Friday, December 8, 2017

सरकारी समारोह में दीनदयाल उपाध्याय का चित्र अनिवार्य करने की तैयारी

वसुंधरा राजे भाजपा की राजस्थान सरकार जनसंघ के संस्थापक पं.दीनदयाल उपाध्याय को महापुरूष का दर्जा देने जा रही है । 

सरकार ने तय किया है कि सरकारी कार्यक्रमों में राष्ट्रपति महात्मा गांधी की तस्वीर के साथ अब पं.दीनदयाल उपाध्याय की फोटो भी लगाई जाएगी।

इसके साथ ही दीनदयाल उपाध्याय का जन्मदिन गांधी जयंती की तरह मनाने को लेकर भी विचार किया  जा रहा है । सरकारी लेटपैड और सरकारी आदेशों में अशोक स्तम्भ के साथ उपाध्याय का चित्र भी अनिवार्य किया जाएगा। इससे पहले प्रदेश के सरकारी विज्ञापनों में उपाध्याय की तस्वीर अनिवार्य करने के साथ ही स्कूलों की लाइब्रेरी में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जीवनी रखना अनिवार्य किया जा चुका है । सरकारी विज्ञापनों की तर्ज पर लेटपैड एवं आदेशों में भगवा रंग में उपाध्याय की तस्वीर वाला लोगो छापा जाएगा । इसके साथ ही भाजपा विधायकों के लेटरपैड पर भी दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर छापना अनिवार्य होगा।

 अगले कुछ दिनों में इस बारे में राज्य के सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से आदेश जारी कर दिया जाएगा । सचिवालय में तैनात एक आईएएस अधिकारी ने बताया कि यह आदेश जारी होने के बाद क्रियान्वयन की जिम्मेदारी जिला कलेक्टरों को सौंपी जाएगी । कांग्रेस ने वसुंधरा सरकार पर संघ के एजेंडे को प्रशासन में लागू किए जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि जिस तरह से शिक्षा का भगवाकरण किया गया,उसी तरह से अब प्रशासन का भगवाकरण करने का प्रयास किया जा रहा है । 

राज्य विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने सरकार के इस कदम की निंदा करते हुए कहा कि वसुंधरा सरकार उपाध्याय  को जबरन महापुरूष का दर्जा देने का प्रयास कर रही है । वहीं प्रदेश कांग्रेस  अध्यक्ष सचिन पायलट ने इसे अलोकतांत्रिक  बताया है । 

इधर राज्य के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया एव शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी का कहना है कि दीनदयाल उपाध्याय  का जीवन प्रेरणादायक है ।


उन्होंने कहा कि दीनदयाल जन्म शताब्दी वर्ष चल रहा है । सरकार एवं भाजपा के विधायकों ने तय किया है कि सरकारी पत्रों के साथ ही भाजपा विधायकों के लेटरपैड पर भी उपाध्याय की पासपोर्ट साइज की तस्वीर छपवाई जाए।

 विधानसभा में सरकारी मुख्य सचेतक कालूलाल गुर्जर का कहना है कि भाजपा विधायकों के लेटरपैड पर उपाध्याय की तस्वीर छापने को लेकर सभी ने मिलकर निर्णय किया है।


No comments:

Post a Comment

Search This Blog