गुरुवार, 12 दिसंबर 2019

श्रीगंगानगर के नए मास्टर प्लान का प्रारूप जारी-30 दिन में सुझाव व आपतियां दी जा सकती है


श्रीगंगानगर, 11 दिसम्बर 2019.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि श्रीगंगानगर के नवीन मास्टर प्लान 2035 की राज्य सरकार के निर्देशानुसार प्रारूप प्रकाशन जारी कर दिया है। इस संबंध में किसी नागरिक को सुझाव देना हो या किसी प्रकार की आपत्ति हो तो तीस दिवस का समय दिया गया है। 

जिला कलक्टर श्री नकाते बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाहाॅल में गंगानगर शहर के नवीन मास्टर प्लान 2017-2035 के प्रारूप प्रकाशन के अवसर पर ये बात कही। उन्होंने कहा कि नगर विकास न्यास कार्यालय, एसडीएम कार्यालय में मास्टर प्लान का अवलोकन किया जा सकता है। नगर विकास न्यास में नागरिकों के सुझाव लेने के लिये काउंटर की व्यवस्था करनी होगी तथा किसी नागरिक द्वारा सुझाव या आपत्ति दी जाती है तो उसकी रसीद भी देनी होगी। नये मास्टर प्लान में संस्थागत क्षेत्र, ओपन एरिया तथा जनसुविधओं का विशेष ध्यान रखा गया है। जिला कलक्टर ने कहा कि शहर की शैक्षणिक एवं चिकित्सीय संस्थाएं भी मास्टर प्लान का अवलोकन करें। निर्धारित तीस दिवस के पश्चात सुझाव व आपत्तियों पर विचार नही किया जायेगा। 

जिला कलक्टर ने न्यास अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन निजी काॅलोनियों में ओपन एरिया रिजर्व रखा जाता है, उस पर अतिक्रमण न हो तथा वह गैर कानूनी तरीके से बेचान न हो, इसका ध्यान रखें। उन्होंने शहर की विभिन्न काॅलोनियों में रिजर्व किये गये ओपन एरिया की रिपोर्ट मांगी है। जिला कलक्टर ने कहा कि मास्टर प्लान में नगरपरिषद के मिनी डम्पिंग प्वाईंट के स्थान का भी ध्यान रखा जाये। 

उल्लेखनीय है कि शहर की जनसंख्या वर्ष 1923 में 1700, दसकीय वर्ष 1931 में 9943 एवं वर्ष 1941 में 16136 हो गई। बढ़ती जनसंख्या के कारण बस्तियों के फैलाव, अवैध निर्माण, अव्यवस्थित व अनियोजित विकास की समस्याओं के कारण तथ्यों को ध्यान में रखते हुए श्रीगंगानगर शहर का प्रथम मास्टर प्लान वर्ष 1981-2001 में तैयार किया गया। इसके पश्चात वर्ष 2003-2023 तक के लिये नवीन मास्टर प्लान तैयार किया गया था, जिसमें तीस राजस्व ग्रामों, चकों को सम्मिलित किया गया। शहर के चारों तरफ हो रहे निरंतर विकास के कारण आवासीय शैक्षणिक एवं व्यवसायिक गतिविधियों पर दवाब रहा। वर्तमान में श्रीगंगानगर के आसपास क्षेत्रवासियों के लिये औद्योगिक, व्यवसायिक, शिक्षा, स्वास्थ्य तथा अन्य सेवाओं का प्रमुख केन्द्र बन गया है। 

बढ़ती जनसंख्या के दवाब के कारण मूलभूत सुविधाओं की कमी के साथ ही शहर में अनियोजित रूप से बसावट हो रही है। 

वर्तमान मास्टर प्लान वर्ष 2023 तक बनाये गये मास्टर प्लान में नगरीकरण योग्य क्षेत्र व विकास की दृष्टि को मध्यनजर रखते हुए नया मास्टर प्लान 2035 तैयार किये जाने की आवश्यकता महसूस हुई। वर्ष 2017 के सर्वे के अनुसार श्रीगंगानगर का विकसित क्षेत्र 2741 हैक्टर है। श्रीगंगानगर मास्टर प्लान क्षैतिज वर्ष 2035 के लिये शहरी क्षेत्र के विस्तार एवं भविष्य में होने वाली जनसंख्या वृद्धि शहर के भावी विकास तथा अन्य बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए मास्टर प्लान 2035 का प्रारूप तैयार किया गया है। 


राज्य सरकार द्वारा श्रीगंगानगर के नगरीय क्षेत्र में श्रीगंगानगर सहित 52 राजस्व ग्राम, चक सम्मिलित करते हुए 3 दिसम्बर 2015 को अधिसूचना जारी करते हुए अतिरिक्त मुख्य नगर नियोजक को मास्टर प्लान बनाने के लिये अधिकृत किया गया। इस मास्टर प्लान का आधार वर्ष 2017-2035 रखा गया है। अनुमान है कि वर्ष 2035 तक शहर की अनुमानित जनसंख्या 5 लाख 45 हजार हो जायेगी। इस अनुमानित जनसंख्या के लिये 9133 हैक्टर भूमि नगरीयकरण योग्य भूमि के रूप में प्रस्तावित की गई है, जो अधिसूचित नगरीय क्षेत्र 16540 हैक्टर का 55.21 प्रतिशत है। 

अधिसूचित राजस्व ग्रामों की सूची

मास्टर प्लान 2017-2035 में राजस्व ग्राम, चक 3वाई, 1वाई, 1डीछोटी, 2 डी छोटी, 4 डी छोटी, 2बी छोटी, 1 बी छोटी, 1 जैड,4 जैड, 2 जैड, 3 जैड, 5 जैड, 7 जैड, 9 जैड, 6 जैड, 8 जैड, 10 जैड, 6 जैडए, 1एछोटी, 3एछोटी, 4एछोटी, 5एछोटी, 6एछोटी, 7एछोटी प्रथम, 1ई छोटी, 2ई छोटी, 3 ई छोटी, 6 ईछोटी, 5ई छोटी, 7ई छोटी, 4ई छोटी, 1 एफ छोटी 3एफ छोटी, 2 एफछोटी, 4एफ छोटी, 1 जी छोटी, 2एमएल, 3 एमएल, 4 एमएल, 16एमएल, 15एमएल, 17 एमएल, 5 एमएल, 6 एलएनपी, 11 एलएनपी, 12 एलएनपी, 13 एलएनपी द्वितीय, पतीखियां द्वितीया, पतीखियां प्रथम, चक श्यामसिंहवाला, 1एमएल और 4 एलएनपी को शामिल किया गया है। 

इस अवसर पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी, एडीएम प्रशासन डाॅ. गुंजन सोनी, एसीटीपी जयपुर श्री वी.के.दलेला, एसटीपी श्री राकेश मालक, न्याय सचिव डाॅ. हरितिमा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. गिरधारी लाल, टाउन प्लानर श्री मनीश कुमार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

----------





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें