बुधवार, 23 नवंबर 2016

कंवरपुरा में नशा मुक्ति शिविर -

श्रीगंगानगर, 22 नवम्बर। जिला पुलिस अधीक्षक श्री राहुल कोटोकी के निदेशानुसार मंगलवार को रा उ मा वि कंवरपुरा में नशा मुक्ति जनजागृति कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें विद्यालय के साथ-साथ  रा बा उ प्रा वि कवंरपुरा के छात्र छात्राओंं ने भाग लिया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डिप्टी एसपी  श्रीकरणपुर श्री सुनील कुमार पवांर ने अपने सम्बोधन में कहा कि आजकल समाज में जो दुघर्टनाएं हो रही है। विवाह विच्छेद अत्याचार पारीवारिक कलह बलात्कार जैसे संगीन अपराध का कारण भी नशा ही है। आज की युवा पीढी को नशे से दुर रहने व नशा ना करने के लिये प्रेरित करें।
मुख्य वक्ता नशा मुक्ति परामर्श एवंम उपचार केन्द्र के प्रभारी डॉ रविकान्त गोयल ने उपस्थित सभी छात्र छात्राओंं व जनप्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुये कहा कि नशा किसी भी अवस्था में छूट सकता है। नशा छोड़ने से ना तो व्यक्ति की मौत होती है ना ही लक्वा होता है और ना ही नपुंसकता आती है। हजारोंं व्यक्ति जिन्होने नशा छोड़ा है वे इसके प्रत्यक्ष प्रमाण हैंं। ऐसे व्यक्तियों ने पाया कि नशा छोड़ने से उनमें ऊर्जा का नया सचांर हुआ है। उनकी कार्यक्षमता बढी है उनके परिवारों में खुशियां लौट आई हैं व समाज में उनकी प्रतिष्ठा बढी है। 
डॉ गोयल ने छात्र छात्राओंं को नशे के प्रभावों की वैज्ञानिक जानकारी देते हुये ”हम नशा नहीं करेंगे और नशा छुडवायेंगे“ की सामुहिक शपथ दिलवाई।
थाना अधिकारी गजसिंहपुर श्री श्यामसुन्दर ने कहा की नशा हमारा वर्तमान कष्टमय व भविष्य अन्धकारमय बना देता है। कार्यक्रम में प्रधानाचार्य श्री ओमप्रकाश सहु ने अपने सम्बोधन में कहा कि शिक्षा विभाग भी इस मुहिम में शामिल है तथा सुबह प्रार्थना के समय प्रतिदिन नशा ना करने की शपथ दिलवायी जायेगी।
कार्यक्रम में श्रीगगांनगर के समाजसेवी बलवंन्त सिंह व विजय किरोडीवाल ने उपस्थित छात्रा छात्राओ को नशे दुष्प्रभाव के बारे में अवगत करवाया। कार्यक्रम के अन्त में डॉ रविकान्त गोयल ने शिविर में आये नशा पीड़ित लोगो  की जाचॅ की उचित परामर्श प्रदान किया। कार्यक्रम का मचं सचांलन  रा उ मा वि कवंरपुरा के  श्री जितेन्द्र शर्मा लि0 ग्रेड पप ने किया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें