च 2020

श्रीगंगानगर- चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाॅफ की भी स्क्रीनिंग हो-कोरोना वायरस संक्रमण एवं बचाव


श्रीगंगानगर, 28 मार्च 2020.
जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने कहा कि खतरनाक वायरस कोरोना का जांच नमूना व उपचार करने वाले चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाॅफ स्वयं का पूरा ध्यान रखे तथा प्रोटोकाॅल के अनुसार जांच नमूने लिए जाए। जांच नमूने बहुत ही सुरक्षित स्थान पर लिए जाए। 
जिला कलक्टर शनिवार को कलैक्ट्रेट में माननीय मुख्यमंत्री की वीसी के पश्चात अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे। उन्होने कहा कि आमजन का उपचार व सुरक्षा के साथ-साथ चिकित्सा कार्मिकों की सुरक्षा भी बहुत जरूरी है, जो चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाॅफ सेवाओं में लगे है, उनकी भी स्क्रीनिंग समय-समय पर की जाए। 
 उन्होने कहा कि ग्राम स्तर तक के चिकित्सा कार्मिको को सतर्क किया जाए कि उनके गांव क्षेत्र में कोई रोगी नजर आए तो पास के सीएससी में जांच अवश्य करवाए। 

कोरोना-मास्क एवं सेनेटाइजर तलासी व जब्ती अधिकारी लगाए

श्रीगंगानगर, 28 मार्च2020.

 जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने बताया कि आपदा राहत एवं प्रबन्धन के तहत राज्य सरकार द्वारा मास्क एवं सेनेटाइजर की कीमतों पर नियंत्रण के लिए तलासी व जब्ती के लिए कई अधिकारियों को अधिकृत किया गया है। 

राज्य सरकार के निर्देशानुससार मास्क एवं सेनेटाइजर की कीमतों पर नियंत्राण के लिए विभाग द्वारा आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत अधिसूचना जारी कर प्रवेश, तलासी एवं जब्ती के लिए प्रवर्तक निरीक्षक, विधिक माप विज्ञान अधिकारी, औषधि नियंत्रक, चिकित्सा अधिकारी, अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट, एसडीएम तथा तहसीलदार को अधिकृत किया गया है।

------------


श्रीगंगानगर जिला- 14 इंसीडेन्ट कमाण्डर्स लगाए-कोरोना वायरस संक्रमण एवं बचाव*


* करणीदानसिंह राजपूत*

श्रीगंगानगर, 28 मार्च 2020.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने कोरोना वायरस संक्रमण एवं बचाव के लिए जिले में 14 अधिकारियों को इन्सीडेन्ट कमाण्डर नियुक्त किया है, जो अपने अधिकारित क्षेत्र में कोरोना वायारस रोकथाम उपायों की सम्पूर्ण क्रियान्विति के लिए उत्तरदायित्व होंगे। अन्य सभी लाईन विभागों के अधिकारी इंसीडेन्ट कमाण्डर्स के अधीन कार्य करेंगे। 

जिला कलक्टर ने बताया कि समस्त श्रीगंगानगर जिले के लिए एडीएम प्रशासन डाॅ0 गुंजन सोनी, एडीएम सतर्कता श्री अरविन्द जाखड, न्यास सचिव डाॅ0 हरीतिमा कार्य देखेंगे। इसी प्रकार उपखण्ड सूरतगढ के लिए एडीएम सूरतगढ श्री अशोक कुमार मीणा, एसडीएम क्षेत्र गंगानगर के लिए श्री मुहम्मद जुनैद व एसडीएम श्री उम्मेद सिंह रतनू, सादुलहर के लिए एसडीएम सादुलशहर, करणपुर, पदमपुर, रायसिंहनगर, विजयनगर, अनूपगढ तथा उपखण्ड क्षेत्र घडसाना के लिए संबंधित एसडीएम इंसीडेन्ट कमाण्डर बनाये गये है। 

लगाए गए इंसीडेन्ट कमाण्डर अस्पताल के बुनियादी ढांचे में विस्तार, संसाधनों, चुनाव कार्यो के लिए लगाए गए बीएलओ से भी सूचना संकलन का काम लिया जाएगा। इंसीडेन्ट कमाण्डर की निगरानी में विभिन्न श्रेणियों के स्टाॅफ के पास जारी किये जाएंगे। ( पीआरओ)

-----------

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से बचाने के लिये रेलवे के विशेष प्रयास

*आवश्यक सेवाओं से जुडे रेलकर्मियों के स्वास्थ्य के लिये विशेष कदम*

* करणीदानसिंह राजपूत*


श्रीगंगानगर, 28 मार्च 2020.

रेलवे ने देश म­ कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को देखते हुये सभी यात्राी रेलसेवाओं के संचालन का संचालन बंद कर दिया गया है। देश के विभिन्न भागो म­ आवश्यक सामग्री की आपूर्ति के लिये मालगाडियों का संचालन जारी है, जिसके संचालन के लिये रेलवे के कर्मचारी पूर्ण निष्ठा के साथ अपनी ड्यूटी कर रहे है। आवश्यक सेवाओं से जुडे रेलकर्मियों के स्वास्थ्य को ध्यान म­ रखते हुये अनेक कदम उठाये है।

उत्तर पश्चिम रेलवे के जनसम्पर्क अधिकारी ने बताया कि सभी कू्र च­जिग पोइण्टस पर लोको (इंजन) को सैनिटाइज किये जा रहे है, इसके साथ ही स्टेबल किये गये लोको भी सैनिटाइज करके रखे गये है। यह कार्य लोको पायलेटस की देख-रेख म­ किया जा रहा है। रनिंग रूम म­ वर्तमान म­ आक्यूपंेसी कम है, इसको ध्यान म­ रखकर सबको अलग-अलग कमर­ आंवटित किये जा रहे है, ताकि सोशल डिस्ट­स का ध्यान भी रखा जा सकें। इसके साथ ही रनिंग रूम के परिसर व किचन म­ हाइपो सोल्यूशन से नियमित मोपिंग की जा रही है। नियमित अंतराल पर कमरों, डोर हैण्डल, रैलिंग, टेबल व कुर्सियों इत्यादि को भी हाइपो सोल्यूशन से सैनिटाइज किया जा रहा है।

उन्होने बताया कि रनिंग रूम म­ सोशल डिस्ट­सिंग का ध्यान रखते हुये लोको पायलेटस को खाना सर्व भी क्रमवार तरीके से किया जा रहा है। लाॅबी म­ सैनिटाइजर, साबुन की पर्याप्त उपलब्धता है, जिससे सभी सफाई का उचित ध्यान रख रहे है। इसके साथ ही डिस्ट­सिंग को ध्यान म­ रखते हुये रस्सी के माध्यम से दूरी बनी रहे, इसका ध्यान रखा जा रहा है। रेलवे द्वारा इन हाउस यूज के लिये मास्क तथा सैनिटाइजर बनाये गये है, जो रेल संचालन से जुडे कर्मचारियों तथा इंजीनियरिंग विभाग म­ कार्यरत कर्मचारियों को प्रदान किये गये है। उत्तर पश्चिम रेलवे द्वारा निरंतर सेवा प्रदान करने वाले रेलकर्मियों के लिये 4200 से अधिक मास्क, 700 लीटर से ज्यादा सैनिटाइजर  तथा इसके साथ ही एप्राॅन, कैप  इत्यादि तैयार किये गये है। रेलवे का प्रयास है कि देश म­ आवश्यक सामग्री की आपूर्ति निर्बाध रूप से की जाये, इसके साथ ही इन परिस्थितियों म­ कार्य कर रहे अपने रेलकर्मियों के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा जाये इसके लिये पर्याप्त और उचित व्यवस्थाएं की जा रही है। ( पीआरओ)


श्रीगंगानगर-कोरोना वायरस- किराणा-खाद्य सामग्री की समस्या के लिए रसद विभाग से सम्पर्क करे

* करणीदानसिंह राजपूत*

*कार्यालय दूरभाष नम्बर 0154-2445006 पर बताए समस्या*


श्रीगंगानगर, 28 मार्च 2020.

 कोरोना वायरस संक्रमण एवं बचाव के दौरान जिले में धारा 144 प्रभावी होने के कारण किराणा सामान एवं राशन परिवहन से संबंधित समस्या के संबध में जिला रसद विभाग श्रीगंगानगर के दूरभाष नम्बर 0154-2445006 पर सम्पर्क किया जा सकता है। जिला रसद अधिकारी श्री राकेश सोनी ने बताया कि कार्यालय समय में प्रातः 9 बजे से

 लेकर सायं तक सेवाए जारी रहेगी।,(पीआरओ)

शुक्रवार, 27 मार्च 2020

सूरतगढ़:एडीएम अशोक कुमार मीणा आए.सूरतगढ़ में 28 मार्च से कार्य प्रारंभ


* करणीदानसिंह राजपूत *
सूरतगढ़ 27 मार्च 2020.
श्री अशोक कुमार मीणा एडीएम यहां आ गए हैं। आज जिला कलेक्टर से मिलेंगे और वहीं अपनी जोईनिंग रिपोर्ट देकर विभिन्न बातचीत जानकारी करेंगे। यहां  सूरतगढ़ में 28 मार्च से कार्य शुरू होगा।
वे यहां खाली पड़े एडीएम पोस्ट पर आए हैं।
अशोक कुमार मीणा श्री गंगा नगर जिले के सादुलशहर में एसडीएम पद पर 1 मार्च 2014 से 15 मई  2015 तक रहे थे। अब सूरतगढ़ में एडीएम पद पर नियुक्ति हुई है। सूरतगढ़ का एडीएम पद 1 साल 7 माह तक खाली रहा है।
श्री चांदमल वर्मा के  24 -7-2018 को जाने के बाद से पद रिक्त रहा।
इस पद के कार्य क्षेत्र में सूरतगढ़, श्री बिजयनगर, अनूपगढ़, घड़साना और रावला तहसीलों का काम है। अनूपगढ़, घड़साना और रावला तहसीलों के लिए सप्ताह में एक दिन अनूपगढ़ में शिविर लगता था।
इस पद के रिक्त होने के कारण जिला कलक्टर ने हथियार लायसेंस की करीब 2500 फाईलें श्री गंगानगर जिला मुख्यालय पर मंगवा ली थी। सूचना है कि अब उन फाईलों को वापस सूरतगढ़ भिजवाया जाने के निर्देश भी कुछ दिन पूर्व हो चुके हैं।00

राजस्थान के अनेक स्थानों पर जोरदार बरसात-सूरतगढ़ में तेज वर्षा



 *करणीदानसिंह राजपूत*

 सूरतगढ़ 27 मार्च 2020.

 राजस्थान के अनेक स्थानों पर 2 दिन से चल रही कहीं तेज कहीं बूंदाबांदी आज सुबह से तेज हुई है।

तेज बरसात से किसानों की खड़ी फसल पर भारी संकट छाया हुआ है। गेहूं कटाई के लिए मजदूर और मशीनें नहीं मिल रही।

कोराना वायरस के कारण 14 अप्रैल तक घरों से बाहर निकलने के प्रतिबंध से लोग घरों में ही हैं। 


सूरतगढ़ इलाके में भी दो दिन की बूंदाबांदी के बाद आज तेज बरखा हो रही है। गली मोहल्ले पानी से लबालब हो रहे हैं।

****



'रामायण' धारावाहिक का दूरदर्शन नेशनल चैनल पर 28 मार्च से प्रसारण शुरू होगा।


जनता की मांग पर कल शनिवार 28 मार्च से 'रामायण' का प्रसारण पुनः दूरदर्शन के नेशनल चैनल पर शुरू होगा।  पहला एपिसोड सुबह 9.00 बजे और दूसरा एपिसोड रात 9.00 बजे होगा ।

 Prakash Javadekar (@PrakashJavdekar) Tweeted:

@narendramodi

@PIBIndia

@DDNational https://twitter.com/PrakashJavdekar/status/1243381916654424064?s=20

गुरुवार, 26 मार्च 2020

व्यापारी अधिक कीमत लेगा तो 21 दिन तक दुकान सील और आपदा नियम के तहत कार्रवाई भी होगी


श्री गंगानगर 26 मार्च 2020.

जिला कलक्टर श्री नकाते ने बताया कि जिले में आटा मिल, दाल तथा सरसो आॅयल मिल संचालित है तथा इन मिलों के लिए राॅ-मेटेरियल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। 40 लाख क्विंटल गेहूॅ का स्टाॅक है तथा शुगर मिल में भी चीनी का पर्याप्त स्टाॅक है। किसी प्रकार से खाद्य सामग्री की कमी नही है। थोक व्यापारी व रिटेल व्यापारी अपनी-अपनी दरे प्रशासन को उपलब्ध करवा दी है। कोई भी व्यापारी अधिक रेट नही वसूल सकेगा। जिले में दालों के लिए जिला कलक्टर श्री नकाते  ने चूरू व झुंझुंनू जिला कलक्टर से बात कर कई गाडिया दाल की रवाना करवा दी है। किसी नागरिक को खाद्य सामग्री को लेकर परेशान होने की आवश्यकता नही है। जिला कलक्टर ने किराणा के थोक एवं रिटेल विक्रेताओं की बैठक लेकर सही दाम पर खाद्य वस्तुएं बेचने के निर्देश दिए है, साथ ही रसद अधिकारी को थोक व रिटेल की दरो की सूची देनी होगी।

जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि कोई भी दुकानदार उचित मूल्य से अधिक कीमत पर खाद्य सामग्री बेचते पाए जाने पर कार्यवाही की जाएगी तथा आगामी 21 दिनों के लिए दुकान सील की दी जाएगी तथा आपदा राहत नियमों के तहत कार्यवाही भी की जाएगी। किसी नगारिक को शिकायत हो तो जिला रसद अधिकारी या जिला नियंत्रण को सूचित कर सकते है। 


कीटनाशी व पशु आहार के लिए रोटेशन से खुलेगी दुकाने

श्री गंगा नगर,26 मार्च 2020.

जिला कलक्टर श्री नकाते ने बताया कि फसलों के कीटनाशी, पशुचारा व पशु-पक्षी फीड की आपूर्ति बनी रहे, इसके लिए हर तहसील पर प्रतिदिन दो दुकानें रोटेशन के अनुसार खोलने की अनुमति दी गई है। जिला कलक्टर ने संबंधित एसडीएम को उपनिदेशक कृषि के माध्यम से आने वाली सूची की स्वीकृति के लिए निर्देशित किया है। 

स्वीकृति लेकर कम्बाइन आ सकेगी क्षेत्र में, चालको का होगा स्वास्थ्य परीक्षण- जिला कलक्टर


श्रीगंगानगर, 26 मार्च 2020.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने कहा कि रबी की फसल पकाई पर होने के कारण किसानों को कम्बाईन हार्वेस्टर की आवश्यकताएं रहेगी। किसानों को इस संबंध में चिन्तित होने की आवश्यकता नही है। पंजाब क्षेत्र से आने वाली कम्बाइन के पास के संबंध में एसडीएम को अधिकृत किया जा रहा है, कि वह कम्बाइन संचालको, किसान संगठनों या किसानों के द्वारा उपनिदेशक कृषि  के माध्यम से जो सूची दी जाती है, उसे अनुमति प्रदान की जाएगी। 

श्री नकाते ने बताया कि अनुमति की सूची के साथ कम्बाइन के नम्बर, चालक का नाम, पता, मोबाइन नम्बर, निवास स्थान तथा वर्तमान में कहा से आ रहा है तथा कब से कितने दिन के लिए स्वीकृति चाहिए की जानकारी देनी होगी। जिला कलक्टर ने बताया कि पंजाब से आने वाली कम्बाइन के चालको का राजस्थान पंजाब की सीमा पर स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। स्वस्थ चालक होने पर ही अनुमति दी जाएगी। खेतों में मशीन चलाते समय एक-दो नागरिक ही रहे तथा राज्य सरकार द्वारा जारी सुरक्षा उपायों की भली प्रकार से पालना करनी हागी। 

बुधवार, 25 मार्च 2020

कोरोना वायरस - जिला मुख्यालय पर सीडब्ल्यूसी वार रूम का गठन

श्रीगंगानगर, 25 मार्च। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रशासनिक कार्यो को सुचारू रूप से सम्पादित करने के लिए जिला मुख्यालय पर कमरा नम्बर 16 में सीडब्ल्यूसी वार रूम का गठन किया गया है। वार रूम के प्रभारी अधिकारी अतिरिक्त जिला कलक्टर डाॅ0 गुंजन सोनी तथा श्री मोहम्मद जुनैद आईएएस प्रशिक्षु को सहायक प्रभारी नियुक्त किया गया है। वार रूम के टेलिफोन नम्बर 0154-2440988 रहेगा।

जिला कलक्टर श्री शिव्रपसाद एम. नकाते ने बताया कि एडीएम प्रशासन प्रभारी अधिकारी होंगे। इनके सहयोग के लिए 7 अधिकारी लगाए गए है, जो समस्त एसडीएम, तहसीलदार से रिपोर्ट लेना, आदेश जारी करना, अन्य जिलों व राज्यों से समन्वय, भवनों का अधिग्रहण, सहायता, सामग्री खरीद का कार्य देखेंगे। इसी प्रकार श्री मोहम्मद जुनैद की टीम विभिन्न विभागों के कार्यो में समन्वय तथा केन्द्र व राज्य सरकार के आदेशो का क्रियान्वयन सुनिश्चित करेंगे। एडीएम सतर्कता श्री अरविन्द जाखड के साथ तीन अधिकारी लगाए गए है। यह टीम पुलिस विभाग से समन्वय, विडियोकांफ्रेसिंग, सेना से समन्वय, कोरोना से संबंधित बैठक, वाहनों, चैक पोस्ट इत्यादि का कार्य देखेंगे।

उन्होने बताया कि मुख्य कार्यकारी अधिकारी डाॅ0 हरीतिमा की टीम में तीन अधिकारी लगाए है, जो सीएमएचओ व पीएमओ से समन्वय व चिकित्सा व्यवस्थाएं देखेंगे। जिला आबकारी अधिकारी प्रतिष्ठा पिलानिया की टीम में चार अधिकारी, अतिरिक्त सूचना विज्ञान अधिकारी श्री परमजीत सिंह, उपनिदेशक डीओआईटी श्रीमती रूचि गोयल, सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी श्री रामकुमार राजपुरोहित तथा जिला परिवहन अधिकारी सुमन डेलू को लगाया गया है जो वाहन एवं आवश्यक सेवाओं, कर्मचारियों की नियुक्ति, मीडिया, सोसल मीडिया, मोबाईल इंटरनेट एवं संचार व्यवस्था देखेंगे। जिला रसद अधिकारी श्री राकेश सोनी एवं उनके अधीनस्थ अधिकारी सहयोग राशि प्राप्त करने, अन्नपूर्णा किट तैयार करना, तैयार भोजन वितरण की व्यवस्था देखेंगे। 

जिला कलक्टर ने बताया कि एसडीएम उम्मेद सिंह व डिप्टी कमाण्डेंट सिविल डिफेंस संबंधी कार्य देखेंगे। न्यास सचिव डाॅ0 हरीतिमा तीन सहयोगी अधिकारियों के साथ नियंत्रण कक्ष व सूचनाओं का आदान-प्रदान का कार्य देख्ेांगे। पुलिस उप अधीक्षक श्री राहुल यादव पुलिस विभाग के अधिकारी, कार्मिको के साथ राज्य सरकार द्वारा घोषित अत्यआवश्यक सेवाओं वाले वाहनों को रोकने संबंधी शिकायतों का निस्तारण, प्रशासन के साथ समन्वय आदि कार्य देखेंगे। 

------------

श्रीगंगानगर-फसल कटाई में कोरोना वायरस खतरे को दूर करने संबंधी निर्देश


श्रीगंगानगर, 25 मार्च 2020. जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने बताया कि राज्य सरकार ने फसल कटाई कार्य से कोविड-19 के खतरे को दूर करने के लिए आवश्यक निर्देश जारी किए है।

उन्होने बताया कि फसल कटाई यथा संभव मशीनचालित उपकरणों से ही की जाए। हस्तचालित  कटाई उपकरण काम में लेने पर उपकरणों को दिन में कम से कम 3 बार साबुन के पानी से किटाणु रहित करे। फसल कटाई में सोसल डिस्टेनसिंग की सख्ती से पालना की जाए। खेत में फसल काटते, खाना खाते समय एक व्यक्ति से दूसरे के मध्य कम से कम 5 मीटर की दूरी रखी जाए। खाने के बर्तन अलग-अलग रखे तथा प्रयोग के पश्चात साबुन के पानी से अच्छी तरह से साफ करे।

श्री नकाते ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार एक व्यक्ति द्वारा काम में लिए जाने वाले उपकरणों को दूसरा व्यक्ति कदापि काम में न ले। कटाई करने वाले सभी व्यक्ति अपने-अपने उपकरण ही काम में लेवें। कटाई के दौरान बीच-बीच में अपने हाथों को साबुन के पानी से अच्छी तरह साफ करते रहे। कटाई कार्य अवधि में पहले दिन पहने कपडे दूसरे दिन काम में न ले। काम में लिए कपडों को अच्छी तरह धोकर धूप में सुखाने के पश्चात पुनः काम में ले। कटाई के दौरान सभी व्यक्ति अलग-अलग पानी की बोतल रखे, मास्क का प्रयोग करे। किसी व्यक्ति को खांसी, जुखाम, बुखार, सरदर्द, बदन दर्द आदि के लक्षण हो, तो तत्काल निकटतम स्वास्थ्य कर्मी को सूचित करे। खेत में पर्याप्त मात्रा में पानी व साबुन उपलब्ध रखे। थ्रेसिंग कार्य के दौरान सोसल डिस्टेनसिंग, मास्क का प्रयोग आदि सभी सावधानियों का पूर्ण गंभीरता से पालन करे।

------------

कोरोना वायरस संक्रमण एवं बचाव निजी वाहन के संचालन के लिए आॅनलाईन आवेदन की सुविधा



श्रीगंगानगर, 25 मार्च 2020.
जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने बताया कि  कोरोना कोविड-19 के संक्रमण के संदर्भ में उत्पन्न स्थिति के संबंध में राज्य सरकार ने आदेशानुसार आपातकालीन स्थिति में किसी नागरिक द्वारा निजी वाहन का उपयोग करना आवश्यक हो तो इस हेतु उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार व जिला परिवहन अधिकारी को अनुमति देने के लिए अधिकृत किया गया है।
उपखण्ड अधिकारी श्री उम्मेद सिंह ने बताया कि आपातकालीन स्थिति यदि कोई नागरिक निजी वाहन का उपयोग करना है तो अनुमति लेने हेतु कार्यालय में उपस्थित होना आवश्यक नही है। जरूरतमंद व्यक्ति इसके लिए आॅनलाईन आवेदन कर सकता है। आॅनलाईन आवेदन आवेदन की मेल आईtdrgan01@gmail.com वाॅट्सअप नम्बर 63787-5552770140-25529 पर भेज सकते है।
------------


कोरोना वायरस संक्रमण एवं बचाव जिला नियंत्रण कक्ष 24 घंटे सेवा.


श्रीगंगानगर, 25 मार्च 2020.

 कोरोना वायरस संक्रमण एवं बनाव के लिए जिला मुख्यालय पर संचालित नियंत्रण कक्ष को ओर प्रभावी बनाया गया है। नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नम्बर 0154-2440988 है।

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने बताया कि जिला मुख्यालय पर कलैक्ट्रेट में संचालित नियंत्रण कक्ष 24 घण्टे कार्यरत रहेगा। नियंत्रण कक्ष संचालन के लिए तीन पारियों में अधिकारियों व कर्मचारियों को लगाया गया है। प्रथम पारी प्रातः 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक रहेगी। इस पारी प्रभारी उपनिदेशक कृषि श्री जी.आर. मटोरिया को लगाया गया है तथा इनके साथ चार और कार्मिक रहेंगे। इसी प्रकार दोपहर 2 बजे से रात्रि 10 बजे तक की पारी में महिला अधिकारिता के सहायक निदेशक श्री विजय कुमार प्रभारी होंगे तथा इनके साथ तीन कार्मिक रहेंगे। तीसरी पारी में रात्रि 10 बजे से प्रातः 6 बजे तक रहेगी, इसके प्रभारी जिला खेलकूद अधिकारी श्री हरजिन्द्र सिंह को बनाया गया है। इनके साथ सहायोग के लिए तीन कार्मिक रहेंगे।

-----------

श्रीगंगानगर में घर-घर राशन भिजवाने की व्यवस्था की जा रही है



श्रीगंगानगर, 25 मार्च 2020.

कोरोना संक्रमण एवं बचाव के संदर्भ में जिले में धारा 144 व लाॅकडाउन की स्थिति में गरीब व जरूरतमंद परिवार भूखे न रहे, इसके लिए जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने भामाशाहों व संस्थाओं से जिला प्रशासन के साथ सहयोग का अनुरोध किया था। उसी की बदौलत जरूरतमंदों के लिए अन्नपूर्णा किट व नगद राशि देने वाले भामाशाह आज भी कलैक्ट्रेट पहुंचकर सहयोग किया।

जिला रसद अधिकारी श्री राकेश सोनी ने बताया कि चितलांगिया ट्रस्ट की ओर से 50 हजार रूपये की राशि, महावीर स्टील ट्रेडर्स के श्यामलाल खारीवाल ने 25 हजार रूपये की राशि, तपोवन ट्रस्ट की ओर से 300 किट के लिए 15 हजार रूपये की राशि, एसडीएम विजयनगर के माध्यम से 21 हजार रूपये की राशि तथा दुर्गा संकिर्तन सभा समिति की ओर से 21 हजार रूपये की राशि प्राप्त हुई है।

 जिला रसद अधिकारी ने किराणा व्यापारियों की बैठक लेकर पाबंद किया कि वाजिद दामों पर ही सामग्री बेची जाए तथा इन व्यापारियों को परेशानी न हो, इसके लिए पास जारी किए गए है। उन्होने बताया कि जिला कलक्टर के निर्देशानुसार होलसेल भण्डार की मोबाइल वेन से आज से ही घर-घर राशन देने की व्यवस्था की जा रही है। 

------------

यात्री रेलसेवाओं का संचालन अब 14 अप्रैल तक बंद


श्रीगंगानगर, 25 मार्च 2020.

 रेलवे ने देश में कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को देखते हुये सभी यात्री रेलसेवाओं के संचालन के रद्दीकरण की अवधि को आगे बढाया है जो 14 अप्रैल 2020 तक सभी यात्री रेलसेवाओं के संचालन को बंद करने का निर्णय लिया है। 

उत्तर पश्चिम रेलवे के जनसम्पर्क अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर पश्चिम रेलवे की प्रारम्भिक स्टेशन से रवाना होने वाली सभी मेल, एक्सप्रेस, इंटरसिटी, प्रीमियम ट्रेने तथा सभी सवारी गाडियां अब 14 अप्रैल 2020 की रात्रि 12 बजे तक रद्द रहेगी। (पूर्व में यह अवधि 31 मार्च 2020 की रात्रि 12 बजे बजे तक थी) देश के विभिन्न भागो में आवश्यक सामग्री की आपूर्ति के लिये मालगाडियों का संचालन जारी रहेगा। सभी रद्द की गई ट्रेनों के यात्रियों की सुविधा के लिये टिकट की धन राशि की वापसी हेतु 21 जून 2020 तक प्राप्त करने की विशेष और आसान व्यवस्था की गई है। 

-------------

मंगलवार, 24 मार्च 2020

आखिर संपूर्ण भारत में लॉकआउट जरूरी हुआ ताकि कारोना से बचाव हो सके. * करणीदानसिंह राजपूत *


*भारत में कारोना वायरस बचाव के लिए 25 मार्च से 14 अप्रैल तक लॉकआउट-पीएम मोदी का राष्ट्र को संबोधन*

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रात  12:00 बजे से सारे देश में लॉकआउट कर दिए जाने की घोषणा कर दी। यह लॉकआउट 21 दिन यानी 3 सप्ताह 14 अप्रैल 2020 तक रहेगा।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए यह कदम उठाया गया है। 

पहले से कदम तो उठाए हुए थे मगर अप्रयाप्त रहे थे। पूरे देश में टुकड़े-टुकड़े रूप में लॉकआउट राज्य सरकारों द्वारा किया गया।कुछ प्रदेश बाकी थे इसलिए बचाव का एक ही रास्ता सारे देश में अपनाने के लिए यह कदम उठाया गया। प्रधानमंत्री ने  24 मार्च 2020 की रात 8:00 बजे अपने संबोधन में यह  घोषणा की। उन्होंने कहा कि इससे गरीबों और जरूरतमंदों को बहुत मुश्किल होगी लेकिन राज्य सरकारें और सेवाभावी संस्थाएं इसके लिए आगे बढ़ कर कदम उठाएंगे और जैसे-तैसे यह संकट की घड़ी बीत जाएगी।

देश में भारतीय रेलवे की ओर से 31 मार्च तक यात्री रेलें बंद की घोषणा थी। केवल माल गाड़ियां ही चल रही है। इससे स्पष्ट है कि अब रेलवे और बसें भी नई घोषणाओं के अनुरूप ही संचालित होंगी।

संपूर्ण देश इस समय सिविल प्रशासन पुलिस स्थानीय निकाय ग्रामपंचायत यादि स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों पर रहेगा। ये निर्देश समय समय पर आते रहेंगे जिनका पालन हर व्यक्ति के लिए करना अति आवश्यक है।00



आकाशीय नयनाभिराम दृश्य 24 मार्च 2020 संध्या बेला.ईश्वर का ध्यान करें.

 * करणी दान सिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 24 मार्च 2020.

मौसम लगातार बदल रहा है।

देश-विदेश बचाव की चिंता में लीन हैं। हैं।

प्रकृति नए-नए रूप दिखा रही है। 

ऐसे ही अवसर पर सूरतगढ़ में 24 मार्च का आकाशीय नयनाभिराम दृश्य लिया गया।

इसे देखें और चिंता मुक्त होने के लिए परम आत्मा ईश्वर जिसे आप मानते हैं उसका ध्यान करें।00





शिवराज सिंह चौहान चौथी बार बने MP के मुख्यमंत्री-शपथ ली

भोपाल, 23 मार्च 2020.

मध्य प्रदेश बीजेपी ने शिवराज सिंह चौहान को विधायक दल का नेता चुन लिया है. इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली.


शिवराज सिंह चौहान चुने गए

 विधायक दल के नेताचौथी बार.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने शिवराज सिंह

मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने सरकार बना ली है. मध्य प्रदेश बीजेपी ने शिवराज सिंह चौहान को विधायक दल का नेता चुना, जिसके बाद शिवराज सिंह चौहान ने चौथी बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है.


मध्य प्रदेश में सियासी घमासान के बाद अब भारतीय जनता पार्टी ने सरकार बना ली है. राजभवन ने मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण के लिए रात 9 बजे का वक्त दिया था. शिवराज सिंह चौहान ने रात 9 बजे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की चौथी बार शपथ ली है.

चौथी बार मुख्यमंत्री बने शिवराज

शिवराज सिंह चौहान ने सीएम पद की शपथ लेने के बाद चौथी बार मध्य प्रदेश की कमान संभाली है. पहली बार वह 29 नवंबर 2005 में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे. इसके बाद शिवराज सिंह चौहान 12 दिसंबर 2008 में दूसरी बार सीएम बने. 8 दिसंबर 2013 को शिवराज ने तीसरी बार सीएम पद की शपथ ली थी.


क्यों गिरी थी कमलनाथ सरकार?


हाल में ही मध्य प्रदेश से कमलनाथ सरकार की विदाई हुई है. दरअसल, कांग्रेस के 22 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था. इसमें 6 मंत्री शामिल थे. स्पीकर ने मंत्रियों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया था. इस्तीफे के कारण कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी, लेकिन फ्लोर टेस्ट कराने की बजाए सदन को स्थगित कर दिया गया था.


SC का आदेश और कमलनाथ का इस्तीफा

इसके बाद यह मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा. सुप्रीम कोर्ट ने कमलनाथ सरकार को तुरंत फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया. आदेश के बाद स्पीकर ने सभी 16 विधायकों का इस्तीफा मंजूर किया और फ्लोर टेस्ट से पहले ही कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.

*******




सोमवार, 23 मार्च 2020

लाॅकडाउन के आवश्यक निर्देश- कौनसी दुकानें आदि खुली रहेगी

श्रीगंगानगर, 23 मार्च 2020.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा संयुक्त राष्ट्र द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण को महामारी घोषित करने तथा इस संदर्भ में उत्पन्न स्थिति के परिपेक्ष में संक्रमण से आमजन को सुरक्षा प्रदान करने तथा उनके स्वास्थ्य की रक्षा के मध्यनजर अतिरिक्त मुख्य सचिव राजस्थान जयपुर एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग राजस्थान जयपुर के आदेशानुसार राजस्थान एपिडेपिक डिजीज एक्त 1957 की धारा (2) के अंतर्गत प्रदेश में 22 मार्च 2020 से 31 मार्च 2020 तक पूर्णतः लाॅकडाउन घोषित किया गया है। 

आदेशानुसार राजकीय कार्यालयों एवं जिला कलक्टर कार्यालय में आमजनता के प्रवेश की अनुमति नही होगी। इस अवधि में सार्वजनिक उपयोगिताओं और आवश्यक सेवाओं जैसे बिजली, पानी की आपूर्ति, चिकित्सा और स्वास्थ्य सहित उन कार्यालयों को छोड़कर सभी सरकारी कार्यालय बंद रहेगें। जिला प्रशासन एवं उनके अधीनस्थ कार्यालय आयुर्वेद, जिला परिषद और पंचायत समिति के आवश्यक अनुभाग, पुलिस, जेल, होमागाडर्स, एफएसएल, परिवहन विभाग, खान विभाग, डीओआईटीसी आदि आवश्यक होने पर प्रशासनिक विभाग, विभागाध्यक्ष, जिला स्तरीय अधिकारी सीमित कार्य के लिये कार्यालय खोल सकेगें, जिसमें आवश्यक संख्या में कर्मचारी बुला सकेगें।

आवश्यक सेवाओं वाले विभागों अधिकारी, कर्मचारी को छोड़कर अन्य सरकारी अधिकारी, कर्मचारी की स्थिति घर से कार्य करने की रहेगी तथा उन्हें कार्यालय समय के दौरान घर से बाहर निकलने की अनुमति नही है, जब तक जिला कलक्टर या संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी द्वारा किसी को फिल्ड डयूटी के लिये नियत नही किया जाता। इस दौरान किसी भी सरकारी कार्मिक को विशेष या अपरिहार्य स्थिति के अलावा कोई अवकाश या मुख्यालय छोड़ने की अनुमति नही होगी। सभी वाणिज्यक प्रतिष्ठान, कार्यालय और कारखाने, कार्यशालाएं, फैक्ट्रियां, गोदाम, आदि (मीडीया, प्रेस, सूचना प्रोद्योगिकी, आधारित सेवाएं, सभी प्रकार के चिकित्सालय संस्थान (मेडिकल स्टोर सहित), औषधि एवं सर्जिकल, आईटम्स के विनिर्माता, पेट्रोल पम्प, एलपीजी गैस एजेन्सी, दूध डेयरी, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकाने, किराना एवं प्रोविजनल स्टोर, मेडिकल स्टोर, सर्जिकल उपकरण, फल सब्जियों की दुकाने, बैंक, एटीएम, पोस्ट आॅफिस को छोड़कर)  अपने संचालन को बंद रखेंगे। 

रेस्तरां और भोजनालयों में कमरे में भोजन उपलब्ध नही करवाया जायेगा, केवल टेक अवे अनुमत रहेगा। सभी सार्वजनिक परिवहन, रोडवेज, प्राईवेट बसें, टेक्सियां, आॅटो रिक्शा के अंतर्राज्जीय संचालन पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। रेलवे स्टेशन से घर एवं अस्पताल के लिये सीमित संख्या में जिला परिवहन अधिकारी, उपखण्ड मजिस्ट्रेट द्वारा अधिकृत सार्वजनिक परिवहन उपलब्ध रहेगे। इस प्रतिबंध के दौरान जिला परिवहन अधिकारी संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट से समन्वय कर स्वास्थ्य केन्द्रों, रेलवे स्टेशन हेतु आवश्यकतानुसार न्यूनतम आॅटोरिक्सा चिन्हित कर संचालन की अनुमति प्रदान कर सकेगें। आपातकालीन स्थिति में जिला मजिस्ट्रेट, अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट , उपखण्ड मजिस्ट्रेट, तहसीलदार, जिला परिवहन अधिकारी, आवश्यकतानुसार सार्वजनिक यात्री वाहनों को संचालन की अनुमति प्रदान कर सकेगें। इस हेतु जिला एवं उपखण्ड स्तरीय कंट्रोल रूप पर संपर्क किया जा सकेगा। यातायात पुलिस द्वारा ऐसे वाहनों के संचालन पर पूर्ण निगरानी रखी जायेगी। रेलवे स्टेशनों पर अगर रेलगाड़ियों से आवागमन के दौरान यात्रियों की स्क्रीनिंग सिस्टम का प्रावधान कर प्रोटोकाॅल की पालना सुनिश्चित की जावे। उक्त आदेशों की कड़ाई से पालना सुनिश्चित की जावे। उक्त आदेशों की अवहेलना की स्थिति में संबंधित के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के तहत दण्डात्मक कार्यवाही अमल में लाई जावेगी। 

-------------





बाहरी जिलों के नागरिक बिना अनुमति नही आ सकेंगे

श्रीगंगानगर, 23 मार्च2020.

 जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा घोषित लाॅकडाउन की अक्षरशः पालना सुनिश्चित की जाए। आवश्यक सेवाओं के अलावा यात्री वाहन नही चलेंगे तथा आम नागरिक अपने घरों में ही रहे। लाॅकडाउन की पालना नही करने पर धारा 188 व 144 में कार्यवाही की जाए। 

जिला कलक्टर सोमवार को कलैक्ट्रेट में वीसी के माध्यम से जिले के उपखण्ड अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों तथा चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार आवश्यक सेवाओं में जो कार्मिक लगे हुए है, उनके अलावा कार्मिक मुख्यालय पर रहेंगे तथा आवश्यकता पडने पर तत्काल उपस्थित होंगे। उन्होने कहा कि माल, सामान परिवहन करने वाले वाहनों को छूट रहेगी। 

जिला कलक्टर ने समस्त एसडीएम व बीसीएमएचओ को निर्देश दिए है कि ब्लाॅक स्तर पर कोरेन्टाइन सेंटर सरकार की गाईड लाईन के अनुसार तैयार किये जाए। सेंटर में बिजली, पानी, शौचालय तथा सूरज की रोशनी की व्यवस्था हो। उन्होने कहा कि आम नागरिक घरों में रहे, बहुत जरूरी होने पर ही एक व्यक्ति खाद्य वस्तुओं के लिए बाहर आ सकता है। कोई नागरिक निर्देशों की पालना नही करता है, तो एक वर्ष की सजा का प्रावधान है। उन्होने कहा कि प्रसव वाली महिला, बीमार व्यक्ति को चिकित्सालय जाने दे। शादी के अवसर पर 5 व्यक्तियों से ज्यादा न जाए। आमजन की जरूरत व खाद्य आपूर्ति के लिए आटा व दाल मिले संचालित की जा सकती है।

जिले में पंजाब व अन्य जिलों की सीमाओं पर 8 नाके लगाए गए है। दूसरे जिले के नागरिक के पास  मंजूरी है, तो जिले में आ सकेगा। इस जिले के नागरिक को बाहर किसी उचित कारण से जाना है तो संबंधित तहसीलदार से अनुमति लेकर जा सकेंगे। शहर में अनावश्यक किसी नागरिकों को घूमने न दे तथा कही पर भी भीड इक्कठी न होने दे। उन्होने कहा कि जिले में जो नागरिक दूसरे देशों से आए है, वे सभी चिन्हित व आईसोलेशन में है। चिकित्सक उन सभी का नियमित परीक्षण करे। पुलिस तथा राजस्व विभाग के कार्मिक इस बात कर ध्यान रखे कि इस तरह के चिन्हित नागरिकों पर सुबह शाम ध्यान रखा जाए, कि वे कही इधर-उधर न जाए। 

जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि जिले में संचालित नाको पर निरीक्षण के साथ-साथ चिकित्सा विभाग का नर्सिंग स्टाॅफ एवं एक शिक्षक को लगाया जाए। नर्सिंंग स्टाॅफ बाहर से आने वाले व्यक्ति जो  प्रथम दृष्टया खांसी, जुकाम, बुखार से पीड़ित तो नही है की जानकारी कर नाम पता इत्यादि नोट करेंगे। आशंका होने पर नजदीक के चिकित्सक से जांच करवाई जाए।


जरूरतमंद नागरिको को अन्नपूर्णा किट दिए जाएंगे


 जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने कहा कि कोरोना संक्रण एवं बचाव के संदर्भ में जिले में धारा 144 लगी होने के कारण गरीब परिवारों व नागरिकों को जिला प्रशासन की ओर से अन्नपूर्णा किट दिए जाएंगे। इस कार्य के लिएं जिले के समस्त एसडीएम अपने क्षेत्रा के  भामाशाह, धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं का सहयोग ले। कोई भी भामाशाह संस्थाएं अन्नपूर्णा किट देना चाहे तो वे संबंधित एसडीएम या जिला मुख्यलय के नियंत्रण कक्ष में अपना नाम व मोबाईल नम्बर लिखवा सकते है। नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नम्बर 0154-2440988 है। 

पुलिस अधिकारी नाको पर सतर्क रहे

पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा ने कहा कि पुलिस अधिकारी जिले में लगाए गए, 8 नाकों पर पूर्ण निगरानी रखे तथा 8-8 घण्टों के अनुसार अपनी पारिया निर्धारित करे। उन्होने कहा कि लाॅकडाउन के निर्देशों की भली प्रकार से पालना की जाए। श्री शर्मा ने कहा कि जिले में कही भी अनावश्यक नागरिक इक्कठे ना हो। स्थानीय निकाय भी शहरों में मुनियादी करवाए कि आमजन घरों में ही रहे। जो पुलिस कर्मी छुट्टिया बिताकर ड्यूटी पर आ रहे है, उनकी स्क्रीनिंग करवाई जाए। 

वीसी में एडीएम सतर्कता श्री अरविन्द जाखड, एसडीएम श्री उम्मेद सिंह रतनू,डाॅ0 मुकेश मेहता, जिला रसद अधिकारी श्री राकेश सोनी व जिले के समस्त एसडीएम, तहसीलदार तथा पुलिस के अधिकारी उपस्थित थे। 

-----------




रविवार, 22 मार्च 2020

* सूरतगढ़ खुशनसीब और आगे भी रहेगा खुश*


*करणीदानसिंह राजपूत *


पूरा विश्व कोरोना वायरस की महामारी में चिंता ग्रस्त हालत में है।

 हर देश में इस भयानक वायरस की चपेट में आने वाले लोगों की चिकित्सा की जा रही है।यह वायरस नहीं फैले इसलिए शहरों देशों की आवश्यकताओं के अनुसार यातायात के साधन और शहर प्रदेश आदि आवश्यकता के अनुरूप बंद किए जा रहे हैं। भारत में और प्रदेश राजस्थान में भी उपचार और बचाव में अनेक कदम उठाए गए हैं।


सूरतगढ़ मैं रहने वाले व्यवसाय करने वाले नौकरी करने वाले लोगों के लिए यह खुशखबरी है कि सूरतगढ़ इलाका एस महामारी से बचा हुआ है। कहीं भी इस रोग की लक्षण सामने नहीं आए हैं। 

स्थानीय और इलाके के ग्रामीण स्तर तक शासन प्रशासन, पुलिस,चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, नगरपालिका और पंचायतें,सामाजिक संस्थाएं,प्रेस,जागरूक निवासी सभी दिन रात अपने अपने कर्तव्य पर डटे हुए हैं।

सभी प्रकार के नियम और चेतावनियों से भी सचेत किए हुए हैं।

 हमारे क्षेत्र में यह खुशनसीबी कायम रहे इसलिए अच्छा यही है कि शासन प्रशासन पुलिस चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जो कुछ नए संदेश दिए जाएं उनका पालन सभी अपने अपने व्यावसायिक स्थल नौकरी स्थल और घरों में करते रहें।

यह संकटकाल कुछ दिनों का है और हम सभी सचेत रहें।**





कोरोना बचाव-सभी प्रकार की यात्री ट्रेनें 31 मार्च तक बंद


22 मार्च 2020.

नई दिल्ली:  

देशभर में कोरोना वायरस के लगातार सामने आ रहे को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने बड़ा फैसला लिया है. देशभर में 31 मार्च तक सभी यात्री ट्रेनों को बंद कर दिया गया है. रेलवे ने बताया है कि सभी लंबी दूरी की ट्रेनें, एक्सप्रेस और इंटरसिटी ट्रेन (प्रीमियम ट्रेन भी शामिल) का परिचालन 31 मार्च की रात 12 बजे तक बंद रहेगा।


 यात्री टिकट रद्द होने के बाद 21 जून तक रिफंड ले सकेंगे. दरअसल विदेश के लौटने के बाद जिन लोगों को होम क्वारंटाइन के लिए कहा गया था वह ट्रेन से सफर कर अपने घर जा रहे है. हाल में कई कोरोना संक्रमित यात्रियों के ट्रेन में सफर करने के मामले सामने आए. इससे अन्य यात्रियों में भी कोरोना से संक्रमित होने का खतरा है. इसको देखते हुए रेलवे बोर्ड की ओर से बड़ा कदम उठाया गया है.


रेल यात्रियों में कोरोना के वायरस मिलने के बाद रेलवे ने इसे रोकने के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों से अपील की कि कोरोना से डरकर लोग भागें नहीं. जो जहां है कुछ दिन तक वहीं रहे. लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है लेकिन लोग अभी भी यात्रा कर अपने घर लौट रहे हैं. हालांकि कुछ यात्रियों ने अपने टिकट कैंसल करा दिए लेकिन इसके बाद भी पिछले दो दिन से ट्रेनों में यात्रियों की संख्या काफी ज्यादा देखने को मिली.

****




कोरोना वायरस- आवश्यक वस्तुओ को छोडकर शेष प्रतिष्ठान बन्द करने के आदेश

श्रीगंगानगर, 21 मार्च2020.

 जिला कलक्टर एंव जिला मजिस्टेªट श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने एपिडेमिक डिजीजेज एक्ट 1867 एवं द राजस्थान एपिडेमिक डिजिजेज एक्ट 1957 में प्रदत्त शक्तियों के अनुसार कोरोना वायरस के संक्रमण से आमजन को सुरक्षा प्रदान करने हेतु तथा उनके स्वास्थ्य की रक्षा के मद्देनजर सम्पूर्ण श्रीगंगानगर जिले में आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के अन्तर्गत आने वाली वस्तुए यथा मैडिसिन, राशन/किराना, दूध, सब्जी, एलपीजी गैंस, पैट्रोल पम्प एंव रिटेल आउटलेट व पानी सप्लाई, बैंक, एटीएम के अतिरिक्त श्रीगंगानगर जिले मे 21 मार्च 2020 को दोपहर 3 बजे से समस्त प्रतिष्ठान/शाप बन्द रखने के आदेश दिये  है। 

आदेशानुसार कचो री , समोसा, मिठाईंया व अन्य खाद्य (रेडी टू ईट) पदार्थ बनाने वाली दुकानें/प्रतिष्ठान भी पूर्णतया बन्द रहेंगी। आदेशो की पालना जिला पुलिस  अधीक्षक,  आयुक्त नगरपरिषद, जिला रसद अधिकारी, सचिव नगरविकास न्यास, जिले के समस्त उपखण्ड मजिस्ट्रेट्स एंव समस्त नगरपालिकाओं के अधिशाषी अधिकारी द्वारा सुनिश्चित की जायेगी।

-------------


रेलवे रिजर्वेशन रिफंड नियमों में अस्थाई परिवर्तन -21 मार्च से 15 अप्रैल तक.

                          श्रीगंगानगर,21मार्च 2020.

 कोरोना वायरस के  प्रभाव  के चलते सोशल डिस्टेंस रखने हेतु रेलवे ने रिजर्वेशन रिफंड  नियमों में  अस्थाई परिवर्तन किया है।रेलवे सूत्रों के अनुसार 21 मार्च से 15अप्रैल 2020  तक सफर करने वाले  ई-टिकट धारियों को  पहले की तरह स्टेशन पर रिफंड लेने के लिए आने की कोई आवश्यकता नहीं है| वरिष्ठ वाणिज्य मंडल प्रबन्धक ,बीकानेर श्री जितेन्द्र मीणा ने बताया कि 21 मार्च से 15 अप्रैल 2020 तक सफर करने वाले रिजर्वेशन काउंटर से लिए टिकटों  वाले यात्रियों की ट्रेन यदि  रेल प्रशासन द्वारा रद्द की जाती है,  तो यात्री 3घंटे या 72 घंटे की पहले वाली  कंडीशन के बजाय  यात्रा तिथि से 45 दिन  के बीच रिजर्वेशन काउंटर पर  अपना रिफंड लेने के लिए टिकट प्रस्तुत कर सकते हैं|


     रेल प्रशासन द्वारा यदि ट्रेन रद्द नहीं की गई है और यात्री यात्रा नहीं कर रहा है,  तो यात्री  रिफंड लेने के लिए  स्टेशन से यात्रा तिथि से  3 दिन की बजाय  30 दिन में सीसीओ-सीसीएम क्लेमस  ऑफिस में टीडीआर( टिकट डिपाजिट  रिसिप्ट) सबमिट कर सकते हैं|  पहले यह नियम 10दिन का था|


   यदि यात्री  139 नंबर के द्वारा  टिकट कैंसिल करता है  तो वह  ट्रेन के शेडूल डिपार्चर के  पहले के नियम की बजाए  30दिनों के अंदर  अपना टिकट प्रस्तुत कर रिफंड प्राप्त कर सकता है| 


     दी गई छूट 21 मार्च से 15 अप्रैल2020 तक लागू रहेगा।


 रेलवे प्रशासन द्वारा  यह सुविधा कोरोना वायरस के प्रभाव के कारण स्टेशन पर अधिक भीड़ व यात्रियों में  परेशानी कम करने के लिए की गई है|00


शनिवार, 21 मार्च 2020

सूरतगढ़ इलाके में आधी रात को बादल बिजली गड़गडाहट बरसात

* करणीदानसिंह राजपूत*

सूरतगढ़ 21 मार्च 2020.

मौसम ने अचानक पलटा मारा है और शुक्रवार शनिवार की मध्यरात्रि में आकाश बादलों से भरा हुआ बिजली की चमक और बरखा के साथ डरावना सा हो रहा है। देश में कारोना वायरस के बचाव में यह इलाका भी डरा हुआ है और इसी में फिर मौसम की मार हुई तो क्या होगा? पूरी सर्दी का मौसम बरखा और ओलों के कारण परेशानी वाला रहा था। टिड्डी दल भी फसल चट करते रहे। 

आखिर प्रकृति इंसान से चाहती क्या है?

*****


गुरुवार, 19 मार्च 2020

कोरोना वायरस-प्रत्येक उपखण्ड पर आईसोलेशन व क्वारनटाईन सेन्टर चिन्हित होगा.


श्रीगंगानगर, 19 मार्च 2020.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम नकाते ने कहा कि उपखण्ड स्तर पर कोरोना वायरस के संक्रमण व बचाव को लेकर एक-एक आईसोलेशन एवं होम क्वारनटाईन सेन्टर के लिये भवन आरक्षित किये जायें। 

जिला कलक्टर गुरूवार को कलेक्ट्रेट में विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के उपखण्ड स्तर के अधिकारियों व पुलिस अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा संयुक्त राष्ट्र द्वारा कोरोना संक्रमण को महामारी घोषित करने एवं भारत सरकार, राज्य सरकार तथा चिकित्सा विभाग द्वारा जारी एडवाईजरी के अनुसार इस महामारी को हल्के में नही लें।

तथा इस कार्य की पूर्व तैयारी गंभीरता के साथ की जानी है। उन्होंने उपखण्ड स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित करने के निर्देश दिये। 


आमजन को जागरूक करें


उन्होंने अधिकारियों को बताया कि आमजन को इस भंयकर बीमारी के बारे में जागरूक किया जाये। अपने हाथ से बार-बार मुंह, नाक, आंख को न छुएं। दिन में दो-तीन बार साबुन से अच्छी प्रकार 30 से 50 सैकण्ड तक अपने हाथों को साफ करें। आमजन को बताया जाये कि जो व्यक्ति बुखार, जुकाम, खांसी से पीड़ित है, वे ही मास्क का उपयोग करें। आमजन को बताये कि अपने घरों में रहें, अनावश्यक बाहर न जायें, भीड़ वाले क्षेत्र से बचें। 

स्थानीय निकाय सार्वजनिक स्थलों को सेनेटाईज करें

जिला कलक्टर ने जिले के सभी स्थानीय निकायों व विकास अधिकारियों को निर्देश दिये है कि अपने-अपने क्षेत्र में कार्यालयों, सार्वजनिक स्थलों, धार्मिक स्थलों तथा परिवहन के साधनों को सेनेटाईज करें। चिकित्सकों के अनुसार सोडियम हाइपोक्लोराईट के एक प्रतिशत घोल से सेनेटाईज किया जा सकता है। फर्श इत्यादि सेनेटाईज करने के 30 मिनट तक अच्छी तरह से सेनेटाईज होने दें। धार्मिक स्थलों में अधिक भीड़ न हो तथा मंदिरों के उपकरण आदि को नही छुने तथा विवाह समारोह जहां तक संभव हो, स्थगित किया जाये या बहुत ही सीमित संख्या के साथ विवाह कार्य सम्पन्न किया जा सकता है, इस बात की जानकारी आमजन को दें। 

श्री नकाते ने कहा कि स्थानीय निकायों द्वारा जो ऐतहियात के तौर पर जो कार्य किये जा रहे है, उनकी सूचना प्रतिदिन जिला मुख्यालय को देनी है। ब्लाॅक सीएमएचओ अपने स्तर पर आवश्यक सामग्री खरीद सकते है तथा ग्रामीण स्तर पर ग्राम स्वास्थ्य समितियों के पास 10-10 हजार रूपये की राशि उपलब्ध है, इस राशि का उपयोग भी सेनेटाईजेशन में किया जा सकता है। धार्मिक स्थलों के माध्यम से कोरोना वायरस के बचाव के लिये चिकित्सा विभाग द्वारा तैयार क्लिप प्रसारित करवाई जाये। 

जिला स्तर पर संचालित नियंत्रण कक्ष

20 मई को आयोजित होने वाली ग्राम सभाएं भी स्थगित कर दी गई है। जिला स्तर पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नम्बर 0154-2445071 तथा जिला प्रशासन के नियंत्रण कक्ष 0154-2440988 पर सूचना दी जा सकती है। 

विदेश से आये नागरिकों की सूचना दें

जिला कलक्टर श्री नकाते ने बताया कि जिले में किसी भी देश से आये हुए नागरिकों की सूचना चिकित्सा विभाग, जिला प्रशासन, ब्लाॅक स्तर के नियंत्रण कक्ष या संबंधित क्षेत्र के एसडीएम व थानाधिकारी को इसकी सूचना दी जा सकती है, जिससे किसी प्रकार का संक्रमित व्यक्ति बिना आईसोलेशन के न रहें। 


सार्वजनिक स्थलों व न्यायालयों में अनावश्यक भीड़ न होः- पुलिस अधीक्षक


पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा ने प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्र में होने वाली शादियों को ध्यान में रखकर संबंधित परिवारों को समझाईश करें कि परिवार के सीमित सदस्यों में ही शादी समारोह आयोजित किया जाये। समझाईश के साथ-साथ यह बताये कि जिले में धारा 144 प्रभावी है तथा आदेशों का उल्ल्घंन करने पर इस्तगासा दायर किया जायेगा। 

उन्होंने कहा कि सरकार एवं चिकित्सा विभाग द्वारा जो एडवाईजरी जारी की गई है एवं जिला मजिस्ट्रेट द्वारा जो आदेश दिये गये है, उनकी पालना सुनिश्चित की जाये। पुलिस अधीक्षक श्री शर्मा ने कहा कि आगामी दिनों में नवरात्रा का पर्व आने वाला है, इस संबंध में भी प्रबुद्धजनों से बातचीत की जाये तथा उन्हें सहयोग करने के बारे में बताया जाये।

 सोशल मीडिया पर किसी तरह की अफवाह फैलाने वालों पर नजर रखनी है तथा पुलिस निदेशालय द्वारा जो आदेश दिये गये है, उनकी अक्षरशः पालना की जाये।


 सार्वजनिक स्थलों व न्यायालय परिसर में भी अनावश्यक भीड़ न हो, इस बात का ध्यान रखा जाये। 


सोडियम हाईपोक्लोराईट के एक प्रतिशत घोल से सेनेटाईज करेंः- सीएमएचओ

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. गिरधारी लाल ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण एवं बचाव के संबंध में जो नागरिक बुखार, जुकाम, खांसी से पीड़ित है, उन्ही लोगों को मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए। सार्वजनिक स्थलों, अपने घरों को सोडियम हाईपोक्लोराईट के एक प्रतिशत घोल से अपने वातावरण को सेनेटाईज किया जा सकता है। स्वस्थ नागरिक अपने घर में रहें, भीड़ वाले क्षेत्र में जाने से बचें। किसी व्यक्ति को बुखार, जुकाम, खांसी है तो वह बिना किसी घबराहट के संबंधित चिकित्सक के पास जाकर उपचार लें। खांसी, बुखार व जुकाम से पीड़ित रोगी से दूरी बनाकर रखें तथा हाथों को साबुन से अच्छी तरह साफ करते रहें। 

वीडियों कान्फ्रेंसिंग में अतिरिक्त जिला कलक्टर सर्तकता श्री अरविन्द जाखड़, एसडीएम श्री उम्मेद सिंह रतनू, पुलिस अधिकारी श्री स्माईल खान सहित अन्य अधिकारी तथा जिले के एसडीएम, तहसीलदार, विकास अधिकारी तथा थानाधिकारी वीसी के माध्यम से जुड़े हुए थे। 

-------------

कोरोना वायरस के संक्रमण व बचाव को लेकर 

परिवहन विभाग द्वारा निजी बस संचालकों की बैठक 

श्रीगंगानगर, 19 मार्च। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस को वैश्विक महामारी घोषित किया गया है।  कोरोना वायरस जनित कोविड-19 बीमारी को निष्प्रभावी करने एवं आमजन के बचाव हेतु भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की पालना में परिवहन विभाग कार्यालय में गुरूवार को जिले में संचालित निजी बस संचालकों की एक बैठक का आयोजन किया गया।  

जिला परिवहन अधिकारी सुमन ने बैठक में बस संचालकों को बस चलाने वाले चालक एवं परिचालकों को मास्क पहनकर, हाथों को सेनेटाइज करने के उपरंात ही वाहन संचालन करने हेतु निर्देशित किया गया।  इसके साथ ही बस की सीटों, हैण्डल इत्यादि को भी नियमित रूप से सेनेटाइज करने हेतु, बस में परिवहन करने वाले यात्रियों को भी सेनेटाइज करने, ओवरक्राडिंग नहीं करने हेतु भी निर्देशित किया गया, जिससे कोरोना वायरस से बचाव किया जा सके, जिस पर सभी बस संचालकों द्वारा सहमति व्यक्त की गई। इसके साथ ही बस संचालकों को बस में यात्रा करने वाले यात्रियों को कोरोना वायरस से बचाव की जानकारी के पम्पलेट भी उपलब्ध करवाये गये, ताकि आमजन को जानकारी उपलब्ध करवाते हुए कोरोना वायरस से बचाव किया जा सके।  

आयोजित बैठक मंे विराट ट्रेवल्स, शाईन स्टार ट्रेवल्स, जमींदारा ट्रेवल्स, संगम ट्रेवल्स, टांटिया ट्रेवल्स, चैधरी मोटर्स, जटाना ट्रेवल्स, सिद्धार्थ टूर एण्ड ट्रेवल्स, जसूजा मोटर्स, शेखावत ट्रेवल्स, जगदीश पे्रेमी, लोक परिवहन बस प्रतिनिधी इत्यादियों द्वारा अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई गई।

---------

आवश्यक वस्तुएं नियमित मिलती रहेगी:अफवाहों पर कार्यवाही होगी-जिला कलक्टर



श्रीगंगानगर, 19 मार्च 2020.

कोरोना वायरस को लेकर अफवाहें फैलाने वालों के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। 

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम. नकाते ने नागरिकों से अनुरोध किया है कि किसी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दे। नागरिको को आवश्यक वस्तुएं नियमित रूप से मिलती रहेगी। किसी प्रकार से सब्जियों, खाद्य वस्तुओं की कमी नही है। 

आमजन भरोसा बनाए रखे। राशन की कोई कमी नही है। अगर कोई नागरिक भ्रामक अफवाह फैलाता है, तो इसकी सूचना संबंधित थाना या नियंत्रण कक्ष को दे। 

----------



मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार को 20 मार्च शाम 5 बजे विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा।

मध्य प्रदेश के राजनीतिक घटनाक्रम पर सुप्रीम कोर्ट ने 19 मार्च 2020 को बड़ा आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि कल 20 मार्च को  मध्य प्रदेश विधानसभा का सत्र फिर से बुलाया जाए. अदालत ने कहा कि कमलनाथ सरकार कल शाम 5 बजे तक बहुमत हासिल करे. सुप्रीम कोर्ट ने सदन की कार्यवाही का वीडियोग्राफी कराने का निर्देश दिया है.सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि बागी विधायकों की सुरक्षा सुनिश्चित कराई जाए. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि 16 विधायकों पर विधानसभा में आने का कोई दबाव नहीं होगा. अदालत ने कहा कि कर्नाटक और मध्यप्रदेश के पुलिस महानिदेशक बागी विधायकों की सुरक्षा सुनिश्चित करें. अदालत ने अपने आदेश में कहा है कि विधानसभा की कार्यवाही लाइव का सीधा प्रसारण किया जाएगा. अदालत ने कहा कि विधानसभा सत्र का एक मात्र एजेंडा फ्लोर टेस्ट करवाना होगा. कोर्ट ने कहा कि सभी अधिकारी ये सुनिश्चित करें कि किसी भी तरह आदेश का उल्लंघन न हो.00

***



कोर्ट ने डेथ वॉरंट पर रोक लगाने से इनकार किया, चारों को 20 मार्च को ही होगी फांसी।



नई दिल्ली 19 मार्च 2020.


दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने गुरुवार को निर्भया गैंगरेप केस के दोषियों के खिलाफ जारी किए गए डेथ वॉरंट पर रोक लगाने से इनकार कर दिया। दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट ने भी दो दोषियों के फांसी से बचने के पैंतरों पर विराम लगाया। इसी बीच दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि चाहें तो दोषियों को भारत-पाकिस्तान की सीमा पर भेज दिया जाए, चाहे उन्हें डोकलाम भेज दें, लेकिन उन्हें फांसी मत दीजिए। वे देश की सेवा करने के लिए तैयार हैं। मैं इस बारे में एफिडेविट भी दायर कर सकता हूं। बता दें कि दोषियों के डेथ वॉरंट के मुताबिक, उन्हें 20 मार्च (शुक्रवार) सुबह 5:30 बजे फांसी होनी है।

इससे पहले एपी सिंह ने पहले पटियाला हाउस कोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट में दोषियों को बचाने के लिए कई दलीलें दीं। पटियाला हाउस कोर्ट के सामने उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस के चलते देश भर में कामकाज पर असर पड़ा है। उन्होंने दोषियों पर चल रहे और उनकी तरफ से दाखिल किए गए उन कई केसों का हवाला दिया, जिन पर अभी सुनवाई पूरी नहीं हुई।

कोर्टरूम में जज से वकील ने पूछा- हिन्दी से कोई दिक्कत तो नहीं? हंसकर बोले जस्टिस चंद्रचूड़- ‘नहीं, नहीं यह तो एक खूबसूरत भाषा’

उन्होंने बताया कि एक दोषी की पत्नी ने औरंगाबाद फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्जी दाखिल की है। वहीं, एक दोषी की चुनाव आयोग के खिलाफ याचिका दिल्ली हाईकोर्ट में लंबित है। इसके अलावा मानवाधिकार संगठन की तरफ से इस मामले में एक याचिका इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में भी लंबित है। एपी सिंह ने कहा कि कोरोनावायरस के डर की वजह से सभी जगहें बंद हैं। इसलिए कई केस पेंडिंग हुए हैं।

हालांकि, कोर्ट ने उनकी दलीलें ठुकराते हुए कहा कि डेथ वॉरंट पर रोक लगाने के लिए कोई भी वैध आधार पेश नहीं किया गया। कोर्ट ने कहा कि एक दया याचिका खारिज हो जाने के बाद दूसरी दया याचिका लंबित होने पर फांसी की सजा नहीं टाली जा सकती।

दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट ने भी दो दोषियों की अलग-अलग याचिकाओं को ठुकरा दिया। एक दोषी ने मां की थी कि केस से जुड़े सबूत दोबारा खोले जाएं। वहीं एक दोषी ने राष्ट्रपति की तरफ से उसकी दया याचिका खारिज करने के फैसले को ही चुनौती दे डाली थी। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट में दोनों ही दोषियों की याचिका खारिज हो गई।00


बुधवार, 18 मार्च 2020

इंदिरा गांधी नहर में 23 से 25 मार्च तक पीने का पानी प्रवाहित होगा-25 मिर्च से 2 जून तक नहरबंदी

श्रीगंगानगर, 18 मार्च 2020.

इन्दिरा गांधी फीडर (पंजाब भाग व राजस्थान भाग) व इन्दिरा गांधी मुख्य नहर में रि-लाईनिंग कार्य करवाये जाने हेतु 25 मार्च से 02 जून 2020 तक 70 दिवस की नहर बन्दी ली जानी है, जिसके लिए पंजाब ने सहमति प्रदान कर दी है।

जल संसाधन उतर हनुमानगढ संगम के मुख्य अभियंता ने बताया कि 23 से 25 मार्च 2020 को नहरों में पूर्ण क्षमता से पीने हेतु पानी प्रवाहित होगा। सभी काश्तकारों, जनसाधारण एवं सभी संबंधित विभागों से आग्रह है कि नहर बन्दी के मध्य नज़र पीने एवं अन्य कार्यों हेतु पानी का समुचित भण्डारण कर लिया जाये। 

26 मार्च 2020 से 03 मई 2020 तक इन्दिरा गांधी फीडर (राजस्थान भाग) एवं इन्दिरा गांधी मुख्य नहर में आंशिक नहर बन्दी होगी, जिसमें नहरों में आवश्यकतानुसार सिर्फ पीने हेतु पानी प्रवाहित किया जायेगा एवं नहरों को वरियता, आवश्यकता अनुसार पानी उपलब्ध करवाया जायेगा। 

04 मई 2020 से 02 जून 2020 तक पूर्ण नहर बन्दी रहेगी। जिसमें इन्दिरा गांधी नहर प्रणाली की समस्त नहरें बन्द रहेंगी। इसके लिए समस्त स्थानीय पानी के स्त्रोत, विभागीय पेयजल स्त्रोतांे यथा डिग्गी, टांके इत्यादि में भण्डारण सुनिश्चित किया जाये। 

सभी काश्तकरों को यह भी सूचित किया जाता है कि 23 मार्च 2020 से 03 मई 2020 तक नहरो में केवल पीने हेतु ही पानी चलाया जावेगा, इस दौरान सिंचाई हेतु पानी का उपयोग नहीं किया जा सकेगा। 

----------



हनुमान जी की कृपा होगी-पूजा करते वक्त इन तीन रंगों को दूर रखें .

*करणीदानसिंह राजपूत*

कलयुग में भगवान राम के सेवक हनुमानजी ही तारणहार हैं और इसलिए सर्वत्र पूजनीय हैं। सबसे अधिक स्थानों पर हनुमानजी के मंदिर हैं। यहां तक की छोटे से गांव मे भी मंदिर हैं तथा सबसे अधिक मंदिर बनाये जा रहे हैं। अनेक देवी देवताओं के मंदिरों में हनुमानजी की प्रतिमाएं भी स्थापित की हुई हैं। 

हनुमानजी का पूजन वैसे तो हर दिन ही होता है लेकिन मंगलवार और शनिवार को विशेष होता है। भक्त लोग उपवास भी हनुमानजी के वारों पर अधिक करते हैं।

यह मान्यता भी है कि कलियुग में कोई अन्य सुने ना सुने लेकिन हनुमानजी जरूर सुनेंगे। 

ऐसा कौनसा कष्ट है जो हनुमानजी दूर नहीं कर सकते। यानि कि हनुमानजी हर कष्ट को दुख को दूर करने वाले हैं।

बजरंग बाण में तो अपार शक्ति मानी जाती है कि उसके पठन से तो सब कष्ट दूर हो जाते हैं।

हनुमानजी को सिंदूर लगाने का भी विधान है। भोग किसी भी मिष्ठान का लगाया जा सकता है लेकिन विशेष कर पेड़ा बूंदी सर्वाधिक चढाए जाते हैं।

देश भर में अनेक हनुमंत स्थल पूजनीय हैं जहां प्रतिदिन हजारों नर नारी दूर दूर से दर्शन पूजन को पहुंचते हैं। हनुमानजी ब्रह्मचारी हैं इसलिए उनकी प्रतिमा का स्पर्श भक्त पुरूष ही करते हैं।

हनुमानजी अतुलनीय बलशाली माने जाते हैं। ऐसी मान्यताओं और आस्थाओं को रखते हुए ही पूजन अर्चन करना चाहिए।

आज कलियुग में हनुमानजी का पूजन तो सर्वाधिक हो रहा है लेकिन उनकी कृपा कितने लोगों को मिल रही है या मिल पाती है। कुछ ऐसे भी होते हैं जिनके मन में यह होता रहता है कि उन पर कृपा आ नहीं रही है।

ऐसी मान्यता है कि हनुमानजी की पूजा करने वाले के शरीर पर काले नीले और हरे रंग के कोई वस्त्र धारण किए हुए नहीं होने चाहिए। ऐसा मानते हैं कि ये रंग हनुमानजी को प्रिय नहीं है। हनुमानजी इन रंगों को पसंद नहीं करते।


( राजस्थानी के प्रसिद्ध साहित्यकार श्री मनोज कुमार स्वामी ने रंगों वाली बात बताई। स्वामी जी को यह महत्वपूर्ण बात पं.शंकरलाल शास्त्री जी ने बताई जब वे सूरतगढ़ में रिश्तेदारी में आए और करीब पन्द्रह दिन रूके थे। शास्त्री जी की आयु 90 वर्ष के आसपास होगी।वे राजस्थान के नागौर जिले के अलाय में रहते हैं।)00 दि.18 मार्च 2020.

*******


******


सोमवार, 16 मार्च 2020

सूरतगढ: दुकानदार खुद शनिवार तक हटा लेंगे नालों पर किए अतिक्रमण.

* करणीदानसिंह। राजपूत *

सूूरतगढ 16 मार्च 2020.

पालिका प्रशासन और दूकानदारों के बीच हुई बातचीत में नालों पर किए हुए पक्के निर्माण दुकानदार खुद शनिवार तक तुड़वा देंगे और सामान भी नहीं रखेंगे।

शनिवार के बाद नालों पर कुछ भी अतिक्रमण मिला तो उसे हटाने का खर्च दुकानदार से वसूला जाएगा। अब नालों पर एक ईंच भी अतिक्रमण नहीं रख पाएंगे और थोड़ा भी अतिक्रमण मिला तो तोड़ने का खर्च वसूला जाएगा।

विदित रहे कि दुकान के शटर के आगे अनेक दुकानों के आगे 3 फुट छोड़ कर नालों का निर्माण कराया गया था।

दुकानदारों ने कुछ दिनों के बाद नालों पर पक्के निर्माण कर ढक दिया और वहां बाहर तक काउंटर लगाने लगे और सामान रखने लगे। इससे आगे सड़क भी रोकने लगे। 

प्रशासन ने तीन दिन में अतिक्रमण हटाने और नहीं हटाने पर 17 मार्च से नालों पर किए पक्के निर्माण तोड़ कर हटाने की स्पष्ट चेतावनी देदी थी।**

****


यह ब्लॉग खोजें