गुरुवार, 13 मार्च 2014

सूरतगढ़:होटलों धर्मशालाओं में ठहरने को असली आईडी -


पुलिस आदेश जारी हुआ:
खास खबर- करणीदानसिंह राजपूत.
सूरतगढ़, 13 मार्च 2014.यहां के होटलों धर्मशालाओं आदि में ठहरने वालों को अब असली परिचय पत्र जमा करवाना होगा और जब होटल धर्मशाला छोड़ा जाएगा तब वह लौटाया जाएगा। सिटी थानाधिकारी ने यह आदेश होटलों व धर्मशालाओं के संचालकों को दिया है। यह आदेश 9 मार्च को जारी किया गया है। इसके अलावा संचालकों को आदेश में लिखा गया है कि वे अपने होटल धर्मशाला का रजिस्टर हर महीने की 15 व 30 तारीख को थाने में दिखायेंगे। पुलिस ने मोबाइल नम्बर लिखने और उसके कन्फर्म करने का भी लिखा है,जो तत्काल ही रिंग देकर हो सकेगा। लेकिन अनेक लोग हैं जो मोबाईल फोन रखते ही नहीं है।
यह भी लिखा गया है कि इसकी पालना नहीं हुई तो कानूनी कार्यवाही की जाएगी।
पहले होटलों व धर्मशालाओं में रूकने वाले का असली परिचय पत्र देख कर उसकी प्रतिलिपि जमा करवा ली जाती थी। होटलों धर्मशालाओं में ठहरन वाला किसी दफ्तर में व्यवसाय आदि का काम करने निकलता तब असली परिचय पत्र उसके पास में होता था।
इस आदेश का पालन करने के लिए जरूरी है कि ठहरने वाला असली दो प्रकार के परिचय पत्र रखे। एक ठहरने वाले स्थान पर जमा करवाए और दूसरी आने पास में रखे।
ढ़ाबों व अन्य रेस्टोरेंटों आदि में जहां पर केवल चारपाईयां लेकर लोग ठहरते हैं वहां के क्या नियम होंगे?
पुलिस का आदेश यहां दिया जा रहा है।




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें