Sunday, November 6, 2016

पूनम अंकुर छाबड़ा का आमरण अनशन शनिवार को समझौते के बाद खत्म हुआ

 - करणीदानसिंह राजपूत -
सूरतगढ़। राजस्थान में संपूर्ण शराब बंदी और सशक्त लोकपाल की  नियुक्त किए जाने की मांग को लेकर शहीद गुरुशरण छाबड़ा के साथ सरकार द्वारा किए समझौते को लागू किए जाने की मांग को लेकर छाबड़ा जी की पुत्रवधू पूनम अंकुर छाबड़ा ने 3 नवंबर को जयपुर में  शहीद स्मारक पर आमरण अनशन शुरू किया था।  5 नवंबर शनिवार शाम को राज्य सरकार के प्रतिनिधि के रूप में पूनम अंकुर छाबड़ा से अनशन स्थल पर आबकारी आयुक्त ओ पी यादव अतिरिक्त आबकारी आयुक्त रश्मी गुप्ता संयुक्त सचिव एमके जुनेजा ने वार्ता की और लिखित में विश्वास दिया। उसके बाद पूनम अंकुर छाबड़ा का आमरण अनशन खत्म हुआ।   3 नवंबर 2015 को पूर्व विधायकी गुरुशरण छाबड़ा का आमरण अनशन के दौरान स्वर्गवास हो गया था। राज्य सरकार ने गुरुशरण छाबड़ा के साथ पूर्व में शराबबंदी को लेकर कुछ समझौते किए थे। जिनके लागू न होने पर गुरुशरण छाबड़ा ने आमरण अनशन शुरु किया था। अब गुरुशरण छाबड़ा के साथ हुए समझौते लागू कराने के लिए छाबड़ा जी की पुत्रवधू पूनम छाबड़ा और पूजा छाबड़ा अलग अलग दो टीमें बना कर अभियान चला रखे हैं। 

No comments:

Post a Comment

Search This Blog