करणी प्रेस इंडिया

शनिवार, 18 मई 2024

राज्यपाल कलराज मिश्र को डॉ तुषार जागावत ने संदेश वाले जुट बैग और कविताएं भेंट की

 





* करणीदानसिंह राजपूत *

 जयपुर, 18 मई 2024

राजस्थान के राज्यपाल श्री कलराज मिश्र को डॉ तुषार जागावत "सादगी", सीनियर मनोचिकित्सक, निम्स यूनिवर्सिटी , जयपुर, ने संदेश लिखित जुट बैग भेंट किया एवं पॉलिथीन की महामारी- कोरो

ना से भी भारी , कविता पढ़कर सुनाई। 

इस अवसर पर डॉ जागावत ने स्वयं रचित हिंदी कविता संग्रह मन के रोग- दिमागी बीमारियां की एक प्रति सादर भेंट की। डॉ जागावत ने स्वयं रचित संदेश वाली कविताएं जैसे सड़क सुरक्षा-सबकी रक्षा, मतदान यानी महादान, मतदान यानी शतदान, स्वच्छता भी देशप्रेम- देशभक्ति , पानी- बिजली बचाएं, रक्तदान-नेत्रदान-अंगदान करें, कागज बचाएं,  भोजन बचाएं, मोटा अनाज खाएं इत्यादि  कविताएं भी सादर भेंट की।  डॉ जागावत ने सर को बताया कि वो कपड़े और जुट के बैग फ्री में सब्जी व फल वालो को, किराना स्टोर वालों को भेंट करते हैं।

 माननीय राज्यपाल ने डॉ तुषार जागावत को संदेश युक्त जुट बैग के लिए और संदेश वाली कविताओं के लिए बहुत बहुत बधाई एवम शुभकामनाएं दी एवम उनके समाजसेवी कार्यों के लिए भी उनकी प्रशंसा की । 

इस अवसर पर उनके साथ उनका परिवार भी था, उनकी पत्नी डॉ सविता जागावत, सीनियर क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट और पुत्र कोस्तुभ जागावत भी उपस्थित थे।०0०

सूरतगढ़:मोनिका अरोड़ा को दिए पंप हाऊस पट्टे को रद्द करने का मांगपत्र

 

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़  18 मई 2024.

नगरपालिका के पंप हाऊस की जमीन का पट्टा बनाए जाने का मामला उजागर होने के पांच दिन बाद पट्टा जारी करने वाले परसराम भाटिया कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष ( पूर्व पालिका अध्यक्ष) ने ईओ को एक पत्र दिया है जिसमें पट्टे को निरस्त कर दिए जाने का लिखा है। यह पत्र 14 मई को लिखा गया है की जांच करवाई जाए और तथ्य छिपा कर पट्टा लिया गया है तो नियमानुसार निरस्त कर दिया जाए। इसमें अभियान के नियमों का उल्लेख भी किया गया है।

* राठी स्कूल से निकले बाईपास रोड पर नगरपालिका के पंप हाऊस की भूमि पर पट्टा बनाया गया। किसी को मालुम न हो सके इसलिए नगरपालिका संपत्ति के बोर्ड पर काले छींटे मार दिए जिससे लिखा पढा न जा सके। पंप हाऊस की दीवार पर लिखे को सफेद पोत दिया गया। पंप हाऊस की भीतरी दीवार तोड़ कर शामिल किया। ये पहचान छिपाने के लिए किया जाना ही फ्राड होना साबित करता है।







यह धारा 69 के तहत पट्टा मोनिका पत्नी राजेश अरोड़ा के नाम पर  बनवाया गया। यह पट्टा डीएलबी द्वारा नियुक्त अध्यक्ष परसराम भाटिया के कार्यकाल में बनाया गया। मामला गंभीर है और शीघ्र ही मुकदमा होने संभावना बनी हुई है।

 इस पट्टे बनाने के आरोप में मुख्य रूप से परसराम भाटिया, उस समय के अधिशासी अधिकारी शैलेंद्र गोदारा,जमीन मोनिका की प्रमाणित करने वाले अभियंता और लाभ लेने वाली मोनिका घेरे में है और मुकदमा होने पर परेशानी हो सकती है। 


👍 ईओ पूजा शर्मा द्वारा पट्टा फाईल को अपने कार्यालय तालाबंद आलमारी में  रखना जरूरी है ताकि फाईल सुरक्षित रह सके।




👍 नगरपालिका के निलंबित अध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा (भाजपा)और परसराम भाटिया की लड़ाई में यह मामला दबाया जाना और क्लीन चिट मुश्किल है। ओमप्रकाश कालवा की पद पर बहाली को परसराम भाटिया ने चुनौती दी उसके बाद यह झगड़ा बढ गया। कालवा पक्ष चाहता है कि इस पट्टा कांड में परसराम भाटिया निकल न पाए और दंड भी मिले। नगरपालिका के कामकाज ठप्प है। विकास के नारे लगाने वाले नेताओं के मुंह पर ताला है। पालिका के पंप हाऊस की जमीन का पट्टा बनाना गलत है या सही है? सवाल यह भी उठ रहा है कि क्या ओमप्रकाश कालवा और परसराम भाटिया के बीच कोई सुलह करवाई जा सकती है?

परसराम भाटिया कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष हैं इसलिए स्थानीय विधायक डुंगरराम गेदर भी आलोचनाओं के घेरे में है।०0०





शुक्रवार, 17 मई 2024

मोदी को लाने वाले गायब हो गये! ईमानदारी से सेवा की घोषणा करने वाले सचवादे

 


* करणीदानसिंह राजपूत *

विधानसभा चुनाव 2023 से लगभग 2 साल तो कोई एक साल पहले प्रगट हुए चेहरे जो हाथ जोड़कर कहा करते थे कि वे ईमानदारी से सेवा करने आए हैं और सेवा करते रहेंगे। नर और नारी। औरत हाथ जोड़ रही थी तब पति भी हाथ जोड़े खड़ा था। व्यक्ति हाथ जोड़ रहा था तब किसी की पत्नी और परिवार जन हाथ जोड़े खड़े थे। मोदी को फिर लाएंगे के अभियान चलाए जा रहे थे। सभा पंडालों में अभियानों में सबसे बड़ा अभियान था भाषण देना और दरी पर बैठ फोटो खिंचवाना पहला काम होता। अपने रुतबे ( महानता) को दिखाने के लिए किसी ने सम्मेलन करवाए तो किसी ने जागरण करवाए। राजनैतिक यात्राओं में मंच लंगर तक लगवाए। राजनीति में पंद्रह बीस सालों के इतिहास वाली रिपोर्ट कथाएं छपवाई गई। बड़े नेताओं के सम्पर्क के घरों के भीतरी कमरों में फोटो खिंचवा कर छपवाए गये।

पिछले कई महीनों से ये और वे सचवादे चेहरे गायब हैं। न चिट्ठी न संदेश ना जाने कौन से देश जहां वो चले गये? 

विधानसभा चुनाव 2023 की टिकट घोषणा से पहले तक हर कहीं सचवादे हाजिर रहते। उसके बाद से उनको नहीं देखा। मोदीजी के लिए वोट मांगने नहीं आए। कमल निशान पर बटन दबाने का कहने नहीं आए। मोदीजी ने टिकट दूसरे को दे दिया। सारी भागदौड़ बेकार हो गई। मोदीजी के लिए वोट मांगने के उत्साह पर बर्फबारी हो गई।

उसके बाद लोकसभा चुनाव 2024 में भी नये सचवादे सामने आए। टिकट घोषित होने के बाद वे भी न जाने कहां चले गये? मोदीजी ने उनको टिकट नहीं दिया। अब मोदीजी के लिए वोट मांगने का जी नहीं हुआ। राजस्थान के ये हालात देश के हालात बन गये। हर प्रदेश में ऐसी ही मिलती जुलती दशा दिशा।

17 मई 2024.

करणीदानसिंह राजपूत,

पत्रकारिता 60 वर्ष,

सूरतगढ़ ( राजस्थान)

94143 81356

*******

अच्छा लगे तो अपनी किसी भाषा में शेयर करें। प्रकाशित करें।

*******








सूरतगढ़: चार पांच दुकनदार ही हर सड़क पर अतिक्रमण करते हैं.

 







* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 17 मई 2024. दुकानदारों द्वारा सड़कों पर थड़ों पर अतिक्रमण करके आवागमन की व्यवस्था बिगाड़ने के अनेक फोटो समाचार,वीडियो आदि सरकार,नगरपालिका ईओ व अध्यक्ष, एसडीएम, कलक्टर को 18 महिनों से दिए जाते रहे लेकिन किसी भी विभाग ने कार्यवाही नहीं की। सितंबर 2022 में दुकानदारों के संगठनों ने सहमति दी कि सड़क व थड़े पर सामान नहीं रखेंगे और थड़े का व्यावसायिक इस्तेमाल नहीं करेंगे। लेकिन इस सहमति को बार बार छापने के बावजूद कोई कार्यवाही नहीं की गई।

* अब तीन दिन पहले ट्रैफिक पुलिस ने दुकानदारों को समझाया पुलिस एक्ट  की धारा 60 में कार्यवाही होगी।सामान कुछ हटवाया। दुकानदार अभी भी थड़ी का अतिक्रमण छोड़ना नहीं चाहते। 

👍हर सड़क पर चार पांच ढीठ होते हैं जो सामान रखे बिना मानते नहीं। समझाईस की जरुरत ही नहीं। सभी पढे लिखे हैं। बस रोजाना चालान जुर्माना हो। पहले 50 रूपये एक बार में लगता था और अब 500 रुपये जुर्माना है। पुलिस रोजाना चालान काटे। ढील एक दिन की भी खराब। चार पांच को देख कर दूसरे भी अतिक्रमण करते हैं।

 * साईन बोर्ड से सड़क पर अतिक्रमण,चटाई बिछा कर अतिक्रमण। सामान ट्रांसपोर्ट से आया चार पांच घंटे सड़क पर पड़ा है। रात को दुकान बंद करेंगे उस वक्त भीतर रखेंगे। यह छूट भी क्यों हो जो आवागमन को बाधित करे।

*अनेक रूप हैं अतिक्रमण के और एक ही ईलाज है कि चालान में सिफारिश हाथाजोड़ी दर किनार हो। एक बार समझाईस कर दी जो बहुत है। 



👍यहां सहमति पत्र की फोटो दे रहे हैं।०0०







गुरुवार, 16 मई 2024

ईओ पंप हाऊस जमीन का पट्टा फाईल तालाबंद सुरक्षित करे.



* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 16 मई 2024.

नगर पालिका पंप हाउस की जमीन का फर्जी दस्तावेजों से पट्टा बनाए जाने की फाईल को तालाबंद आलमारी में  सुरक्षित रखना ईओ पूजा शर्मा की जिम्मेदारी है ताकि उसे गायब व नष्ट होने से बचाया जा सके। ईओ का शुक्रवार 17 मई को पहला काम हो कि फाईल कागजातों पर हर पेज पर नम्बरिंग हो और उसके साथ ही सुरक्षा के लिए आलमारी में तालाबंद रखी जाए।

फाईल उच्च स्तरीय जांच पर या फिर मुकदमा हो तो अनुसंधान अधिकारी के लिए ताले से बाहर निकाली जाए। सूरतगढ़ नगरपालिका के इतिहास में यह बड़ा भ्रष्टाचार है और वर्तमान ईओ की जिम्मेदारी है।

👍 यह मामला पालिका की जांच कमेटी में पट्टा निरस्तीकरण से खत्म नहीं हो सकता क्योंकि यह त्रुटि नहीं फ्राड है जो मोनिका के आवेदन हस्ताक्षर से शुरू हुआ। इसमें जांच समिति किसी को भी क्लीन चिट नहीं दे सकती। 




* मामला गंभीर है नगरपालिका की संपत्ति का है और निकट भविष्य में मुकदमा होने की भी पूरी संभावनाएं हैं।

👍 भाजपा सरकार में उजागर हुए इस मामले में कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष परसराम भाटिया पर आरोप है कि उन्होंने पट्टा बनाया इसलिए फाईल को सुरक्षित रखना ईओ की बड़ी जिम्मेदारी है।



* पंप हाउस की जमीन का पट्टा बनाए जाने का भ्रष्टाचार, दस्तावेजों की कूट रचना, नियम विरुद्ध कार्यवाही स्पष्ट हो जाने के बावजूद पालिका के पार्षदों ने मौन धारण कर रखा है। केवल एक महिला भाजपा पार्षद यासमीन सिद्दिकी ने लिखित में शिकायत की है।  नगर पालिका की संपत्ति को बचाना रख रखाव करना सब पार्षदों की जिम्मेदारी है मगर यह इसलिए चुप है कि दोस्ताना संबंध निभाए जा सकें और हो सके तो इस भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों कर्मचारियों को लाभ लेने वालों को बचाने की कोशिश हो सके। 


* सितंबर 2022 में पंप हाऊस की जमीन पर अतिक्रमण का मामला जोरशोर से उठा, हंगामा हुआ। नगरपालिका संपत्ति के बोर्ड लगे और इतना होने के बावजूद मोनिका पत्नी राजेश अरोड़ा और पालिका स्टाफ का दुस्साहस है कि उन्होंने यह फर्जीवाड़ा कर लिया। 

* परसराम भाटिया इस पट्टा प्रकरण में स्वयं को बचाने के लिए राजनीति में ओमप्रकाश कालवा की बहाली को चैलेंज करने में रुख बदल चुप्पी रख सकता है। इस पट्टा प्रकरण में मजबूरी में समझौता होगा या मुकदमा?

०0०

*******




बड़े होटल, ढाबों एवं रेस्टोरेंट का निरीक्षण: खाद्य नमूना लेना अभियान शुरु

 




हनुमानगढ़ 15 म ई 2024.


 आयुक्त महोदय,  इकबाल खांन (खाद्य सुरक्षा) एवं औषधि नियत्रक विभाग, राजस्थान जयपुर के आदेशानुसार हनुमानगढ़ जिले में डॉ. नवनीत शर्मा, अभिहित अधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा एवंस्वास्थ्य अधिकारी, हनुमानगढ़ के नेतृत्व में जिले में आवंटित अभियान के अनुरूप बड़े होटल, ढाबों एवं रेस्टोरेंट के निरीक्षण एवं खाद्य नमूनीकरण का विशेष अभियान 14.05.2024 से 16.05.2024 तक संचालित किया जा रहा है। 

अभियान के प्रथम दिवस खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री रफीक मोहम्मद व श्री संदीप कुमार सिसोदिया द्वारा नोहर से मैसर्स प्रदीप छोले भटूरे से सब्जी का, भादरा से मैसर्स फौजी दा ढाबा से दही, मैसर्स अशोका होटल से मिक्स दूध, मैसर्स श्री कृष्णा भोजनालय से दही, मैसर्स न्यू बी0डी0एस सांवरियाँ रिसोर्ट से पनीर, मैसर्स ग्रीन वेली बार/होटल से ग्रेवी, मैसर्स होटल मोती पैलेस से गेंहू का आटा, मैसर्स बिश्नोई होटल से पनीर, रावतसर से मैसर्स युवराज होटल एवं रेस्टोरेंट से दही, मैसर्स बतरा होटल एण्ड फूॅड प्लाजा से पनीर के नमूने लेकर जनस्वास्थ्य प्रयोगशाला, बीकानेर में भिजवाए गए है। जांच रिपोर्ट के अनुरूप आगामी कार्यवाही अमल में लायी जावेगी।०0०






बुधवार, 15 मई 2024

पंप हाऊस जमीन का पट्टा बना दिया:नेता पार्टियां शर्मनाक चुप्पी पर.

 

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 15 मई 2024.

नगर पालिका पंप हाउस की जमीन का फर्जी दस्तावेजों से पट्टा बनाए जाने का भ्रष्टाचार मामूली नहीं है कि इस कार्यवाही में हाथ काले करने वालों को क्लीन चिट मिल जाए। 

यह मामला पालिका की जांच कमेटी में भी खत्म नहीं हो सकता। इसमें किसी को क्लीन चिट दी जा सकने की हर कार्यवाही सदस्यों को भी खतरे में डाल सकती है। नगरपालिका के किस नियम से कमेटी का गठन किया गया है यह अधिशासी अधिकारी की जिम्मेदारी है।

* मामला गंभीर है नगरपालिका की संपत्ति का है और निकट भविष्य में मुकदमा होने की भी पूरी संभावनाएं हैं,सो यह मामला ईओ खुद को देखना चाहिए था।

* पंप हाउस की जमीन का पट्टा बनाए जाने का भ्रष्टाचार, दस्तावेजों की कूट रचना, नियम विरुद्ध कार्यवाही स्पष्ट हो जाने के बावजूद पालिका के पार्षदों ने मौन धारण कर रखा है। केवल एक महिला भाजपा पार्षद यासमीन सिद्दिकी ने लिखित में शिकायत की है।  नगर पालिका की संपत्ति को बचाना रख रखाव करना सब पार्षदों की जिम्मेदारी है मगर यह इसलिए चुप है कि दोस्ताना संबंध निभाए जा सकें और हो सके तो इस भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों कर्मचारियों को लाभ लेने वालों को बचाने की कोशिश हो सके। इस प्रकार की कोशिश चाहे जो करली जाए लेकिन यह मामला नगरपालिका में चल रही राजनीति से पुलिस मुकदमा निश्चित ही बनेगा। 

* सितंबर 2022 में पंप हाऊस की जमीन पर अतिक्रमण का मामला जोरशोर से उठा, हंगामा हुआ। नगरपालिका संपत्ति के बोर्ड लगे और इतना होने के बावजूद मोनिका पत्नी राजेश अरोड़ा और पालिका स्टाफ का दुस्साहस है कि उन्होंने यह फर्जीवाड़ा कर लिया।  आश्चर्य और शर्मनाक यह है कि इस फर्जीवाड़े पर विधायक,पूर्व विधायकों, नेताओं और राजनीतिक दलों ने विरोध नहीं किया और किसी ने लिखित में मुकदमा कराने का नहीं लिखा। हालांकि यह मामला दबने वाला नहीं रहा है मगर  सभी के चेहरों से पर्दे हटे हैं।

👍👍 नगरपालिका के निलंबित अध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा (भाजपा)और परसराम भाटिया पार्षद( कांंग्रेस) में परस्पर जबरदस्त विवाद और कानूनी लड़ाईयां चल रही है, ऐसे हालात में यह पट्टा कांड भी मुकदमा शिकायत आदि से अलग नहीं रह पाएगा। उक्त पट्टा परसराम भाटिया के कार्यवाहक अध्यक्षता काल में बनाए जाने का आरोप है।०0०

0०

ओमप्रकाश कालवा की HC डबल बैंच में रिट: बहाली आदेश के स्टे के विरुद्ध रिट.

 

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 15 मई 2024.

नगरपालिका सूरतगढ़ के निलंबित अध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा को सस्पेंशन से बहाल करने के आदेश को उच्च न्यायालय ने स्थगित कर दिया था। कालवा ने उक्त स्थगन आदेश के विरुद्ध डबल बैंच में रिट लगा दी है। कालवा की रिट 13 मई को पेश हुई। परसराम भाटिया की ओर से 14 मई केविएट लगाई गई है। संभव है 16 मई को रिट पर विचार हो।

* राजस्थान सरकार के स्वायत्त शासन विभाग की ओर से नगर पालिका अध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा को सीवरेज के रोके हुए 1करोड़ 60 लाख के भुगतान पर न्यायिक जांच के लिए 24 जुलाई 2023 को सस्पेंड किया गया। 6 माह से अधिक समय बीत जाने पर ओमप्रकाश कालवा को न्यायिक जांच के चलते हुए बीच में 19 फरवरी 2024 को बहाल किया गया।

👍 इस बहाली आदेश के विरुद्ध चार पार्षदों

 परसराम भाटिया,बसंत कुमार बोहरा, मोहम्मद फारुख और श्रीमती तुलसी आसवानी ने

 राजस्थान उच्च न्यायालय में एक रिट पिटीशन

दाखिल की।

👍 उक्त रिट पर  पर  विनीत कुमार माथुर की अदालत ने सुनवाई और बहस के बाद 7 मई को आदेश सुरक्षित रखा जो आज 10 मई 2024 को सुनाया गया। 

* फैसले में निर्वाचित प्रतिनिधि ओमप्रकाश कालवा को बहाल करने के आदेश 19 फरवरी 2024 को स्थगित किया गया।

**न्यायिक जांच  (सीवरेज घोटाले भुगतान की) के लिए निर्देशित किया गया कि जांच तेजी से पूरी की जाए।

*** हाई कोर्ट ने फाइनल ऑर्डर के लिए 2 अगस्त 2024 की तारीख सूची बद्ध का आदेश दिया।

👍 उच्च न्यायालय ने बहाली आदेश को स्टे किया लेकिन कुछ पत्रकारों, अखबारों ने आदेश निरस्त करने की गलत खबर दी*०0०

*****









मंगलवार, 14 मई 2024

पालिका के पंप हाऊस की भूमि का पट्टा बनाना आपराधिक कृत्य:मुकदमा होना संभव.

 

👍 जमीन हड़पने का आपराधिक मामला*

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 14 मई 2024.

राठी स्कूल से निकले बाईपास रोड पर नगरपालिका के पंप हाऊस की भूमि का पट्टा बनवाना और  बनाया जाना आपराधिक कृत्य है। इस मामले में पट्टा बनवाने और बनाने वालों ने दस्तावेज फर्जी तैयार किए। 

👍 किसी को मालुम न हो सके इसलिए नगरपालिका पंप हाऊस संपत्ति के बोर्ड पर काले छींटे मार दिए जिससे लिखा पढा न जा सके। पंप हाऊस की दीवार पर लिखे को सफेद पोत दिया। पंप हाऊस की भीतरी दीवार तोड़ कर शामिल किया। यह धारा 69 के तहत पट्टा मोनिका पत्नी  राजेश कुमार अरोड़ा के नाम पर करोड़पति ने बनवाया। इस धारा में पट्टा जारी होने और आगे के खरीदारों के नामों की कड़़ियों को जोड़कर पहले के दस्तावेज जमा करवा कर

आखिरी खरीदार के नाम से नया पट्टा दिया जाता है। मूल जमीन 1750 वर्गफीट थी। इस भूमि के साथ मोनिका पत्नी राजेश की ओर से अतिरिक्त भूमि 1545 वर्गफीट ( पंप की भूमि) जोड़ दी गई जो कुल 3295 वर्गफीट बनाई गई।यह अतिरिक्त भूमि मोनिका के पास कहां से कैसे आई? आरोप है कि नगरपालिका के स्टाफ की मिलीभगत और रिश्वत भ्रष्टाचार के बिना यह घोटाला संभव नहीं। लाखों रूपये का खेल हुआ और गुपचुप तरीके से यह जमीन दे दी गई। इसकी कीमत की कोई रसीद कटने खांचा भूमि मांगने,स्वीकृत होने का रिकॉर्ड सामने नहीं आया है। खरीदार की ओर से खुलासा नहीं हुआ है। तो क्या यह अतिरिक्त भूमी मुफ्त में ही जोड़ दी गई? सारा मामला आपराधिक कृत्य नजर आ रहा है जो मुकदमा और अनुसंधान से ही असलियत सामने लाएगा।










👍 यह पट्टा डीएलबी द्वारा नियुक्त अध्यक्ष परसराम भाटिया के कार्यकाल में बनाया गया। यह घोटाला कुछ पत्रकारों के सामने आया और उजागर हो गया अन्यथा यह जालसाजी का मामला दबा हुआ रह जाता।

👍👍 नगरपालिका के निलंबित अध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा (भाजपा)और परसराम भाटिया पार्षद( कांंग्रेस) में परस्पर जबरदस्त विवाद और कानूनी लड़ाईयां चल रही है, ऐसे हालात में यह पट्टा कांड भी मुकदमा शिकायत आदि से अलग नहीं रह पाएगा। ०0०


******





 

यह ब्लॉग खोजें