मंगलवार, 15 जून 2021

राजस्थान में मंदिर,स्कूल खोलने की अनुमति किन संगठनों व नेताओं को मांगनी चाहिए?

 



* करणीदानसिंह राजपूत 


राजस्थान सरकार ने जन अनुशासन लॉकडाउन में आज 15 जून को नई गाइडलाइन जारी की है। स्कूलों मंदिरों को खोलने की अनुमति नहीं दी गई है। स्कूलों मंदिरों को खोलने की अनुमति किन संगठनों और नेताओं को मांगनी चाहिए।

राजनीतिक लोगों को प्रदर्शन की अनुमति नहीं है।लेकिन वे नेता और पार्टियां जानते हैं कि उनके विरुद्ध सरकार और अधिकारी कुछ भी नहीं करेंगे इसलिए वे पांच से अधिक एकत्रित होते हैं और धरना प्रदर्शन भी करते हैं। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही धरना प्रदर्शन तथा अन्य कार्यक्रम करती रहती हैं। गाइडलाइन में प्रकरण दर्ज करने का निर्देश दिया हुआ है लेकिन जिला प्रशासन इस पर कार्यवाही नहीं करता। सरकार से कुछ भी छुपा नहीं है। मुख्यमंत्री और सभी मंत्रियों को सचिवों को मालुम है। पुलिस को भी मालुम है। कार्यवाही हमेशा कमजोर पर होती हैऔर दुकानदार ही जुर्माना और दुकानें सीज से दंडित होते हैं। बात है नैतिकता की जो किसी भी सरकार में पालन नहीं होती। 

मंदिर दर्शनों के लिए खोलने की अनुमति का पुजारी लिखे,लेकिन उनकी संख्या बहुत कम है। स्कूलों की संख्या,संचालक और अध्यापक बहुत हैं और शिक्षित भी हैं फिर भी स्कूलों के खोलने की मांग नहीं करते। यह कमजोरी भी सरकार जानती है। स्कूलों के नहीं खोलने से जो हानि हो रही है उस पर गंभीरता से सोचा ही नहीं जा रहा। शिक्षा क्षेत्र में बहुत बड़ा नुकसान हो रहा है जिसके दूरगामी परिणाम आने वाले समय में दिखाई देंगे।

अब बात जाकर ठहरती है राजनीतिक नेताओं पर तो वे यहां गच्चा मार जाते हैं। उनको सीधे रूप में यहां कोई लाभ नजर नहीं आता सो वे इस बाबत कहीं बातचीत और चर्चा करते भी नजर नहीं आते। सरकार को यहां कोई आय नहीं होती फिर कोई गौर कैसे करे? 

अब न ई गाइडलाइन 16 जून से लागू होगी उसमें मोटे तौर पर सरकार ने अनुमत दुकानों को खोलने का 1 दिन और बढ़ाया है। अब शनिवार को भी दुकानें सुबह 6:00 बजे से 4:00 बजे तक खोली जाएंगी।

रेस्टोरेंट और भोजनालयों को कुछ छूट दी गई है मॉल को शर्त से अनुमति दी गई है।

राजस्थान सरकार के प्रशासनिक अधिकारी लॉकडाउन में अनुमति दुकानें बाजार आदि की निगरानी और समीक्षा करते रहेंगे।

* आशा करते हैं कि इसी सप्ताह में सरकार की ओर से बंद पड़े विभिन्न क्षेत्रों को खोलने की और अनुमति दी जा सकती है।


दि.15 जून 2021.

*******

करणीदानसिंह राजपूत,

स्वतंत्र पत्रकार ( राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय से अधिस्वीकृत)

सूरतगढ़ ( राजस्थान )

94143 81356.

*******







10 रेलें और प्रारम्भ, 8 के फेरों में बढोतरी श्रीगंगानगर-दिल्ली इन्टरसिटी व किसान एक्सप्रेस 18 जून से प्रतिदिन चलेगी

 




* करणीदानसिंह राजपूत *


रेलवे द्वारा 10 स्पेशल रेलों के पुनः शुरू करने व 8 स्पेशल रेलों के फेरों मेें वृद्धि से यात्रियों को

 लाभ होगा वहीं रेलवे को भी राजस्व मिलेगा।


उत्तर पश्चिम रेलवे के उपमहाप्रबन्धक (सामान्य) व मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण ने बताया कि गाडी संख्या 02965 बान्द्रा टर्मिनस-भगत की कोठी साप्ताहिक स्पेशल 25 जून 2021 से, गाडी संख्या 02966 भगत की कोठी-बान्द्रा टर्मिनस साप्ताहिक स्पेशल 26 जून 2021 से, गाडी संख्या 09579 राजकोट-दिल्ली सराय साप्ताहिक स्पेशल 24 जून 2021 से, गाडी संख्या 09580 दिल्ली सराय-राजकोट साप्ताहिक स्पेशल 25 जून 2021 से, गाडी संख्या 09223 बान्द्रा टर्मिनस-जयपुर साप्ताहिक स्पेशल 21 जून 2021 से, गाडी संख्या 09234ए जयपुर-बान्द्रा टर्मिनस साप्ताहिक स्पेशल 22 जून 2021 से, गाडी संख्या 09415ए अहमदाबाद-श्रीमातावैष्णोदेवी कटरा साप्ताहिक स्पेशल 27 जून 2021 से, गाडी संख्या 09416 श्रीमातावैष्णोदेवी कटरा-अहमदाबाद साप्ताहिक स्पेशल 29 जून 2021 से आदेशों संचालित की जाएगी। इसी प्रकार  गाडी संख्या 02473 बीकानेर-बान्द्रा टर्मिनस साप्ताहिक स्पेशल 21 जून 2021 से 28 जून 2021 तक,  गाडी संख्या 02474 बान्द्रा टर्मिनस-बीकानेर साप्ताहिक स्पेशल 22 जून 2021 से 29 जून 2021 तक संचालित की जाएगी। 

’स्पेशल रेलसेवाओं के फेरों में वृद्धि’

उन्होने बताया कि गाडी संख्या 02458 बीकानेर-दिल्ली सराय स्पेशल  18 जून 2021 से 30 जून 2021 तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, गाडी संख्या 02457 दिल्ली सराय-बीकानेर स्पेशल 20 जून 2021 से 30 जून 2021 तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, गाडी संख्या 02471 श्रीगंगानगर-दिल्ली स्पेशल 18 जून 2021 से 30 जून 2021 तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, गाडी संख्या 02472 दिल्ली-श्रीगंगानगर स्पेशल 19 जून 2021 से 30 जून 2021 तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, गाडी संख्या 04731 दिल्ली-बठिण्डा स्पेशल18 जून 2021 से 30 जून 2021 तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन,  गाडी संख्या 04732 बठिण्डा-दिल्ली स्पेशल 19 जून 2021 से 30 जून 2021 तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, गाडी संख्या 02443 दिल्ली सराय-जोधपुर/डेगाना स्पेशल 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन तथा गाडी संख्या 02444 जोधपुर-डेगाना-दिल्ली सराय स्पेशल 20 जून 2021 से आगामी आदेशों तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन संचालित होगी। ०0०

(पीआरओ. 15 जून 2021. सूचना)

---------











राजस्थान में बसें रेलगाड़ी शुरू है,अब स्कूल मंदिर खोलें व दुकानों का समय दिन बढ़ाएं.सब खोलें.

 



** करणीदानसिंह राजपूत  **


राजस्थान में बसों और रेलों का संचालन शुरू होने लगा है। राजनैतिक दलों के प्रदर्शन करने आदि पर रोक की कार्यवाही नहीं है। कोरोना का भी संक्रमण लगभग खत्म हो चुका है। ऐसी खुल्लम खुल्ला स्थिति में अब जो बंद है उन्हें खोलने का निर्णय लिया जाना चाहिए।

स्कूल 7:00 बजे से 12:00 बजे तक खोले जा सकते हैं। मंदिर दर्शन पूजन के लिए श्रद्धालुओं के लिए सुबह 7:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक और शाम को 3:00 बजे से देव 

शयन तक खोलने की अनुमति दी जानी चाहिए।  

इसी तरह दुकानों के समय में भी परिवर्तन किया जाए और सोमवार से शनिवार सुबह 8:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक खोलने की छूट दी जाए। केवल एक दिन रविवार को बाजार बंद रहे।

( दुकानें अभी सुबह 6:00 बजे से 4 बजे तक खोलने की अनुमति है,लेकिन इतनी सुबह कोई खरीदारी करने नहीं आती इसलिए दुकाने 9:00 बजे के करीब ही खोली जा रही है।) 

दुकानों का समय भी सोमवार से शनिवार तक किया जाना चाहिए केवल 1 दिन रविवार का अवकाश घोषित हो। 

प्रदेश में अब बसों व रेलों का पूरा संचालन होने लग जाएगा तब दूसरी गतिविधियों पर रोक लगा कर के बंद रखना कोई न्यायोचित बात नहीं होगी। सिनेमाघर मॉल आदि भी बंद रखने का अब कोई औचित्य नहीं है। इसमें दूरी के हिसाब से व्यवस्था की जा कर छूट दी जा सकती है। सिनेमा घरों में एक सीट खाली रखते हुए अनुमति संभव हो सकती है। 



विवाह में 30 जून तक रोक व घर में विवाह आयोजन में केवल 11 की अनुमति है जिसे 1 जुलाई से मैरिज हाल आदि में करने की अनुमति भी घोषित की जाए ताकि लोग दिन आदि निश्चित कर व्यवस्था कर सकें। इसमें संख्या भी दो सौ तक संभव हो सकती है।०0०

दि. 15 जून 2021.

करणीदानसिंह राजपूत

स्वतंत्र पत्रकार ( राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय से अधिस्वीकृत)

सूरतगढ़ ( राजस्थान )

94143 81356.

********








सोमवार, 14 जून 2021

34 स्पेशल रेलें पुनः शुरू- 16 स्पेशल रेलों के फेरों में बढोतरी- सूची

 


* करणीदानसिंह राजपूत *


रेलवे द्वारा यात्रियों की सुविधा के लिए 34 स्पेशल रेलसेवाओं का पुनः संचालन प्रारम्भ किया गया है व 16 स्पेशल रेललेसवाओं के फेरों मेें बढोतरी की गई है जिससे लोग आसपास और आगे यात्रा कर सकेंगे। इससे लोगों को अन्य परिवहन के मुकाबले कम रकम पर यात्रा का लाभ होगा। रेलवे को भी आर्थिक लाभ होगा। बस,कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा जो करना भी चाहिए।


रेलवे की सूची देखें।कौनसी रेलें कब से शुरू हो जाएंगी।


 उत्तर पश्चिम रेलवे के उपमहाप्रबन्धक (सामान्य) व मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट शशि किरण ने बतया कि 34 रेल सेवाओं को पुनः संचालन किया गया है, जिसके तहत 

1-गाडी संख्या 02994 उदयपुर सिटी-दिल्ली सराय प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से,

2- गाडी संख्या 02993 दिल्ली सराय-उदयपुर सिटी प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से, 

3-गाडी संख्या 02487 बीकानेर-दिल्ली सराय प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से, 

4-गाडी संख्या 02488 दिल्ली सराय-बीकानेर प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से, 

5-गाडी संख्या 04704 लालगढ-जैसलमेर प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

6-गाडी संख्या 04703 जैसलमेर-लालगढ प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से, 

7-गाडी संख्या 02467 जैसलमेर-जयपुर प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से, 

8-गाडी संख्या 02468 जयपुर-जैसलमेर प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

9- गाडी संख्या 09774 जयपुर-इंदौर द्वि-साप्ताहिक स्पेशल 18 जून 21 से, 

10-गाडी संख्या 09773 इंदौर-जयपुर द्वि-साप्ताहिक स्पेशल 19 जून 2021 से, 

11-गाडी संख्या 09711 जयपुर-भोपाल प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

12- गाडी संख्या 09712 भोपाल-जयपुर प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 21 से, 

13-गाडी संख्या 02481 जोधपुर-दिल्ली सराय प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से,

14-गाडी संख्या 02482 दिल्ली सराय-जोधपुर प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से,

15- गाडी संख्या 04702 लालगढ-अबोहर प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

16-गाडी संख्या 04701 बठिण्डा-लालगढ प्रतिदिन स्पेशल 20 जून 2021 से, 

17-गाडी संख्या 04721 जोधपुर-बठिण्डा प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से, 

18-गाडी संख्या 04722 अबोहर-जोधपुर प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

19-गाडी संख्या 09749 सूरतगढ-बठिण्डा प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से तथा 

20-गाडी संख्या 09750 बठिण्डा-सूरतगढ प्रतिदिन स्पेशल 19 जून- 2021 से आगामी आदेशों तक संचालित की जाएगी। 

21- गाडी संख्या 04734 श्रीगंगानगर-रेवाड़ी प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

22-गाडी संख्या 04733 रेवाड़ी-श्रीगंगानगर प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

23-गाडी संख्या 04735 श्रीगंगानगर-अम्बाला प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

24-गाडी संख्या 04736 अम्बाला-श्रीगंगानगर प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से, 

25-गाडी संख्या 04759 श्रीगंगानगर-सूरतगढ प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

26- गाडी संख्या 04760 सूरतगढ-श्रीगंगानगर प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

27-गाडी संख्या 04725 भिवानी-मथुरा प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

28-गाडी संख्या 04726 मथुरा-भिवानी प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

29-गाडी संख्या 09741 जयपुर-बयाना प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

30-गाडी संख्या 09742 बयाना-जयपुर प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

31-गाडी संख्या 09743 सूरतगढ-अनुपगढ प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

32-गाडी संख्या 09744 अनुपगढ-सूरतगढ प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से, 

33-गाडी संख्या 04813 जोधपुर-भोपाल प्रतिदिन स्पेशल 18 जून 2021 से तथा 

34 गाडी संख्या 04814 भोपाल-जोधपुर प्रतिदिन स्पेशल 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक संचालित की जाएगीं।


** स्पेशल रेलसेवाओं के फेरों में वृद्धि**


 1- गाडी संख्या 02065 अजमेर-दिल्ली सराय 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-सप्ताहिक के स्थान पर सप्ताह में 5 दिन संचालित होगी। 

2- इसी प्रकार गाडी संख्या 02066ए दिल्ली सराय-अजमेर 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-सप्ताहिक के स्थान पर सप्ताह में 5 दिन संचालित होगी। 

3-गाडी संख्या 02964 उदयपुर-निजामुद्दीन 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

4- गाडी संख्या 02963 निजामुद्दीन-उदयपुर 20 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

5-गाडी संख्या 02991 उदयपुर-जयपुर 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

6-गाडी संख्या 02992 जयपुर-उदयपुर 19 जून 2021 से आगामी आदेशों  तक त्रि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

7-गाडी संख्या 04819 भगत की कोठी-साबरमती 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

8-गाडी संख्या 04820 साबरमती-भगत की कोठी 21 जून 2021 से आगामी आदेशों तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

9-गाडी संख्या 04803 भगत की कोठी-साबरमती 20 जून 2021 से आगामी आदेशों तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन,

10- गाडी संख्या 04804 साबरमती-भगत की कोठी 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

11- गाडी संख्या 02477 जोधपुर-जयपुर 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

12-गाडी संख्या 02478 जयपुर-जोधपुर 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

13- गाडी संख्या 04727 श्रीगंगानगर-दिल्ली 18 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

14- गाडी संख्या 04728 दिल्ली-श्रीगंगानगर 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक त्रि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन, 

15-गाडी संख्या 02923 अजमेर-आगराफोर्ट 20 जून 2021 से आगामी आदेशों तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन तथा

16-  गाडी संख्या 02924 आगराफोर्ट-अजमेर 19 जून 2021 से आगामी आदेशों तक द्वि-साप्ताहिक के स्थान पर प्रतिदिन संचालित होगी।

(पीआरओ,श्रीगंगानगर, 14 जून 2021)०0०







--------

मेडिकल स्टोर के मालिक महावीर बाघला पर अदालत में इस्तगासा दायर

 


श्रीगंगानगर, 14 जून 2021.

वैध ड्रग लायसेंस के बिना दवाओं की खरीदना बेचना गैरकानूनी है और ऐसे मामलों में औषधि नियंत्रक विभाग कड़ाई से जांच कर अदालती कार्यवाही करता है।


 ऐसा ही एक मामला अनूपगढ़ का है जिसमें जांच के बाद दो जनों पर अदालती कार्यवाही शुरू हुई है।

औषधि नियंत्रक विभाग द्वारा फर्म नवीन मैडिकल स्टोर सरकारी हाॅस्पिटल के सामने अनूपगढ़ जिला श्रीगंगानगर व फर्म मालिक श्री महावीर प्रसाद बाघला पुत्र श्री घनश्यामदास, निवासी अनूपगढ़ व रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट श्री शुभम बाघला पुत्र श्री महावीर प्रसाद निवासी अनूपगढ़ द्वारा बिना वैध ड्रग लाईसेन्स औषधियों के क्रय-विक्रय किये जाने पर औषधि नियंत्रण अधिकारी श्री पंकज जोशी द्वारा जांच हेतु नमूने लेकर शेष स्टाॅक जब्त किया गया था। 

उक्त प्रकरण में जांच पूर्ण कर औषधि एवं प्रसाधन सामग्री अधिनियम 1940 के तहत माननीय न्यायालय सीजेएम श्रीगंगानगर में फर्म व व्यक्तियों के विरूद्ध इस्तगासा दायर किया गया। 

सहायक औषधि नियंत्रक श्री डी.एस.उप्पल ने बताया कि माननीय न्यायालय द्वारा प्रकरण को दर्ज कर प्रंसज्ञान लेकर अभियुक्त को तलब करने के आदेश जारी किये हैं। 

बिना ड्रग लाईसेन्स के औषधियों की क्रय बिक्री नहीं की जानी चाहिए,क्योंकि ऐसे मामलों में केस होने पर कम से कम तीन वर्ष व अधिकतम  पांच वर्ष की जेल की सजा तथा कम से कम एक लाख रूपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। 

( श्रीगंगानगर, 14 जून 2021.पीआरओ)

******






राजस्थान की कांग्रेस सरकार औषधि योजना मे घर घर तुलसी गिलोय आदि बांटेगी:कार्य शुरू.

 

* करणीदानसिंह राजपूत * 

राज्य सरकार ने राज्य में वर्ष 2021-22 से पांच वर्ष के लिये घर-घर औषधि योजना लागू की है जो रोगों से बचाए रखने के लिए सराहनीय कार्यक्रम है। ऐसी योजना पहले नहीं थी। आयुर्वेद उपचार और शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाकर रोगों से बचाव की यह योजना एक नया जीवन देने वाली होगी। संपूर्ण राजस्थान में हर जिले में जिला कलक्टर की अध्यक्षता में टास्क फोर्स कार्य करेगी।

इस योजना के तहत जिलों में प्रारंभिक कार्य भी शुरू कर दिया गया है। मेरे विचार में संभवतःकोरोना महामारी के कारण यह योजना शुरू की गई है। जो भी हो यह योजना राजस्थान को स्वस्थ बनाने और स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण होगी। यह गौर करने वाला तथ्य है कि राजस्थान में इंडियन नेशनल कांग्रेस पार्टी की सरकार है जो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा संचालित है।


श्रीगंगानगर  में इस योजना में जो कार्य शुरू होने वाले हैं। उसके बारे में जानकारी देते हैं।


 जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार राज्य में वर्ष 2021-22 से पांच वर्ष के लिये घर-घर औषधि योजना लागू की गई है। इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिये जिला स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है। 


जिला कलक्टर ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत वन विभाग द्वारा औषधीय पौधों की पौध शालाएं विकसित कर तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा, कालमेघ के पौधे तैयार कर आमजन को उपलब्ध करवाये जायेंगे। 


 इन औषधियों के उपयोग एवं सरंक्षण हेतु जन चेतना के क्रियान्वयन के लिये जिला स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है। 


टास्क फोर्स में जिला कलक्टर अध्यक्ष, सीईओ जिला परिषद, सीएमएचओ, जिला शिक्षा अधिकारी, डीएसओ, खनिज, अधीशाषी अभियंता पेयजल, सिंचाई, पीडब्ल्यूडी, नगरपालिकाओं के अधीशाषी अधिकारी, आयुक्त, खेल अधिकारी, कृषि विभाग, पशुपालन, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, महिला बाल विकास, उद्योग, आयुर्वेद, स्काउट गाईड, प्रदूषद नियंत्रण मंडल के क्षेत्रीय अधिकारी को सदस्य तथा उपवन संरक्षक को सदस्य सचिव बनाया गया है। 


श्री हुसैन ने बताया कि टास्क फोर्स कार्य योजनानुसार क्रियान्वयन, पौध वितरण, परिवहन, जन अभियान के लिये प्रचार, अतिरिक्त संसाधन, नवाचार, प्रत्येक पखवाड़े बैठक इत्यादि का आयोजन कर योजना की क्रियान्विति की जायेगी।

* 14 जून 2021.

करणीदानसिंह राजपूत

स्वतंत्र पत्रकार ( राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय से अधिस्वीकृत)

सूरतगढ़ ( राजस्थान )

94143 81356.

-------







रविवार, 13 जून 2021

सूरतगढ़ जं स्टेशन के द्वितीय प्रवेश द्वार पर टिकट वितरण व सुविधाएं शुरू की जाए।

 

* करणीदानसिंह राजपूत *



सूरतगढ़ जंक्शन रेलवे स्टेशन के द्वितीय प्रवेश द्वार पर टिकट वितरण कक्ष का निर्माण पूरा हो गया है इसलिए उसे शीघ्र ही शुरू करने की मांग मंडल रेल प्रबंधक बीकानेर से की गई है।

 पहले द्वितीय प्रवेश द्वार से टिकट वितरण का कार्य चल रहा था। इस कक्ष को पुल निर्माण के कारण तुड़वाया गया और नया बनाया गया है। इसके पास ही मुसाफिर खाना भी बनाया जाना है।

मंडल प्रबंधक से आग्रह किया गया है की सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाए ताकि सूर्योदय नगरी क्षेत्र के निवासियों को इसका लाभ मिल सके।

महाप्रबंधक उत्तर पश्चिम रेलवे के सूरतगढ़ आगमन पर सूर्योदयनगरी रेल संघर्ष समिति के संयोजक प्रेमसिंह सूर्यवंशी ने ज्ञापन दिया था। 


 रेल विकास संघर्ष समिति के अध्यक्ष अमित कड़वासरा व सचिव ललित शर्मा आदि के द्वारा ज्ञापन दिया गया था और वार्ता की गई थी।  उसके तुरंत बाद महाप्रबंधक ने इस स्थान का निरीक्षण भी किया था।

 द्वितीय प्रवेश द्वार प्लेटफार्म नंबर 4 से जुड़ा हुआ है।वर्तमान में कोरोना काल में इस प्लेटफार्म से रेलों का संचालन शुरू किया गया है इसलिए द्वितीय प्रवेश द्वार से टिकटों का वितरण किया जाना बहुत जरूरी है। इससे नागरिकों को सुविधा उपलब्ध होगी।०0०

सूरतगढ़.. 13 जून 2021.




-----------







सूरतगढ़:वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की 482 वीं जयंती पर राजपूत क्षत्रिय संस्था का जयघोष




** करणीदानसिंह राजपूत **


वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप जी की 482 वीं जयंती विक्रम संवत कैलेण्डर के अनुसार ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया ( 13 जून 2021) को करणी माता मंदिर परिसर में राजपूत क्षत्रिय संस्था की ओर से मनाई गई।

राजपूत सरदारों ने महाराणा प्रताप के चित्र को स्थापित कर माल्यार्पण और पुष्पांजलि अर्पित की। 

महाराणा की शूर वीरता का बखान और जयघोष किया गया। संस्था के अध्यक्ष प्रह्लाद सिंह राठोड़ की अध्यक्षता में कार्यक्रम हुआ।


श्री हरि सिंह भाटी, लक्ष्मण सिंह शेखावत, मगन सिंह जी ने महाराणा प्रताप की जीवनी पर प्रकाश डाला। समाज को प्रताप के आदर्शो को अपनाने और उन पर चलने का आह्वान किया गया।

इस पावन अवसर पर पूर्व अध्यक्ष हरि सिंह भाटी, पूर्व अध्यक्ष मल सिंह भाटी, मदन सिंह कटोच,भीम सिंह राठौड़, गोपाल सिंह राठौड़,बजरंग सिंह पंवार, राजेश सिंह तोमर, राजकुमार सिंह परमार, अजय सिंह चौहान,  लक्ष्मण सिंह शेखावत, रणवीर सिंह जादौन, दीपक सिंह तोमर,बालू सिंह भाटी, देवेंद्र सिंह शेखावत, महेंद्र सिंह राठौड़,मगन सिंह जी सहित समाज के अन्य राजपूत सरदारों ने भाग लिया।

यह कार्यक्रम कोविड महामारी गाइडलाइन के अनुसार मनाया गया और एक एक कर माल्यार्पण किया गया।०0०

प्रस्तुति: करणीदानसिंह राजपूत बैस.

( सूरतगढ़ : ज्येष्ठ मास,शुक्ल पक्ष की तृतीया 13 जून 2021)

०००००००










महाराणा प्रताप की जयन्ती मनाई- हल्दीघाटी अवश्य देखें,जोश रोमांच का अहसास होगा-

 


* करणीदानसिंह राजपूत.* 

सूरतगढ़ में महाराणा प्रताप चौक पर हिन्दुवा सूरज महाराणा प्रताप की जयन्ती सूरतगढ धरोहर संरक्षण समिति की ओर से मनाई गई। कार्यक्रम में प्रताप की वीरतापूर्ण का जयघोष किया गया। शहर के गणमान्य नागरिकों  द्वारा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया गया व मिठाई वितरित की गई । 

इस अवसर पर लोकतंत्र सेनानी पत्रकार करणीदान सिंह राजपूत ने महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरूआत की। राजपूत ने अपने हल्दीघाटी के रोमांच और जोश के संस्मरण सुनाते हुए आग्रह किया कि एक बार वहां जरूर पहुंचें और स्वयं रोमांच का एहसास करें। 

राजस्थानी साहित्यकार मनोजकुमार स्वामी ने कहा कि इस शूरवीर की जयंती तिथि के हिसाब से ही संपूर्ण भारत में मनाई जाती है अंग्रेजी तारीख से नहीं मनाई जाती।

क्रांतिकारी महावीर भोजक ने महाराणा की वीरता पर भाषण दिया। पूर्व पार्षद लक्षमण सिंह शेखावत ने कह कि ऐसे वीरों का इतिहास स्कूलों में पढाया जाना चाहिए। 

शिक्षक नरेन्द्र शर्मा ने बताया कि महाराणा ने अपनी सेना में हर जाति धर्म के वीरों को शामिल किया था। समिति सचिव हेमन्त चांडक,अमित कल्याणा आदि ने महाराणा की वीरता पर  अपने विचार प्रगट किए। 

विचार रखे । 

इस समारोह में घनश्याम शर्मा (भारत विकास परिषद) पार्षद मदन औझा,मुरलीधर पारीक , वृक्षमित्र कालूराम बिश्नोई, अमरनाथ लंगर समिति के अध्यक्ष किशन स्वामी,कन्हैयालाल पारीक , प्रभुदयाल सिंधी,भवानी शंकर भोजक, महेश अग्रवाल,पवन तावणियां, योगेश स्वामी ( साहित्य संस्था विविधा),वीरेन्द्र सिंह शेखावत,  आदि गणमान्यों नें भाग लिया ।

(सूरतगढ 13 जून 2021.)

********************





शुक्रवार, 11 जून 2021

लक्ष्मी को व्हील चेयर पर बिठा कर घर से बाहर घुमा सकेंगे दिखा सकेंगे आस पास.स्टोरी - करणीदानसिंह राजपूत *

 

र्ण

सूरतगढ़ के सूर्योदय नगरी के शिवबाड़ी के पास की भाट बस्ती में रहने वाला कड़ी मेहनत मजदूरी कर आजीविका चलाने वाला महावीर का परिवार। 


इस परिवार में पैदा हुई कन्या दिव्यांग। मंदबुद्धि और चलने फिरने आदि में कुछ कर पाने में असमर्थ। 

परिवार जनों ने पुकारा लक्ष्मी। एक एक दिन बीतते कुछ साल बीत गए। वह बड़ी होती रही मगर ईश्वरीय देन से उभर नहीं सकी।

महावीर देखता परिवार देखता लेकिन अपनी इस बेटी के लिए कुछ करने में लाचार। मजदूरी में भी करने की बहुत सोच मगर पैसा नहीं। 


इस परिवार और लक्ष्मी की करूण कहानी

समाज सेवी संस्था भारत विकास परिषद के सदस्यों तक पहुंची। 

परिषद ने इस लक्ष्मी को घर से बाहर घुमाने दिखाने के लिए समर्थ बनाया।

भारत विकास परिषद के पदाधिकारी 10 जून 2021 को शाम के समय महावीर के घर पहुंचे। वे अपने साथ फल और एक नई व्हील चेयर लेकर पहुंचे।

 दिव्यांग लक्ष्मी को व्हील चेयर भेंट की गई। लक्ष्मी को व्हील चेयर पर बिठाया और फल भेंट किए। दिव्यांग लक्ष्मी के चेहरे पर एक अनोखी मुस्कान सभी ने देखी।

लक्ष्मी के पिता महावीर और परिवार को नई खुशी मिली। लक्ष्मी को व्हील चेयर पर बिठा कर घर से बाहर आसपास घुमा सकेंगे। 


इस अवसर पर परिषद के अध्यक्ष रमेश आसवानी राष्ट्रीय पर्यावरण सदस्य घनश्याम शर्मा सचिव अशोक मखीजा पूर्व कोषाध्यक्ष जितेंद्र शर्मा व आसपास के अन्य निवासी उपस्थित थे। ०0०







यह ब्लॉग खोजें