रविवार, 11 नवंबर 2018

सूरतगढ़ भाजपा टिकट रामप्रताप कासनिया को मिली

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ सीट पर भारतीय जनता पार्टी की टिकट रामप्रताप कासनिया को घोषित हो गई।

 दो दिग्गजों वर्तमान विधायक राजेंद्र सिंह भादू और पूर्व राज्य मंत्री रामप्रताप कासनिया के बीच टिकट वास्ते जबरदस्त कसम कस चल रही थी।

 रामप्रताप कसनिया ने सन 2013 में टिकट नहीं मिलने पर पार्टी के उच्च नेताओं के निर्देश पर राजेंद्र सिंह भादू को मंच पर खुला समर्थन दिया व विजय श्री दिलाने में पूरा योगदान दिया।

 कासनिया ने 5 वर्ष तक भारतीय जनता पार्टी की अनुशासन तपस्या करके पार्टी को अन्य चुनावों में भी पूरा सहयोग दिया व  सत्ता पर बिठाने में योगदान दिया।

 कसनिया ने तपस्या में स्वयं को सफल मानकर लोगों की समीक्षा और समर्थन पाकर सन 2018 की टिकट के लिए अपनी दावेदारी पेश की थी।

एक सभा 10 अक्टूबर को करके यह साबित भी किया कि वर्तमान में सूरतगढ़ क्षेत्र के लोग उन्हें बहुत चाहते हैं। 

लोग यह मानते हैं कि टिकट कासनिया को दिया जाए तो विपरीत हालात में भी यह सीट भारतीय जनता पार्टी की दावे के साथ विजय श्री की ओर बढ़ सकती है। 

इस सीट पर भाजपा का वर्चस्व कायम है और चुनाव के अंदर कांग्रेस के साथ जबरदस्त टक्कर होगी।

राम प्रताप कासनिया ने कहा था कि सर्वे के आधार पर टिकट दिया जाए। राजेंद्र सिंह भादू ने अपने विकास कार्यों पर पूरा भरोसा करते हुए कहा कि विकास हुए हैं उनके आधार पर टिकट का वितरण किया जाए।वर्तमान विधायक राजेंद्र सिंह भादू की टिकट काट दी गई है,दुबारा नहीं दी गई।

राजनीतिक क्षेत्रों में चाहे मोदी और वसुंधरा का नारा चले ना चले लेकिन यह तो मानकर चल रहे हैं कि कांग्रेस के पक्ष में जो हवा बताई जा रही है वह वोटिंग के समय तक नहीं रहेगी । 

लोग अभी भी भाजपा को चाहते हैं और भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में अधिक वोट करेंगे। 



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें