बुधवार, 10 अप्रैल 2019

सूरतगढ़ एसडीएम कार्यालय के आगे खड़ी गैरकानूनी सफेद बालवाहिनियां



सूरतगढ़ में परिवहन विभाग और यातायात पुलिस दोनों के सामने प्रतिदिन गैरकानूनी बालवाहिनियां गुजरती है। 

बाल वाहिनियोंके लिए सख्त नियम हैं, लेकिन स्कूल संचालन समितियां वाले पालन नहीं करते और संबंधित विभाग भी किसी न किसी कारण से मेहरबान बने छूट दिए हुए हैं। 

कभी भी कोई हादसा हुआ तो सूरतगढ़ का परिवहन विभाग और यातायात पुलिस सीधे रुप से जिम्मेदार होंगे।


 उपखंड कार्यालय के आगे सड़क के किनारे पेड़ों की छाया में अनेक बाल वाहिनी खड़ी रहती हैंं । कुछ का रंग नियमानुसार पीला है मगर कुछ सफेद और लाल भी है,जिन पर बालवाहिनी लिखा है। कुछ पर स्कूलों के नाम भी लिखे हैं। यह स्थान भी पार्किंग के लिए नहीं है।

स्कूल वाले बच्चों के आने जाने के लिए भारी भरकम फीस वसूल करते हैं। लेकिन बाल वाहिनियों के लिए निर्धारित नियमों का पालन नहीं करते।

अभिभावक भी अपने बच्चों के जीवन की सुरक्षा बाबत घोर लापरवाह हैं। गैरकानूनी वाहनों में बच्चों को स्कूलों में भेजने से रोकना चाहिए।

मासूम बच्चों को तो मालूम नहीं है कि वे गैर कानूनी बालवाहिनियों में आते जाते हैं,लेकिन संबंधित विभागों के अधिकारियों कर्म देखना है कि विभाग नियमों का पालन करते हुए गैर कानूनी बालवाहिनियां सीज करेगा?



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें