सोमवार, 7 जनवरी 2019

संजय धुआ आत्महत्या नोट में क्या लिखा है ?सच क्या है?

*  करणी दान सिंह राजपूत *

अरोड़ वंश कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष शराब व्यवसायी संजय धुआ ने 6 जनवरी 2019 की रात्रि को स्वयं के गोली मारकर  आत्महत्या करली थी।

 उसके कपड़ों में पुलिस को सुसाइड नोट मिला है। उस सुसाइड नोट में केवल दो व्यक्तियों जितेश और गोल्डी धींगरा के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया गया है तथा उन पर कानूनी कार्यवाही (मुकदमा) चलाने का भी लिखा गया है।

 पूरे नोट में जो लिखा है वह निम्न प्रकार से है।----

मुझे माफ कर देना परिवार व दोस्तों जिंदगी से तंग आ गया हूं जितेश गोल्डी धींगड़ा के कारण मैं आत्महत्या कर रहा हूं।


 गंगाजल जी आप ध्यान रखना परिवार का 17.50 लाख आपसे जो लेना है वह ओबीसी बैंक में जमा करा देना ताकि बच्चों के पास मकान सुरक्षित रह जाए और मेरे पास तो कुछ बचा नहीं है, इसलिए आप ध्यान रखना। आपका आशीर्वाद रखना परिवार पर। जितेश गोल्डी पर कानूनी कार्यवाही जरूर करना।


 रेखा पवन जी रवि जी मनोज मनीषा विक्की विशाल आंचल मुझे माफ कर देना। मैंने पूरा परिवार खत्म कर दिया आपका पिछले जन्म का कोई कर्जा लेना था मैंने।

विनोद जी शर्मा आप भी मुझे माफ कर देना।


विजेंद्र जी शर्मा, हनुमान जी सुथार, हरपाल जी थोरी एएसआई,विनोद जी आप ध्यान रखना परिवार का।


राकेश धुआ ध्यान रखना परिवार का।

 विकी मिढा तू भी ध्यान रखना परिवार का।

संजय

 ( यह पत्र यहां दिया गया है)

परिवार जनों परिचितों के बयान और पुलिस जांच से क्या निकलेगा? उसकी सभी को प्रतीक्षा रहेगी।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें