शनिवार, 18 जनवरी 2020

गोरखपुर-हिसार सुपर फास्ट को वाया कैनाल लूप सूरतगढ़ तक विस्तार का प्रस्ताव

** करणीदान सिंह राजपूत **

गोरखपुर हिसार के बीच चलने वाली सुपर फास्ट गोरखधाम सुपरफास्ट 12555 -12556 को सूरतगढ़ तक विस्तार का एक प्रस्ताव तैयार करके पूर्व राज्य मंत्री वर्तमान सांसद निहालचंद मेघवाल को दिया गया है। जेड आर यू सी के पूर्व सदस्य भीम शर्मा के अनुसार गाड़ी संख्या 12555 प्रतिदिन सुबह 10:00 बजे  हिसार पहुंचती है और वापस शाम को 4:15 बजे रवाना होकर गोरखपुर पहुंचती है।

इस ट्रेन को हिसार के बाद वाया सिरसा से बठिंडा कैनाल लूप स्टेशनों को जोड़ते हुए सूरतगढ़ तक बढ़ाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है।


भीम शर्मा के अनुसार हिसार के बाद सिरसा,बठिंडा,गिद्दड़बाहा, मलोट, अबोहर,श्रीगंगानगर,केसरीसिंहपुर, श्रीकरणपुर, गजसिंहपुर, रायसिंहनगर,जैतसर होते हुए सूरतगढ़ का प्रस्ताव तैयार किया गया है।

 इससे आम जनता को कानपुर सेंट्रल उन्नाव जंक्शन लखनऊ बाराबंकी जंक्शन गोंडा जंक्शन बस्ती खलीलाबाद की सीधी यात्रा सुविधा मिल सकेगी।

 इसके लिए अतिरिक्त रैक की आवश्यकता होगी।

सैनिकों को भी  बहुत अच्छी सुविधा मिल सकेगी।

इसके अलावा सूरतगढ़ से श्रीगंगानगर कैनाल लूप लाइन के स्टेशनों पर भी इस सुविधा का लाभ मिल सकेगा।


एडीएम चुरू नरेंद्र कुमार थोरी एपीओ- अनुचित वअशोभनीय व्यवहार का आरोप

सूरतगढ़ 18 जनवरी 2020. 

आर ए एस डा. नरेंद्र कुमार थोरी को अनुचित व अशोभनीय व्यवहार करने के आरोप में एपीओ किया गया है।

राजस्थान सरकार के कार्मिक विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर आशीष मोदी की ओर से यह आदेश 17 जनवरी को जारी किए गए।


****






बुधवार, 15 जनवरी 2020

सांसद निहाल चंद ने जम्मूतवीं-बठिंडा एक्सप्रेस के जोधपुर तक विस्तार को झंडी दिखाई

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 15 जनवरी 2020.

रेलवे स्टेशन पर समारोह में सांसद ने जम्मू तवी बठिंडा एक्सप्रेस के जोधपुर तक के विस्तार का शुभारंभ उद्घाटन स्पेशल ट्रेन को झंडी दिखा कर रवाना किया।

इस समारोह में विधायक रामप्रताप कासनिया,रेल अधिकारी, शहर के विभिन्न संस्थाओं के लोग मौजूद थे।


सूर्योदय नगरी संघर्ष समिति के संयोजक प्रेम सिंह सूर्यवंशी व पार्षद ओमप्रकाश अठवाल ने फुट ओवरब्रिज ( स्लोप) वाले का पुनर्निर्माण शीघ्र कराने की मांग की।

पूर्व केन्द्रीय राज्यमन्त्री एंव सांसद निहालचन्द के प्रयासों से इलाके की जनता को अमृतसर व डेरा व्यास जैसे धार्मिक स्थानों  की यात्रा करने के लिए एक सीधी दैनिक रेल सेवा की सौगात मिली है।

जेडआरयूसीसी के पूर्व सदस्य भीम शर्मा ने बताया कि गाडी संख्या 19225 /19226 जम्मूतवी-बठिंडा-जम्मूतवीं एक्सप्रेस गाड़ी को वाया मण्डी डबवाली, हनुमानगढ, सूरतगढ,बीकानेर,जोधपुर तक विस्तार किया गया है। 

16 जनवरी से गाड़ी संख्या 19225/19226 का नियमित संचालन जोधपुर, बीकानेर सहित सूरतगढ, हनुमानगढ आदि क्षेत्रों से लोग पहली बार अमृतसर के लिए सीधी रेल सेवा से यात्रा कर सकेगें। इन क्षेत्रो के लोग कोटकपूरा, फरीदकोट, फिरोजपुर कैंट, लोहिया खास, कपूरथला, जालधंर सीटी, व्यास, अमृतसर जक्शंन, बटाला, गुरदासपुर, पठानकोट सीधे रेल सेवा से जुड जायेगें। 

उतर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री अभय शर्मा के अनुसार यह गाड़ी जम्मूतवी से प्रतिदिन रात्रि 9.25 बजे रवाना होकर साम्भा, हीरानगर, कठुआ, पठानकोट, गुरदासपुर, धारीवाल, बटाला जंक्शन, वेरका जंक्शन, अमृतसर जंक्शन, ब्यास, जालंधर सिटी, कपूरथला, रेलकोच फैक्ट्री, सुलतानपुर लोदी, लोहियाखास, मक्खू, मल्लावाला खास, फिरोजपुर केन्ट, फरीदकोट, कोट कपूरा, जैतो आदि स्टेशनों पर ठहराव करते हुए अगले दिन प्रातः 9.40 बजे बठिंडा पहुंचने के बाद वहां से 9.50 बजे रवाना होकर 11.20 बजे हनुमानगढ, दोपहर 12.20 सूरतगढ, दोपहर 3.20 बजे बीकानेर, सायं 4.27 बजे नोखा, सायं 6.03 बजे मेडता रोड़ होते हुए रात्रि 8.35 बजे जोधपुर पहुचेगी।

जोधपुर से अगले दिन प्रातः 6.45 बजे रवाना होकर प्रातः 8.32 बजे मेडतारोड़, 10.51 नोखा, दोपहर 12.40 बजे बीकानेर सायं 3.25 बजे सूरतगढ,4.20 बजे हनुमानगढ, सांय  6.30 बजे बठिण्डा पहुंचने के बाद अगले दिन प्रातः 6.35 बजे जम्मूतवी  पहुचां करेगी। 

भीम शर्मा ने बताया कि इस गाड़ी के लिए सांसद की ओर से मण्डी डबवाली, लूणकरणसर आदि स्टेशनों के लिए भी ठहराव मांगे गये है** 


***  समय सारिणी  ***









मक्कर संक्रांति 2020 का सूर्यास्त. *करणीदानसिंह राजपूत*




नयनाभिराम दृश्य में बहुत कुछ समाया हुआ है।

++++++++

 


मंगलवार, 14 जनवरी 2020

जम्मूतवीं-बठिंडा एक्सप्रेस का जोधपुर तक विस्तार- सूरतगढ़ में 15 जनवरी को सांसद निहालचंद दिखाएगें झंडी

** करणीदानसिंह राजपूत **

सूरतगढ़,जनवरी 2020.

पूर्व केन्द्रीय राज्यमन्त्री एंव सांसद निहालचन्द के प्रयासों से इलाके की जनता को अमृतसर व डेरा व्यास जैसे धार्मिक स्थानों  की यात्रा करने के लिए एक सीधी दैनिक रेल सेवा की सौगात बुधवार 15 जनवरी से मिल रही है। 

जेडआरयूसीसी के पूर्व सदस्य भीम शर्मा ने बताया कि गाडी संख्या 19225 /19226 जम्मूतवी-बठिंडा-जम्मूतवीं एक्सप्रेस गाड़ी को वाया मण्डी डबवाली, हनुमानगढ, सूरतगढ,बीकानेर,जोधपुर तक विस्तार किया गया है। 

सांसद निहालचन्द ने इस गाड़ी को शुरू करवाने के लिए अपने अथक प्रयास किये। अब 15 जनवरी को सूरतगढ रेलवे स्टेशन से सांसद श्री निहालचन्द उद्घाटन स्पेशल गाडी संख्या 04726 को झण्डी दिखाकर रवाना करेंगे।

गुरूवार 16 जनवरी से गाड़ी संख्या 19225/19226 का नियमित संचालन जोधपुर, बीकानेर सहित सूरतगढ, हनुमानगढ आदि क्षेत्रों से लोग पहली बार अमृतसर के लिए सीधी रेल सेवा से यात्रा कर सकेगें। इन क्षेत्रो के लोग कोटकपूरा, फरीदकोट, फिरोजपुर कैंट, लोहिया खास, कपूरथला, जालधंर सीटी, व्यास, अमृतसर जक्शंन, बटाला, गुरदासपुर, पठानकोट सीधे रेल सेवा से जुड जायेगें। 

उतर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री अभय शर्मा के अनुसार यह गाड़ी जम्मूतवी से प्रतिदिन रात्रि 9.25 बजे रवाना होकर साम्भा, हीरानगर, कठुआ, पठानकोट, गुरदासपुर, धारीवाल, बटाला जंक्शन, वेरका जंक्शन, अमृतसर जंक्शन, ब्यास, जालंधर सिटी, कपूरथला, रेलकोच फैक्ट्री, सुलतानपुर लोदी, लोहियाखास, मक्खू, मल्लावाला खास, फिरोजपुर केन्ट, फरीदकोट, कोट कपूरा, जैतो आदि स्टेशनों पर ठहराव करते हुए अगले दिन प्रातः 9.40 बजे बठिंडा पहुंचने के बाद वहां से 9.50 बजे रवाना होकर 11.20 बजे हनुमानगढ, दोपहर 12.20 सूरतगढ, दोपहर 3.20 बजे बीकानेर, सायं 4.27 बजे नोखा, सायं 6.03 बजे मेडता रोड़ होते हुए रात्रि 8.35 बजे जोधपुर पहुचेगी।

जोधपुर से अगले दिन प्रातः 6.45 बजे रवाना होकर प्रातः 8.32 बजे मेडतारोड़, 10.51 नोखा, दोपहर 12.40 बजे बीकानेर सायं 3.25 बजे सूरतगढ,4.20 बजे हनुमानगढ, सांय  6.30 बजे बठिण्डा पहुंचने के बाद अगले दिन प्रातः 6.35 बजे जम्मूतवी  पहुचां करेगी। 

भीम शर्मा ने बताया कि इस गाड़ी के लिए सांसद की ओर से मण्डी डबवाली, संगरिया, पीलीबंगा, लूणकरणसर आदि स्टेशनों के लिए भी ठहराव मांगे गये है।

बुधवार 15 जनवरी को सूरतगढ रेलवे स्टेशन पर आयोजित समारोह में सांसद श्री निहालचंद दोपहर 12 बजे उद्घाटन स्पेशल गाड़ी संख्या 04726 को जोधपुर के लिये रवाना करेगें। 

****




सोमवार, 13 जनवरी 2020

आकाश साफ हुआ-लोहड़ी पर बरखा शीत लहर के बाद. * करणीदानसिंह राजपूत *

लोहड़ी पर वर्षा और भयानक शीत हवाएं चलती रहने के बाद बूंदाबांदी के साथ पूरा दिन बीत गया। सूर्य भगवान के दर्शन नहीं हो पाए मगर सूर्यास्त से कुछ पहले आकाश साफ हो ही गया। 6:00 बज कर 41 मिनट पर सूरतगढ़ में आकाश का दृश्य कैमरे में लिया गया। आकाश में बादल नहीं थे, रात्रि के अंधकार की छाया में जैसा आकाश दिखाई दे रहा था,वहीं पश्चिमी दिशा में उगा हुआ तारा दिख रहा था। यह तारा सूर्य के साथ ही कुछ पहले दिखाई देने लगता है वह दिखाई पड़ रहा था।

आकाश के साफ होने से लोहड़ी मनाने का आनंद सभी लेते हुए परंपरा का पालन करेंगे वहीं लोहड़ी मनाने का सीख देने वाला कारण भी आगे देंगे। बालिकाओं की रक्षा करने की सीख।

आज का दिन तिलकुट चौथ का व्रत रखने वाली नारियों के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है।

प्रार्थना के साथ आशा की जानी चाहिए कि  तिलकुट चौथ का व्रत रखने वाली नारियों के लिए चंद्र दर्शन भी अवश्य होंग,ताकि वे दर्शन पूजन अर्घ्य देकर भोजन कर व्रत खोल सके। उनके चन्द्र दर्शन करने तक वरुण देव भी कृपा रखें और बादलों को नहीं भेजेंगे यह प्रार्थना सभी ओर से हो भी रही होंगी।

******





रविवार, 12 जनवरी 2020

लोहड़ी और मकर संक्रांति पर बारिश की उम्मीद*

एक ताजा सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान और आसपास के पाकिस्तान पर मौजूद है, पूर्व की ओर बढ़ने पर यह 12 जनवरी की सुबह तक पहाड़ी राज्यों को प्रभावित करना शुरू कर देगा।

इसके अलावा एक चक्रवाती परिसंचरण 12 जनवरी की शाम तक पश्चिमी राजस्थान पर प्रभावी हो जाएगा, इसके मद्देनजर ही अरब सागर से उच्च नमी की मात्रा प्रकृति में प्रणाली को और अधिक तीव्र बना देगी। 

 राजस्थान के रेगिस्तानी इलाकों में 12 जनवरी की शाम तक बारिश और ओलावृष्टि होने लगेगी, जबकि बारिश 13 जनवरी की सुबह तक पंजाब, हरियाणा में पहुंच जाएगी और 13 जनवरी की शाम तक दिल्ली एनसीआर और पश्चिमी उत्तरप्रदेश में बारिश होगी। प्रणाली की चरम तीव्रता 13 जनवरी को ही होगी, 14 जनवरी की सुबह तक यह उत्तर भारत की पहाड़ियों और मैदानों दोनों से साफ़ होने लगेगा।


🔺प्रणाली की तीव्रता के बारे में: -


निम्नलिखित प्रणाली प्रकृति में तीव्र होने जा रही है, लेकिन 12 जनवरी की दोपहर से 13 जनवरी की सुबह के बीच ही सक्रिय रहेगी और 13 जनवरी को सभी क्षेत्रों में चरम तीव्रता के साथ ऊपर बताए गए विभिन्न क्षेत्रों को अलग-अलग समय पर प्रभावित करेगी।

सक्रिय अवधि के दौरान कश्मीर पर भारी से बहुत भारी बर्फबारी, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की ऊपरी पहाड़ियों पर मध्यम से भारी बर्फबारी की उम्मीद कर रहे हैं, जबकि निचले इलाकों में मध्यम बारिश और ओलावृष्टि की संभावना है।

मैदानी इलाकों में हम पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ के कई हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने की उम्मीद कर रहे हैं। पश्चिमी उत्तरप्रदेश, दिल्ली एनसीआर और उत्तरी राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश के साथ ओलावृष्टि के दौर सम्भव हैं। पूर्वी उत्तरप्रदेश और मध्य भारत ज्यादातर अप्रभावित रहते हैं जबकि हल्की बारिश केवल पश्चिमी और उत्तरी गुजरात के कुछ हिस्सों में संभव है।


🔺 12-14 जनवरी के बीच निम्न स्थानों में मध्यम से भारी वर्षा / बर्फबारी के आसार हैं: -


• जम्मू कश्मीर: - जम्मू, कटरा, उधमपुर, पटनीटॉप, रामबन, बनिहाल, रामनगर, रामगढ़, बटोट, कुलगाम, राजौरी में मध्यम से भारी वर्षा होने का अनुमान है।


♦ हल्की गरज के साथ ओलावृष्टि की गतिविधियाँ और ऊपर उल्लिखित स्थानों पर भारी बारिश के आसार हो सकते हैं।


• द्रास, कारगिल, सोनमर्ग, बांदीपोर, कुपवाड़ा, गुलमर्ग, बारामूला, श्रीनगर, पटनीटॉप, पहलगाम, काजीगुंड, भद्रवाह, लेह लद्दाख पर भारी बर्फबारी का अनुमान है।


♦ उपर्युक्त क्षेत्रों में पृथक स्थानों पर अत्यधिक भारी से भीषण हिमपात हो सकता है।


• हिमाचल प्रदेश: - कांगड़ा, धर्मशाला, चम्बा, हमीरपुर, ऊना, मंडी, नाहन, सोलन, बिलासपुर, सुंदरनगर में मध्यम से भारी बारिश होने की उम्मीद है।


♦ बिजली की गड़गड़ाहट के साथ-साथ ओलावृष्टि गतिविधियों के साथ-साथ बारिश के भारी दौर उपरोक्त स्थानों पर अलग-थलग पड़ सकते हैं।


• केयलोंग, कल्पा, लाहौल स्पीति, कुल्लू, शिमला, कुफरी, डलहौजी, चम्बा, मनाली, किन्नौर और आसपास के क्षेत्रों में भारी बर्फबारी की उम्मीद है।


♦उपर्युक्त क्षेत्रों में अलग-थलग पड़ने वाले स्थानों में केयलोंग, लाहौल स्पीति, किन्नौर, मनाली के आसपास विशेष रूप से भारी बर्फबारी देखी जा सकती है।


• उत्तराखंड: - अल्मोड़ा, चंपावत, देहरादून, हरिद्वार, मुक्तेश्वर, मसूरी, पंतनगर, टिहरी, चमोली में विशेष रूप से मध्यम से भारी बारिश होने की उम्मीद है।


♦ऊपर उल्लिखित स्थानों में अलग-अलग ओलावृष्टि गतिविधियों के साथ-साथ बिजली की गड़गड़ाहट हो सकती है।


• बद्रीनाथ, केदारनाथ और चमोली के आसपास भारी से बहुत भारी हिमपात होने की उम्मीद है।



♦ जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में 12-14 जनवरी को दिन के तापमान में भारी गिरावट दर्ज की जाएगी।


🔺एक प्रेरित चक्रवाती परिसंचरण के साथ 12 जनवरी की देर शाम तक उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में बारिश के बादल बनने के आसार हैं और 14 जनवरी की सुबह तक इस क्षेत्र पर असर पड़ने की संभावना है।


🔺 13 जनवरी को चरम तीव्रता के साथ निम्न स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा 12-14 जनवरी के बीच होने की संभावना है।



• पंजाब: - ज्यादातर बादल छाए रहेंगे, अमृतसर, पठानकोट, गुरदासपुर, होसियारपुर, बालाचूर, नवांशहर, जालंधर, मोगा, मनसा, बठिंडा, संगरूर, नभा, लुधियाना, कपूरथला, रूपनगर, सासनगर पर तेज हवाओं के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है जिनमें , फतेहगढ़ साहिब, पटियाला, मोहाली और चंडीगढ़ भी शामिल है।


♦ऊपर उल्लिखित स्थानों पर ओलावृष्टि और वर्षा के भारी दौर पृथक स्थानों पर हो सकते हैं।


• हरियाणा और दिल्ली एनसीआर: - चंडीगढ़, पंचकुला, यमुनानगर, अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, जींद, पानीपत, रोहतक, हिसार, सिरसा, भिवानी, नारनौल, रेवाड़ी , नूंह, मेवात, पलवल, सोनीपत, झज्जर, गुड़गांव, फरीदाबाद और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में तेज हवाओं के साथ हल्की से मध्यम बारिश की उम्मीद है।


♦ उपर्युक्त स्थानों में पृथक स्थान ओलावृष्टि गतिविधियों को देख सकते हैं।


• उत्तरप्रदेश: - सहारनपुर, मुज़फ़्फ़रनगर, बिजनौर, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, बुलंदशहर, मेरठ, बागपत, अलीगढ़, गाज़ियाबाद और गौतम बुद्ध नगर (नोएडा), पीलीभीत, पर तेज हवाओं के साथ ज्यादातर बादल छाए रहेंगे और हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की जा सकती है।


♦पृथक स्थानों पर ओलावृष्टि देखी जा सकती है।


राजस्थान: - ज्यादातर बादल छाए रहेंगे, श्रीगंगानगर, बीकानेर, हनुमानगढ़, चूरू, झुंझुनूं, सीकर, नागौर, अजमेर, जयपुर, अलवर, सरदारशहर, पोखरण, जयपुर, अलवर, दौसा, पाली, अजमेर पर तेज हवाओं के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार हैं जिनमें जालोर, भीलवाड़ा, सवाई माधोपुर, भरतपुर व धौलपुर भी शामिल है।


♦उपर्युक्त राज्य में अलग-थलग पड़ने वाले स्थानों पर ओलावृष्टि गतिविधियाँ देखी जा सकती हैं।


🔺पश्चिमी विक्षोभ के कारण क्षेत्र में बादलों का प्रवाह बढ़ेगा इसलिए 12-14 जनवरी के दौरान रात के तापमान (न्यूनतम तापमान) में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरप्रदेश और राजस्थान में 3-5 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होने की संभावना है।


जबकि 13 और 14 जनवरी को बारिश के मद्देनजर अधिकतम तापमान के 2-7 डिग्री सेल्सियस तक गिरने की संभावना है।



🔺 12-14 जनवरी के दौरान उत्तर भारत के मैदानी इलाकों के लिए अधिकतम तापमान की अपेक्षित सीमा।


• पंजाब: 10-14 ° c


• हरियाणा: 10-15 ° c


• दिल्ली: 13-18 ° से


•पश्चिमी उत्तरप्रदेश: 13-17 डिग्री सेल्सियस


•पूर्वी उत्तराप्रदेश: 18-22 ° c


•उत्तरी राजस्थान: 12-16 डिग्री सेल्सियस


•दक्षिण राजस्थान: 17-22 डिग्री सेल्सियस


🔺 शीत दिन पूर्वानुमान: उन्नत बादल और बारिश 13 जनवरी को संभवत: पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तरप्रदेश और दिल्ली एनसीआर, उत्तरी राजस्थान के विभिन्न इलाकों में ठंडा दिन लाएगी।


🔺 वायु विश्लेषण: - गैर-मौसम गतिविधियों के दौरान 5-10 किमी / घंटा की सामान्य हवा की गति, जबकि गरज के तूफान की गतिविधियों के दौरान हवा की गति 25-30 किमी / घंटा तक बढ़ सकती है और राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 40 किमी / घंटा तक दर्ज हो सकती है।


🔺 स्वास्थ्य सलाह : मौसम की स्थिति में अचानक बदलाव सामान्य मानव के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है, क्योंकि एक बार न्यूनतम तापमान में वृद्धि होगी लेकिन बारिश के साथ अधिकतम तापमान गिरने से तापमान में अचानक गिरावट और अंतर स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दों जैसे ठंड और खांसी हो सकती है। विशेष रूप से बुजुर्गों और बच्चों को इस संक्रमण अवधि के दौरान खुद की देखभाल करने की आवश्यकता है।


🔺यात्रा सम्बन्धी सलाह: हम उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में भारी से बहुत भारी बर्फबारी की उम्मीद कर रहे हैं। हम लोगों और पर्यटकों को सलाह देते हैं कि 12-14 जनवरी की अवधि के दौरान जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड की पहाड़ियों की यात्रा न करें। भारी बर्फबारी के कारण सड़क के बंद होने और भूस्खलन की वजह से यात्रा अवरोध की संभावना अधिक होती है।


🔺किसान विशेष: उत्तरी मैदानी इलाकों में कुछ स्थानों पर मध्यम बारिश और यहां तक ​​कि ओलावृष्टि के नए दौर की संभावना है, इसलिए पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और पश्चिमी उत्तरप्रदेश में किसानों को 12-14 जनवरी की अवधि के दौरान सिंचाई से बचने की सलाह दी जाती है।


• निम्नलिखित पश्चिमी विक्षोभ 14 जनवरी तक दूर हो जाएगा और त्वरित उत्तराधिकार में एक और पश्चिमी विक्षोभ 16 जनवरी तक आने की उम्मीद है, इसलिए उस अवधि के दौरान मैदानी इलाकों में बारिश और पहाड़ों पर बर्फबारी की संभावना है।

-----------------------------------------





पत्रकारों की सुरक्षा- कानून के लिए राजस्थान के पत्रकार एकजुट।

* पुष्कर में आईएफडब्ल्यूजे का प्रदेश स्तरीय सम्मेलन *

12 जनवरी को पुष्कर के निकट एक रिसोर्ट में इंडियन फैडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट (आईएफडब्ल्यूजे) का राज्य स्तरीय सम्मेलन आयोजित हुआ। इसमें काफी संख्या में प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया से जुड़े पत्रकारों ने भाग लिया। सम्मेलन में पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई गई। फैडरेशन के प्रतिनिधियों ने सिलसिलेवार राजस्थान में पत्रकारों के साथ हुए दुर्व्यवहार की जानकारी दी और कहा कि प्रदेश में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए समुचित कानून नहीं होने की वजह से अपराधियों को सजा नहीं मिल पा रही है। पत्रकार अपनी जान जोखिम में डालकर आम जनता तक खबरों को पहुंचाता है। कई बार ऐसी खबरों से राजनेताओं, अधिकारियों और समाज के दबंग व्यक्तियों को परेशानी होती है। ऐसे लोग पत्रकार और उसके परिवार को नुकसान पहुंचाते हैं। बेवजह पत्रकारों पर झूठे मुकदमें दर्ज किए जाते हैं, कई बार तो पुलिस ही अपने स्तर पर पत्रकारों से पत्रकारिता पर पूछताछ करने लग जाती है। जबकि पुलिस को ऐसा कोई अधिकार नहीं है। प्रशासन कई बार अपने अधिकारों से परे जाकर पत्रकारों को प्रताडि़त करता है, इसलिए प्रदेश में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कानून बनाने चाहिए। हालांकि संविधान में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार है, लेकिन फिर कानून के तहत पत्रकारों को संरक्षण मिलना चाहिए। सम्मेलन में फैडरेशन के संभागीय अध्यक्ष मनवीर सिंह ने संभाग की गतिविधियों की रिपोर्ट प्रस्तुत की। कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट अश्विनी दुबे ने कहा कि जिन परिस्थितियों में पत्रकार काम करते हैं उसे देखते हुए कानून का संरक्षण होना जरूरी है। भारतीय प्रेस परिषद के पूर्व सदस्य राजीव रंजन नाग ने कहा कि मौजूदा समय में पत्रकार विपरीत परिस्थितियों में अपना कार्य कर रहे हैं। डॉ. ध्रुव कुमार, हबीब अख्तर, ओपी यादव आदि ने भी अपने विचार प्रकट किए। सम्मेलन में प्रदेश अध्यक्ष उपेन्द्र सिंह राठौड़ ने बताया कि पत्रकार सुरक्षा कानून और पत्रकारों की विभिन्न समस्याओं को लेकर एक ज्ञापन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि ज्ञापन में पत्रकारों को फिर से पेंशन योजना शुरू करने, जनसम्पर्क निदेशालय में पत्रकारों के लम्बित प्रकरणों को शीघ्र निपटाने, पत्रकार और उसके आश्रित को चिकित्सा राशि बढ़ाने, उपखंड और जिला स्तर के पत्रकारों को अधिस्वीकृत करने, पत्रकारों को नि:शुल्क भूखंड देने आदि की मांग रखी गई है। कार्यक्रम के संयोजक सुरेन्द्र चतुर्वेदी ने कहा कि मौजूदा समय में पत्रकारों की सुरक्षा बेहद जरूरी हो गई है। 

(एस.पी.मित्तल)



गुरुवार, 9 जनवरी 2020

सूरतगढ़ गणतंत्र दिवस समारोह बस स्टैंड परिसर में आयोजित होगा

 * करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 9 जनवरी 2020.

गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 2020 का मुख्य समारोह रोडवेज बस स्टैंड परिसर में होगा।

विभिन्न समितियों को कार्य सोंपे गए। 

समारोह की तैयारी बैठक आज उपखंड अधिकारी मनोज मीणा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में पालिकाध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा, पुलिस उप अधीक्षक विद्याधर, अधिशासी अधिकारी लालचंद सांखला,राजस्व तहसीलदार, विकास अधिकारी, शिक्षा अधिकारी, विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों ने भाग लिया।

*****




सूरतगढ़ नगरपालिका औषधालय 10 जनवरी को शुरू हो जाएगा


* करणी दान सिंह राजपूत *

 नगरपालिका सूरतगढ़ की ओर से आयुर्वेदिक औषधालय 10 जनवरी से पुनःशुरू कर दिया जाएगा।

नगर पालिका अध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा से इस बाबत नगर पालिका कार्यालय में वार्ता हुई। 

पालिका अध्यक्ष को बताया गया कि सर्दी का मौसम है और जुकाम खांसी की अत्यधिक बीमारियां इस मौसम में होती है व आयुर्वेदिक औषधियां का और अन्य रोगों का भी कारगर इलाज होता है, मगर पालिका का औषधालय कुछ माह से बंद है। 

पालिका अध्यक्ष कालवा ने बताया कि पालिका से सेवानिवृत्त हुए वैद्य रतन लाल जोशी जोशी को ही संविदा के आधार पर पुनःलगाकर यह औषधालय शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कार्यवाही पहले से शुरू है और 10 जनवरी से औषधालय शुरू हो जाएगा। नगरपालिका का यह आयुर्वेदिक औषधालय भग्गू वाला कुआं भारत माता चौक पर काफी वर्षों से संचालित हो रहा है।

******







यह ब्लॉग खोजें