Monday, November 14, 2016

राघव का पिस्ता फोटो एवं शब्द : करणीदानसिंह राजपूत

राघव का पिस्ता
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता राजस्थान के पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया और राघव की ईशारों ही इशारों में यूं हुई बातें।
लाओ, तुम्हारा पिस्ता छील दूं।
ऊं हूं। तुम छील कर खुद खा जाओ तब।
नहीं खाऊंगा, छील कर तुम्ही को दे दूंगा।

चलो, दे देता हूं।
राघव पिसता दे देता है और गुलाबजी छीलने लगते हैं तब देखता रहता है। एकटक।
गुलाबजी छील कर राघव को पिस्ता पकड़ाते हैं।

ये लो। पिस्ता। अब तो ठीक है।

फोटो एवं शब्द : करणीदानसिंह राजपूत
सूरतगढ़। दिनांक 13 नवम्बर, 2011.

यह फीचर फोटो 13 नवम्बर 2011 को लिए गए थे जब माननीय गुलाबचंद कटारिया पूर्व गृहमंत्री थे। 
अब गुलाबचंद कटारिया का 3 वर्ष बाद सूरतगढ़ में 19 नवम्बर 2014 को आगमन है 
अब राजस्थान के गृहमंत्री हैं।
करणीदानसिंह राजपूत
अपडेट 18-11-2014.

 अपडेटेड 14~11~2016.

No comments:

Post a Comment

Search This Blog