Monday, October 30, 2017

आरक्षण पर ब्राह्मण राजपूत जाट क्या कहते हैं?

जयपुर। राजस्थान सरकार द्वारा दो दिन पूर्व गुर्जर सहित पांच जातियों को पांच फीसद आरक्षण देने संबंधी विधेयक विधानसभा में पारित कराए जाने के बाद अब सवर्ण आरक्षण की मांग तेज होने लगी है।

 सर्व ब्राह्माण महासभा ने चेतावनी दी है कि आरक्षण की मांग को लेकर दिसंबर से प्रदेशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के उपाध्यक्ष एपी सिंह ने जातिगत आरक्षण व्यवस्था को तुरंत समाप्त कर आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू करने की मांग की है। जयपुर स्थित राजपूत सभा भवन में जुटे प्रदेश के प्रमुख जाट नेताओं ने आर्थिक आधार पर आरक्षण व्यवस्था लागू करने को लेकर सरकार पर दबाव डालने की रणनीति बनाई।

अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने राज्य सरकार से क्रीमीलेयर की सीमा बढ़ाने की मांग की है।

30.10.2017.

No comments:

Post a Comment

Search This Blog