Monday, February 29, 2016

महावीर इन्टरनेशनल का संभागीय अधिवेशन बीकानेर 2016


 जीना है तो पूरा जीना, मरना है तो पूरा मरना, अभिशाप है जीवन में, आधा जीना आधा मरना
बीकानेर 28.02.2016,
महावीर इन्टरनेशनल का संभागीय अधिवेशन भोमिया भवन, रानी बाजार, बीकानेर में महावीर इन्टरनेशनल बीकानेर सेवा केन्द्र की मेजबानी में आयोजित किया गया। यह अधिवेशान वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय, कोटा के पूर्व वाईस चांसलर प्रो. डॉ. घनश्याम लाल देवड़ा के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। आयोजन के अन्य अतिथि महावीर इन्टरनेशनल एपेक्स के अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष वीर विजय सिंह बाफना, अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव वीर विनय शर्मा, पूर्व सांसद पाली व पूर्व अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष वीर पुष्प जैन, अन्तर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वीर गोपाल मेहता, कोषाध्यक्ष वीर निर्मल कोठारी, पूर्व अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव वीर नवरतन पारख व सम्भागीय अध्यक्ष वीर फूसराज छल्लानी थे।
मुख्य अतिथि प्रो. डॉ. घनश्याम लाल देवड़ा ने अपने उद्बोधन में महावीर इन्टरनेशनल के सेवाकार्यों की सराहना करते हुए उपस्थित सदस्यों को जिन जरूरतमंद लोगों तक किसी की पहुंच न हो, उन लोगों तक पहुंचने व महिला शक्ति को भी सेवा कार्यों में भाग लेने का सुझाव दिया। साथ ही साथ सेवा कार्यों का ग्रामीण क्षेत्र मेें विस्तार करने व जरूरतमंद लोगों के कौशल (ैापसस) का विकास करने पर बल दिया। पूर्व अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष वीर पुष्प जैन ने अपने वक्तव्य में जीवन में प्रसन्न रहकर व स्थायी प्रोजेक्ट पर सेवा कार्य करने का सुझाव देते हुए कहा कि ‘‘जीना है तो पूरा जीना, मरना है तो पूरा मरना, अभिशाप है जीवन में, आधा जीना आधा मरना’’। अन्तर्राष्ट्रीय सचिव वीर विनय शर्मा ने कहा कि सबको प्यार, सबकी सेवा के सिद्धान्त पर इन्सान, पशु-पक्षी, जानवर आदि की सेवा करते हुए सब प्राणियों के चेहरे पर खुशियां लाना ही सच्ची सेवा है, इससे सुख की अनुभूति का अहसास होता है। 
इस अधिवेषन में जोन बीकानेर से महावीर इन्टरनेषनल के 20 केन्द्रों के 275 वीर-वीराओं ने भाग लिया। सभी केन्द्रों की ओर से 01.11.2014 से 31.01.2016 तक का कार्य मूल्यांकन प्रस्तुत किया गया। जोन बीकानेर के द्वारा संबंधित केन्द्रों को उनकी उपलब्धियों के आधार पर प्रमाण-पत्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इस समारोह में महावीर इन्टरनेषनल सूरतगढ़ केन्द्र ने रक्तदान,  शिक्षा प्रसार, मरणोपरान्त नेत्रदान, जल सेवा एवं जल संरक्षण व चिकित्सा शिविर के क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार सहित कुल 6 पुरस्कार प्राप्त किये। इस संदर्भ में सूरतगढ़ केन्द्र के अध्यक्ष वीर संजय बैद को सर्वश्रेष्ठ अध्यक्ष के रूप में पुरस्कृत किया गया। श्रीगंगानगर केन्द्र के सचिव वीर राजेश झूंथरा को सर्वश्रेष्ठ सचिव व रायसिंहनगर केन्द्र के वीर सीताराम को सर्वश्रेष्ठ कार्यकर्ता के रूप में सम्मानित किया गया। सर्वश्रेष्ठ केन्द्र का पुरस्कार महावीर इन्टरनेशनल बीकाणा वीरां केन्द्र को दिया गया।
इस अधिवेशन में सूरतगढ़ केन्द्र की प्रेरणा से रामपुरा रंगमहल में खोले गये महावीर इन्टरनेशनल के नये केन्द्र के अध्यक्ष वीर शंकरलाल वर्मा सहित कुल 5 सदस्यों को अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष वीर विजयसिंह बाफना द्वारा शपथ दिलाई गई। 
सूरतगढ़ केन्द्र की ओर से अध्यक्ष वीर संजय बैद, सचिव नत्थूराम कलवासिया, रतनलाल चौपड़ा, ओमप्रकाश शर्मा, लालचन्द वर्मा, श्रीकान्त राठी, दिनेश शास्त्री, राजकुमार छाबड़ा, राजेश वर्मा आदि सदस्यों ने भाग लिया। 




No comments:

Post a Comment

Search This Blog