शुक्रवार, 31 अगस्त 2018

रेल यात्रा में 53 प्रकार के यात्रियों को किराए में छूट: महत्वपूर्ण जानकारी:


* करणीदानसिंह राजपूत *

- रोगियों सहित अनेक प्रकार की रियायतें-

- विभिन्न श्रेणियों में 25 प्रतिशत से 100 प्रतिशत तक की रियायतें-


भारतीय रेलवे में वर्तमान समय में टिकट की कीमतों पर 53 विभिन्न श्रेणियों के अन्तर्गत छूट व रियायतें उपलब्ध करवाई जाती है। यह छूट व रियायतें विभिन्न श्रेणियों के अन्तर्गत 25 प्रतिशत से 100 प्रतिशत तक होती है। 

 उत्तर पश्चिम रेलवे के जनसम्पर्क अधिकारी तरूण जैन ने बताया कि ऑफ लाइन अथवा रिजर्वेशन ऑफिस (विन्डो) से टिकट करवाने पर दिव्यांग जनों,मरीजों, वरिष्ठ नागरिकों, पुरस्कार विजेता (अवार्ड), शहीदों की विधवाओं, छात्रों, युवाओं, किसानों, कलाकारों व खिलाड़ियों, मेडिकल प्रोफेशनल्स और अन्य लोगों को रियायतें उपलब्ध करवायी जाती हैं। ऑन लाइन माध्यम से टिकट बुक करायी जाती है तो इंडियन रेलवे कैटरिंग एवं टूरिज्म कारर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) पर सिर्फ वरिष्ठ नागरिकों को ही छूट उपलब्ध करवायी जाती है। 


दिव्यांगजनों हेतु रियायतः

 दिव्यांगों (अस्थि विकलांगता) या पक्षाघात से पीड़ित दिव्यांगजनों जो कि किसी दूसरे की मदद के बिना नहीं चल सकते है, दृष्टि दिव्यांग एवं मानसिक रूप से दिव्यांगजनों को एक सहचर (एस्कार्ट) कर रहे व्यक्ति के साथ प्रथम एवं द्वितीय वातानुकूलित शयनयान में 50 प्रतिशत एवं अन्य सभी श्रेणियों में 75 प्रतिशत की छूट की जाती है, जबकि ऐसे यात्रियों को शताब्दी एवं राजधानी रेल सेवाओं की तृतीय वातानुकूलित श्रेणी में 25 प्रतिशत की छूट दी जाती है। मूक एवं बधिर व्यक्ति को जो या तो अकेले सफर कर रहा है या फिर किसी सहचर के साथ सफर कर रहा है तो उसे द्वितीय श्रेणी शयनयान और प्रथम श्रेणी में 50 प्रतिशत की छूट उपलब्ध करवायी जाती है। 


बीमार व्यक्तियों हेतु रियायतें


अकेले अथवा किसी सहचर के साथ सफर कर रहे केन्सर मरीजों को जो कि उपचार अथवा चैकअप के लिए यात्रा कर रहे होते है तो उन्हें द्वितीय श्रेणी, प्रथम श्रेणी और वातानुकूलित चेयरकार में 75 प्रतिशत की छूट उपलब्ध करवायी जाती है, वही ऐसे यात्रियों को स्लीपर एवं तृतीय वातानुकूलित कोच में 100 प्रतिशत की छूट अर्थात् मुफ्त में टिकट उपलब्ध करवाया जाता है वहीं द्वितीय एवं प्रथम वातानुकूलित कोच में 50 प्रतिशत तक की रियायत उपलब्ध करायी जाती है। यह रियायत सहचर के लिए भी लागू होती है, केवल स्लीपर एवं तृतीय वातानुकूलित शयनयान में सहचर यात्रा को 75 प्रतिशत रियायत ही मिलती है। थैलिसीमिया, ह्नदय तथा किडनी (गुर्दा रोग) से सम्बन्धी बीमारी से जूझ रहे मरीजों जो कि सर्जरी के लिए अकेले या किसी सहचर के साथ यात्रा कर रहे हों, तो उन्हें द्वितीय श्रेणी, स्लीपर, प्रथम श्रेणी, तृतीय वातानुकूलित शयनयान एवं वातानुकूलित कुर्सीयान में 75 प्रतिशत की रियायत दी जाती है जबकि प्रथम एवं द्वितीय वातानुकूलित शयनयान में 50 प्रतिशत की रियायत दी जाती है।  हीमोफीलिया से ग्रसित रोगी को द्वितीय श्रेणी, स्लीपर, प्रथम श्रेणी, तृतीय वातानुकूलित शयनयान एवं वातानुकूलित कुर्सीयान के किराये में 75 प्रतिशत की रियायत सहचर के साथ उपलब्ध है। टीबी एवं लूपास वल्गेरिस जैसी बीमारियों से ग्रसित रोगियों को इलाज अथवा आवधिक चैकअप पर जाने हेतु सहचर के साथ द्वितीय श्रेणी, स्लीपर, प्रथम श्रेणी में 75 प्रतिशत की रियायत उपलब्ध है। नान इन्फेक्टियस लेप्रोसि से ग्रसित रोगियों को इलाज अथवा आवधिक चैकअप कराने जाने के लिए द्वितीय श्रेणी, स्लीपर एवं प्रथम श्रेणी के किराये में सहचर के साथ किराये में 75 प्रतिशत की रियायत दी गई है। एड्स (एआईडीएस) से ग्रसित रोगियों को द्वितीय श्रेणी में नामित केन्द्रों पर इलाज/आवधिक चैकअप हेतु जाने के लिए द्वितीय श्रेणी में 50 प्रतिशत रियायत उपलब्ध करायी गई है। एपलास्टिक एनिमिया/सिकल सेल एनिमिया रोगों से ग्रसित रोगियों को इलाज/आवधिक चैकअप हेतु जाने के लिए स्लीपर, वातानुकूलित कुर्सीयान, वातानुकूलित द्वितीय एवं तृतीय श्रेणियों में यात्रा करने हेतु किराये में 50 प्रतिशत रियायत उपलब्ध है।


वरिष्ठ नागरिकों हेतु रियायतें


  60 वर्ष के ऊपर आयु के समस्त पुरूषों को 40 प्रतिशत एवं 58 वर्ष से ऊपर आयु की महिलाओं को किराये में 50 प्रतिशत की छूट उपलब्ध करवाई जाती है यह छूट राजधानी शताब्दी एवं दूरन्तों जैसे रेल सेवाओं में भी दी जाती है।


पुस्कार विजेताओं को प्रदत्त रियायतें


अपनी सेवा के दौरान उत्कृठ सेवा के प्रदर्शन से राष्ट्रपति पुलिस मेडल प्राप्त पुरूष को 50 प्रतिशत एवं महिलाओं को 60 प्रतिशत राजधानी, शताब्दी एवं जन शताब्दी सहित समस्त श्रेणियों में रियायत प्रदान की गई है।


 उद्योगों के अन्तर्गत नवाचार एवं उत्पादकता से सम्बद्ध प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कार से नवाजित सभी को द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों के किराये में 75 प्रतिशत रियायत उपलब्ध है। 


शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ठ सेवा देने पर राष्ट्रपति द्वारा प्रदत्त राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों को द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 50 प्रतिशत रियायत उपलब्ध है।

राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार प्राप्त बच्चों को उनके परिजनों के साथ द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 50 प्रतिशत रियायत उपलब्ध करायी गयी है। 

युद्ध में हुए शहीद की विधवाओं, आईपीकेएफ सेवा में श्रीलंका में शहीद हुए जवानों की विधवाओं, संसद में सेवा के दौरान शहीद हुए पुलिस एवं सेना के सेवकों की विधवाओं को, सेना के ऐसे जवानों की विधवाओं को जिन्होंने आंतकवादी गतिविधियों के दौरान शहीद हुए एवं ऑपरेशन विजय के दौरान शहीद हुए सैनिकों की विधवाओं को द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों के किराये में 75 प्रतिशत तक रियायत प्रदान की गई है।


छात्रा/छात्राओं हेतु रियायत


ऐसे छात्रा जो कि छुट्टियों के दौरान अपने गृह क्षेत्र जाने आने एवं शैक्षणिक दौरों पर आने जाने के लिए सामान्य श्रेणी के छात्र व छात्राओं को द्वितीय एवं शयनयान में 50 प्रतिशत एवं एमएसटी व क्यूएसटी के लिए भी 50 प्रतिशत की रियायत उपलब्ध है।  अनुसूचित जाति व जनजाति के छात्रों हेतु यह रियायत 75 प्रतिशत रखी गयी है। ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों को वर्ष में एक बार शैक्षणिक दौरे पर जाने हेतु द्वितीय श्रेणी में 75 प्रतिशत को रियायत उपलब्ध है। ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी स्कूल की छात्राओं को जो कि राष्ट्रीय स्तर पर मेडिकल, इंजीनियरिंग इत्यादि प्रवेश परीक्षाओं में जाने हेतु द्वितीय श्रेणी में 75 प्रतिशत की रियायत।

केन्द्रीय कर्मचारी चयन आयोग एवं संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित मुख्य लिखित परीक्षाओं में भाग लेने हतु छात्र/छात्राओं को द्वितीय श्रेणी में 50 प्रतिशत रियायत। विदेशी छात्रों को भारत सरकार द्वारा आयोजित की जाने वाली सेमीनारों में भाग लेने एवं छुट्टियों के दौरान ऐतिहासिक क्षेत्रों में भ्रमण पर जाने हेतु द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 50 प्रतिशत की रियायत। 35 वर्ष तक के रिसर्च स्कॉलर्स को अपनी रिसर्च के कार्य से भ्रमण पर जाने के लिए द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों के 50 प्रतिशत की रियायत। स्टूडेन्स एव नान स्टूडेन्टस जो कि कैम्प्स कार्य हेतु जाते है उनके लिए द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 25 प्रतिशत तक की रियायत। केडिट एवं सामुद्रिक इंजीनियरिंग प्रशिशुओं को नेविगेशनल/इंजीनियरिंग ट्रेनिंग इत्यादि में गृह नगर से सेवा कार्य तक जाने हेतु द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 50 प्रतिशत तक रियायत उपलब्ध है। 


युवाओं हेतु रियायतें

राष्ट्रीय एकीकरण कैम्पों में भाग लेने जाने वाले युवाओं को इस योजना के तहत राष्ट्रीय युवा परियोजना में भाग लेने पर द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 50 प्रतिशत रियायत उपलब्ध है। मानव उत्थान सेवा समिति में भाग लेने पर द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 40 प्रतिशत रियायत उपलब्ध है। 

  बेरोजगार युवाओं को इस योजना के तहत अगर वे सरकारी अन्डर टेकिंग, म्युनसिपल कारपोरेशन, विश्व विद्यालय एवं पब्लिक सेक्टर संस्थाओं में साक्षात्कार हेतु जाने के लिए द्वितीय एवं शयनयान में 50 प्रतिशत की रियायत केन्द्र एवं राज्य सरकारों में नौकरी हेतु साक्षात्कार में जाने हेतु द्वितीय श्रेणी में 100 प्रतिशत एवं शयनयान में 50 प्रतिशत की रियायत उपलब है। 

भारत स्काउट एवं गाइड से सम्बद्ध छात्र/छात्राओं को स्काउटिंग ड्यूटी पर जाने हेतु द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 50 प्रतिशत की रियायत उपलब्ध है।


किसानो हेतु रियायतें

किसानों एवं औद्योगिक मजदूरों को कृषि एवं औद्योगिक प्रदर्शनियों में भाग लेने जाने हेतु द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 25 प्रतिशत तक रियायत। सरकार द्वारा प्रायोजित विशेष रेल सेवाओं में यात्रा करने वाले किसानों को द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 33 प्रतिशत तक रियायत। किसानों एवं दुग्ध उत्पादकों को राष्ट्रीय स्तर की शिक्षा एवं ट्रेनिंग लेने हेतु इंस्टीट्यूट में जाने हेतु द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 50 प्रतिशत तक रियायत। भारतीय कृषक समाज एवं सर्वोदय समाज, वर्धा द्वारा आयोजित की जाने वाली राष्ट्रीय वार्षिक सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों के किराये में 50 प्रतिशत तक रियायत उपलब्ध है। 


कलाकारों एवं खिलाड़ियों हेतु रियायत्


कलाकारों को अभिनय करने जाने हेतु द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 75 प्रतिशत रियायत, प्रथम श्रेणी, वातानुकूलित कुर्सीयान, वातानुकूलित द्वितीय एवं तृतीय श्रेणी में 50 प्रतिशत राजधानी, शताब्दी एवं जनशताब्दी रेलसेवाओं की वातानुकूलित कुर्सीयान तृतीय एवं द्वितीय शयनयान श्रेणियों में 50 प्रतिशत की रियायत उपलब्ध है। फिल्म तकनीशियनों को फिल्म बनाने सम्बन्धी कार्य हेतु जाने के लिए स्लीपर श्रेणी में 75 प्रतिशत, प्रथम श्रेणी, वातानुकूलित कुर्सीयान, द्वितीय एवं तृतीय वातानुकूलित शयनयानों में 50 प्रतिशत की, जिसमें शताब्दी एवं राजधानी गाड़ियाँ शामिल हैं, रियायत प्रदान की गई है। 

अखिल भारतीय व राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेने जाने वाले प्रतिभागियों को द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 75 प्रतिशत तथा प्रथम श्रेणी में 50 प्रतिशत रियायत उपलब्ध है।  

राष्ट्रीय पर्वतारोहण संस्थान द्वारा चलाये गये पर्वतारोहण अभियानों में भागीदारी करने वाले प्रतिभागियों को द्वितीय एवं स्लीपर श्रेणियों में 75 प्रतिशत एवं प्रथम श्रेणी में 50 प्रतिशत की रियायत उपलब्ध है।

अधीस्वीकृत पत्रकारों को प्रेस कार्य हेतु सभी मेल/एक्सप्रेस रेल सेवाओं में छूट 50 प्रतिशत  उपलब्ध। अधीस्वीकृत पत्रकार अपनी पत्नी/सहचर एवं 18 वर्ष तक की उम्र के बच्चे के साथ वित्तीय वर्ष में 2 बार राजधानी/शताब्दी/जन शताब्दी रेल सेवाओं में 50 प्रतिशत रियायत के साथ यात्रा कर सकते है। 


मेडिकल प्रोफेशनल्स को रियायत


एलोपैथिक डॉक्टर किसी भी कार्य से भ्रमण करते है तो इन्हें सभी रेल सेवाओं की समस्त श्रेणियों में 10 प्रतिशत की रियायत उपलब्ध है।  नर्स एवं मिडवाइव्स को छुट्टियों अथवा ड्यूटी पर जाने हेतु द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 25 प्रतिशत रियायत उपलब्ध है। 

अन्य सम्मेलनों, वर्कशाप इत्यादि में भाग लेने जाने हेतु के प्रदत्त रियायतें

   राष्ट्रीय स्तर की पंजीकृत सामाजिक/शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक संस्थाओं में प्रतिनिधियों को राष्ट्रीय वार्षिक अधिवेशन में भाग लेने, भारत सेवा दल बैंगलुरू के सदस्यों को कैम्प, बैठकों, रैलीयों एवं ट्रैकिंग आयोजनों में भाग लेने, अन्तर्राष्ट्रीय मानव सेवा समिति के सदस्यों को सामाजिक कार्य/सेवा हेतु, प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकें को शैक्षणिक दौरों पर जाने व सेन्ट जोन एम्बूलेंस बिग्रेड एवं रिलीफ वेलफेयर एम्बूलेस केम्पों एवं प्रतियोगिताओं में भागीदारी के लिए तथा उपरोक्त सभी को द्वितीय एवं शयनयान श्रेणियों में 25 प्रतिशत तक की रियायत उपलब्ध है। 

( नियम बदलते रहते हैं:ताजा जानकारी रेलवे से लेते रहेंं)

---------------



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें