मंगलवार, 16 मई 2017

पतली( सादुल शहर) में नशा मुक्ति कार्यशाला




श्रीगंगानगर, 16मई2017. जिला पुलिस अधीक्षक श्री हरेन्द्र महावर के निर्देशानुसार पुलिस थाना सादुलशहर के सहयोग से राजकीय माध्यमिक विद्यालय पतली में नशा मुक्ति जन  जागृति कार्यशाला एवं निशुल्क नशा मुक्ति परामर्श शिविर का आयोजन किया गया। इसमें विद्यार्थियों, शिक्षकों, अभिभावकों व ग्रामवासियों ने भाग लिया।

      कार्यक्रम में नशामुक्ति परामर्श एवं उपचार केन्द्र श्रीगंगानगर के प्रभारी अधिकारी डा. रविकान्त गोयल ने मुख्यवक्ता के रुप में अपने सम्बोधन मे कहा कि शिक्षक बढते नशे जैसी सामाजिक बुराईयों और समाज में व्याप्त और दूसरी कमियों को दूर करने लिए युवा पीढी में राष्ट्रीयता की अलख जगाने के साथ साथ विद्यार्थियों में राष्ट्रीय दायित्व बोध जागृत करने के लिए प्रभावी प्रयास करें। विद्यार्थी जीवन में अपना लक्ष्य तय करें और शिक्षा को ही अपना जुनुन बनायें। नशे जैसी दलदल से दूर रहें। समाज में नशें से बढतें अपराधों पर नियंत्रण के लिए विद्यार्थी अपने आपको सामाजिक कार्यकर्ता के रुप से में तैयार करें।

       कार्यक्रम में समाज सेवी सरदार बलवन्त सिहं ने अपने सम्बोधन में कहा कि आने वाले कल को नेतृत्व प्रदान करने वाले युवा स्वयं में परिवर्तन कर देश के सामने उदाहरण बने, साहस से आगे बढें जिम्मेदारी उठाकर निस्वार्थ सेवा भाव से जीवन में संयमित जीवन को अपनानें हेतु जागृति लाने के प्रयास प्रारम्भ करे।

       इस अवसर पर पुलिस थाना सादुलशहर के नवज्योत सिहं कानि. ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि युवा देश का भविष्य होते है, इन्हे नशें से बचाकर अनेक उपलब्धियां हासिल की जा सकती है। जिला पुलिस प्रशासन भावी पीढी को नशे से बचानेसमाज में व्याप्त नशाखोरी पर नियंत्रण पाने हेतु वर्षों से निरन्तररत है। जिसके परिणाम स्पष्ट दृष्टिगोचर हो रहे है।

      कार्यक्रम मे कार्यवाहक प्रधानाचार्य श्री राजेन्द्र कुमार ने सभा में संवाद कायम रखते हुए कहा कि पुलिस द्वारा स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग के सहयोग से संचालित नशा मुक्ति अभियान के अन्तर्गत लगाये जा रहे नशा मुक्ति शिविरों के आयोजन से भावी पीढी न केवल नशे जैसी बुराईयों से बच रही है। साथ ही लोगों की नशा न छोड़ पाने जैसी भ्रान्तियों का निराकरण हो रहा है।

कार्यक्रम में ग्रामीण व महिलाओं ने भाग लिया नशा मुक्ति के पम्पलेट्स वितरित किये गये।

        इस अवसर पर उपस्थित जन समुह ने जीवन भर नशा न करने की शपथ ली। नशे के आदि रोगियों की डा. गोयल द्वारा मौके पर जांच की गई एवं परामर्श प्रदान किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें