गुरुवार, 22 अगस्त 2019

माया शर्मा कालेज छात्रा सूरतगढ़ प्रथम-अक्षय ऊर्जा निबंध प्रतियोगिता


22-8-2019.

अक्षय ऊर्जा दिवस पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता में माया शर्मा स्व.गुरूशरण छाबडा राजकीय महाविद्यालय सूरतगढ ने प्रथम, नितिका आत्मवल्लभ जैन कॉलेज ने द्वितीय तथा कोमल अरोड़ा आत्मवल्लभ जैन कॉलेज ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार सांत्वना पुरस्कार में भावना आत्मवल्लभ जैन कॉलेज ने चौथा, निशा चौधरी बल्लूराम गोदारा कॉलेज ने पांचवा, सुखप्रीत कौर चौधरी बल्लूराम गोदारा कॉलेज ने छठा, पलक चावला डीएवी कॉलेज श्रीगंगानगर ने सांतवा, तनुजा आत्मवल्लभ जैन कॉलेज ने आंठवा स्थान प्राप्त किया। 

 निबन्ध प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार 3000 रूपये, द्वितिय पुरस्कार 2000 रूपये, तृतीय पुरस्कार 1000 रूपये तथा 500-500 की नगद राशि के पांच सांत्वना पुरस्कार होगें।  निबंध प्रतियोगिता में विजेता प्रतिभागियों को 26 अगस्त 2019 को दोपहर 1 बजे कलेक्ट्रेट सभाहॉल में नगद पुरस्कार वितरित किये जायेंगे। 

---------

पालीवाला की रात्रि चौपाल- प्रभारी सचिव व जिला कलक्टर ने सुनी समस्याएं

* करणीदानसिंह राजपूत *

श्रीगंगानगर, 22 अगस्त 2019.

प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया व जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने सूरतगढ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत पालीवाला में रात्रि चौपाल में ग्रामीणों की समस्याओं को सुना तथा मौके पर ही अधिकारियों को समाधान व राहत के निर्देश दिये। 

जिला कलक्टर श्री नकाते ने कहा कि रात्रि चौपाल का उद्देश्य जिला स्तरीय व ब्लॉक स्तरीय अधिकारी गांव में पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याओं को जानना तथा उसका उचित समाधान करना है। सामुदायिक समस्याओं के अलावा व्यक्तिगत लाभ की योजनाओं का लाभ भी पात्र नागरिकों को मौके पर ही दिया जाता है। जिन ग्रामीणों को प्रार्थना पत्र लिखना नही आता, उनके लिये स्टॉल लगाकर प्रार्थना पत्र लिखने की व्यवस्था भी रात्रि चौपाल में की जाती है। प्राप्त प्रार्थना पत्रों पर संबंधित विभाग की टिप्पणी ली जाती है। तत्पश्चात समस्या का उचित समाधान किया जाता है। 

रात्रि चौपाल में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत 11 नागरिकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ मौके पर दिया गया। जिला कलक्टर ने जनसुनवाई में ये पाया कि प्रार्थी बहुत गरीब तथा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ लेने के हकदार है। इस प्रकार मौके पर ही स्वीकृति जारी की गई तथा 4 नागरिकों के प्रार्थना पत्र रसद विभाग द्वारा आवश्यक कार्यवाही के बाद स्वीकृत किये जायेगें। रात्रि चौपाल में विधुत आपूर्ति में सुधार का प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ। जिला कलक्टर ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को आवश्यक संसाधन लगाकर आगामी 30 दिवस में विद्युत तंत्र में सुधार के निर्देश दिये। एक किसान ने आरक्षित श्रेणी में कृषि विद्युत कनेक्शन की मांग की। किसान को बताया गया कि अब तक प्राथमिकता सूची में 82 नम्बर तक किसानों को विद्युत कनेक्शन दे दिये गये है तथा आपका सूची में 99 नम्बर है। इस प्रकार लगभग एक माह में विद्युत कनेक्शन दिया जायेगा। गांव पालीवाला में घरों के उपर से गुजर रही विद्युत लाईन हटाने का प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ। जिला कलक्टर ने कहा कि विद्युत विभाग नियमानुसार उपभोक्ताओं से 50 प्रतिशत राशि जमा करवाकर विद्युत लाईन स्थानांतरित करें। 

रात्रि चौपाल में 17 एसटीबी के किसानों ने बताया कि पक्का खाला की टेल पर 8 मुरब्बा कच्चा खाला है, जिसे पक्का किया जाये। कच्चे खाले से पूर्व 5 मुरब्बा खाला पक्का बना हुआ है। जिला कलक्टर ने सिंचित क्षेत्र विकास विभाग को आवश्यक कार्यवाही करने के साथ-साथ नरेगा योजना में भी खाले का पक्का करने का प्रस्ताव ले लें, जिससे जो खाले छोटे-छोटे टुकड़ों में कच्चे है, उन्हें पक्का किया जा सकता है। रात्रि चौपाल में सरस्वती देवी ने श्रमिक पंजीयन योजना में शुभ शक्ति योजना का लाभ नही मिलने का प्रार्थना पत्र दिया। जिला कलक्टर ने श्रम विभाग के अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। रात्रि चौपाल में पेंशन तथा राजस्व से संबंधित प्रकरण भी प्राप्त हुए, जिनका समाधान किया गया। 

रात्रि चौपाल में कृषि विभाग द्वारा प्रधानमंत्री किसान समृद्धि योजना की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि खरीफ फसल में नरमा, कपास, ग्वार की फसलें अच्छी स्थिति में है। अगर फसलों में कही रोग नजर आये तो नजदीक के कृषि अधिकारी से संपर्क करें। सहकारी विभाग द्वारा बताया गया कि किसानों को ऋण लेने के लिये ऑनलाईन आवेदन करना होगा। पालीवाला के अब तक 217 किसानों ने आवेदन किया है। उधान विभाग द्वारा बागवानी पर दिये जाने वाले अनुदान, ग्रीन हाउस, खजूर की खेती तथा सोलर पैनल के अनुदान की जानकारी दी गई। रसद विभाग द्वारा बताया गया कि पालीवाला में बीपीएल व अन्तोदय के 237 परिवारों को तथा एपीएल के 412 परिवारों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ मिल रहा है। रात्रि चौपाल में नवोदय विद्यालय सूरतगढ में प्रवेश की जानकारी, शिक्षा विभाग की योजनाएं, समाज कल्याण विभाग की विभिन्न विभाग की योजनाओं की जानकारी दी गई। 

पेयजल परियोजनाओं का किया निरीक्षण

भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी एवं जिले के प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया व जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने सूरतगढ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत पालीवाला में रात्रि चौपाल से पूर्व गांव में संचालित पेयजल परियोजना का निरीक्षण किया। उन्होंने पेयजल परियोजना की क्षमता तथा पेयजल कनेक्शन की जानकारी ली। पेयजल विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि ग्रामीणों को स्वच्छ पेयजल आपूर्ति की जाये तथा डिग्गियों की समय-समय पर सफाई के साथ-साथ फिल्टर चालू हालत में होने चाहिए। 

रात्रि चौपाल में अतिरिक्त जिला कलक्टर सर्तकता श्री राजवीर सिंह, मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु श्री मोहम्मद जुनेद, उपवन संरक्षक श्री प्योंग शशि, एसडीएम सूरतगढ श्री रामावतार कुमावत, जिला रसद अधिकारी श्री राकेश सोनी, उपनिदेशक कृषि श्री जी.आर.मटोरिया, सहायक निदेशक उधान प्रीति गर्ग, उपरजिस्ट्रार श्री दीपक कुक्कड़, अधीक्षण अभियंता श्री सुशील बिश्नोई, अधीक्षण अभियंता विद्युत श्री के.के.कस्वा, अधीक्षण अभियंता पेयजल श्री बलराम शर्मा, प्रर्वतक अधिकारी श्री सुरेश कुमार, सरपंच भागीरथ सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 

---------


बुधवार, 21 अगस्त 2019

चिदंबरम पर पूरी रिपोर्ट- CBI-गिरफ्तार कर मुख्यालय ले गई- बड़ा मामला


नई दिल्ली | Aug 21, 2019.


आईएनएक्स मीडिया घोटाला मामले में मुख्यारोपी, पूर्व वित्त मंत्री और सीनियर कांग्रेसी नेता पी.चिदंबरम बुधवार (21 अगस्त, 2019) रात फिल्मी ड्रामे जैसे हालात के बीच गिरफ्तार कर लिए गए।

सीबीआई, ईडी और दिल्ली पुलिस की संयुक्त टीम उनके घर में दीवार फांद कर घुसी और रात करीब 10 बजे वहां से सीबीआई मुख्यालय ले गई। जांच टीमें जब पूर्व केंद्रीय मंत्री के घर पहुंची थीं, तब सीबीआई निदेशक भी मुख्यालय पहुंच गए थे।

इसी बीच, दिल्ली में बीजेपी और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की भी खबर आई है, जबकि कुछ देर पहले, चिंदबरम ने पार्टी नेता कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी (सुप्रीम कोर्ट में उनके इस मामले में वकील) के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर साफ किया था कि वह कानून से भागे नहीं हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री के मुताबिक, “जीवन और आजादी में वह आजादी चुनेंगे, क्योंकि आजादी के लिए लड़ना पड़ता है।” उन्होंने यह भी कहा कि जांच एजेंसियों को शुक्रवार तक रुकना चाहिए।

दरअसल, इस मामले में सीबीआई और ईडी उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर चुकी हैं और वे इनकी जांच टीमों के रडार पर हैं। मंगलवार शाम भी चिदंबरम के घर सीबीआई टीम पहुंची थीं, जबकि बुधवार को भी इन दोनों शीर्ष एजेंसियों के अधिकारियों ने पूर्व वित्त मंत्री को खोजने के लिए कई जगहों पर ताबड़तोड़ रेड मारी।

******

आईएनएक्स मीडिया मामले में मैं किसी अपराध का आरोपी नहीं हूंः चिदंबरम

चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा था ‘‘ मेरा मानना है कि लोकतंत्र की बुनियाद स्वतंत्रता है। संविधान का सबसे अहम अनुच्छेद 21 है जो जीवन और स्वतंत्रता की गारंटी देता है। अगर इनमें से एक को चुनने का विकल्प हो तो मैं बेहिचक स्वतंत्रता का चुनाव करूंगा।’’ उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में बहुत कुछ हुआ जिससे कुछ लोगों को चिंता हुई और भ्रम की स्थिति पैदा हुई।चिदंबरम ने कहा, ‘‘आईएनएक्स मीडिया मामले में मैं किसी अपराध का आरोपी नहीं हूं। मेरे परिवार का कोई सदस्य भी इस अपराध का आरोपी नहीं है। यहां तक अदालत में सीबीआई या ईडी द्वारा कोई आरोप पत्र भी दाखिल नहीं किया गया। प्राथमिकी में भी यह नहीं कहा गया है कि मैंने कुछ गलत किया।’’

   

गिरफ्तारी से पहले कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे थे पूर्व वित्तमंत्री

आईएनएक्स मीडिया मामले में आरोपों का सामना कर रहे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम गिरफ्तारी से पहले बुधावार देर शाम नाटकीय ढंग से कांग्रेस मुख्यालय पर पहुंचे और कानून से ‘छिपने’ की खबरों को खारिज करते हुए उम्मीद व्यक्त की थी कि उनके मामले में जांच एजेंसियां कानून का सम्मान करेंगी।

   

'राजनीतिक प्रतिशोध के तहत हो रही है कार्रवाई'

आईएनएक्स मीडिया मामले में अपने पिता पी चिदंबरम के साथ आरोपी कार्ती चिदंबरम ने बुधवार को दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार ‘‘राजनीतिक प्रतिशोध’’ के तहत कार्रवाई कर रही है। लोकसभा सदस्य कार्ती ने ट्वीट कर दावा किया कि उनके पिता के खिलाफ राजनीतिक प्रतिशोध के तहत कार्रवाई की जा रही है जबकि उनके परिवार का इस मामले से कोई लेनादेना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘मेरा आईएनएक्स मीडिया मामले से कोई लेनादेना नहीं है। हमारी सारी संपत्ति और देनदारियों का ब्यौरा घोषित है। मैंने कई बार यह बात कही है।’’ कार्ती ने कहा, ‘‘मेरे यहां चार बार छापेमारी की गई। 20 बार सम्मन किया गया और मैं उपस्थित हुआ। पूछताछ का समय हर बार 10-12 घंटे का होता था। 12 दिनों तक सीबीआई का ‘मेहमान’ रहा। इसके बाद भी अब तक कोई आरोपपत्र दाखिल नहीं हुआ जबकि यह कथित मामला 2008 में हुआ और 2017 में प्राथमिकी दर्ज की गई।’’


CBI और ED जारी कर चुकी हैं लुकआउट नोटिस

सीबीआई से पहले पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया था। साथ ही बुधवार (21 अगस्त, 2019) को सुप्रीम कोर्ट में उनकी याचिका पर सुनवाई भी नहीं हो सकी। ऐसा इसलिए, क्योंकि सीजेआई रंजन गोगोई वाली संविधान पीठ उस दौरान अयोध्या से जुड़े मामले की सुनवाई कर रही थी। यही वजह थी कि मामला जस्टिस रमन्ना की बेंच के पास गया, तो उन्होंने चिदंबरम को राहत देने से इन्कार कर दिया।

जस्टिस रमन्ना बोले कि यह बेंच आदेश नहीं पारित कर सकती है, क्योंकि हम सीजेआई के बगैर मामले पर सुनवाई नहीं कर सकते। इसी बीच, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है। मामले में अब अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी।

ईडी ने चिदंबरम के खिलाफ जांच का दायरा बढ़ाया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के खिलाफ धन शोधन मामले की जांच का दायरा बढ़ा दिया है। जांच एजेंसी को संदेह है कि आईएनएक्स मीडिया एवं एयरसेल-मैक्सिस के अलावा कम से कम चार और कारोबारी सौदों में कथित अवैध ‘‘एफआईपीबी’’ मंजूरी देने में उनकी संदिग्ध भूमिका थी। साथ ही, कई मुखौटा कंपनियों (शेल कंपनियों) के मार्फत करोड़ों रुपये की रिश्वत ली थी। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

ईडी को कुछ ऐसे भी सबूत मिले हैं, जिनके मुताबिक अवैध ‘‘विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड’’ (एफआईपीबी) एवं ‘‘प्रत्यक्ष विदेशी निवेश’’ (एफडीआई) मंजूरी प्रदान करने के एवज में चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम द्वारा कथित तौर पर रिश्वत लेने के बाद एक शेल कंपनी में गैरकानूनी ढंग से 300 करोड़ रुपये से अधिक राशि कथित तौर पर डाली गई थी।

******

   याचिका में क्या बोले पूर्व केंद्रीय मंत्री?

यूपीए सरकार में वित्त मंत्री रह चुके पी चिदंबरम ने अपनी याचिका में कहा है कि आईएनएक्स मीडिया केस में उन्हें ‘मुख्य षड्यंत्रकारी’ बताने संबंधी दिल्ली उच्च न्यायालय की टिप्पणी पूरी तरह से निराधार है और इस मामले में दर्ज प्राथमिकी ‘‘राजनीति से प्रेरित और प्रतिशोध की कार्रवाई’’ है। पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तारी से अग्रिम जमानत के लिए अपनी याचिका खारिज करने के दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले को बुधवार को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी।

चिदंबरम ने अर्जी में कहा, ‘‘याचिकाकर्ता को मामले में मुख्य षड्यंत्रकारी बताने वाली न्यायाधीश की टिप्पणी पूरी तरह निराधार है और किसी भी सामग्री से इसकी पुष्टि नहीं की गई है। न्यायाधीश ने इस अहम तथ्य को नजरअंदाज किया कि याचिकाकर्ता ने सिर्फ विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की सर्वसम्मत सिफारिश स्वीकृत की, जिसकी अध्यक्षता आर्थिक मामलों के सचिव ने की और इसमें भारत सरकार के पांच अन्य सचिव शामिल थे।’’


चिदंबरम ने अगर गलती की है तो परिणाम भुगतना पड़ेगा: भाजपा


भाजपा ने कांग्रेस के उन आरोपों को बेबुनियाद करार देते हुए खारिज कर दिया कि उसके नेता पी चिदंबरम के खिलाफ केंद्र बदले की कार्रवाई कर रहा है। भाजपा ने दावा किया कि केंद्र सरकार जांच कार्यो में कोई हस्तक्षेप नहीं करती और उन्हें अपने किये के परिणाम का सामना करना होगा। भाजपा प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘अगर उन्होंने कोई गलती की है तब उन्हें परिणाम भुगतना होगा। जांच एजेंसियां सरकार के इशारे पर काम नहीं करती है। उन्हें स्वतंत्र रूप से काम करने का अधिकार है।’

   

राहुल-प्रियंका गांधी ने किया बचाव


दिल्ली हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सुप्रीम कोर्ट से भी अभी तक चिदंबरम को राहत नहीं मिल पाई है। इससे पहले, बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान जज रमना ने चिदंबरम को सीजेआई के पास जाने को कहा था। हालांकि, पूर्व कांग्रेस चीफ राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने चिदंबरम का बचाव किया है और कहा है कि उनके खिलाफ साजिश की जा रही है।


   

'दबाव में काम कर रहीं एजेंसियां'


राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी. चिदंबरम को गिरफ्तार करने के लिए जांच एजेंसियां जैसी हड़बड़ी दिखा रही हैं उससे स्पष्ट है कि ये एजेंसियां दबाव में काम कर रही हैं। गहलोत ने चिदंबरम की गिरफ्तारी को लेकर चल रहे घटनाक्रम के बीच इस बारे में ट्वीट किया।

उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि प्रत्येक भारतीय नागरिक को अपना बचाव करने और उसके लिए कानूनी प्रणाली के तहत उपलब्ध सभी कानूनी कदम उठाने का अधिकार है। गहलोत ने लिखा है, ‘‘पूर्व केन्द्रीय मंत्री चिदंबरम को पकड़ने के लिए जांच एजेंसियों की हड़बड़ी किसी भी औचित्य से परे है। यह स्पष्ट लगता है कि वे दबाव में काम कर रही हैं।’

   

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को घेरा, कहा...

उधर, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का आरोप है कि सरकार ''शर्मनाक तरीके से'' चिदंबरम के पीछे पड़ी है, क्योंकि वह बेहिचक सच बोलते हैं और सरकार की नाकामियों को सामने लाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह चिदंबरम के साथ खड़ी हैं और सच के लिए लड़ाई जारी रखी जाएगी। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ''''बहुत ही योग्य और सम्मानित राज्यसभा सदस्य पी चिदंबरम ने दशकों तक बतौर वित्त मंत्री, गृह मंत्री और दूसरे पदों पर रहते हुए पूरी वफादारी से देश की सेवा की है।"

   

ED ने क्या लगाए हैं पूर्व FM पर आरोप? जानिए

प्रवर्तन निदेशालय ने चिदंबरम पर सनसनीखेज आरोप लगाते हुए दावा किया है कि चिदंबरम ने घोटाले के पैसों से विदेशों में संपत्तियां खरीदी हैं! ईडी का दावा है कि इन संपत्तियों में यूके में एक कॉटेज और स्पेन के बार्सिलोना में एक टेनिस क्लब शामिल है। इसके साथ ही देश में भी कुछ संपत्ति की खरीद की गई है। बताया जा रहा है कि ये संपत्तियां 54 करोड़ रुपए में खरीदी गई।

   

'चिदंबरम के चरित्रहनन की कोशिश कर रही मोदी सरकार'

पूर्व कांग्रेस चीफ राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी सरकार चिदंबरम का चरित्रहनन करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय, सीबीआई और ‘बिना रीढ़ वाले मीडिया’ का इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘मोदी सरकार ईडी, सीबीआई और बिना रीढ़ के मीडिया के कुछ धड़ों का इस्तेमाल कर रही है ताकि चिदंबरम का चरित्रहनन किया जा सके।’’ राहुल के मुताबिक, ‘‘मैं सत्ता के इस शर्मनाक दुरुपयोग की कड़ी निंदा करता हूं।’’


सुनवाई की दोहरी मांग पर क्या बोला टॉप कोर्ट?

सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की उस याचिका पर तत्काल सुनवाई से इन्कार कर दिया, जिसमें पूर्व वित्त मंत्री ने आईएनएक्स मीडिया मामलों में गिरफ्तारी से संरक्षण की मांग थी। टॉप कोर्ट बोला- याचिका में खामियों को अभी-अभी दुरुस्त किया गया है और इसे ‘‘तत्काल सुनवाई के लिए आज सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता।’’

न्यायमूर्ति एन.वी.रमण, न्यायमूर्ति एम.शांतनगौडर और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की बेंच बोली, ‘‘याचिका को सूचीबद्ध किए बिना, हम मामले पर सुनवाई नहीं कर सकते।’’

कोर्ट में पी.चिदंबरम का पक्ष रख रहे वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने जब मामले पर आज ही सुनवाई करने की मांग दोहराई तो बेंच ने कहा, ‘‘माफ कीजिए श्रीमान सिब्बल। हम मामले पर सुनवाई नहीं कर सकते।’’

   

मामले की लिस्टिंग के लिए किया दोबारा अनुरोध

चिदंबरम के वकीलों ने आईएनएक्स मीडिया मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ उनकी याचिका को तत्काल सूचीबद्ध करने का उच्चतम न्यायालय से दोबारा अनुरोध किया। उच्चतम न्यायालय ने कहा कि याचिका में कुछ खामियां हैं और रजिस्ट्री इसे सूचीबद्ध करेगी। फिलहाल उच्चतम न्यायालय ने अपने रजिस्ट्री अधिकारी को तलब किया और पी चिदंबरम की याचिका की स्थिति के बारे में पूछताछ की।

चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तारी से छूट दिए जाने का न्यायालय से अनुरोध किया। चिदंबरम ने कहा कि आईएनएक्स मीडिया मामले में उन्हें कर्ता-धर्ता बताने संबंधी दिल्ली उच्च न्यायालय की टिप्पणी पूर्णतय: निराधार है और इसकी पुष्टि करने वाली कोई सामग्री उपलब्ध नहीं हह

सीबीआई सुप्रीम कोर्ट पहुंची

चिदंबरम मामले में सीबीआई सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है और अपील की है कि उनका पक्ष सुने बगैर कोर्ट कोई फैसला ना दे। वहीं चिदंबरम के वकील और वरिष्ट कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल एक बार फिर जस्टिस रमना की बेंच में गए हैं। बता दें कि जस्टिस रमना ने ही आज सुबह चिदंबरम के केस को सीजेआई की बेंच के पास भेज दिया था। 

13:51 (IST)

21 AUG 2019

   

2007 में प्रकाश में आया आईएनएक्स मामला

आईएनएक्स मीडिया मामले में सीबीआई ने 15 मई 2017 में प्राथमिकी दर्ज की थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि 2007 में जब चिदंबरम वित्त मंत्री थे तब 305 करोड़ रुपये की विदेशी धनराशि प्राप्त करने के लिए मीडिया समूह को दी गई विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) मंजूरी में अनियमितताएं बरती गईं। प्रवर्तन निदेशालय ने इस संबंध में 2018 में धनशोधन का एक मामला दर्ज किया। 

चिदंबरम द्वारा FIPB को मंजूरी दिए जाने पर उठे सवाल

सीबीआई जांच कर रही है कि 2006 में वित्त मंत्री के पद पर रहते हुए चिदंबरम ने एक विदेशी कंपनी को एफआईपीबी मंजूरी कैसे दे दी क्योंकि ऐसा करने का अधिकार केवल आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) के पास ही होता है।

   

राहुल गांधी ने किया ट्वीट

राहुल गांधी ने ट्वीट कर चिदंबरम के खिलाफ जारी सरकार की कार्रवाई की आलोचना की है। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि सरकार सीबीआई, ईडी और मीडिया का गलत इस्तेमाल कर रही है और चिदंबरम की छवि को नुकसान पहुंचाने का प्रयास कर रही है।

   

सीबीआई ने SC में चिदंबरम की याचिका के जवाब में कैविएट दाखिल की

सीबीआई ने चिदंबरम मामले में सुप्रीम कोर्ट में एक कैविएट दाखिल की है। इस कैविएट में सीबीआई ने मांग की है कि उनका पक्ष सुने बिना इस मामले में कोई फैसला ना किया जाए। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट से राहत पाने की उम्मीदों में जुटे चिदंबरम को इससे झटका लग सकता है।

12:42 (IST)

21 AUG 2019

   

एयरसेल-मैक्सिम मामला निचली अदालत में लंबित

सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज एयरसेल मैक्सिस मामलों में चिदंबरम तथा उनके बेटे की जमानत संबंधी याचिकाएं निचली अदालत में लंबित हैं। दोनों को निचली अदालत ने गिरफ्तारी से 23 अगस्त तक अंतरिम राहत प्रदान की है। एयरसेल मैक्सिस मामलों में पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम को पहली बार पिछले साल जुलाई में अंतरिम राहत मिली थी। इसके बाद समय समय पर उनकी अंतरिम राहत की अवधि बढ़ाई जाती रही है।

   

आनंद शर्मा ने सरकार पर साधा निशाना

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने मंगलवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार विरोधी नेताओं को चुनकर निशाना बना रही है और यह उसकी कार्यशैली बन चुका है।


   

CJI से अभी तक नहीं मिल सकी है चिदंबरम की लीगल टीम


चिदंबरम की याचिका पर अब सीजेआई रंजन गोगोई सुनवाई करेंगे।  हालांकि चिदंबरम की लीगल टीम अभी तक इस मुद्दे को लेकर सीजेआई से मुलाकात नहीं कर सकी है। बता दें कि आईएनएक्स मामले में राहत पाने के लिए चिदंबरम ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। 


प्रियंका गांधी ने किया चिदंबरम का समर्थन

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को आरोप लगाया कि सरकार "शर्मनाक तरीके से" चिदंबरम के पीछे पड़ी है क्योंकि वह बेहिचक सच बोलते हैं और सरकार की नाकामियों को सामने लाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह चिदंबरम के साथ खड़ी हैं और सच के लिए लड़ाई जारी रखी जायेगी।

   

चिदंबरम के वकीलों ने बचाव में कही ये बात

चिदंबरम की कानूनी टीम ने कहा कि सीबीआई और ईडी के नोटिस में कानून के उन प्रावधानों का जिक्र नहीं किया गया है जिनके तहत उन्हें तलब किया गया है। चिदंबरम के वकील अर्शदीप खुराना ने कहा कि उनके मुवक्किल को 'खबरों के जरिए' पता चला कि उन्हें आईएनएक्स मीडिया मामले में जांच अधिकारियों के समक्ष पेश होने को कहा गया है।

   

सुप्रीप कोर्ट से चिदंबरम को फिलहाल नहीं मिली राहत

चिदंबरम की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल राहत नहीं दी है। दरअसल जस्टिस रमना ने चिदंबरम की याचिका को सुनवाई के लिए सीजेआई के पास भेज दिया है। ऐसे में अब सीजेआई याचिका पर सुनवाई कर सकते हैं। 

क्या बोले चिदंबरम के वकील

चिदंबरम के वकील अर्शदीप खुराना ने कहा, ‘‘ मुझे यह बताने को कहा गया है कि आपके (सीबीआई और ईडी) नोटिस में कानून के उस प्रावधान का उल्लेख नहीं है, जिसके तहत मेरे मुवक्किल को आधी रात को दो घंटे के एक ‘शॉर्ट नोटिस’ पर पेश होने को कहा गया।’’ इसके अलावा, कृपया ध्यान दें कि मेरा मुवक्किल कानून द्वारा मुहैया कराए गए अधिकारों का इस्तेमाल कर रहा है और उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज किए जाने के आदेश पर राहत पाने के लिए माननीय उच्चतम न्यायालय का 20 अगस्त 2019 को रुख भी किया है।’

   

जज ने कहा प्रथम दृष्टया मुख्य साजिशकर्ता लग रहे हैं पूर्व वित्त मंत्री

आईएनएक्स मीडिया मामले में पी.चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। याचिका खारिज करने वाले जज ने कहा कि प्रथम दृष्टया पूर्व वित्त मंत्री इस मामले में मुख्य साजिशकर्ता लग रहे हैं। 


बाड़मेर हरिद्वार लिंक गाड़ी को बाड़मेर हरिद्वार गाड़ी बनाकर चलाने की मांग

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 21 अगस्त 2019.

नागरिक संघर्ष समिति रेल की ओर से मांग की गई है कि बाड़मेर हरिद्वार लिंक गाड़ी को बाड़मेर से हरिद्वार गाड़ी बनाकर चलाया जाए। सूरतगढ़ रेलवे स्टेशन की साफ सफाई नियमित रूप से की जाए। रेलवे स्टेशन के मुख्य द्वार के अंदर बड़े वाहन निषेध किए जाएं और सूरतगढ़ से जयपुर रेल गाड़ी को प्लेटफार्म नंबर एक से चलाया जाए।

यह मांग पत्र आज 21 अगस्त को स्टेशन अधीक्षक के मार्फत महाप्रबंधक उत्तर पश्चिम रेलवे जयपुर को भिजवाया गया।

 रेल समिति के कार्यकर्ता स्टेशन अधीक्षक कार्यालय में समिति संयोजक लक्ष्मण शर्मा सचिव मदन औझा के नेतृत्व में पहुंचे तथा ज्ञापन दिया।

संयोजक लक्ष्मण शर्मा ने आरोप लगाया कि रेलवे प्रशासन की निष्क्रियता के कारण जनहित के छोटे-छोटे कार्य संपन्न नहीं हो रहे हैं जिससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रेलवे स्टेशन के मुख्य द्वार से उपखंड कार्यालय की तरफ जाने वाली सड़क नहीं बनाई जा रही है। रेलवे प्लेटफार्म पुल की सीढ़ियों के साथ में लिफ्ट भी लगाई जानी चाहिए थी जो अभी तक नहीं लगाई गई है। पुल की सीढ़ियों पर चढ़ते चढ़ते पिछले 2 वर्ष में तीन व्यक्तियों की मौत हार्ट अटैक से हो चुकी है।

 प्रतिनिधिमंडल में एडवोकेट राम प्रताप तिवारी, क्रांतिकारी महावीर प्रसाद,राजकुमार,इंद्रसेन, पार्षद विनोद पाटनी, घनश्याम आहूजा,ओम सोमानी, भंवर चांडक,रतन सोनी, मनोज सोमानी,ज्ञान बजाज सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

एक दिन बेटियों के नाम छात्राओं की चित्र कला प्रतियोगिता-25 अगस्त को

* करणीदानसिंह राजपूत *

वसुन्धरा हॉस्पिटल में 25 अगस्त 2019 रविवार को  ‘एक दिन बेटियों के नाम’ कार्यक्रम के तहत विभिन्न स्कूलों की छात्राओं के मध्य चित्रकला प्रतियोगिता होगी।

यह आयोजन वर्ष 2011 से लगातार किया जा रहा है।



वसुंधरा हॉस्पीटल सूरतगढ़ में 24 को चिकित्सा परामर्श-10 से 2 बजे तक

^^ करणीदानसिंह राजपूत ^^

वसुन्धरा हॉस्पीटल, सूरतगढ़ में दिनांक 24 अगस्त 2019, शनिवार को सुबह 10.00 से दोपहर 2.00 बजे तक निःशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर को आयोजन किया जायेगा। डॉ. इन्द्र चुघ के अनुसार पुत्री डॉ. वसुन्धरा चुघ के जन्म दिन के उपलक्ष में एक दिन पूर्व आयोजित इस शिविर में शैल्वी हॉस्पिटल, जयपुर के वरिष्ठ जोईंट रिप्लेसमेंट सर्जन डॉ. चिन्मय शर्मा द्वारा घुटने, कुल्हे व कन्धे में दर्द, उठने-बैठने व सीढ़ी चढ़ने-उतरने में तकलीफ जैसे जोड़ों से सम्बन्धित रोगियों की जांच कर निःशुल्क परामर्श दिया जायेगा। 

डॉ. श्रीमती नरेश चुघ ने बताया कि इसी शिविर में सूर्या सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल की डायबिटीज एवं हार्मोन रोग विशेषज्ञ डॉ. वसन्धुरा चुघ द्वारा एंडोक्राईनोलॉजी से सम्बन्धित रोगियों (0 से 18 वर्ष तक) जैसे डायबिटीज (मधुमेह), छोटा कद, मोटापा, थॉयराइड रोग, समय पूर्व/पश्चात् शारीरिक परिवर्तन, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिण्ड्रोम-मोटापा, चेहरे पर बाल, मुहांसे व माहवारी में अनियमितता तथा अन्य ग्रन्थियों व हार्मोन सम्बन्धी रोगियों की जांच कर निःशुल्क परामर्श दिया जावेगा। इसी के साथ बी.एम.डी. (बोन मिनरल डेंसिटी) टेस्ट द्वारा हड्डियों की कमजोरी की जाँच भी निःशुल्क उपलब्ध रहेगी। चुघ दम्पत्ति ने क्षेत्र के सम्बन्धित रोगियों को इस निःशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर का अधिक से अधिक लाभ उठाने की अपील की है। 




ईमित्रा पर 10 हजार रू.जुर्माना-अधिक वसूली पर कार्रवाई

* जिला प्रशासन ने किया इसे स्थायी रूप से किया बंद*

श्रीगंगानगर, 21 अगस्त 2019.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद नकाते ने एक आदेश जारी कर ई-मित्रा सेवाओं के बदले निर्धारित से अधिक राशि वसुलने एवं आमजन को गुमराह करने पर दण्ड स्वरूप 10000 रूपये की राशि व शास्ति आरोपित करते हुए जे.के. कमर्शियल ई-मित्रा केन्द्र कियोस्क को स्थाई रूप से बंद कर दिया गया।

श्रीगंगानगर शहर की एक छात्रा द्वारा जिला कलक्टर को प्रार्थना पत्र देकर जे.के. कमर्शियल ई-मित्रा केन्द्र के विरूद्ध एम.ए का आवेदन पत्र भरते समय ओबीसी प्रमाण-पत्र की गलत जानकारी भरना तथा स्पोटर्स कोटे का प्रमाण पत्र न लगाने का आरोप लगाते हुये शिकायत दर्ज करवायी गई। 

        जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने शिकायत की जांच एसीपी (उपनिदेशक) सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग द्वारा करवाई गई। विभाग द्वारा जिला कलक्टर को जानकारी उपलब्ध करवाई गई जिसके तहत जे.के.कमर्शियल ई-मित्रा केन्द्र द्वारा ऑनलाईन फार्म भरने के प्रति फार्म 100 रूपये लिये जा रहे थे, जबकि इसकी निर्धारित शुल्क राशि 40 रूपये प्रति आवेदन पत्र है, साथ ही दस्तावेज की जांच करने पर कियोस्क संचालक द्वारा शिकायतकर्ता के ओबीसी के पुराने प्रमाण पत्र के जारी करने की तिथि को बदल कर भरा गया, जिसके कारण शिकायतकर्ता छात्रा को महाविद्यालय में एडिमिशन नही मिल पाया। इसके अलावा कियोस्क द्वारा बिजली के बिलों को तुरंत ऑनलाईन भरकर रसीद देने के बजाय मोहर लगाकर दिया जा रहा था, जिसे विभाग द्वारा जब्त कर लिया गया। 

       सूरतगढ़ में अधिक वसूली और बिजली बिलों की ओन लाईन नहीं भरने और मोहर लगाकर देने वालों पर कार्यवाही की आवश्यकता है।

सूरतगढ गौरव पथ पर खतरनाक बना गड्ढा-दूर्घटना करवाएगा


 *करणी दान सिंह राजपूत *


सूरतगढ़ 21 अगस्त 2019.

गौरव पथ और बाईपास दोनों सड़कें राठी स्कूल के उतरी कोने के पास जुड़ती हैं वहां पर खतरनाक बुड्ढा बन गया है जो मामूली असावधानी में जानलेवा साबित हो जाएगा। यहां पर अंडर ब्रिज और नगर पालिका की ओर जाने वाली सड़क का चौराहा है।


 गौरव पथ का निर्माण चल रहा था तब यहां पर घटिया मसाला कंक्रीट ब्लास्ट आदि का आरोप लगाया गया था। नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष बनवारीलाल मेघवाल पूर्व विधायक हरचंद सिंह सिद्धू व अन्य लोगों ने एक बार काम रुकवा दिया था। आरोप लगाया गया था कि यहां मसाला आदि सब कुछ घटिया लग रहा है जो आने वाले टाइम में टिक नहीं पाएगा। सार्वजनिक निर्माण विभाग के एक अभियंता ने मौके पर आकर कहा कि आप के आरोप गलत हैं और मौके पर कंक्रीट सीमेंट आदि का नमूना भी पैक करवाया था। नमूने का परिणाम प्रयोगशाला में क्या आया होगा लेकिन मौके के ऊपर यह परिणाम गड्ढे के रूप में दिखाई दे रहा है जो और बड़ा होता जा रहा है। इस गड्ढे से,या इससे बचकर निकलने की  मामूली सी असावधानी से भी वाहन पलटा मार सकते हैं इधर उधर से निकालने की कोशिश में एक दूसरे से टकरा भी सकते हैं। वाहन चालकों को तो सड़क पर अचानक दिखाई पड़ते ही इधर ऊधर होना ही पड़ता है और वहीं दूसरे से टक्कर भी संभावित हो सकती है।

***********


सुलक्षणा दत्ता बीकानेर को फूलमती कमला देवी स्मृति सम्मान

 * करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 21 अगस्त 2019.

साहित्य सृजन पत्रकारिता सामाजिक सरोकार आदि उपलब्धियों पर महिलाओं को  दिया जाने वाला 'श्रीमती फूलवती कमला देवी तिवारी स्मृति सम्मान 2018-19 बीकानेर की ख्याति प्राप्त साहित्यकार डा.श्रीमती सुलक्षणा दत्ता 'रूह'को दिया जाना घोषित हुआ है। उनका कविता संग्रह 'हिलियस के प्रेम में" को विशेष रचना मानते हुए यह पुरस्कार घोषित किया गया है। इससे पूर्व यह पुरस्कार कई महिलाओं को प्रदान कर सम्मानित किया जा चुका है।  सम्मान समारोह के मुख्य वक्ता असद अली असद बीकानेर होंगे। 

सम्मान संयोजक रामेश्वर दयाल तिवारी 'राही'ने कहा है कि शीघ्र ही समारोह की तिथि घोषित कर दी जाएगी।

********


यह ब्लॉग खोजें