गुरुवार, 10 जून 2021

मेरा सूरतगढ़!आपका सूरतगढ़!!सबका सूरतगढ़!!! उ.प.रेलवे की शान सूरतगढ़ जं.

 

 *  करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 10 जून 2021.

सूरतगढ़ बीकानेर रियासत के महाराजा सूरत सिंह के नाम से स्थापित शहर का महत्वपूर्ण स्टेशन जहां 1901 में रेलवे शुरू हुआ और आज विकसित होता हुआ उत्तर पश्चिम रेलवे का प्रमुख जंक्शन है। मॉडल स्टेशन के रूप में इसका विकास हो रहा है। पुराना भवन हटा दिया गया। नया भवन नई व्यवस्था। रेल संचालन की आधुनिक इंटरलॉकिंग व्यवस्था। सब कुछ मिलाकर एक श्रेष्ठ स्टेशन।







 इस स्टेशन को मैं 1953 से देख रहा हूं। निरंतर विकसित होते हुए। पानी सरूपसर जं से रेल टंकियों से आता था। एक पानी गाड़ी में 6 टंकियां होती थी। पानी रेलवे के भछमिगत होदों में डाला जाता और हस्तचलित मशीनों से ऊंची टंकियों में डाला जाता। उन टंकियों से वाष्प ईंजनों में और यात्री डिब्बों में भरा जाता था। जनता भी रेलवे से पानी ले जाती थी। ये सारे कार्य और दृश्य बड़े आनंदित करते थे। गर्मियों में रेलों में यात्रियों को पानी पीने के लिए आवाजें लगाई जाती वे भी बड़ी मजेदार होती थी। "जल ठंडा लेण भटिंडा"। 

अनेक मजेदार बातें हैं। फिर कभी सुनाता रहूंगा, बताता रहूंगा।

एक बार ताजे हालात पर लौट कर आनन्दित होते हैं।

कोरोना महामारी से सभी परिचित हो गए हैं।


कोरोना महामारी में जन सुरक्षा के लिए उठाए गए कदमों में रेलवे ने भी पूर्ण भागीदारी निभाई। इसमें रेलों का बंद होना शुरू होना चलता रहा। रेलें शुरू रही बंद रही लेकिन स्टेशन भवनों और प्लेटफार्म प्रवेशद्वार आदि सभी साफ सुथरे सुबह शाम होते रहे। सफाईकर्मियों की बड़ाई की जानी चाहिए और वह मैं कर रहा हूं।

एक बार फिर रेलों के पुनः संचालन के एनाउंसमेंट के साथ। मास्क और एक दूसरे से दूरी के साथ यात्रा की मंगल कामनाएं।

  * सूरतगढ़ जंक्शन मेरा आपका सबका प्रिय स्टेशन!

०००००

दि. 10 जून 2021.

करणीदानसिंह राजपूत

स्वतंत्र पत्रकार ( राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क निदेशालय से अधिस्वीकृत)

( पत्रकारिता के 55 वर्ष..1966 से निरंतर)

सूरतगढ़।( राजस्थान )

94143.81356.

*********











कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें