सोमवार, 19 फ़रवरी 2018

अकादमी द्वारा पांडुलिपियों पर आर्थिक सहयोग स्वीकृत

उदयपुर, 16 फरवरी2018.

राजस्थान साहित्य अकादमी की‘पांडुलिपि प्रकाशन सहयोग’ योजना अन्तर्गत इस वर्ष 47 पांडुलिपियों पर लेखकों को 5 लाख 74 हजार रु. का आर्थिक सहयोग स्वीकृत किया गया है। अकादमी अध्यक्ष डॉ. इन्दुशेखर तत्पुरुष ने इनका ब्यौरा दिया।

1. ‘अरुणिमा रश्मियाँ (काव्य)’ रंजना त्रिखा जयपुर,

2. ‘नदी उफान भरे (काव्य)’ डॉ. कृपा शंकर शर्मा जयपुर, 

3.शब्दों के आसमान में हौसलों की उड़ान (काव्य)’ करिश्मा जोशी बीकानेर,

 4.‘अपने अपने आईने (काव्य)’श्री रामनिवास बाँयला अलवर,

5. ‘शब्दों का नीड़ (काव्य)’ श्री राजेन्द्र प्रसाद जोशी मेड़ताशहर,

6. ‘चुप नहीं बैठूंगा (काव्य)’ श्री राजेन्द्र गौड़ कोटा,

7. ‘बच्चों की दुनियां मुस्काई (बाल काव्य)’ डॉ. रेनू सिरोया उदयपुर 

8.खुशियां देता चल (काव्य)’ श्री सोहन प्रकाश जयपुर, 

9.‘उम्मीदों के अश्व (काव्य)’ध्वनि आमेटा डूंगरपुर, 

10.‘आखिर कितनी अनामिकाएँ (काव्य)’विजय लक्ष्मी जांगिड़ जयपुर,

11. ‘भरा हुआ सा खालीपन (काव्य)’ श्री राजेन्द्र कुमार पोकरण,

12. ‘यह सदी निरूत्तर है (काव्य)’ डॉ. कुंजन आचार्य उदयपुर,

13. ‘सफ़र (काव्य)’ श्री महेन्द्र सिंह शेखावत सूरतगढ़, 

14.‘उस देहरी दीप जलाना (काव्य)’ रेणु खत्री अलवर,

15.‘कितनी सुहानी भोर (काव्य)’ डॉ. बंशीधर तातेड़ बाड़मेर, 

16.मुस्कराता बचपन (बाल काव्य)’ डॉ. रत्ना शर्मा जयपुर

17.मयूर पीड़ा (काव्य)’ पृथा वशिष्ठ जयपुर, ‘

18.आखर आखर मोती (काव्य)’डॉ. साधना जोशी जयपुर,

19. ‘निःशब्द हुआ मन (काव्य)’श्रीमती सुधा तिवारी भीलवाड़ा,

20 ‘प्रणय (काव्य)’ श्री मदन जोशी उदयपुर, ‘

21.इन्द्रधनुषी बाल कविताएं (बाल काव्य)’ श्रीमती सुशीला शर्मा जयपुर,

22 ‘समय की पगडंडियों पर (काव्य)’ श्री त्रिलोक सिंह ठकुरेला आबूरोड़,‘

23.अम्बर दूर है कितना (काव्य)’ श्री मनशाह‘नायक‘ जोधपुर, 

24.‘गुलमोहर (काव्य)’श्री चेनराम शर्मा चन्देसरा, 

25.‘क़दम ब क़दम (काव्य)’श्री पुरू मालव छीपा बड़ौद,

26‘अन्न जल पानी (काव्य)’श्रीमती उर्मिला माणक गौड़ बैंगलोर,

27. ‘छोटे बच्चे गोल मटोल (बाल काव्य)’डॉ. गोपाल ‘राजगोपाल‘ उदयपुर, 28.गोल्डन जुबली (कहानी)’ संगीता माथुर कोटा, 

29‘कामाख्या और अन्य कहानियाँ (कहानी)’श्री भरतचन्द्र शर्मा बाँसवाड़ा,‘

30बोधि वृक्ष के सुर (कहानी)’प. निरंजन प्रसाद पारीक नागौर

31.,‘उपकार (कहानी)’डॉ. पंकज वीरवाल सलूम्बर,‘

32.बनास पार (कहानी)’श्रीमती रीना मेनारिया उदयपुर,‘

33.बुर्ज, चाँद और धुंआ (कहानी)’डॉ. ओम प्रकाश भाटिया जैसलमेर,

34.‘देवा की वसीयत (कहानी)’डॉ. सोहनदास वैष्णव उदयपुर,‘

35.थोड़ा सा सुख (कहानी)’डॉ. अनिता श्रीवास्तव,‘एक है कनु (कहानी)’श्री शरद उपाध्याय कोटा,

36.‘हाडौ़ती अंचल की रोचक लोककथाएं (कहानी)’श्यामा शर्मा कोटा,‘

37.मोगरी (कहानी)’श्री मुरारी गुप्ता जयपुर,

38‘सलोने गीत (बाल काव्य)’श्री रामेश्वर दयाल पंड्या उदयपुर,

39.‘नदी, धरती और समंदर (काव्य)’ ऋतु जोशी कोटा,‘

40.भगवान बुद्ध (काव्य)’श्री बनवारी लाल सोनी जयपुर,‘

41.बस इसीलिए (काव्य)’श्री हर्षिल पाटीदार डूंगरपुर,

42.‘साहित्य का सांस्कृतिक पक्ष (निबंध)’डॉ. राजेन्द्र कुमार सिंघवी निम्बाहेड़ा,

43. ‘विमर्श के आयाम (निबंध)’डॉ. विमला सिंहल जयपुर,‘

44.विष्णु गुप्त चाणक्य: और रावण मिल गया - दो नाटक (नाटक)’श्री अशोक कुमार शर्मा जयपुर, 

45.‘आम्रपाली तथा अन्य नाटक (नाटक)’डॉ. शीलाभ शर्मा भरतपुर,

46. ‘हास्य-व्यंग्य नाटक: टेढ़ी, टेढ़ी चाल (व्यंग्य)’ श्री हरमन चौहान उदयपुर,

47. ‘पुनि जहाज पे आवे (संस्मरण)’ श्री दर्शन भरतवाल सुजानगढ़ की पाण्डुलिपियों पर सहयोग स्वीकृत किया गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें