Saturday, December 16, 2017

राजस्थान में भाजपा सरकार के 4 साल: श्रीगंगानगर समारोह


श्रीगंगानगर, 15 दिसंबर। पंजाब के लोग मुझे कहते हैं कि भामाशाह कार्ड बनवा दो, आप तो राजस्थान के प्रभारी हो। ये कहना है राज्य सभा सांसद श्री अविनाश रॉय खन्ना का, जो सरकार के चार साल पूरे होने पर श्रीगंगानगर के रामलीला मैदान में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। पंजाबी भाषा में संबोधन देते हुए श्री खन्ना ने कहा कि राजस्थान सरकार की भामाशाह योजना आमजन को लाभान्वित कर रही है। इसका असर आस पास के राज्यों में साफ नजर आता है। श्री खन्ना ने कहा कि हिंदुस्तान में अगर कोई सरकार विकास के कार्यों में नंबर वन पर है तो वो राजस्थान सरकार है। इसके बाद उन्होने एक किश्ती की कहानी सुनाते हुए राजस्थान की मुख्यमंत्री और मंत्रियों को लोगों की चिंता करने वाला बताया। साथ ही कहा कि राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे को उन्होने लगातार काम करते देखा है। राज्यसभा सांसद ने कहा कि कांग्रेस का 70 साल राज रहा लेकिन कांग्रेसियों ने गरीबी हटेगी के केवल नारे ही दिए। लेकिन देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने इस दिशा में कार्य करते हुए उज्ज्वला योजना के अंतर्गत 2 करोड़ लोगों को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया। देश में दो ही प्रधानमंत्री हुए हैं जिनकी अपील जनता ने मानी है। एक श्री लालबहादुर शास्त्री और दूसरे श्री नरेन्द्र मोदी। जिनकी अपील पर करोड़ों लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ दी। श्री खन्ना ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के जरिए प्रत्येक गांव, ढाणी में बिजली कनेक्शन देने का कार्य किया जा रहा है। स्वच्छ भारत अभियान के जरिए देश में स्वच्छता की नई पहल की। 

                              कार्यक्रम को संबोधित करते हुए खान राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री सुरेन्द्र पाल सिंह टीटी ने कहा कि सरकार ने पिछले चार सालों में 905 करोड़ रूपए खालों को पक्का करने के लिए खर्च किए हैं। जिले में कोई भी खाला कच्चा नहीं छोड़ा जाएगा। सभी खाले पक्के किए जाएंगे, वो भी किसानों ने बिना 10 फीसदी राशि लिए। जायका के जिले की सारी नहरें पक्की की जा चुकी है। पहली बार पाकिस्तान सीमा से सटी एच नहर को सीसी बनाया गया है। 4500 करोड़ रूपए किसानों को बिना ब्याज के ऋण दिया गया। हर ग्राम पंचायत पर सीनियर सैंकेडरी स्कूल की स्थापना की गई है। 7 करोड़ की लागत से सिंथेटिक ट्रेक बनने जा रहा है। जिले में पहले मात्र 6 हजार लोगों के पास लेबर कार्ड थे। अब लेबर कार्डों की संख्या जिले में 1 लाख 26 हजार हो चुकी है। इसमें 47 करोड़ मजदूरों को बांटे गए। भामाशाह कार्ड के जरिए योजनाओं का पैसा सीधा लाभार्थी के खाते में जमा हो रहा है। 1 लाख गरीबों को टॉयलेट दिए गए। सूरतगढ़ से अनूपगढ़ तक 300 करोड़ की देश की पहली सीसी रोड़ बनाई जा रही है। श्री टीटी ने ग्रामीण गौरव पथ, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना समेत सरकार की विभिन्न फ्लैगशिप योजनाओं और विभागों की चार साल की उपलब्धियां बताते हुए कहा कि जितना सीधा लाभ आमजन को इस सरकार में मिला है किसी सरकार में नहीं मिला। सरकार ने पिछले चार सालों में सभी वर्गों को ऊपर उठाने का कार्य किया है। 

                        &nb








श्रीगंगानगर सांसद श्री निहालचंद ने कहा कि विकास की यात्रा को अगर किसी ने पूरा किया है तो केन्द्र और राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने किया है। श्री मेघवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान और भामाशाह योजना का लाभ आमजन को मिल रहा है। सतलुज रावी व्यास का जो पानी बरसों से पाकिस्तान जा रहा था उसे पहली बार रोका गया है। पहली बार हरिके बैराज की सफाई, मरम्मत और गेट पहली बार बदले गए। गंगनहर के आधुनिकीकरण परियोजना के तहत 171 करोड़ रूपए व्यय किए गए। भाखड़ा में 125 करोड़ के कार्य हुए। हमसफर ट्रेन की शुरूआत श्रीगंगानगर से हुई। इसके अलावा श्री मेघवाल ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, भारत माला, दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना इत्यादि की उपलब्धियों को विस्तार से बताया। 

                                 कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री जसबीर सिंह ने कहा कि राजस्थान में जो कार्य हो रहा है उसकी प्रशंसा बाहर के राज्यों में भी हो रही है। श्री सिंह ने कहा कि अगर समाज की शैक्षणिक और आर्थिक स्थिति अच्छी हो तो समाज प्रगति करता है और शैक्षणिक व आर्थिक स्थिति के संबल के लिए मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में बहुत सी योजनाएं चला रखी है। इससे समाज में चहुंओर विकास हुआ है। 

                              जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका श्योराण ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान, भामाशाह योजना समेत सरकार की विभिन्न योजनाओं को जनता के लिए लाभकारी बताया। 

सादुलशहर विधायक श्री गुरजंट सिंह ने वसुंधरा राजे सरकार पहली ऐसी सरकार है जिसने किसानों के घर जाकर कार्य किए हैं। फसलों के नुकसान इसी सरकार में पहली बार होती देखी है।


 सूरतगढ़ विधायक श्री राजेन्द्र भादू ने कहा कि सरकार ने सेम समस्या के निस्तारण को खत्म करते हुए टेल तक पानी पहुंचाने का कार्य किया है। एटा-सिंगरासर मामले में पहली बार टिब्बा क्षेत्र में विद्युत कनेक्शन जारी किए गए। सूरतगढ़ अनूपगढ़ रोड़ का ऐतिहासिक कार्य हुआ है। 12 अंडर ब्रिज का निर्माण अकेले सूरतगढ़ क्षेत्र में हुआ है।


 अनूपगढ़ विधायक श्रीमती शिमला बावरी ने कहा कि अनूपगढ़ में 12 करोड़ की लागत से शुद्ध पेयजल लोगों को उपलब्ध करवाया जा रहा है। रावला को उपतहसील और 4 करोड़ का चिलिंग प्लांट अनूपगढ़ में खोला गया है। इससे लोगों को बड़ा फायदा मिल रहा है। 

यूआईटी चेयरमैन श्री संजय महिपाल ने कहा कि सरकार ने 550 करोड़ रूपए स्वीकृत कर श्रीगंगानगर शहर को बारिश के दिनों में गंदे पानी की समस्या से निजात दिला दी है। शहर के सभी 50 वार्डों की सड़कें भी 90 करोड़ की लागत से नई बनेगी। शहर के लोगों को 24 घंटे पानी उपलब्ध रहेगा। पहले यूआईटी के पास मात्रा 70 से 100 करोड़ थे लेकिन शुगर मिल की जगह पर 70-80 बीघा जमीन और मिनी सचिवालय बनने के बाद शहर के कार्यालयों की जमीन मिलाकर यूआईटी के पास अब करीब 2 हजार करोड़ की संपत्ति है। 

श्रीगंगानगर विधायक श्रीमती कामिनी जिंदल ने सरकार के चार साल तरक्की नाल बताते हुए कहा कि सरकार ने गौरव पथ, आदर्श गांव, नई पीएचसी , 550 करोड़ श्रीगंगानगर शहर के लिए मिलने का बताते हुए कहा कि सरकार ने श्रीगंगानगर के साथ कभी सौतेला व्यवहार नहीं किया। 

जिला कलक्टर श्री ज्ञानाराम ने सरकार के चार साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हएु कहा कि सरकार की विभिन्न फ्लेगशिप योजनाओं का लाभ आमजन को प्रदान करने के लिये प्रशासनिक अधिकारी प्रतिबद्ध है। विभिन्न योजनाओं का लाभ आमजन को दिया जा रहा है। रात्रि चौपाल इत्यादि के जरिये भी गांवों में जाकर जनसुनवाई की जा रही है। 

                          इससे पहले खान राज्यमंत्री श्री सुरेन्द्र पाल सिंह टीटी, श्रीगंगानगर सांसद श्री निहालचंद मेघवाल, अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री जसबीर सिंह, जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका श्योराण, अनूपगढ़ विधायक श्रीमती शिमला बावरी, सूरतगढ़ विधायक श्री राजेन्द्र भादू, यूआईटी चेयरमैन श्री संजय महिपाल, श्रीगंगानगर विधायक श्रीमती कामिनी जिंदल ने जिला विकास प्रदर्शनी का फीताकाट कर उद्घाटन किया। इसके बाद सभी अतिथिगणों ने प्रदर्शनी का अवलोकन कर प्रंशसा की। साथ ही आमजन के लिए भी लाभकारी बताया। इसके बाद अतिथियों ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, आरएसएलडीसी, सिंचाई विभाग, आईटीआई, पुलिस विभाग, उद्योग समेत विभिन्न विभागों का निरीक्षण किया। कार्यक्रम में रोजगार मेले का आयोजन भी किया गया था। रोजगार मेले का निरीक्षण भी अतिथियों ने किया। 

                           मंच पर जिला विकास पुस्तिका का विमोचन अतिथियों द्वारा किया जाकर जिले के चार साल के विकास पर बनी लघु फिल्म की खान राज्य मंत्री श्री सुरेन्द्र पाल सिंह टीटी ने बटन दबाकर लॉचिंग की। आयोजित कार्यक्रम में श्रम विभाग द्वारा संचालित श्रमिक पंजीयन योजना के 25 लाभार्थियों को, कृषि उपज मंडी समिति द्वारा महात्मा ज्योतिबा फूले मंडी श्रमिक कल्याण योजना के तहत दो महिलाओं को मातृत्व सहायता तथा 5 श्रमिकों को पुत्रा विवाह पर 50-50 हजार रूपये की राशि के चेक वितरित किये गये। 

राष्ट्रीय आजीविका शहरी मिशन के तहत 10 युवाओं को व्यक्तिगत ऋण लाभ दिया गया, जो 75 हजार रूपये से लेकर डेढ़ लाख रूपये की राशि तक के थे। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा अंर्तजातीय विवाह योजना में 2 जोड़े को 5-5 लाख रूपये की राशि का लाभ दिया गया। तीन दिव्यांगों को ट्राई साईकिल दी गई। इसी तरह शिक्षा विभाग द्वारा 5 बालिकाओं को स्कूटी वितरित, 3 बालिकाओं को 15-15 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी गई। शिक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 11 विधार्थियों को लेपटॉप वितरित किये गये। उद्यान विभाग द्वारा दो किसानों को किन्नू बगीचा स्थापना पर अनुदान राशि दी गई। केन्द्रीय सहकारी बैंक द्वारा काश्तकार गुरदेव सिंह को राजस्थान सहकार दुर्घटना बीमा योजना के तहत 5 लाख रूपये की राशि का चैक दिया गया। संबंधित किसान ने मात्रा 28 रूपये का प्रीमियम जमा करवाया था, जिसकी मृत्यु होने पर उसके परिवार को लाभ मिला है। कृषि विभाग द्वारा 5 किसानों को डिग्गी निर्माण के लिये वितीय स्वीकृति पत्रा दिये गये। 

आयोजित कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक श्री हरेन्द्र कुमार महावर, सभापति श्री अजय चांडक, पूर्व विधायक श्री लालचंद, श्री हरि सिंह कामरा, श्री महेन्द्र सिंह सोढ़ी, श्री शिव स्वामी, श्री प्रहलाद राय टॉक, श्री जुगल डूमरा, श्री हरभगवान सिंह बराड़, श्री ओमी नायक,  श्री रमजान अली चोपदार, श्री सुरेन्द्र भांभू, श्री प्रदीप धेरड़, श्री लक्की दावड़ा, श्री गुरविर सिंह बराड़, श्री सरदूल सिंह, श्री अशोक आसेरी, श्रीमती प्रियंका बेलान, श्रीमती निलम सागवान, श्री भगवान सहाय महेन्द्रा, श्री अनिल बहल सहित भारी संख्या में शहरी व ग्रामीण क्षेत्रा से आये नागरिक उपस्थित थे।

*************************************



****""""""


Friday, December 15, 2017

30 पत्रकारों के सर्वे में भी गुजरात में भाजपा की सरकार

एबीपी न्यूज ने गुजरात के 30 पत्रकारों के जरिए अलग-अलग जिलों का एग्जिट पोल कराया है। एग्जिट पोल के मुताबिक 182 सदस्यों वाले गुजरात विधान सभा में बीजेपी को 104, कांग्रेस को 75 और अन्य को तीन सीटें मिलने का अनुमान है। हालांकि, इससे पहले 14 दिसंबर को आए सभी एग्जिट पोल के नतीजों के मुताबिक बीजेपी को औसतन 115 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है। 30 पत्रकारों का सर्वे इस औसत से भी कम सीट बीजेपी को दे रहा है।

तीस पत्रकारों के सर्वे में कच्छ-सौराष्ट्र इलाके में दोनों दलों के बीच कांटे की टक्कर बताई गई है। यहां की  कुल 54 विधान सभा सीटों में से बीजेपी को 25, कांग्रेस को 27 और अन्य को दो सीटें मिल सकती हैं। इस सर्वे में जिलावार एग्जिट पोल के नतीजे भी दिखाए गए हैं। इनके मुताबिक कच्छ जिले की छह में से 5 सीटें बीजेपी को मिलने की उम्मीद  है। 1 सीट कांग्रेस को मिल सकती है। सुरेंद्र नगर जिले की पांच में से 3 सीटें बीजेपी को और 2 सीट कांग्रेस को मिलने की उम्मीद जताई गई है। पत्रकारों के सर्वे में बताया गया है कि राजकोट जिले की कुल आठ सीटों में कांग्रेस और बीजेपी दोनों को 4-4 सीट मिलने की उम्मीद है। यहां बीजेपी-कांग्रेस में कांटे की टक्कर बताई जा रही है।

दक्षिण गुजरात की 35 सीटों में बीजेपी को बढ़त मिलता हुआ दिखाया गया है। बीजेपी को 21 और कांग्रेस को 14 सीट मिलने का अनुमान जताया गया है। उत्तर गुजरात की कुल 53 विधान सभा सीटों में बीजेपी के खाते में 34 और कांग्रेस के खाते में 19 सीटें जाने की उम्मीद पत्रकारों ने जताई है। इसी इलाके के तहत अहमदाबाद जिले में बदलाव के संकेत नहीं हैं। 21 सीटों में 18 बीजेपी और तीन कांग्रेस के खाते में जाने का अनुमान है। मध्य गुजरात के तहत आने वाली कुल 40 विधान सभा सीटों में से 24 बीजेपी के खाते में जा सकती है जबकि 15 कांग्रेस और एक सीट अन्य के खाते में जा सकती है।

पत्रकारों के सर्वे में भी बीजेपी की सरकार बन रही है। इससे पहले विभिन्न सर्वे एजेंसियों के एग्जिट पोल के मुताबिक भी बीजेपी की सरकार बनती दिख रही थी। जहां तक एबीपी न्यूज और सीएसडीएस के एग्जिट पोल का सवाल है, उसमें बीजेपी को 117, कांग्रेस और उसके सहयोगियों को 64 जबकि अन्य को 1 सीट मिलने की संभावना जताई गई है। बता दें कि गुजरात में कुल 182 विधान सभा सीटों के लिए वोटिंग हुई है। मौजूदा विधान सभा में बीजेपी के पास 116 सीटें हैं। पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का गृह राज्य होने की वजह से गुजरात चुनाव बीजेपी के लिए नाक की लड़ाई है। दूसरे चरण के लिए गुरुवार 14 दिसंबर को मतदान हुआ। इस चरण में कुल 93 सीटों पर मतदान किया गया। 9 दिसंबर को पहले चरण की 89 सीटों पर 66.75 प्रतिशत वोटिंग हुई थी।

15.12.2017.
***************


नर्सिंग कर्मी रिश्वत लेते गिरफ्तार-कन्या जन्म पर राजश्री योजना की राशि भुगतान वास्ते मांगी रिश्वत

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने एक नर्सिंगकर्मी को 1500 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी नर्सिंग कर्मी ने ये रिश्वत राजश्री योजना के तहत दी जाने वाली सहायता राशि देने के बदले मांगी थी। 

 भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने यह कार्रवाई राजस्थान में जालौर टीम ने आज   15.12.2017 सुबह की। 

एसीबी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, बड़गांव रानीवाड़ा, जिला जालौर में कार्यरत नर्सिंगकर्मी हरजीराम को 15 सौ रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

  एसीबी के महानिरीक्षक वीके सिंह के अनुसार परिवादी पहाड़ सिंह ने शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि गत दिनों उसके यहां पुत्री ने जन्म लिया था। इस पर राज्य सरकार द्वारा राजश्री कन्या योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सहायता राशि को देने की एवज में नर्सिंगकर्मी हरजीराम 15 सौ रुपए की रिश्वत मांग कर रहा हैं। तब एसीबी में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जालौर अन्नराज के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन करवाया गया। जहां आज परिवादी से आरोपी नर्सिंगकर्मी हरजीराम को 1500 रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। 

Thursday, December 14, 2017

बाबू 40 हजार रिश्वत लेते गिरफ्तार-मुख्यमंत्री जलस्वावलंबन के बिल पास की रिश्वत

भीलवाड़ा भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने गुरुवार 14.12.2017 को चित्तौडग़ढ़ जिले के बेंगू में वन विभाग के कर्मचारी को 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। यह राशि जल स्वावलंबन द्वितीय चरण के तहत किए गए कार्य के बदले भुगतान करने की एवज में मांगी थी।

ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश गुप्ता को गत 4 दिसम्बर को सामरिया गांव वन प्रबंधन एवं सुरक्षा समिति प्रमुख बड़ी का खेड़ा निवासी नंदा भील और सचिव जलसागर निवासी रघुनाथ मीणा ने जल स्वावलंबन योजना में किए गए कार्य के भुगतान की एवज में रिश्वत मांगने की शिकायत की थी। परिवादियों ने बताया कि उन्होंने जल स्वावलंबन के अंतर्गत नाडी निर्माण कार्य कराया था। कार्य के चेक भुगतान के एवज में बेगूं में वन विभाग में बाबू सुनील सैनी ने 29.5 प्रतिशत कमीशन के रूप में रिश्वत की मांग की।

दो दिन पहले सुनील सैनी ने समिति के सदस्यों से 50 हजार रुपए रिश्वत के रूप में लिए थे। आरोपित सुनील सैनी वनरक्षक होकर कार्यालय में लिपिक का कार्य करता है। ऐसे में लेन-देन सुनील सैनी करता है। शिकायत के सत्यापन में ४० हजार रुपए देना तय हुआ। इस पर भीलवाड़ा एसीबी स्थित निरीक्षक निरीक्षक हनुमानसिंह चौधरी की अगुवाई में टीम तैयार की। टीम में हैड कांस्टेबल ईश्वरसिंह, रामपाल तेली, जयंत, अरविंद नारायण, अभिषेक, नेमीचंद पहाडि़या, गोपाल जोशी, हेमेन्द्र, प्रेमचंद एवं विनोद कुमार को शामिल किया गया।

टीम परिवादियों को साथ लेकर दोपहर में बेंगू पहुंची। वन विभाग के कार्यालय में सुनील सैनी बैठ मिला। परिवादी ने रिश्वत के ४० हजार रुपए सुनील को दे दिए। राशि लेने के बाद उसने पेंट की जेब में रख ली। इशारा मिलते ही एसीबी टीम ने दबिश दे दी। टीम ने उसे गिरफ्तार कर रिश्वत की राशि बरामद कर ली।


गुजरात में दिग्गजों ने वोट कहां डाले?


भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपने पूर्व मतक्षेत्र नारणपुरा में मतदान करने पहुंचे जबकि केन्द्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने वेजलपुर में मतदान किया। मतदान के दौरान उनके साथ भारी संख्या में कार्यकर्ता भी मोजूद रहे।

गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने मेहसाणा में मतदान के बाद कहा कि राज्य में भाजपा के पक्ष में माहौल है, आंदोलन करने वाले कांग्रेस के एजेंट थे, यह बात अब चुनाव के समय साफ हो गया। गुजरात की जनता विकास पसंद है। वह ऐसे आंदोलन कर विकास में बाधा उत्पन्न करने वालों को माफ नहीं करेगी। कांग्रेस ने पूरे चुनाव प्रचार में गलत मुद्दे उठाकर चुनाव के माहौल को खराब करने का प्रयास किया।

 गृह राज्यमंत्री प्रदीपसिंह जाडेजा, राज्य परिवहन मंत्री वल्ललभ काकडिया ने अहमदाबाद में मतदान किया। काकडिया ने मतदान से पहले अपने ट्रस्ट के हॉस्पीटल पहुंचे और मरीजों का हालचाल पूछा। अस्पताल से वे सीधे मतदान करने बूथ पर गए।

पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने घाटलोडिया में मतदान किया। मुख्य चुनाव अधिकारी बी बी स्वैन ने भी अपना मतदान किया, सुबह करीब नौ बजे स्वेन गांधीनगर मतदान केन्द्र पर पहुंचे वहां उन्होंने मतदान किया।

पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने अपने गांव वीरमगाम में मतदान किया। हार्दिक ने कहा उनका आंदोलन भाजपा के खिलाफ था इसलिए चुनाव में अपने आप ही उनका समर्थन कांग्रेस को जाता है।

हार्दिक के मुताबिक, इस चुनाव में जनता ने अपने अधिकारों की मांग की जिसे भाजपा पूरा नहीं कर सकी। हार्दिक की मां उषा पटेल व बहन मोनिका ने भी सुबह वीरमगाम में ही मतदान किया।

दूसरे चरण के मतदान से पहले दलित नेता जिगनेश मेवाणी के विधानसभा क्षेत्र वडगाम में उन पर मुस्लिम विरोधी होने के आरोप लगाते हुए पेम्पलेट बांटे गए। मेवाणी को मुस्लिमों का फर्जी पोस्टर ब्वॉय बताते हुए उनके नाम पर राजनीति करने का आरोप लगाया जा रहा है।

उत्तर गुजरात की वडगाम सीट से निर्दलीय प्रत्याशी जिगनेश मेवाणी के सामने कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी खड़ा नहीं किया है, कांग्रेस के समर्थन से मेवाणी यहां भाजपा के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं।

वडगाम में मुस्लिम व दलित मतदाता बहुल संख्या में होने से मेवाणी अपनी जीत को लेकर भले आश्वस्त हों लेकिन हाल ही में उनके मतक्षेत्र में पंपलेट बांटे जा रहे हैं जिन पर लिखा है कि जिगनेश मुस्लिम विरोधी मानसिकता रखते हैं।

एक टीवी इंटरव्यू के हवाले से दावा किया जा रहा है कि खुद जिगनेश ने माना है कि उनकी पहली प्रेमिका मुस्लिम थी। साथ ही आरोप लगाया गया है कि वह केवल मुस्लिम समाज को गुमराह कर रहा है, मुस्लिम समाज का नेता बनने वाले मेवाणी को उनके नाम पर केवल राजनीति करनी है।



भगवान गुजरात का भला करे- नरेंद्र मोदी की मां हीरा बा-वोट देने के बाद कहा




अहमदाबाद 14.12.2017.

 गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का मतदान शुरू होने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मां हीरा बा ने गांधीनगर में सुबह नौ बजे से पहले पहुंचकर मतदान किया। हीरा बा ने अपने संदेश में कहा कि भगवान गुजरात का भला करे। वे अपने पुत्र व बहू के साथ मतदान केंद्र पहुंची थीं।

हीरा बा गांधीनगर के रायसण गांव में अपने छोटे बेटे पंकज मोदी के साथ रहती हैं। मोदी अपने जन्मदिन पर अक्सर अपनी माता का आशीर्वाद लेने जाया करते हैं।

हीराबा हर चुनाव में मतदान करने जाती हैं। गत लोकसभा चुनाव के दौरान भी वे मतदान करने पहुंची थीं। इतना ही नहीं, केंद्र सरकार के नोटबंदी के ऐलान के बाद हीराबा ने उसके समर्थन में बैंक पहुंचकर अपने हजार व पांच के नोट बदलवाने के लिए भी बैंक गई थीं।

हीराबा वर्षों तक अपने छोटे पुत्र पंकज के साथ गुजरात के मुख्यमंत्री आवास से लगभग दो किलोमीटर दूरी पर रही लेकिन कभी अपने तत्कालीन सीएम पुत्र से मिलने बंगले पर नहीं गईं।



गुजरात: लोगों का गुस्सा भाजपा विरोधी वोट में क्यों नहीं बदला? कांग्रेस के उधार के नेता थे




चुनाव विश्लेषक से नेता बने योगेंद्र यादव ने गुजरात चुनाव को लेकर अपना अनुमान गलत मान लिया है। उन्होंने 13 दिसंबर को कहा था कि गुजरात में बीजेपी की जीत संभव नहीं है, बल्कि बड़ी हार भी हो सकती है। उन्होंने एग्जिट पोल के नतीजे पर टिप्पणी करते हुए कहा कि मोटे तौर पर गुजरात में बीजेपी का वर्चस्व कायम है। बता दें कि 14 दिसंबर को आए सभी एग्जिट पोल में बीजेपी को गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीतता दिखाया गया। योगेंद्र यादव ने कहा कि उन्हें यह समझ नहीं आ रहा कि भाजपा के खिलाफ लोगों का गुस्सा वोट में तब्दील क्यों नहीं हो पाया। कांग्रेस के बारे में उन्होंने कहा कि गुजरात में बीजेपी के विरोध में कांग्रेस सड़क पर नहीं उतरी। उतरे तो हार्दिक पटेल, अल्पेश ठकोर जैसे नेता। उधार के नेताओं से लड़ाई नहीं जीती जा सकती।


यादव ने कहा कि मेरा अनुमान मन की बात पर आधारित नहीं था। यह दो सर्वेक्षणों पर आधारित था। लेकिन आज की तारीख में उन सर्वेक्षणों के नतीजे भी बदले हुए हैं। मैं उनका सम्मान करूंगा, उनसे सीखूंगा।


क्या आशंका जताई थी योगेंद्र यादव ने?


योगेंद्र यादव ने जो तीन मुमकिन परिणाम अपने हिसाब से बताएं थे। अगर उनकी बात की जाए तो तीनों ही नतीजों में बीजेपी को राज्य में हार मिल रही है।


My projections for Gujarat


Scenario1: Possible

BJP 43% votes, 86 seats

INC 43% votes, 92 seats


Scenario 2: Likely

BJP 41% votes, 65 seats

INC 45% votes, 113 seats


Scenario 3: Can’t be ruled out

Even bigger defeat for the BJP


बता दें कि एग्जिट पोल में गुजरात में पिछले दो दशकों से ज्यादा समय से सत्ता पर काबिज भाजपा की ही सरकार बनती दिख रही है। समाचार चैनल ‘आज तक’ पर प्रसारित ‘इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया पोल’ के मुताबिक, राज्य में मोदी मैजिक कायम है। इस एग्जिट पोल में भाजपा को 99 से 113 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है। ऐसे में गुजरात की सत्ता में भाजपा की ही वापसी होने जा रही है। पिछले 22 वर्षों से सत्ता से दूर कांग्रेस को 68 से 82 सीटें मिलने का अनुमान है। गुजरात विधानसभा में कुल 182 सीटें हैं। पहले चरण में 89 सीटों के लिए मतदान हुआ था। ‘आज तक’ के एग्जिट पोल के मुताबिक भाजपा को 48 और कांग्रेस को 40 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है। पहले चरण में भाजपा को 46 तो कांग्रेस को 43 फीसद वोट मिलने की बात कही गई है

*****


गुजरात चुनाव एक्जिट पोल में भाजपा को बहुमत



गुजरात चुनाव में अंतिम चरण का मतदान समाप्त होने के साथ ही एग्जिट पोल के नतीजे भी आ गए हैं। अलग अलग सर्वे एजेंसियों और न्यूज चैनलों ने मिलकर गुजरात और हिमाचल दोनों चुनावी राज्यों में सर्वे किया था जिसका परिणाम एग्जिट पोल के माध्यम से जारी किया गया है। हालांकि सभी न्यूज चैनलों और एजेंसियों के परिणामों में सीटों का थोड़ा बहुत अंतर बना हुआ है, लेकिन एक बात साफ है कि गुजरात में एक बार फिर भाजपा सत्ता में लौटती दिख रही है। प्रधानमंत्री मोदी का धुआंधार प्रचार और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की सटीक रणनीति के सामने एक बार फिर कांग्रेस पस्त होती दिख रही है। जानिए क्या कहते हैं तमाम एग्जिट पोल।

एबीपी का एग्जिट पोल

न्यूज चैनल एबीपी के एग्जिट पोल के अनुसार दक्षिण गुजरात में भाजपा को साफ बढ़त मिलती दिख रही है। जिसमें 35 सीटों में से भाजपा को 24 और कांग्रेस को 11 सीटें मिलती दिख रही हैं। जबकि सौराष्ट्र और कच्छ इलाके की 54 सीटों में भी भाजपा कांग्रेस से आगे दिखाई दे रही है, जिसमें भाजपा को 34 और काग्रेस को 19 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है। वहीं पूरे राज्य की बात करें तो भाजपा को 182 में से 117 सीटें मिलने की उम्‍मीद ‌दिख रही है, जबकि कांग्रेस को 64 सीटें मिलने की उम्‍मीद दिख रही है।


न्यूज 24 के अनुसार

न्यूज 24 और चाणक्य के एग्जिट पोल के अनुसार गुजरात में भाजपा एकतरफा बहुमत की ओर जाती दिख रही है। परिणामों के अनुसार यहां भाजपा को 135 और कांग्रेस को मात्र 47 सीटें मिलती दिख रही हैं।


टाइम्स नाउ का एग्जिट पोल


न्यूज चैनल टाइम्स नाउ के एग्जिट पोल के अनुसार गुजरात में भाजपा स्पष्ट बहुमत लेती दिख रही है। पोल के अनुसार 182 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा को 109 और कांग्रेस को 70 सीटें मिलती दिख रही हैं। हालांकि पिछली बार के मुकाबले इस बार भाजपा का वोटिंग प्रतिशत कम होता दिख रहा है। भाजपा को इस बार पिछली बार से एक फीसदी कम यानि 47 फीसदी वोट मिलने की उम्‍मीद है जबकि कांग्रेस को पहले से दो फीसदी ज्यादा यानि 41 फीसदी वोट मिलने की उम्‍मीद है, जबकि अन्य के हिस्से में 12 फीसदी वोट आएंगी।


इंडिया टुडे के अनुसार 


न्यूज चैनल इंडिया टुडे के एग्जिट पोल में भी गुजरात में भाजपा की सरकार बनती दिख रही है। चैनल द्वारा करवाए गए सर्वे में भाजपा को 99-113 सीटों के साथ स्पष्ट बहुमत मिलता दिख रहा है जबकि कांग्रेस को 68-82 सीटें मिलने की उम्‍मीद है।


सी वोटर के अनुसार


सी वोटर के एग्जिट पोल के अनुसार गुजरात की 182 विधानसभा सीटों में से भाजपा के खाते में 108 सीटें जाती दिख रही हैं। जबकि कांग्रेस के हिस्से में 74 सीटें आने की उम्‍मीद जताई गई है। पिछले चुनाव में भाजपा को यहां 112 और कांग्रेस को 61 सीटें मिली थीं, ऐसे में इस बार भाजपा को यहां घाटा और कांग्रेस को फायदा होता दिख रहा है।



Wednesday, December 13, 2017

वसुंधरा सरकार की उल्टी गिनती शुरू-कांग्रेस ने काला पर्चा जारी किया

राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार की चौथी वर्षगांठ पर प्रदेश कांग्रेस ने जयपुर पार्टी मुख्यालय में सरकार की बची हुई अवधि के लिए "काउंट डाउन घड़ी" लगाई है। 

पीसीसी मुख्यालय के मुख्य द्वार के बाहर लगाई गई डिजिटल घड़ी का मंगलवार 12.12.2017 को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने उद्घाटन किया। शाम करीब 4 बजे शुरू की गई इस घड़ी में मौजूदा वसुंधरा सरकार का शेष कार्यकाल 365 दिन 22 घंटे 19 मिनट और 22 सैकंड दिखाए गए।

पायलट ने कहा कि यह घड़ी वसुंधरा सरकार के जाने और कांग्रेस की सरकार आने के काउंट डाउन का हिसाब रखेगी । उन्होंने कहा कि इस घड़ी को देखकर कांग्रेस कार्यकर्ता चुनाव की तैयारी प्रतिदिन नये ढंग से करेंगे । इस घड़ी से सरकार की उलटी गिनती शुरू होने का संदेश दिया गया है। पायलट और डूडी ने सरकार के खिलाफ "ब्लैक पेपर "भी जारी किया । इस ब्लैक पेपर में सरकार की नाकामी और वादा खिलाफी का बिन्दूवार वर्णन किया गया है ।

चार वर्ष पूर्व हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा सरकार द्वारा जारी किए सुराज  संकल्प पत्र में किए गए वादों और उनके अधूरे रहने का बिन्दूवार उल्लेख किया गया । इसमें मनरेगा के बजट में कटौती, कर्मचारियों की हड़ताल,अस्पतालों  में अव्यवस्था के चलते हो रही नवजात बच्चों की मौत,बजली के ट्रांसफार्मर फटने से अब तक हुई 40 लोगों की मौत,बेरोजगारी और भ्रष्टाचार का भी उल्लेख किया गया है । 

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के बाहर सत्ता के लिए लगाई गई काउंट डाउन घड़ी । पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट एवं विधानसभा में विपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने इसका उद्घाटन किया । 


वसुंधरा राजे की झुंझुनू सभा में हंगामा​

राजस्थान में वसुंधरा राजे सरकार अपनी चौथी वर्षगांठ मना रही है। इस दौरान मुख्य समारोह झुंझुनूं में आयोजित हुआ।  इस कार्यक्रम में करीब एक दर्जन कांग्रेसी नेताओं ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इसके बाद जैसे ही वसुंधरा राजे ने मंच से बोलना शुरू किया, श्रोताओं में मौजूद कांग्रेसियों ने हल्ला बोल दिया।  उन्होंने जमकर नारेबाजी की। इससे वहां सुरक्षाकर्मियों में हडकम्प मच गया और एक बार के लिए माहौल गरमा गया। सीएम वसुंधरा राजे भी अचानक हुए इस प्रदर्शन से गुस्सा नजर आई। इसके बाद उन्होंने कहा कि कहा कि 'ये आदत से मजबूर है। खुद भी काम नहीं करते और ना ही करने देते। इनके पास कोई काम नहीं है।'  इसके बाद सीएम ने अपना भाषण शुरू किया। इस दौरान कई मौकों पर उन्होंने कांग्रेस को निशाने पर लिया।   ।

Search This Blog