मंगलवार, 16 जनवरी 2018

हज यात्रा सब्सिडी की तरह सरकार आरक्षण भी खत्म करदे



- करणीदानसिंह राजपूत -

भारत सरकार ने हज यात्रा करने वालों को दी जाने वाली सब्सिडी खत्म करने का एलान किया है। क्या इसी तरह से मोदी सरकार संपूर्ण देश में आरक्षण को भी खत्म करने की घोषणा करेगी देश भर से उठ रही आरक्षण विरोधी आवाज को ध्यान में रखते हुए आरक्षण की समस्त प्रक्रियाओं को खत्म कर दिया जाना चाहिए क्योंकि आरक्षण को संविधान में केवल 10 साल के लिए ही लागू किया गया था हद यात्रा की सब्सिडी  अदालत के निर्देश पर 2022 तक खत्म करनी थी जिसे भारत की मोदी सरकार ने 2018 में खत्म करने की घोषणा कर दी । जब अदालत के निर्देश पर सब्सिडी खत्म करने के लिए यह कार्य उठाया जाएगा उठाया गया है तब आरक्षण खत्म करने के लिए भी संविधान के निर्देश पर कदम उठाया जा सकता है।

संविधान में आरक्षण केवल 10 साल के लिए ही लागू किया गया था जिसे सरकारें बढ़ाती चली गई और देश का एक बहुत बड़ा वर्ग उच्च शिक्षित होते हुए भी पिछड़ता चला गया।

आरक्षण को खत्म करने की मांग सालों से उठ रही है मगर केन्द्र व राज्य सरकारें विभिन्न जाति वर्गों को खुश करने के लिए वोट की राजनीति के हिसाब से आरक्षण को आगे से आगे बढ़ाती रही हैं।

क्या मोदी सरकार संपूर्ण देश के लिए कोई मार्गदर्शक कदम उठाते हुए आरक्षण को खत्म कर देगी? देश की जनता मोदी सरकार से बोल्ड कदम उठाने की प्रतीक्षा कर रही है।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें