बुधवार, 12 मई 2021

श्रीगंगानगर जिले के गांवों में ढोल बजाकर कोरोना गाइडलाइन का प्रचार शुरू.गांवों में मिले कोरोना संदिग्ध

 

 

 * करणीदानसिंह राजपूत *

श्रीगंगानगर, 12 मई 2021.

 जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के निर्देशानुसार ग्रामीण क्षेत्र में कोविड-19 को लेकर डोर-टू-डोर सर्वें किया गया। प्रथम चरण के सर्वें में दो लाख 87 हजार घरों में से 99.5 प्रतिशत घरों का सर्वें किया गया। जिनमें से 10391 नागरिक आईएलआई के संदिग्ध रोगी मिले, जिनमें से 8 हजार 480 को उपचार किट दे दी गई है तथा शेष नागरिकों को भी मेडिकल किट देने के लिये चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया गया है। 

मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अशोक कुमार मीणा ने बताया कि जिला कलक्टर के निर्देशानुसार प्रथम चरण सर्वे के बाद दूसरे चरण का सर्वें भी प्रारम्भ कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में कोविड रोगियों की संख्या में बढ़ोतरी तथा जिला चिकित्सालय में रोगियों के दवाब को देखते हुए विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे गांवों में ऐसे भवन चिन्हित करें जहां पर जरूरत पड़ने पर रोगियों को होम आईसोलेशन किया जा सके। ग्रामीण क्षेत्र में सामुदायिक भवन, विधालय या अन्य कोई राजकीय भवन जो उपयुक्त हो, का चयन किया जाये। 

उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में धार्मिक संस्थानों में लगे लाउडस्पीकर के माध्यम से कोविड-19 के बचाव को लेकर ग्रामीणों को जागरूक किया जा रहा है तथा पुरानी परम्परागत पद्धति ढ़ोल बजाकर भी ग्रामीण जनों को जागरूक किया जा रहा है तथा मुन्यादी करवाई जा रही है कि आमजन मास्क का प्रयोग करें, अपने घरों से अनावश्यक बाहर न निकलें, दूरी बनाकर रखें, साबुन से बार-बार हाथ धोयें तथा टीकाकरण की अवश्य करायें, की जानकारी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में लगभग 192 वाहनों से जिनमें थ्री व्हीलर, ई-रिक्शा व ट्रेक्टर शामिल है, के द्वारा आमजन को जागरूक किया जा रहा है। 

श्री मीणा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में जो स्वच्छताग्रही कार्य कर रहे है, उन्हें वीसी के माध्यम से प्रशिक्षण दिया जायेगा। ये स्वच्छताग्रही घर-घर जाकर आमजन को बार-बार हाथ धोने, हाथ धोने का तरीका, शौचालय का उपयोग, उपयोग के समय मास्क लगाये रखना, वातावरण को सेनेटाईज करना इत्यादि जानकारियां दी जायेगी। ०0०

-----------





कोई टिप्पणी नहीं:

यह ब्लॉग खोजें