रविवार, 6 दिसंबर 2015

सूरतगढ़ अनूपगढ़ सड़क नहीं बनी मुकद्दमा जरूर बना दिया


वाह रे,राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार


स्पेशल रिपोर्ट-
सूरतगढ़। सूरतगढ़ अनूपगढ़ सड़क बनाने की मांग पर सरकार ने बजट घोषणा का नाटक किया। विधायक राजेन्द्र भादू ने सड़क बनाने कार विश्वास दिलवाया लेकिन सड़क तो नहीं बनी,पुलिस में मुकद्दमा जरूर बना दिया गया। इसे कहते हैं राज का विश्वास। सांसद निहालचंद मेघवाल ने भी सड़क बनाने का विश्वास दिलवाया था।
सूरतगढ़ सिटी थाना पुलिस ने 7 सितम्बर को राष्ट्रीय उच्च मार्ग नं 15 को जाम करने के आरोप में 22 नेताओं को नामजद किया है और 13 दिसम्बर 2015 को थाने में पधारने का निमंत्रण दिया है। पुलिस ने इसके साथ ही धमकी दी है कि हाजिर नहीं होने वालों को जमानती वारंट पर बुलाया जाएगा।
पुलिस ने राष्ट्रीय उच्च मार्ग बाधित करने का मुकद्दमा तो बना दिया लेकिन सच्च यह है कि पुलिस ने रास्ता रोकने वालों को कोई चेतावनी नहीं दी जो कि रास्ता खुलवाने के लिए दी जानी जरूरी थी। पुलिस के अधिकारी मानकसर चौक पर कुर्सियों पर बैठे रहे। असल में यह मुकद्दमा बराबर में उन पर भी कायम किया जाना चाहिए।
एक पुरानी रिपोर्ट पढऩा चाहें तो क्लिक करें। 

अनूपगढ़ सूरतगढ़ सड़क:दैनिक हाई लाईन ने सरकार की पोल खोल कर रख दी:


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें