रविवार, 18 अगस्त 2019

महिला जनप्रतिनिधि स्वयं कार्य करें - पटवारी व ग्रामविकास अधिकारी मुख्यालय पर 9 से 6-30 तक काम करें



20 सूत्री कार्यक्रम के लक्ष्यों को पूरा करे : शिक्षा राज्यमंत्री


श्रीगंगानगर, 17 अगस्त 2029. शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि ग्राम स्तर पर सेवारत पटवारी व ग्राम विकास अधिकारियों को मुख्यालय पर रहकर प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से सायं 6.30 बजे तक कार्यालयों में उपस्थित रहना होगा। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कर्मिक एक प्रमुख कड़ी हैं। 

श्री डोटासरा ने कलैक्ट्रेट सभाहॉल में 20 सूत्री कार्यक्रम की समीक्षात्मक बैठक में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि ग्राम स्तर के कार्मिक मुख्यालय पर नही रहेंगे तो, जो विकास का सपना हम देख रहे हैं वह पूरा नहीं  होगा। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कार्मिकों का नियमित निरीक्षण किया जाए तथा ग्राम पंचों से उपस्थिति के संबंध में फीडबैक लिया जाए। उन्होंने कहा कि चुनी हुए महिला जनप्रतिनिधियों तथा राजकीय सेवा में सेवारत महिला कार्मिक स्वयं ही अपने कार्य को पूरा करें तथा वे सक्षम भी है, लेकिन कई स्थानों पर महिलाओं के पति कार्य करते हैं  या कार्य में दखलांदाजी करते हैं जो उचित नही है। उन्होने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा में मेट को रोटेशन के अनुसार लगाए, अगर प्रशिक्षण की आवश्यकता है, तो उन्हे प्रशिक्षित किया जाए। 

राज्यमंत्री श्री डोटासरा ने कहा कि सम्बल ग्राम योजना के तहत जो 1409 गांव चिन्हित है, उनमें योजना के अनुसार मूलभूत सुविधाएं विकसित की जाए। ये वो गांव है, जिनमे सर्वाधिक अनुसूचित जाति के परिवार निवास करते है। उन्होंने  कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों के सम्पर्क में रहे तथ विकास से संबंधित कार्यो में किसी तरह का विलम्ब नहीं  होना चाहिए। उन्होने पर्यावरण की रक्षा के लिए अधिक से अधिक पौधे लगाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के इस कार्य में आमजन की भागीदारी भी होनी चाहिए। उन्होने कहा कि जिन वृद्धजनों की पैंशन बंद है, उसे चालू की जाए तथा जो पात्र है, उनके नये आवेदन प्राप्त किए जाएं।  उन्होंने जिले में संचालित वृद्धाश्रम का लगातार निरीक्षण करने व उनकी सुविधाओं का ध्यान रखने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि इन केन्द्रों में पीड़ित मानव की सेवा होती है , उन्हें और उसे और बेहतर बनाना है।

श्रीर डोटासरा ने जिले में विद्युत आपूर्ति नियमित रखने, खराब मीटरों को बदलने तथा विद्युत छिजत में कमी लाने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि शिक्षण कार्य में लगे शिक्षकों, प्रधानाचार्यो से शिक्षा का कार्य ही लिया जाए। किसी कार्यालय में कार्मिकों के अभाव में कार्य प्रभावित हो रहा हो तो मंत्रालयी कार्मिकों  की सेवा ली जाए। उन्होंनेे कहा कि माननीय मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप अधिकारी जनता की समस्याओं को सुने तथा उसका समाधान करने का पूरा प्रयास करें।  हमारा दायित्व है कि हम जनता की आशाओं पर खरे उतरें।  उन्होने स्वीकृत विकास कार्यो को पूर्ण करने तथा पूर्ण कार्यो की यूसी व सीसी जारी करने में विलम्ब न करने के निर्देश दिए। 

गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़ ने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा में श्रमिकों को पूरी मजदूरी मिले, इसके लिए अधिकारी उनसे टॉस्क पूरा करवाए। उन्होंने शहर में सीवरेज कार्यो में तेजी लाने का सुझाव दिया। श्री गौड ने कहा कि सीवरेज के अधूरे कार्यो से आमजन को परेशानी हो रही है, जो सड़के, नालियां अधूरी है, उन्हे पूरा किया जाए। 

सादुलशहर विधायक श्री जगदीश जांगिड ने सुझाव दिया कि महात्मा गांधी नरेगा में जो मेट लम्बे समय से चल रहे है, उन्हे बदला जाए। मेट के नये पेनल के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाए। उन्होने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन गांव में ही बांटने का आग्रह किया। उन्होने विद्युत आपूर्ति तथा विद्युत ट्रिपिंग की समस्या भी बैठक में रखी। 

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि 20 सूत्री कार्यक्रम में रोजगार सृजन के लिए 22 लाख के  विरूद्ध 45 लाख रूपये की राशि युवाओं को उपलब्ध करवाई गई है। जिले में महिला समूहों का गठन किया जाकर उन्हें बैंको से वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई गई है। जिले में आयोजित रात्रि चौपालों में पात्र  नागरिकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ दिया जाता है। जो आवेदन पत्र लम्बित हैं उनका निस्तारण विकास अधिकारियों के माध्यम से करवाया जाएगा। प्रधानमंत्री आवास निर्माण में जिला राज्य में प्रथम स्थान पर है। 

जिला कलक्टर ने बताया कि वृक्षारोपण के कार्यक्रम आयोजित कर पौधे लगाने का कार्य वन विभाग के अलावा शिक्षा विभाग तथा अन्य विभागों द्वारा किया जा रहा है। गरीब परिवारों को बिजली उपलब्ध करवाने के 1071 के लक्ष्य के विपरित 1462 गरीब परिवारों को बिजली दी गई है।

पुलिस अधीक्षक हेमन्त शर्मा ने जिले की कानून व्यवस्था की जानकारी दी। 

बैठक में सूरतगढ विधायक  रामप्रताप कासनिया, मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ स्वामी, एडीएम प्रशासन  ओ.पी. जैन, एडीएम सतर्कता राजवीर सिंह, उपवन संरक्षक पयोंग शशि, विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियन्ता  के.के. कस्वा, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता सुशील बिश्नोई, पेयजल विभाग के अधीक्षण अभियन्ता बलराज शर्मा सहित विभिन्न विभागों अधिकारी उपस्थित थे। 

----------




शुक्रवार, 16 अगस्त 2019

अटल बिहारी वाजपई अमर रहे अमर रहे- सूरतगढ़ में श्रद्धांजलि



 - करणीदानसिंह राजपूत -

 सूरतगढ़ 16 अगस्त 2019.

 अटल बिहारी वाजपेई की प्रथम पुण्यतिथि पर यहां महाराणा प्रताप चौक पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित हुआ।

 विधायक रामप्रताप कासनिया के नेतृत्व और गौरव बलाना के संयोजन आह्वान पर शाम को 6:30 बजे भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी कार्यकर्ता व बाजपेयी तथा भाजपा समर्थक लोग एकत्रित हुए। 

वाजपेई के चित्र पर पुष्प अर्पित किए गए।  इस अवसर पर अटल बिहारी वाजपई अमर रहे अमर रहे के नारे लगाए जाते रहे नारों के साथ वाजपेयी के चित्र पर पुष्पांजलि दी जाती रही।

 विधायक रामप्रताप कासनिया, पूर्व पालिकाध्यक्ष श्रीमती आरती शर्मा, जिला महामंत्री मुरलीधर  पारीक,भाजपा महिला नेता श्रीमती रजनी मोदी, अशोक आसेरी,सुभाष सैनी, टंडन,गिरी,पालिका उपाध्यक्ष पवन औझा, तुलसी राम, सुभाष सोनी, कृष्ण छींपा,मोर्चों के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं  ने पुष्पांजलि अर्पित की।

श्रीगंगानगर मेंअखिल भारतीय ज्योतिष सम्मेलन एवं सम्मान समारोह

श्रीगंगानगर, 16 अगस्त 2019.

अभिज्ञान वैदिक संस्थान श्रीगंगानगर की ओर से पहला अखिल भारतीय ज्योतिष सम्मेलन एवं सम्मान समारोह 17 व 18 अगस्त को श्रीगंगानगर के एल ब्लॉक हनुमान मंदिर में आयोजित होगा।
संस्थान के अध्यक्ष एडवोकेट राजेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि श्रीगंगानगर के इतिहास में पहली बार होने वाले इस सम्मेलन में देश के ख्याति प्राप्त ज्योतिषाचार्य, वास्तुविद् एवं विद्वान शामिल होंगे।
सम्मेलन में अन्य प्रदेशों से आने वाले विद्वानजन ज्योतिष, वास्तु एवं हस्तरेखा पर वक्तव्य देगें।
संस्थान के सचिव डॉ. एस.के. त्रिपाठी ने बताया कि सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य स्थानीय ज्योतिष आचार्यों, वास्तुशास्त्रियों के ज्ञान में बढोतरी करना, समय-समय पर इस प्रकार के सम्मेलन आयोजित कर समाज, देश के लिये काल की गणना कर उसकी सटीक भविष्यवाणी करने का है। 
संस्थान के कोषाध्यक्ष नरेश जैन ने बताया कि सम्मेलन के उद्घाटन सत्र के मुख्य अतिथि ओद्यौगिक न्यायाधिकरण और श्रम न्यायालय श्रीगंगानगर के न्यायाधीश श्री रवि प्रकाश शर्मा, विशिष्ट अतिथि फोनिक्स हाईट्स लिमिटेड न्यू मुम्बई के चेयरमेन राजेन्द्र सत्यनारायण व परिवार कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष वीरेन्द्र वैद होगें। 
कार्यक्रम की अध्यक्षता समाजसेवी विजय गोयल करेगे। सम्मेलन के दौरान होने वाली भजन संध्या में नई दिल्ली के भजन गायक मांगेराम अत्री अपनी प्रस्तुतियां देगें। 
इस सम्मेलन में भाग लेने के इच्छुक वास्तुशास्त्री, हस्तरेखा विशेषज्ञ व ज्योतिष संस्थान के कार्यालय शर्मा कम्प्यूटर्स10 लक्कड़ मंडी रोड टी प्वाईंट श्रीगंगानगर पर अपना पंजीयन करवा सकते है। 
-------------

माइक्रोवेव ओवन स्वास्थ्य का दुश्मन - कारण जान दंग हो जाएंगे

जापान सरकार ने इस वर्ष के अंत से पहले देश में सभी  *माइक्रोवेव ओवन*  का निपटान करने का फैसला किया है और सभी नागरिक और संगठन जो आवश्यकता को पूरा नहीं करते हैं, उन्हें जुर्माना और जेल की शर्तों के साथ धमकी दी जाती है।

राइजिंग सन की भूमि में "माइक्रोवेव ओवन" पर प्रतिबंध का कारण हिरोशिमा विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा किया गया एक शोध था, जहां उन्होंने पाया कि "रेडियो तरंगें" 20 वर्षों में नागरिकों के स्वास्थ्य को अधिक नुकसान पहुंचाती हैं, खासकर जब माइक्रोवेव ओवन का उपयोग करना जो 1945 में हिरोशिमा एन नागासाकी पर अमेरिकी परमाणु बमों की तुलना में अधिक हानिकारक है।विशेषज्ञों के अनुसार, माइक्रोवेव ओवन में गर्म किए गए भोजन में बहुत ही अस्वास्थ्यकर कंपन और विकिरण होते हैं।

दरअसल, जापान में "माइक्रोवेव ओवन" के सभी सबसे बड़े निर्माताओं को बंद किया जा रहा है, जहां यह उत्पाद निर्मित होता है।

2021 में, "माइक्रोवेव ओवन" का उत्पादन रोक दिया जाएगा, जैसा कि दक्षिण कोरिया में घोषणा की गई है, और चीन ने 2023 में इस प्रकार की तकनीक को छोड़ने की योजना बनाई है।

*********

काशीरा कैंसर केंद्र में कैंसर की रोकथाम पर एक सम्मेलन आयोजित किया गया था, सम्मेलन के अंत में की गई सिफारिशों के अनुसार, इन खाद्य पदार्थों से बचा जाना चाहिए:


1. परिष्कृत तेल

2. पशु उत्पत्ति का दूध (अनुशंसित सोया दूध)

3. खाद्य क्यूब्स (चिकन शोरबा मसाले जैसे मैगी और जैसे)

4. सोडा (प्रति लीटर चीनी के 32 टुकड़े)

5. *परिष्कृत चीनी*

6. माइक्रोवेव ओवन

7. इकोकार्डियोग्राफी को छोड़कर जन्म से पहले मैमोग्राम न करें

8. बहुत संकीर्ण अंडरवियर n ब्रा

9. शराब

10. आइस्ड फूड को डिसाइड करना और फिर उसे रिफ्रीज़ करना

11. प्लास्टिक की बोतलों में रेफ्रिजरेटर से पीने का पानी

12. गोलियां क्योंकि यह महिलाओं में हार्मोनल सिस्टम को बदलती है और कैंसर का कारण बनती है

13. शेविंग के बाद उपयोग किए जाने विशेष डिओडोरेंट क्योंकि वे कैंसर का कारण बनते हैं

14. *व्हाइट शुगर* किसी भी रूप में (कैंसर कोशिकाओं को मुख्य रूप से चीनी पर फ़ीड)। कैंसर के रोगियों को अपने आहार में चीनी से बचना चाहिए।



*सम्मेलन की सिफारिशों के अनुसार, वे इन्हें अपने आहार में शामिल करने की सलाह देते हैं*


1. सब्जियाँ

2. शहद का उपयोग चीनी के बजाय मध्यम रूप से किया जाता है

3. प्लांट प्रोटीन (मांस के बजाय सेम)

4. दांत ब्रश करने से पहले खाली पेट पर शरीर के तापमान पर दो कप पानी

5. भोजन गर्म होना चाहिए और बहुत गर्म नहीं होना चाहिए

6. एलोवेरा जूस + अदरक + अजमोद + अजवाइन + ब्रोमेलिन। हम उन्हें मिश्रण करने और उन्हें खाली पेट पीने की सलाह देते हैं

7. प्रतिदिन गाजर का रस

8. भोजन के साथ टमाटर, लहसुन n प्याज



ध्यान दें : *अमेरिकन फिजिशियन एसोसिएशन ने पाया कैंसर के कारण*


1. प्लास्टिक के कप में चाय, कॉफी या कुछ भी गर्म न पीएं

2. कागज या कार्डबोर्ड या प्लास्टिक की थैली में लिपटे हुए कुछ भी न खाएं (उदाहरण के लिए: तले हुए आलू)

3. प्लास्टिक या माइक्रोवेव के व्यंजन न खाएं


😇

*निम्नलिखित नोट करना चाहते हैं:*


जब प्लास्टिक गर्मी के संपर्क में होता है, तो रासायनिक यौगिक जो 52 प्रकार के कैंसर का कारण बन सकते हैं।


इस प्रकार, आपको सभी प्रकार के शीतल पेय जैसे "कोला, पेप्सी, एवी, फांटा एन सभी केंद्रित रस पीने से बचना चाहिए।


ताजा अनानास खाएं और कोला के साथ अनानास के रस के मिश्रण से बचें क्योंकि यह मिश्रण घातक है क्योंकि यह लोगों को मौत का कारण होगा क्योंकि उन्हें लगता है कि इसका कारण विषाक्तता है और वे इस घातक कॉकटेल के अपने अज्ञान का शिकार हैं!


बाएं कान के माध्यम से कॉल का जवाब दें और हेडफ़ोन का बेहतर उपयोग करें


ठंडे पानी से दवा न पिएं


शाम 7 बजे के बाद भारी भोजन न करें


सुबह में पानी पीएं शाम को कम,

खाने के तुरंत बाद एक क्षैतिज स्थिति (लेट / नींद) न लें


जब आपकी फोन की बैटरी लगभग मृत हो जाए, तो फोन को न उठाएं, क्योंकि यह रेडिएशन चार्ज बैटरी से 1000 गुना ज्यादा मजबूत है।


गुरुवार, 15 अगस्त 2019

जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति- बसंत विहार कालोनी पार्क में बैंचें भेंट


* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 15-8-2019.

स्वतंत्रता दिवस पर 15 अगस्त 2019 को आज वसंत विहार पार्क में स्वर्गीय जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति में बैंचें भेंट की गई। इस पार्क में शाम को कॉलोनी के बुजुर्ग व महिलाएं आदि घूमने आते हैं। बड़े लोगों के बैठने के लिए  बैठने की सुविधा रहेगी। 

जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति के में आयोजित कार्यक्रम में उनकी लोकप्रियता और जीवनी की खास बातें बताई गई कि वे मित्रों के मित्र और समाजसेवी लोगों के साथी रहे थे।



 श्री जगदीश चंद्र शर्मा का देहांत 17 अगस्त 2016 को हुआ था। इसी 17 अगस्त को तृतीय पुण्यतिथि आने वाली थी और इसी अवसर को ध्यान में रखते हुए स्वतंत्रता दिवस पर उनकी स्मृति में बैंचें भेंट की गई।  

इस अवसर पर शर्मा

 जी के पुत्र मनीष व पंकज,पुत्रवधुएं व पोते मित्रगण व कॉलोनी वासी उपस्थित थे।

स्वर्गीय जगदीश चंद्र शर्मा मोटर मार्केट के व्यवसायी थे लेकिन वे समाजोपयोगी सामग्री पर लेख लिखते थे जो नवभारत टाइम्स जयपुर व दिल्ली व  से प्रकाशित होने वाली पत्र पत्रिकाओं में छपते थे। आकाशवाणी से भी उनकी वार्ताएं प्रसारित हुआ करती थी। सामान्य रूप से लोग उन्हें व्यवसायी मानते रहे और उनके लेखन कार्य के बारे में कुछ लोग ही जानते हैं,जो लेखन आदि से जुड़े हुए हैं। 

जगदीश चंद्र शर्मा पहले राजस्थान सरकार की इंजीनियरिंग सेवा में थे और फेमिन वर्क ( आकाल राहत) के समय उन्होंने यह माना कि भ्रष्टाचार है इसलिए उन्होंने नौकरी छोड़ कर सन 1972 में स्पेयर पार्ट्स की दुकानदारी शुरू की। उनका व्यवसाय शर्मा मोटर स्टोर (पुराना मोटर मार्केट) चल रहा है।


बुधवार, 14 अगस्त 2019

स्वतंत्रता दिवस पर एसडीएम रामावतार कुमावत सम्मानित होंगे

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ के उपखंड अधिकारी रामावतार कुमावत को जिला मुख्यालय पर आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह 15 अगस्त 2019 को श्रीगंगानगर में सम्मानित किया जाएगा।

श्री कुमावत को यह सम्मान विगत लोकसभा आम चुनाव 2019 में श्रेष्ठ कार्य संपादन पर दिया जाएगा।लोकसभा चुनाव में मतदाताओं को अधिक से अधिक मतदान करने के अनेक कार्यक्रम विभिन्न संस्थाओं के व मीडिया के सहयोग से चलाए जिससे सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में मतदान प्रतिशत अन्य क्षेत्रों से अधिक रहा था।

******************************

सूरतगढ़ पालिका में अध्यक्ष का महाघोटाला-जानें क्या हुआ?

* करणीदानसिंह राजपूत *

विधायक रामप्रताप कासनिया द्वारा विधानसभा में सीवरेज सिस्टम और नगर पालिका में हो रहे भ्रष्टाचारों का वक्तव्य देना और उसके बाद नगरपालिका बैठक में इन्हीं भ्रष्टाचारों को दोहराना बहुत गंभीर है। 

इसे भारतीय जनता पार्टी की अंदरूनी कलह और राजनैतिक लड़ाई बता कर छोड़ा नहीं जा सकता।

भारतीय जनता पार्टी के कुछ लोग कह रहे हैं के यह पार्टी के अंदर का गुटों का मामला है और इस पर कार्यवाही बचाव की की जाए क्योंकि कुछ दिनों के भीतर ही फिर से नगर पालिका बोर्ड के अध्यक्ष और पार्षदों के चुनाव में जनता के बीच जाना है।

जनता के बीच जाकर भ्रष्टाचार के मामले में सीवरेज के मामले में भारतीय जनता पार्टी के लोग वोट मांगते वक्त क्या वक्तव्य देंगे? क्या बात करेंगे? किस तरह से वोट मांगेंगे? यह भारतीय जनता पार्टी को सोचना है कि वह नगर पालिका बोर्ड बनने के बाद से अब तक चुप क्यों रही?

भारतीय जनता पार्टी के नगर मंडल का दायित्व था और अभी भी है कि वह जनता के बीच भ्रष्टाचार की उठ रही आवाजों को उच्च स्तरीय संगठन अधिकारियों तक पहुंचाता। विधायक द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद तो हर हालत में पार्टी में यह हालात रखने चाहिए थे।

भ्रष्टाचार का मामला आगे भी जारी रहे यह जनता को स्वीकार नहीं है। रामप्रताप कासनिया के आरोपों पर केवल पार्टी की अंदरूनी गुटबाजी कहकर छोड़ना अब संभव नहीं होगा। चुनाव सिर पर हैं और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर स्थानीय भाजपा को गंभीर निर्णय और अपना स्टैंड जनता के सामने स्पष्ट रूप से रखना ही पड़ेगा।

 रामप्रताप कासनिया ने चुनाव से पहले भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज लगाते हुए चुनाव लड़ा था। रामप्रताप कासनिया का यह स्टैंड बदला नहीं जा सकता। कासनिया का यह स्टैंड आगामी नगर पालिका चुनाव में भी कायम रहेगा। जनता भ्रष्टाचार मुक्त बोर्ड चाहती है।

 ऐसी स्थिति में जो लोग आज सीवरेज सिस्टम और अन्य भ्रष्टाचार के कार्यों में पालिका के सहयोगी बन करके खड़े हैं उनका अस्तित्व नगर पालिका चुनाव में खत्म हो जाएगा। वे नगर पालिका चुनाव में दो कदम भी चल नहीं पाएंगे।

 भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर ही 


अध्यक्ष का चुनाव होगा सीधे जनता करेगी। सभी पार्टियां अपने-अपने अध्यक्ष प्रत्याशी उतारेगी। भारतीय जनता पार्टी का अध्यक्ष प्रत्याशी जो भी होगा उसमें वर्तमान विधायक रामप्रताप कासनिया का अन्य लोगों से अधिक प्रभाव रहेगा। एक प्रकार से कहना चाहिए कि विधायक की इच्छा ही सर्वोपरि रहेगी। पिछली बार विधायकों को फ्री हैंड रखा गया था ताकि नगर मंडल आदि में वे अपने हिसाब से संगठन को बना सके जिससे आपस में कोई विरोधाभास ने हो। अब भारतीय जनता पार्टी  प्रदेश में सत्ता नहीं है ऐसी स्थिति में इस निर्णय को नए सिरे से तो लागू नहीं किया जा सकता। वही पुराना सिद्धांत ही लागू होगा कि विधायक फ्री हैंड रहे। ऐसी स्थिति में अध्यक्ष के टिकट तय करने में चाहे अन्य पदाधिकारी पर्यवेक्षक रहेंगे लेकिन विधायक का निर्णय ही सर्वोपरि होगा। 

विधायक रामप्रताप कासनिया ने भ्रष्टाचार के विरुद्ध अपनी आवाज ही नहीं उठाई है बल्कि एक प्रकार का जन जागरण शुरू किया हुआ है। इस जन-जागरण को अब वर्तमान पालिका अध्यक्ष वर्तमान पार्षद आदि अपने लाभ के लिए पलट सकने में कामयाब नहीं हो सकते। 

नगर पालिका की 10 अगस्त की बैठक स्थगित कर दी गई इस बारे में कुछ पार्षदों ने कहा है कि रामप्रताप कासनिया के कहने से उन्होंने विरोध किया। केवल 8 पार्षद इस वक्तव्य में शामिल हुए। नगर पालिका बैठक का सिस्टम है कि पिछली बैठक कार्यवाही का समर्थन और असमर्थ करने का प्रस्ताव प्रथम क्रम पर होता है।  इसी पर आरोप लगा कि जो बोलते हैं वह नहीं लिखा गया और पहले भी लिखा नहीं गया। बोर्ड की बैठक की कार्यवाही मनमर्जी से लिखी गई और पहले भी लिखी जाती रही। 

जो पार्षद अब कहते हैं कि शहर का विकास चाहते हैं उनसे सीधा सवाल है कि पिछले 4 साल बीत जाने के बाद भी उन्होंने शहर के विकास की बात के नाम पर केवल भ्रष्ट ठेकेदारी के मामले में अपने बात को साझेदारी के रूप में रखा। नगर पालिका के पार्षद बताएं कि आज वे नगर पालिका अध्यक्ष काजल छाबड़ा को ईमानदार होने की बताते हैं। इन्हीं पार्षदों में से अधिकांश ने लगातार मांग रखी थी कि नगरपालिका बोर्ड में नियमानुसार निर्माण समिति वित्त समिति का और अन्य समितियों का गठन कराया जाए लेकिन बार-बार की मांग पर काजल छाबड़ा ने समितियां गठित नहीं की और अपने मनमर्जी चलाई। पार्षद ही बताएं कि अध्यक्ष ईमानदार हो तो सबसे पहले वह नियमानुसार इन कमेटियों को गठित करवाया जाता ताकि नगर पालिका में ईमानदारी के साथ हर कार्य हो। 

 पार्षद विकास का कार्य कहते हैं पूरे 5 साल में इन कमेटियों का गठन नहीं हुआ। कमेटियों में पार्षद सदस्य होते हैं और उन कमेटियों की राय बोर्ड के अंदर रखी और मानी जाती है। निर्माण समिति और वित्त समितियां होती तो सिवरेज निर्माण व अन्य निर्माण में उनकी राय प्रमुख होती। पूरे 5 साल मनमर्जी चलाई जाती रही। अध्यक्ष की मनमर्जी को विकास नहीं माना जा सकता। जनता भ्रष्टाचार मुक्त नगरपालिका बोर्ड चाहती है।

***********




मंगलवार, 13 अगस्त 2019

श्रीगंगानगर-अमृतसर नई इंटरसिटी गाड़ी के प्रयास जारी हैं

* करणीदानसिंह राजपूत *

श्री गंगानगर अमृतसर के बीच सप्ताह में पांच दिन वायां अबोहर, मलोट, बठिण्डा, धूरी, जालंधर, लुधियाना, ब्यास, नई इंटरसिटी ट्रेन को शुरू करवाने के लिये प्रयास जारी है।


----------

अमृतसर से बीकानेर (वाया श्रीगंगानगर) मंजूर गाड़ी चलाने की तैयारी अंतिम रूप में

 *करणीदानसिंह राजपूत*
उतर रेलवे प्रशासन अमृतसर से बीकानेर (वाया श्रीगंगानगर) गाड़ी चलाने  को अंतिम रूप देने में जुटा है। इसका लाभ
 श्रीकरणपुर, रायसिंहनगर, सूरतगढ को मिलेगा। 
नई रेल चलाने की योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है। यह गाड़ी भी मंजूर हो चुकी है। विगत वर्ष आईआरटीटीसी (इंडियन रेलवे टाईम टेबल कमेटी) की बैठक में इस गाड़ी के संचालन का प्रस्ताव रखा गया था।



जम्मूतवी बठिंडा गाड़ी का जोधपुर तक विस्तार मंजूर-सबसे पहले समाचार


^^ करणीदानसिंह राजपूत ^^

श्रीगंगानगर, 13 अगस्त 2019.पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री एवं सांसद श्री निहालचंद के अथक प्रयासों से बठिण्डा-जम्मूतवी गाड़ी के विस्तार को रेल प्रशासन की ओर से मंजूरी मिल गई है।

 जेडआरयूसीसी के सदस्य श्री भीम शर्मा ने बताया कि सांसद की ओर से गाड़ी संख्या 19225/19226 जम्मूतवी-बठिण्डा-जम्मूतवी के विस्तार की मांग की गई थी। रेलवे बोर्ड से इस गाड़ी के बठिण्डा के बाद बीकानेर तक विस्तार की मांग की गई थी। लेकिन समय सारणी के हिसाब से यह गाड़ी अतिरिक्त कोच की मदद से जोधपुर तक विस्तार ले गई। यह गाड़ी विस्तारित होने के बाद श्रीगंगानगर संसदीय क्षेत्र के संगरिया, हनुमानगढ, सूरतगढ़ क्षेत्र की जनता को बड़ा लाभ मिलेगा। इन क्षेत्रों के लोग अब जल्द ही कोटकपूरा, फिरोजपुर, कपूरथला, जालंधर, डेरा ब्यास, अमृतसर, बटाला, धारीवाल, गुरदासपुर, पठानकोट, कठुवा व जम्मूतवी के लिये नई ट्रेन के सफर कर लाभ प्राप्त कर सकेगें। इस संबंध में रेल प्रशासन इस गाड़ी के संचालन की तैयारियां कर रहा है। 

********




यह ब्लॉग खोजें