सोमवार, 3 मई 2021

अपने गंगानगर के कलेक्टर जाकिर हुसैन जी की अपील पढें: हम सभी कोरोना से बचे रहें ! प्रशासन हर पल सतर्क!!!

 





* करणीदानसिंह राजपूत *


श्रीगंगानगर, 3 मई 2021.


** गंभीर रोगी को आॅक्सीजन उपलब्ध करवाने का रहेगा पूरा प्रयासः जिला कलक्टर** 


 जिला कलेक्टर श्री जाकिर हुसैन ने कहा कि जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए हमारा पूरा प्रयास रहेगा कि गंभीर रोगी को आॅक्सीजन उपलब्ध करवा कर उसका जीवन बचाया जाए और गंभीर बीमार व्यक्ति जो कोविड सेंटर में भर्ती है, उनको बेहतर उपचार दिया जा सके।  


* रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़े की होगी कड़ाई से पालना* 


मास्क व सोशल डिस्टेंस को अपनाकर कोरोना संक्रमण से बचें

उन्होंने कहा कि आम नागरिक रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़े का राज्य सरकार के निर्देशानुसार पालना करें। 

जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने कहा है कि जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जन अनुशासन पखवाड़े की पालना करवाने को लेकर बेवजह घर से बाहर निकलने वालों के साथ सख्ती की जा रही है। बिना मास्क घूमने वालों व सोशल डिस्टेंस की पालना नहीं करने को लेकर चालान काटे जा रहे हैं। कोरोना गाईडलाइन की पालना नहीं करने वाले दुकानदारों की दुकानें सीज की जा रही हैं। इस सख्ती का बेहतरीन नतीजा जल्द ही देखने को मिलेगा। संक्रमितों की संख्या बढने के पीछे सबसे बड़ा कारण सामने आया है, वो है क्लोज काॅन्टेक्ट व कोरोना की जांच करवाने को लेकर जागरूकता नहीं होना। इसके कारण पिछले दिनों कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में कोरोना के भयावह रूप को देखते हुए राज्य सरकार की ओर से रेड अलर्ट करते हुए जन अनुशासन पखवाड़े की समय सीमा 17 मई तक बढ़ाई गई है। 

०० जिला कलक्टर की जनता से अपील ००

वैश्विक महामारी में जीवन बचाना ही सर्वोच्च प्राथमिकता

जिला कलक्टर ने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा कि स्वयं व परिजनों को बचाने के लिए कम से कम घर से बाहर निकलें। भीड़- भाड़ वाली जगह से जाने से पूरी तरह से बचे। नई गाईडलाइन में शादी समारोह में 31 लोगों के शामिल होने की अनुमति दी गई है। उन्होंने ग्रामीण अंचलवासियों से कहा कि वह ऐसे आयोजनों से खुद को दूर रखे। अगर संभव हो तो शादियों को कुछ समय के लिए स्थगित कर दें। वर्तमान दौर में दुल्हा, दुल्हन व परिजनों के भी संक्रमित होने के मामले सामने आए हैं। ऐसी स्थिति में कोई भी संक्रमित हो सकता है। नियमों की पालना नहीं करने पर प्रशासन व पुलिस की ओर से कार्यवाई की जाने के पीछे किसी को परेशान करना नहीं है, बल्कि खुशी का माहौल गम के माहौल में तब्दील नहीं हो यही मंशा मात्र है। आमजन का जीवन सुरक्षित रहने से बढ़कर इस समय कुछ भी नहीं है।

००प्रशासन हर पल जनता के साथ००

आपदा प्रबंधन पूर्ण गंभीरता से किया जा रहा है 

कोरोना की चपेट में आने के बाद गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों की अच्छे से देखभाल हो इसके लिए प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है। मरीजों को दवाईयों, आॅक्सीजन की पूर्ति समय- समय पर आवश्यकता अनुसार उपलब्ध करवाई जा रही है। इसको लेकर राज्य सरकार की ओर से पूरा सहयोग मिल रहा है। इस सबके बावजूद कोरोना से मरने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है लेकिन मजबूत इच्छा शक्ति वाले काफी गंभीर मरीज ठीक भी हुए हैं। राज्य सरकार व जिला प्रशासन इसको लेकर काफी संवेदनशील है। 

* जिला कलेक्टर ने कहा कि कोविड अस्पताल को सुचारू रूप से चलाना सर्वोच्च प्राथमिकता है। 

मेडिकल स्टाफ को सुरक्षित रखना अति आवश्यक

कोरोना योद्धाओं के रूप में काम कर रहे चिकित्साकर्मी, स्वास्थ्यकर्मी व पैरा मेडिकल स्टाॅफ के संक्रमित होने पर मुश्किलें काफी बढ़ सकती हैं। गंभीर मरीजों के लिए अतिरिक्त र्नसिंग स्टाॅफ की व्यवस्था की गई है। नर्सिंग स्टेशन की स्थापना भी की गई है। जिला कलेक्टर ने कहा कि संक्रमित मरीजों को घबराने की आवश्यकता नहीं है। डोर टू डोर सम्पर्क करके मेडिकल किट उपलब्ध करवाये जा रहे हैं। अनुशासित घर में रहकर कोरोना की चेन तोडकर ही जीता जा सकता है। कम संक्रमित होने वाले मरीज अस्पताल नहीं आएं व घर पर रहकर ही दवाईयां लें।


जिला कलेक्टर ने कहा कि संकट की इस घड़ी में भामाशाह व दानदाता आगे आकर सहयोग कर रहें है। अस्पताल में  रोज नए मरीज आ रहे हैं इसके बावजूद भी किसी भी मरीज को निराश नहीं करेंगे। संक्रमण से बचने के लिए अस्पताल की व्यवस्थाएं बनाए रखना भी बेहद जरूरी हैं। उन्होंने कहा कोविड व नाॅन कोविड मरीज को आॅक्सीजन की कमी के कारण मरने नहीं दिया जाएगा। इसके लिए यह भी जरूरी है कि आॅक्सीजन का दुरूपयोग नहीं हो।

जिला कलेक्टर ने कहा कि नियमों की पालना करने वालों का जीवन सुरक्षित रहता है। 

एडीएम प्रशासन श्री भवानी सिंह पंवार और समस्त जिला प्रशासन ने भी जनता से सतर्क व सुरक्षित रहने के लिए अपील की है ताकि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की मंशानुरूप पूरा प्रदेश पुनः सुरक्षित हो सके।00

---------







कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें