बुधवार, 31 अगस्त 2016

रतनलाल चौधरी की आत्महत्या:व्यापार मंडल गौशाला अग्रवाल समाज के अध्यक्ष रहे:


सूदखोरों ने आत्महत्या के लिए मजबूर किया: राजनैतिकों से संबंध सदा बचाता रहा:

स्पेशल रिपोर्ट- करणीदानसिंह राजपूत:


सूरतगढ़ 31 अगस्त 2016.
रतनलाल चौधरी इलाके में एक जाना माना हुआ नाम जो शहर की 3 प्रमुख संस्थाओं के अध्यक्ष रहे और उनको सूदखोरों ने इतना जलील किया कि  कीटनाशक जहर पीना पड़ा। व्यापार में नफा नुकसान होना आम बात है और व्यापार चलाने के लिए उधार लेना भी आम बात है लेकिन सूदखोरों ने सूरतगढ़ में जो जाल फैला रखा है उसका कारण प्रभावशाली होने के अलावा किसी न किसी का राजनैतिकों से संबंध घिनौने कार्यों में जेल जाने से बचाता रहा है। शहर में कितनी ही घटनाएं हो चुकी हैं और आत्महत्या वाली भी हो चुकी हैं। समाज के कथित राजनैतिक दलों के लोग पहले धरना प्रदर्शन करते हैं और बाद में सौदा कर अपराधियों को बचा लेते हैं। केवल यह हाल राजनैतिक दलों का ही नहीं है अन्य समाजसेवा का लबादा ओढ़े हुए संस्थाएं भी सूदखोरोंं दुराचारियों व भ्रष्टाचारियों से फीता कटवाने में आगे रहते हैं। कहां से आता है उनके पास में पैसा?
अभी भी नहीं संभले तो न जाने कितने लोगों को आत्म हत्या करनी पड़ेगी और कितनों की ईज्जत जाएगी। सारे प्रकरण छपते रहते हैं मगर समाज के ठेकेदार आँखें बंद किए रहते हैं। 





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें