Saturday, August 1, 2015

ईओ राकेश मेंहदीरत्ता मेंहदी रचाने का झांसा देकर यौनशोषण करता रहा: जयपुर में मुकद्दमा दर्ज:


जयपुर गंगानगर के होटलों में यौन शोषण:पीलीबंगा व हनुमानगढ़ में किराए के मकानों में पत्नी बना कर रखा:
ईओ कहता कि उसकी पत्नी के किसी दूसरे से अवैध संबंध है सो वह उससे तलाक लेगा व फिर शादी कर लेगा।
ईओ की पत्नी को मार डालने की धमकियां देने के आरोप में अपराध में सहयोगी बताया:
स्पेशल रिपोर्ट- करणीदानसिंह राजपूत -

सूरतगढ़,पीलीबंगा हनुमानगढ़ व वर्तमान में अनूपगढ़ नगरपालिका में ईओ राकेश मेंहदीरत्ता पर एक परित्यक्त महिला ने आरोप लगाया है कि ईओ राकेश मेंहदीरत्ता शादी का झांसा देकर उसका यौन शोषण करता रहा। उसने नौकरी लगवाने के बहाने जयपुर के होटलों में पत्नी के रूप में रखा। किराए के मकानों में पत्नी बना कर रखा। इतने समय बाद शादी करने से मुकर गया। उसकी पत्नी  मोबाइल फोन पर जान से मरवाने की धमकियां देती है। ईओ भी धमकियां देता है कि वह आत्महत्या कर लेगा व सुसाईड नोट में नाम देकर मरेगा। पुलिस कमिश्रर जयपुर पश्चिम को दिए प्रार्थनापत्र पर जयपुर के सिंधी कैंप थाने में बलात्कार व अप्राकृतिक मैथुन के आरोप में 30 जुलाई को मुकद्दमा नं 114/2015 भारतीय दंड संहिता की धाराओं 376 व 377 में दर्ज हुआ है तथा जाँच मनोज शर्मा पुलिस उप अधीक्षक को सौंप दी गई है। 

मुकद्दमा कराने वाली 41 वर्षीय औरत प्रथम सूचना में लिखाया है कि उसका विवाह 1996 में पीलीबंगा निवासी से हुआ तथा अनबन के कारण 2010 में अदालती संबंध विच्छेद हो गया।
वह अपने पीहर हनुमानगढ़ में नई आबादी में रहने लगी। उसे तलाक के बाद नौकरी की तलाश थी।
2012 में उसी गली नं 23 में रहने वाले पीलीबंगा नगरपालिका के ईओ राकेश मेंहदीरत्त से मुलाकात हुई। उसने सहानुभूति दिखलानी शुरू करदी। ईओ ने महिला से कहा कि वह पीलीबंगा में सफाई कर्मचारी के पद पर नौकरी लगवा देगा। सफाई कर्मचारी रखने का अधिकार चेयरमेन व ईओ को होते हैं लेकिन इसकी स्वीकृति डीएलबी से लेनी होती है।
एक दिन राकेश ने कहा कि इसके लिए जयपुर चलना है।
राकेश महिला को 22-23 अगस्त 2012 को लेकर जयपुर आया। सिंधी कैंप में होटल महादेव में कमरा लेकर रूके। राकेश ने एक ही कमरा बुक करवाया। तब महिला ने एतराज किया। राकेश ने कहा कि होटल में कमरे खाली नहीं है तथा उसे चिंता नहीं करनी चाहिए।
राकेश ने रात में उसे कहा कि वह उससे प्यार करने लगा है और शादी भी कर लेगा और नौकरी भी लगवा देगा। राकेश ने कहा कि वह अपनी पत्नी को तलाक दे देगा क्योंकि उसकी पत्नी के किसी और से नाजायज संबंध हैं। राकेश ने उस रात शादी का झांसा देकर महिला से शारीरिक संबंध बनाए।
इसके बाद राकेश फिर 25-12-2012 को लकर जयपुर आया। पोलो विक्ट्री के पास में होटल महारानी में रूके। राकेश ने महिला को कहा कि होटल की एंट्री में उसको पत्नी लिखवाया है।
वर्ष 2012 में ही राकेश ने एमटीएस की दो मोबाइल सिमें ली तथा एक अने पास रखी व एक महिला को दी। दोनों इन्हीं नम्बरों पर आपस में बात किया करते।
इसके बाद 28-29 जून 2013 को राकेश नौकरी लगवाने का कह कर महिला को जयपुर लाया। कानजी होटल की पीछे वाली गली में होटल हयात रवानी में ठहराया। वहां भी एक ही कमरा लिया। राकेश शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाता रहा।
महिला ने लिखाया है कि पीलीबंगा में हनुमान रोहतकिया का मकान किराए पर लेकर पत्नी बना कर रखा। यह सिलसिला तीन चार महीने चला।
राकेश का तबादला रावतसर हो गया तब अपने किराए के मकान में ले गया और पत्नी बना कर रखा। उक्त मकान श्रीमती मंजु अरोड़ा से किराए पर लिया हुआ था।
1 अगस्त 2013 को राकेश ने पीलीबंगा में सफाई कर्मचारी की नौकरी पर लगा दिया जहां वह ईओ लगा हुआ था।
राकेश महिला को हनुमानगढ़ से अपनी कार में पीलीबंगा लाता और शाम को कार में ही वापस ले जाता।
महिला को कहता रहा कि डीएलबी से स्वीकृति लेकर एलडीसी यानि लिपिक के पद पर लगवा देगा।
राकेश ने सितम्बर 2013 में गोल्डन सिटी हनुमानगढ़ जंकशन में किराये पर मकान दिलवाया और वहां लगभग रोजाना ही महिला के पास जाकर रहने लगा।
महिला ने राकेश पर शादी का दबाव डाला तब एक दिन राकेश ने अपनी पत्नी से महिला को मिलवाया। प्रथम सूचना रिपोर्ट के अनुसार इ्रओ की पत्नी ने महिला से कहा कि वह तथा राकेश तलाक ले रहे हैं।
इस पर महिला को विश्वास हो गया कि राकेश उससे शादी कर लेगा।
इसी दौरान राकेश ने दिनांक 14-6-2014 को श्रीगंगानगर में महाराजा होटल के पास के होटल वेलेन्यू इन में कमरा लेकर शारीरिक संबंध बनाए।
महिला ने यह आरोप भी लगाया है कि उसकी ईच्छा की विरूद्ध जबरदस्ती अप्राकृतिक मैथुन भी कई बार किया।
यह सिलसिला मार्च 2015 तक चलता रहा।
महिला से मार्च 2015 में एक दिन हनुमानगढ़ जंकशन में मिठाई की एक दुकान पर ईओ राकेश की पत्नी मिली। तब महिला ने ईओ की पत्नी से पूछ लिया कि राकेश और उसके तलाक का क्या चल रहा है?
राकेश की पत्नी ने उत्तर दिया कि उन दोनों के बीच में समझौता हो गया है। अब दोनों एक दूसरे के संबंधों पर एतराज नहीं करेंगे तथा वह तलाक नहीं लेगी। वह अपने संबंध बनाए रखे। इस पर महिला बिना कुछ कहे वापिस लौट आई।
इसके बाद महिला ने राकेश मेंहदीरत्ता से कहा कि तुम अपनी पत्नी से तलाक नहीं ले रहे हो तो उससे शादी क्या करोगे?
राकेश ने जवाब दिया कि शादी की जरूरत ही क्या है? अपने लीव इन रिलेशन ऐसे ही चलने दो।
महिला ने कहा कि शादी का झांसा देकर तुमने उसकी जिंदगी बरबाद कर डाली है।
इस पर राकेश ने कहा - तुम मुझे अच्छी लगने लगी थी और शादी की बात कहे बिना शारीरिक संबंध बनाने नहीं देती। इसलिए शादी का बहाना बनाया।
महिला ने इसके बाद कहा कि शादी तो करनी ही पड़ेगी। तब राकेश ने महिला के पास आना छोड़ दिया और मोबाइल पर काल करती तब एटेन्ड नहीं करता।
इसके बाद 10-7-2015 को राकेश की पत्नी ने अपने मोबाइल पर महिला को कॉल किया और जान से मरवा डालने धमकी दी। उसने कहा कि राकेश के विरूद्ध कुछ किया तो जान से मरवा डालेगी। महिला ने इ्रओ की पत्नी के मोबाइल का नम्बर दिया है जिससे धमकी आई।
इसके बाद अगले ही दिन 11-7-2015 फिर राकेश की पत्नी का मोबाइल पर कॉल आया और उसने फिर मलिा को धमकी दी।
इस धमकी में कहा कि राकेश ने ही डीएलबी से उसकी बदली श्रीकरणपुर करवाई है और वह श्रीकरणपुर में ही जान से मरवा देगी।
इस धमकी के बाद महिला 15-7-2015 को अनूपगढ़ गई तथा राकेश से मिली और उसकी पत्नी की धमकी वाली बात बतलाई।
राकेश ने उसे जवाब दिया - मेरे विरूद्ध घोटालों के  कई मुकद्दमें हो गए हैं तथा और कई होने वाले हैं। वह महिला का तथा उसके भाई का व मिलने वालों के नाम सुसाईड नोट में लिख कर आत्म हत्या कर लेगा।
महिला ने पुलिस कमिश्रर को जो आवेदन लिखा उसमें आरोप लगाया कि राकेश ने शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाए और शारीरिक शोषण करता रहा जिसमें उसकी पत्नी का भी अपराध में सहयोग रहा।
इस पर सिंधी कैंप थाने को मुकद्दमा दर्ज करने का आदेश हुआ और 30 जुलाई 2015 को मुकद्दमा दर्ज हुआ व 31 को उसकी प्रतिलिपी मिली। 



============================


 




 

No comments:

Post a Comment

Search This Blog