Wednesday, June 7, 2017

ठुकराना में मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन जिला स्तरीय समारोह




जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, पुलिस के जवानों और स्थानीय लोगों ने किया श्रमदान


गांव में रैली निकालकर दिया जल बचाने का दिया संदेश


150 पौधों का रोपण कर पर्यावरण संरक्षण का भी दिया संदेश


मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान में दान देने वालों को किया सम्मानित


सासंद श्री निहालचंद ने जल बचाने को लेकर दिलाई शपथ


जनप्रतिनिधियों ने जोहड़ और टांका निर्माण का किया लोकार्पण


कार्यक्रम के बाद जिला कलक्टर ने ठुकराना के अटल सेवा केन्द्र में की जनसुनवाई


श्रीगंगानगर, 7 जून। प्रदेश भर में 5 से 9 जून तक मनाए जा रहे मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन सप्ताह के अंतर्गत  सूरतगढ़ तहसील की ग्राम पंचायत ठुकराना में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम में शामिल जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, पुलिस के करीब 200 जवानों और बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने ठुकराना जोहड़ में करीब 2 घंटे श्रमदान किया।

राजकीय माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में 150 पौधे लगाए। इस दौरान गांव में जल बचाओ रैली का भी आयोजन किया गया। ठुकराना ग्राम पंचायत मुख्यालय पर मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के अंतर्गत जोहड़ जीर्णोंद्धार और आयुर्वेदिक अस्पताल परिसर में टांका निर्माण का श्रीगंगानगर सासंद श्री निहालचंद, सूरतगढ़ विधायक श्री राजेन्द्र भादू समेत अन्य जनप्रतिनिधियों ने लोकार्पण किया।
सांसद श्री निहालचंद ने जल बचाने को लेकर सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों और कार्यक्रम में शामिल पुलिस के जवानों, स्थानीय लोगों को शपथ दिलाई।

                           कार्यक्रम में मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के अंतर्गत जिन संस्थाओं ने दान राशि अभियान के अंतर्गत भेंट की उनके प्रतिनिधियों को और जिन लोगों ने व्यक्तिगत दान दिया उन्हें भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान में सूरतगढ़ थर्मल पावर ने 25 लाख, श्री सीमेंट लिमिटेड ने 3 लाख 51 हजार, खंडेलिया ऑयल मिल ने 1 लाख, कल्पतरू पॉवर ट्रांसमिशन पदमपुर ने 51 हजार, शहीद भाई सुखासिंह मेहताब सिंह अस्पताल ने 2 लाख 51 हजार, बीजेपी जिला उपाध्यक्ष श्री प्रहलाद राय टाक ने 2 लाख 51 हजार और सीएडी के रिटायर्ड अधिशाषी अभियंता श्री सतनाम सिंह पुनी ने 35 हजार का आर्थिक सहयोग करने पर प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

इसके अलावा व्यक्तिगत लाभ योजना में स्वीकृत डिग्गियों की मस्टरोल का वितरण किया गया।

                          कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्रीगंगानगर सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री निहालचंद ने कहा कि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे ने राजस्थान में बारिश के जल को बचाने के लिए जो ये अभियान चलाया है इसकी ना केवल भारत बल्कि विश्व भर में चर्चा हो रही है। मुख्यमंत्री श्रीमती राजे द्वारा शुरू किए गए इस अभियान की प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी कई बार प्रशंसा कर चुके हैं। मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के अंतर्गत पूरे प्रदेश में बारिश के जल का संरक्षण किया जा रहा है। ठुकराना के लोगों से भी सांसद ने बारिश के जल को संरक्षित करने की अपील करते हुए कहा कि बारिश के अमृत जैसे जल को व्यर्थ ना जाने दें। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सूरतगढ़ विधायक श्री राजेन्द्र भादू ने कहा कि मुख्यमंत्री श्रीमती राजे ने बारिश के जल को संरक्षित करने के लिए जो अभियान चलाया है इसका एक ही मकसद है कि खेत का पानी खेत में, गांव का पानी गांव में रहे। श्री भादू ने कहा कि मुख्यमंत्रा जल स्वावलंबन अभियान के बाद प्रदेश भर में बारिश के जल का संरक्षण किया जा रहा है इसमें श्रीगंगानगर जिला भी पीछे नहीं हैं। जिले में हालांकि नहरी तंत्रा विकसित है लेकिन बावजूद इसके घरों में, स्कूल में , खेत में टांका निर्माण कर बारिश का जल रूफ टॉप रैन वाटर हार्वेस्टिंग के जरिए बारिश के जल का संरक्षण किया जा रहा है। साथ ही पुराने जोहड़ों का भी जीर्णोंद्धार कर बारिश के जल का संरक्षण किया जा रहा है।

                        कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला कलक्टर श्री ज्ञानाराम ने कहा कि मुख्यमंत्रा श्रीमती वसुंधरा राजे ने दूरगामी सोच रखते हुए प्रदेश भर में बारिश के जल संरक्षण का ऐसा अभियान चलाया है जिसकी विश्व भर में चर्चा हो रही है। प्रधानमंत्री भी इसकी प्रशंसा कर चुके हैं। जिला कलक्टर ने गांव के लोगों से अपील करते हुए कहा कि बारिश का जल अमृत के समान है अगर घर में ही इसका संरक्षण कर इसे पीने के लिए काम में लिया जाए तो पीने के लिए इससे अच्छा जल और कोई नहीं हो सकता। कार्यक्रम समापन के बाद जिला कलक्टर ने अटल सेवा केन्द्र में जाकर स्थानीय लोगों की करीब 2 घंटे तक जनसुनवाई की और परिवेदनाओं का समयबद्ध निस्तारण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।            

                         कार्यक्रम में श्रीगंगानगर सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री निहालचंद, सूरतगढ़ विधायक श्री राजेन्द्र भादू, जिला कलक्टर श्री ज्ञानाराम, एसपी श्री हरेन्द्र सिंह, सीईओ जिला परिषद श्री विश्राम मीणा, एडीएम सूरतगढ़ श्री चांदमल वर्मा, एसडीएम सूरतगढ़ श्री बनवारी लाल, एडीश्नल एसपी रायसिंहनगर श्री भरतराज, पीआरओ सुरेश बिश्नोई, बीडीओ सूरतगढ़ सुश्री रोमा सहारण, प्रधान सुरतगढ़ श्रीमती बिरमा देवी, सरपंच ठुकराना श्रीमती सरिता कड़ेला, समेत करीब 200 पुलिस के जवान और बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे।

                 गौरतलब है कि मुख्यमंत्रा जल स्वावलंबन अभियान की शुरूआत पूरे प्रदेश में 27 जनवरी 2016 को हुई थी। अभियान के प्रथम चरण के अंतर्गत श्रीगंगानगर जिले की 9 ब्लॉक के अंतर्गत 15 ग्राम पंचायतों के 121 गांवों का चयन किया गया था। जिनमें बारिश के जल संरक्षण को लेकर 27 करोड़ 86 लाख 48 हजार की लागत से 710 कार्य करवाए गए।  मुख्यमंत्रा जल स्वावलंबन अभियान के दूसरे चरण के अंतर्गत जिले की 9 ब्लॉकों की 43 ग्राम पंचायतों के 440 गांवों का चयन किया गया है। जिनमें 46 करोड़ 67 लाख 20 हजार राशि खर्च कर जल संरक्षण के 934 कार्य करवाए जाएंगे। वर्तमान में सभी 934 कार्य प्रारंभ किए जा कर 527 कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं। 30 जून तक अन्य कार्यों को भी पूर्ण कर दिया जाएगा। अभियान के अंतर्गत जिले में जनसहयोग के रूप में अब तक 55.625 लाख रूपए जमा हो चुके हैं।


एमजेएसए में संभागीय आयुक्त कार्यालय ने किया जनसहयोग


श्रीगंगानगर, 7 जून।बारिश जल संरक्षण को लेकर पूरे राजस्थान में चलाए जा रहे मुख्यमंत्रा जल स्वावलंबन अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान की महत्ता को ध्यान में रखते हुए संभागीय आयुक्त श्री सुआलाल की प्रेरणा से संभागीय आयुक्त कार्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों ने भी एक दिन का वेतन इस अभियान में दिए हैं। अतिरिक्त संभागीय आयुक्त श्री राकेश कुमार शर्मा ने बताया कि संभागीय आयुक्त की प्रेरणा से अभियान में अधिकारियों और कर्मचारियों की एक दिवस की कुल सहयोग राशि 25 हजार 400 रूपए अभियान में बुधवार को प्रदान किए गए। गौरतलब है कि मुख्यमंत्रा जल स्वावलंबन अभियान के अंतर्गत में प्रदेश भर में जनसहयोग, श्रमदान इत्यादि लोगों द्वारा किया जा रहा है।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog