शनिवार, 9 जून 2018

शहीद गुरूशरण छाबड़ा की 71 वीं जयंती पर शराबबंदी कराने का संकल्प


* सूरतगढ से जनता पार्टी के विधायक रहे थे*

राजस्थान में संपूर्ण शराबबंदी और सशक्त लोकपाल की मांग को लेकर आमरण अनशन करते बलिदान देने वाले,

आपातकाल में जेल में आमरण अनशन कर राजनीतिक दर्जा दिलाने वाले शहीद गुरुशरण छाबड़ा की 71 वीं जयंती पर सूरतगढ़ में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर संघर्षों का इतिहास बताया गया और स्वैच्छिक रक्तदान हुआ।

छाबड़ा के आपातकाल आंदोलन व जेल साथी व अन्य संघर्षों के साथी करणीदानसिंह राजपूत ने समारोह में मुख्य भाषण दिया।

गुरुशरण छाबड़ा के नेतृत्व में  आपातकाल लगते ही राजस्थान में सबसे पहले सूरतगढ में 26 जून 1975 को विरोध में  आमसभा की गई। इसके साथ ही प्रदर्शन कर गिरफ्तारी देना शुरु किया गया।

छाबड़ा ने गिरफ्तार कार्यकर्ताओं को राजनैतिक बंदी घोषित करने की मांग पर 15 अगस्त 1975 स्वतंत्रता दिवस पर आमरण अनशन शुरू किया।

उन्हें आमरण अनशन करने के कारण काल कोठरी में डाल दिया गया था बाद में राजकीय चिकित्सालय में कई दिन बाद जब वे कमजोर हो गए तब पुलिस ने जबरदस्त उनके होठों से दूध लगा कर अनशन तुड़वाया।

लेकिन प्रशासन पर और सरकार पर जबरदस्त दबाव पड़ा और सितंबर में श्रीगंगानगर जेल में बंद आपातकाल कार्यकर्ताओं को राजनीतिक बंदी का दर्जा प्रदान कर दिया गया।

  पत्रकार करणीदानसिंह राजपूत ने गुरुशरण छाबड़ा की आपातकाल और राजस्थान में संपूर्ण शराबबंदी आंदोलन में आमरण अनशन करते हुए जयपुर में देहत्याग ने के बारे में विस्तृत जानकारी उपस्थित लोगों को दी। छाबड़ा ने तो अपनी देह भी एस एम एस होस्पीटल को दान करदी।

श्रीमती राजेश सिडाना,लक्ष्मण शर्मा,स.हरनेकसिंह,डा.टी.एल अरोड़ा ने भी छाबड़ा के जीवन पर कई बातें बतलाई।

करणीदानसिंह राजपूत ने गुरुशरण छाबड़ा स्मारक की प्रतिमा पर सर्वप्रथम माल्यार्पण किया इस अवसर पर सूरतगढ़ संघर्ष समिति के अध्यक्ष श्याम मोदी सचिव राजेंद्र मुद्गल ने व अन्य साथियों लोकतंत्र रक्षा सेनानी लक्ष्मण शर्मा, लोकतंत्र रक्षा सेनानी  महावीर  तिवारी, ( दोनों रासुका में बंदी रहे) एडवोकेट एन.डी.सेतिया ने भी माल्यार्पण किया।

नारी उत्थान केंद्र की अध्यक्ष श्रीमती राजेश सिडाना ने भी भी गुरुशरण छाबड़ा के संघर्षों का इतिहास बखान किया।

संपूर्ण शराबबंदी की मुहिम चला रहे

 गुरुशरण छाबड़ा के पुत्र गौरव छाबड़ा और उनकी पत्नी पूजा छाबड़ा ने ने छाबड़ा ने भी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। 

पूजा छाबड़ा ने ने गुरुशरण छाबड़ा के संपूर्ण शराबबंदी मांग पर पर अपने विचार रखे।

इस कार्यक्रम में जसराज गुम्बर,रमेशचंद्र माथुर,बलदेव तनेजा,अमित मोदी,पूर्ण कवातड़ा,श्वेता मोदी,ऊषा,कविता मोदी,सुरेन्द्र,प्रभुदान गेदर,सत्यनारायण छींपा,सहित अनेक लोग शामिल हुए।


इसके बाद रेलवे स्टेशन के सामने मैत्री ब्लड बैंक पर शैक्षिक रक्तदान शिविर आयोजित किया गया जिसमें CRPF के डिप्टी कमांडेंट गिरीश चावला ने शिविर का शुभारंभ किया। यहां पर 38 युनिट रक्तदान किया गया।

दोनों कार्यक्रमों में छाबड़ा के साथियों व नागरिकों ने भाग लिया। अमर शहीद के रूप में छाबड़ा का जयघोष किया गया।

(9-6-2018)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें