सोमवार, 22 अप्रैल 2019

अमेठी सीट पर राहुल गांधी का नामांकन वैध पाया गया

22 अप्रैल 2019.

अमेठी
अमेठी सीट से लोकसभा चुनाव लड़ रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नामांकनसही पाया गया है। कुछ विपक्षी प्रत्याशियों ने राहुल पर नामांकन में गलत जानकारी देने का आरोप लगाते हुए आपत्ति जाहिर की थी। एक निर्दलीय प्रत्याशी ने राहुल की नागरिकता और शैक्षिक योग्यता पर सवाल उठाते हुए अमेठी से उनका नामांकन रद्द करने की मांग की थी। जांच के बाद आपत्तियों को खारिज कर दिया गया है। बता दें कि अमेठी सीट से राहुल गांधी के खिलाफ बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी को उतारा है। 
अमेठी के रिटर्निंग ऑफिसर (निर्वाचन अधिकारी) ने कहा है कि राहुल के नामांकन पत्र में कोई खामी नहीं है और उनका नामांकन वैध पाया गया है। अमेठी के रिटर्निंग ऑफिसर से राहुल के खिलाफ शिकायत की गई थी। राहुल गांधी की शैक्षिक योग्यता को लेकर उठे सवाल पर वकील केसी कौशिक का कहना है, 'मुझे नहीं पता कि राउल विंची कौन है और वह कहां से आते हैं। राहुल गांधी ने 1995 में यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज से एमफिल किया था। मैंने उनके सर्टिफिकेट की एक कॉपी नामांकन के साथ सौंपी है।'
क्या है पूरा विवाद
निर्दलीय प्रत्याशी ध्रुवलाल ने जिला निर्वाचन अधिकारी से राहुल का नामांकन रद्द करने की मांग करते हुए आरोप लगाया था कि राहुल ने ब्रिटिश नागरिकता ली थी। उन्होंने ब्रिटेन में रजिस्टर्ड एक कंपनी के कागजातों के आधार पर यह दावा किया था। इसके साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष की शैक्षणिक योग्यता में त्रुटि का आरोप भी लगाया गया था। 
निर्दलीय प्रत्याशी ध्रुवलाल का कहना था कि उन्हें राहुल गांधी के निवास के बारे में कुछ जानकारियां मिली हैं कि वे भारतीय नहीं बल्कि दूसरे देश के नागरिक हैं। इस संबंध में काफी डॉक्युमेंट हैं। इसी पर उन्होंने आपत्ति जताई थी। राहुल गांधी के वकील राहुल कौशिक ने रिटर्निंग अधिकारी से जवाब देने के लिए समय मांगा था।
बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने सवाल उठाया कि राहुल किसी समय ब्रिटिश नागरिक बने थे या नहीं। राव ने कहा कि 2004 के चुनाव शपथपत्र के मुताबिक राहुल ने बैकऑफ्स लिमिटेड नाम की कंपनी में निवेश किया था। इस कंपनी के डॉक्युमेंट में कांग्रेस अध्यक्ष को ब्रिटिश नागरिक बताया गया है। यदि कोई भारतीय दूसरे देश की नागरिकता ग्रहण करता है तो उसकी भारतीय नागरिकता खुद समाप्त हो जाती है। इसके बाद वह भारत में चुनाव नहीं लड़ सकता।

रविवार, 21 अप्रैल 2019

सूरतगढ़ में बिजली गुल और खारे पानी का तूफान * लोकसभा चुनाव के मौके पर लोग नाराज*

****मील से लोगों के दिल नहीं मिलते-भरतराम मेघवाल ने भी मेल की कोशिश नहीं की।*****


* करणीदानसिंह राजपूत *


लोकसभा चुनाव के ऐन मौके पर सूरतगढ़ में खारे पानी का वितरण और बिजली का बीसियों बार गुल हो जाने से तूफान मचा है। सोशल मीडिया पर लगभग हर ग्रुप में खारे पानी और बिजली की आवाजाही पर रोष प्रकट किया जा रहा है। शहर के लोग बेहद नाराज हो रहे हैं कि प्रशासन सो रहा है और विभागों पर उसका कोई नियंत्रण नहीं है। सूरतगढ़ में सूरतगढ़ सुपर थर्मल पावर स्टेशन के होने के बावजूद बिजली की हालत बहुत खराब है। सड़कों की बिजली तो हद से ज्यादा गायब रहती है। एक तरफ अंधेरा तूफानी वर्षा और उस समय बिजली का गायब होना आम आदमी को पीड़ित करने वाला रहा है। आश्चर्य यह है कि लोगों की आवाज़ के बावजूद कोई सुधार नहीं हो रहा। आरोप है कि जोधपुर विद्युत वितरण निगम के अधिकारी सूरतगढ़ में नहीं रहते। वे दूसरे शहरों में रहते हैं रात को यहां नहीं रहते और उस कारण भी व्यवधान रहता है। फील्ड के कर्मचारियों की ड्यूटी भी कार्यालयों में कंप्यूटरों पर लगाने का आरोप है। जनता की आवाज पर कुछ भी नहीं हो रहा है। 

 इस बिजली की अव्यवस्था में पानी का भी बुरा हाल हो गया है। सूर्योदय नगरी में पानी 1 दिन छोड़ कर दिया जाता है उसका भी कोई समय निर्धारित नहीं है। पूर्ण रूप से पानी शुद्ध भी नहीं होता। हालात बहुत खराब है और अचानक 20 अप्रैल से सोशल मीडिया पर छाया कि शहर में खारे पानी की सप्लाई हो रही है। विभाग की ओर से पूर्ण चुपी है। नेताओं की ओर से भी सभी चुप बैठे हैं।


सबसे बड़ी आश्चर्यजनक बात यह है कि चुनाव के मौके पर जब एक तरफ कांग्रेस की सरकार श्री गंगानगर लोकसभा सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी भरतराम मेघवाल को जिताने की कोशिश कर रही है वहीं पर सूरतगढ़ के लोगों को बिजली बंद और खारे पानी की सप्लाई से पीड़ित किया जा रहा है।  इस तरह से कांग्रेस पार्टी के नेता सूरतगढ़ से भरतराम मेघवाल को कैसे वोट दिला पाएंगे? 

एक कहावत भी वर्षों से चली आ रही है के अशोक के काल में बिजली पानी का संकट और आकाल की छाया रहती है। हालात यही दर्शा रहे हैं और कहावत चरितार्थ हो रही है।

इन हालात में तो कांग्रेस को परेशान जनता से अपने प्रत्याशी के लिए वोट मिलना मुश्किल ही लगता है। 

कांग्रेस के लोगों की कोई रुचि नजर नहीं आती है। सूरतगढ़ विधानसभा सीट 2018 में हारने के बाद कांग्रेस की गाड़ी वापस पटरी पर नहीं आई। बिखरे नेता और गुट जुड़ नहीं पाए। किसी ने भी कांग्रेस को एकजुट करने की कोशिश ही नहीं की। असल में मील के साथ दूसरों के दिल ही नहीं मिलते। भरतराम को अपने स्तर पर मेल बिठाने का प्रयास करना था लेकिन जिन्हें मिलने के लिए फोन काल किया,वहां भी नहीं गए।

**********



श्रीगंगानगर-निहाल चंद व भरतराम सहित 9 नामांकन सही पाए गए

लोकसभा आम चुनाव 2019.

** करणीदानसिंह राजपूत **

श्रीगंगानगर, 20 अप्रैल 2019.

लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान 20 अप्रैल 2019 को जिला कलक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने अन्तिम तिथि 18 अप्रैल 2019 तक प्राप्त 11 उम्मीदवारों के नामांकन पत्रों की संवीक्षा की, जिनमें से 9 नामांकन पत्र विधिमान्य पाए गए। इस अवसर पर भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लगाए गए भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी एवं सामान्य पर्यवेक्षक श्री अभिशेक जैन भी मौजूद थे। 

गंगानगर संसदीय क्षेत्र के लिए संवीक्षा के बाद ये नामांकन सही पाए गए।

1. निहालचंद, भारतीय जनता पार्टी.

2. भरतराम मेघवाल, इंडियन नेशनल कांग्रेस.

3. रावताराम कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया.

4. लूणाराम बहुजन समाज पार्टी.

 5.तीतरसिंह निर्दलीय.

 6.नरेश कुमार निर्दलीय.

7. डॉ0 बालकृष्ण पंवार निर्दलीय. 

8. भजन सिंह घारू निर्दलीय.

9.सतीश कुमार निर्दलीय.

 

22 अप्रैल को 3 बजे तक नामांकन वापस लेने का समय

    जिला निर्वाचन अधिकारी श्री नकाते ने बताया कि नामांकन पत्रों की संवीक्षा के बाद 22 अप्रैल 2019 को सायं 3 बजे तक नामांकन पत्र वापस लेने का समय रहेगा। इसके पश्चात इसी दिन 3 बजे प्रत्याक्षियों को चुनाव चिन्ह आवंटित किए जाएंगे।

22 अप्रैल को उम्मीदवारों की बैठक 4 बजे

    जिला निर्वाचन अधिकारी श्री नकाते ने बताया कि 22 अप्रैल 2019 को चुनाव चिन्ह आवंटन के बाद 4 बजे कलैक्ट्रेट सभाहॉल में उम्मीदवारों व राजनैतिक दलों की बैठक आयोजित होगी। बैठक में लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान आदर्श आचार संहिता की पालना, निर्वाचन व्यय, स्वतंत्र निष्पक्ष भयमुक्त मतदान तथा आयोग के दिशा निर्देशों की जानकारी दी जाएग

राहुल गांधी के नामांकन की जांच रोकी गई-नागरिकता पर सवाल उठा:22 तक जवाब मांगा गया


* क्या 2004 में राहुल गांधी ब्रिटिश नागरिक थे, बीजेपी ने उठाया सवाल;*

*नामांकन पत्र की जांच रोकी गई राहुल की नागरिकता पर उठे सवालों के बाद अमेठी लोकसभा सीट से भरे गए राहुल गांधी के नामांकन पत्र की जांच रोक दी गई है।*

 20 Apr 2019.

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नागरिकता पर बीजेपी ने बड़ा सवाल उठाया है। बीजेपी ने कहा कि राहुल बताएं कि वो ब्रिटिश नागरिक हैं या भारतीय। बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा कि राहुल गांधी ने 2004 में खुद को ब्रिटिश नागरिक बताया था।


बीजेपी की ओर से प्रेस कांफ्रेंस करते हुए राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा, नामांकन के दस्‍तावेज में राहुल गांधी का नाम ब्रिटिश नागरिक के तौर पर दर्शाया गया है। इस पर बीजेपी ने सवाल उठाया है कि क्‍या राहुल गांधी ब्रिटिश नागरिक थे। बीजेपी का आरोप है कि राहुल गांधी ने नामांकन में जो दस्‍तावेज दिए हैं, उसमें झूठे तथ्‍य दिखाए गए हैं।

अमेठी के जिला निर्वाचन अधिकारी ने राहुल गांधी को सोमवार तक का समय दिया है। जीवीएल नरसिम्‍हा राव ने कहा, मुझे लगता है कि यह बहुत आश्चर्य की बात है कि उनकी नागरिकता को लेकर जो आपत्तियां जताई गई हैं, उनका जवाब नहीं दिया गया है।

जीवीएल ने कहा, मुझे लगता है कि यह घोर आश्‍चर्य का विषय है कि राहुल गांधी की नागरिकता को लेकर जो सवाल उठाए गए हैं, उसका उन्‍होंने अब तक जवाब नहीं दिया है। राहुल गांधी के कानूनी सलाहकार ने दूसरे उम्‍मीदवारों द्वारा उठाए गए सवालों का अब तक जवाब नहीं दिया है। उन्‍होंने उठाए गए सवालों का जवाब देने के लिए निर्वाचन कार्यालय से समय मांगा है।


राहुल की नागरिकता पर उठे सवालों के बाद अमेठी लोकसभा सीट से भरे गए राहुल गांधी के नामांकन पत्र की जांच रोक दी गई है। राहुल के वकील ने बीजेपी की आपत्ति का जवाब देने के लिए 22 अप्रैल तक का वक्त मांगा है जिसके बाद राहुल के नामांकन पत्र की जांच रोकी गई।

शनिवार, 20 अप्रैल 2019

आयकर रिटर्न नहीं भरने,2013 से 2017 पर कार्यवाही के संकेत

^^ 2.04 करोड़ लोगों ने नहीं भरा आयकर रिटर्न। ^^

* केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने आयकर विभाग से साल 2013 से 2017 के बीच आयकर रिटर्न नहीं दाखिल करने वालों के साथ ही अनियमित आयकर रिटर्न भरने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। बोर्ड ने आयकर रिटर्न नहीं भरने वाले 2.04 करोड़ लोगों का पता लगाया है।*


केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने आयकर विभाग के 30 जून से टैक्स रिटर्न नहीं भरने वाले और नियमित रूप से टैक्स रिटर्न भरने वालों के खिलाफ जुर्माना लगाने संबंधी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। आयकर विभाग के नॉन-फाइलर मॉनिटरिंग सिस्टम (एनएमएस) के अनुसार साल 2013 से 2017 के दौरान 2.04 करोड़ आयकर रिटर्न नहीं भरने वालों का पता लगा गया है।

इसके अतिरिक्त 25 लाख ऐसे लोगों की भी पहचान की गई है जो नियमित रूप से टैक्स रिटर्न नहीं भर रहे या बीच में रिटर्न भरने में गैप कर रहे हैं। ऐसे लोग जो एक साल तो रिटर्न भरते हैं लेकिन अगले साल नहीं भरते या बीच में दो साल के गैप के बाद फिर रिटर्न भरते हैं। विभाग ऐसे लोगों को ‘ड्रॉप फाइलर्स’ की कैटेगरी में रखता है। जबकि ‘नॉन फाइलर्स’ वो लोग हैं जो रिटर्न ही नहीं भरते हैं।


असेसिंग अधिकारी ने कहा, ‘हम देशभर के सभी नॉन फाइलर्स और ड्रॉप फाइलर्स को नोटिस जारी कर रहे हैं और संबंधित मामलों में कार्रवाई शुरू की जाएगी।’ आयकर विभाग के सेक्शन 271एफ के अंतर्गत टैक्स रिटर्न नहीं फाइल करने वाले पर जुर्माना लगाया जाएगा। वहीं देरी से रिटर्न फाइल करने वालों पर सेक्शन 234 के तहत कार्रवाई होगी।

यदि करदाता 31 अगस्त की निर्धारित तारीख के बाद लेकिन 31 दिसंबर से पहले रिटर्न फाइल कर देता है तो उस पर 5000 रुपये का जुर्माना लगेगा। वे लोग जो 31 दिसंबर के बाद रिटर्न फाइल करते हैं उनपर जुर्माने की रकम बढ़ कर 10000 रुपये हो जाएगी। हालांकि, इसमें छोटे करदाताओं को छूट दी जाएगी।

यदि उनकी कुल आय 5 लाख से अधिक नहीं है तो उन पर अधिकतम 1000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। एक असेसिंग अधिकारी जुर्माने के साथ ही तीन महीने से लेकर 2 साल तक सजा संबंधी कार्रवाई शुरू कर सकता है। कर योग्य आय 25 लाख से अधिक होने की सूरत में सजा की अवधि बढ़ सकती है।

कर विभाग ने एनएमएस डाटाबेस के आधार पर कार्रवाई शुरू कर दी है। एनएमएस के डाटा को असेसिंग अधिकारियों के साथ साझा किया जा रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि इस सूचना के आधार पर कर दायरा को बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जाएगा। एनएमएस डाटा के अनुसार साल 2013 के बाद से आयकर रिटर्न नहीं दाखिल करने वाले लोगों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है।

साल 2014 में आयकर रिटर्न नहीं दाखिल करने वाले लोगों की संख्या 12.2 लाख थी जो साल 2015 में बढ़कर 67.5 लाख हो गई। वहीं ड्रॉप फाइलर्स की संख्या वित्त वर्ष 2017 के 28.3 लाख के मुकाबले वित्त वर्ष 2018 में 25.2 लाख हो गई।

( साभार जनसत्ता ऑनलाइन April 20, 2019.)

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019

सूरतगढ़ रेलवे स्टेशन पर बिजली से चलेंगी गाड़ियां:पटरियों के विद्युतीकरण में तेजी

 ^^ करणी दान सिंह राजपूत ^^

सूरतगढ़ 19 अप्रैल 2019.

 मॉडल स्टेशन सूरतगढ़ में रेल पटरियों पर विद्युत उपकरण लगाने का कार्य तीव्र गति से चल रहा है। कार्य पूर्ण होने के बाद यहां रेलगाड़ियां का आवागमन विद्युत से शुरू हो जाएगा। 

 सूरतगढ़ से बठिंडा तक रेल लाइन का विद्युतीकरण कार्य लगभग पूर्ण है।  बठिंडा से हनुमानगढ़ तक पूर्व में इंजन चला कर जांच की जा चुकी है।  हनुमानगढ़ से रंग महल स्टेशन तक की जांच कुछ दिनों पहले हो चुकी है।  वर्तमान में रेलवे स्टेशन यार्ड में और प्लेटफार्म के पास तेज गति से कार्य हो रहा है। रेल पटरी का विद्युतीकरण थर्मल पावर स्टेशन तक होगा ताकि कोयले के रेक वहां पर आसानी से पहुंच सकें। 

 रेल पटरी के विद्युतीकरण के बाद बठिंडा सूरतगढ़ के बीच रेलों की गति में और तेजी आएगी।

**************





गुरुवार, 18 अप्रैल 2019

लोकसभा चुनाव 2019-स्वीप कार्यक्रम के तहत सतरंगी सप्ताह 27 अप्रैल से 3 मई


श्रीगंगानगर, 17 अप्रेल। जिला कलक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शिवप्रसाद मदन नकाते के निर्देशानुसार लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान 6 मई को मतदान का प्रतिशत बढाने के लिए 27 अप्रैल से 3 मई तक सतरंगी सप्ताह का आयोजन किया जाएगा। 

27 अप्रैल को सतरंगी सप्ताह के दौरान हर शहर में जन जन उठेंगे, मतदान की कीमत समझेगें सांग के साथ दीपदान होगा तथा हम भी वोट करेगे, हम भी गर्व करेंगे सलोगन व बैंगनी कलर की थीम के साथ कार्यक्रम करेंगे। 

इसी प्रकार 28 अप्रैल को अब कोई ना आकर भरमाये, मन मे डर न घर कर जाए संगीत के साथ लालच पर होगी चोट सोच समझकर करेंगे वोट सलोगन व नारंगी रगं की थीम के साथ बैण्डवादन का कार्यक्रम होगा। 

इसी प्रकार 29 अप्रैल को क्या गांव डगर सब संग आये कोई वोट न बाकी रह जाये सांग व हम भी नाचेंगे गायेंगे वोट डालकर आयेगें सलोगन व नीले रंग की थीम पर वोट बारात का कार्यक्रम होगा। 

इसी प्रकार 30 अप्रैल को अब आओं घूंघट से निकले घर ढाणी पनघट से निकले गाने की थीम व वोट करूगीं तभी तो बढूंगी सलोगन व हरे रंग की थीम के साथ महिला मार्च का कार्यक्रम होगा। 

एक मई को हर पीढी के मतदाता जनतंत्र के भाग्यविधाता सांग व जिम्मेदारी का एहसास है वोट डालने को तैयार है सलोगन तथा पीले रंग की थीम के साथ मानव श्रखंला बनाई जाएगी।

 2 मई को हम लोकतंत्र की जान बने जनजागृति का आह्वान् बने सांग व अधिकार का प्रयोग करेंगे , वोट करेंगी वोट करेंगे सलोगन तथा ओरेंज कलर की थीम के साथ ट्राईसाईकिल रैली निकाली जाएगी।

 इसी प्रकार 3 मई को उर्जा हम है, हम संयम है, हम जोश है, हिम्मत दमखम है सांग तथा अगुंली पर निशान राष्ट्र के नाम सलोगन व लाल थीम के साथ वोट मैराथन का आयोजन किया जाएगा। 


फसल खराबा- सर्वे में कोताही-ढील पर सख्त कार्रवाई होगी-जिला कलेक्टर*सर्वे के निर्देश



जिला कलक्टर ने उपनिदेशक कृषि को दिये निर्देश 


श्रीगंगानगर, 17 अप्रेल। जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कृषि विभाग के उपनिदेशक को निर्देशित किया है कि 15 व 16 अप्रैल 2019 को हुई असामयिक वर्षा , ओलावृष्टि , अंधड से हुई क्षति का सयुक्त सर्वे फसल बीमा कम्पनी , एसबीआई जनरल एन्शयोरेन्स कम्पनी के प्रतिनिधियों को निर्देशित कर तत्काल करवाया जाना सुनिश्चत करें।


जिला कलक्टर ने उपनिदेशक कृषि को निर्देश दिए है कि इस सम्बध मे तत्काल कम्पनी प्रतिनिधियो से सम्पर्क स्थापित कर बीमा प्रावधानों के अनुरूप क्षति के आंकलन के लिए तत्काल कमेटी (बीमा कम्पनी क्षतिपूर्ति सर्वेयर, सहायक कृषि अधिकारी, भू अभिलेख निरीक्षक तथा सम्बधित प्रभावित किसान) से सयुक्त सर्वे करवाकर किसानो को नियमानुसार मुआवजा दिलाए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करावें। सर्वे जैसे कार्य मे किसी तरह की कोताही बरतने पर उपनिदेशक कृषि व विभागीय अधिकारियों व बीमा कम्पनी के प्रबन्धन के विरू़़द्ध कडी कार्यवाही की जायेगी। 

सूरतगढ़-भगवान महावीर जयंती पर प्रभातफेरी


भगवान महावीर जन्म कल्याणक के शुभ अवसर पर जैन समाज द्वारा महावीर इंटरनेशनल सूरतगढ़ के संयुक्त तत्वावधान में प्रभात फेरी का आयोजन किया गया। प्रभात फेरी बुधवार प्रातः श्री पार्श्वनाथ जैन मंदिर से आरंभ हुई और शहर की विभिन्न गलियों तथा बाज़ार से होती हुई पुनः जैन मंदिर पर समाप्त हुई। इस प्रभात फेरी में श्रद्धालु भगवान महावीर के सत्य,अहिंसा और समता धर्म के नारे लगाते हुए जियो और जीने दो का संदेश दे रहे थे। प्रभात फेरी में समाज के लोगों के अलावा महिलाएं, बच्चे और महावीर इंटरनेशनल व वीरा केंद्र के सदस्य सम्मिलित हुए।





सूरतगढ़-सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को बेबीकिट भेंट

17-4-2019.

महावीर इन्टरनेशनल, सूरतगढ़ द्वारा महावीर जयन्ति के उपलक्ष में एस.टी.पी.एस. सूरतगढ़ के मुख्य अभियन्ता बी.पी. नागर के सहयोग से प्राप्त 100 हाइजैनिक बेबी किट सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सूरतगढ़ में भेंट की गयी। ये बेबी किट राजकीय चिकित्सालय में जन्म लेने वाले प्रत्येक शिशु को निःशुल्क प्रदान की जाती है। इसी के साथ संस्था सदस्य पवन जैन व नीरज डांग के सहयोग से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती रोगियों को फल व बिस्कुट वितरित किये गये। इस अवसर पर एस.टी.पी.एस. के तकनीकी सहायक हिमांशु बोलिया, नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. सपना बवेजा, नर्सिंगकर्मी बबीता शर्मा, किरण, पूर्ण भाटिया सहित संस्था अध्यक्ष नत्थूराम कलवासिया, पूर्व अध्यक्ष संजय बैद, शंकरलाल मूंधड़ा, विजय कुमार सावनसुखा, अमन रांका, दिलीप मिश्रा, पवन जैन, नीरज डांग, रमेश तिवाड़ी, सचिव राजेश वर्मा उपस्थित थे।


यह ब्लॉग खोजें