बुधवार, 13 दिसंबर 2017

गुजरात में कांग्रेस जीत रही है-भाजपा के विरुद्ध जबरदस्त लहर- राहुल

नोटबंदी और जीएसटी पर गुजरात में नहीं बोले मोदी। कांग्रेस और भाजपा की कड़ी टक्कर वाली स्थिति है।



कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा ने अपने प्रचार की शुरूआत नर्मदा मुद्दे पर की थी. चार-पांच दिन के बाद लोगों ने कहा कि उन्हें नदी का पानी नहीं मिल रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा दाहिनी ओर मुड़ गई. उसने कहा कि चुनाव नर्मदा पर नहीं लड़ा जाएगा, चलिये चुनाव अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के मुद्दे पर लड़ते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यद्यपि तब ओबीसी ने कहा कि भाजपा सरकार ने उनके लिए कुछ भी नहीं किया. पांच-छह दिन बाद भाजपा फिर बाएं ओर मुड़ गई और कहा कि वह विकास यात्रा निकालेगी और 22 वर्ष के विकास की बात करेगी.’’ गांधी ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री का भाषण सुना जिसमें ‘‘मोदीजी ने अपने संबोधन के करीब 90 प्रतिशत समय अपने बारे में बात की. पहले दाहिने मुड़ो, उसके बाद बाएं मुड़ो और उसके बाद ब्रेक लगा दो.’’ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि गुजरात में ‘‘हार को सामने देख बौखलाहट में असत्य एवं अफवाहों का सहारा ले रहे देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आचरण व शब्दों से मुझे अत्यंत पीड़ा एवं क्षोभ है.’’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री हताशा में अपशब्दों का सहारा लेकर और ‘‘हर झूठे तिनके को पकड़कर अपनी चुनावी नैया को पार कराने का विफल प्रयास कर रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह खेदजनक और दुर्भाग्यपूर्ण है कि मोदीजी पूर्व प्रधानमंत्री और सेना अध्यक्ष सहित सभी संस्थागत पदों को बदनाम करने की कोशिश में एक आपत्तिजनक उदाहरण स्थापित कर रहे हैं.’’ प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए सुझाव दिया कि पाकिस्तान राज्य के विधानसभा चुनावों को प्रभावित करने का प्रयास कर रहा है. उन्होंने दावा कि कुछ पाकिस्तानी अधिकारी एवं मनमोहन की कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के घर छह दिसंबर को बैठक हुई. इसके एक दिन बाद ही अय्यर ने मोदी को अपनी एक टिप्पणी में ‘नीच आदमी’ कहा था.लोकसभा सदस्य और पूर्व केंद्रीय मंत्री मोइली ने कहा, ‘‘उन्हें हटाने की कोशिश को सार्वजनिक करने में उन्होंने (मोदी ने) इतना समय क्यों लगाया? क्या वह जिम्मेदारी के साथ बात कर रहे हैं? यह किसी व्यक्ति को नहीं बल्कि देश के प्रधानमंत्री को हटाने की कोशिश की बात है.’’ उन्होंने प्रधानमंत्री से प्रश्न किया कि उनके दावों को साबित करने के लिए क्या जांच किये गए हैं. मोइली ने कहा कि गुजरात के लोगों को भावनात्मक रूप से ब्लैकमेल करने और किसी भी तरह विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज करने के लिए उन्होंने आधारहीन आरोप लगाए. बनासकांठा जिले में राहुल गांधी ने कहा कि अब मोदी जी अफगानिस्तान, चीन, पाकिस्तान और जापान की बात करते हैं. मोदी जी, यह चुनाव गुजरात के भविष्य को लेकर है. कृपया गुजरात के बारे में भी कुछ बोलिए. राहुल का इशारा साफ तौर पर प्रधानमंत्री के कल के बयान की तरफ था जिसमें उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान गुजरात विधानसभा चुनावों को प्रभावित करने का प्रयास कर रहा है और मणिशंकर अय्यर के ‘नीच’ वाले बयान से एक दिन पहले अय्यर के आवास पर उस देश के कुछ वर्तमान और पूर्व अधिकारियों की बैठक हुई थी. कांग्रेस नेता ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में अपने भाषणों में प्रधानमंत्री ने अपना आधा वक्त कांग्रेस की आलोचना में बिताया है.कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि देश के सर्वोच्च पद पर बैठकर मोदी जी बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं. मोदी जी चिंतित, हताश और गुस्से में हैं. ऐसे बयान में कोई सच्चाई या तथ्य नहीं है और यह झूठ पर आधारित है. ऐसा व्यवहार प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता. मोदी ने आरोप लगाया था कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और अय्यर ने भारत में पाकिस्तानी उच्चायुक्त और एक पूर्व पाकिस्तानी विदेश मंत्री से हाल में अय्यर के आवास पर मुलाकात की थी. सुरजेवाला ने आरोप लगाया, ‘‘पूरा देश जानता है कि पाकिस्तान से किसे प्यार है और कौन अलगाववादियों को संरक्षण प्रदान कर रहा है.’’ उन्होंने मोदी से सवाल किया कि क्या उन्होंने पाकिस्तान से जुड़े मुद्दों पर ही चुनाव लड़ने की योजना बनाई है और अगर ऐसा है तो उन्हें गुजरात के लोगों को यह भी बताना चाहिए कि उन्होंने ‘‘पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई पर भरोसा क्यों किया और उसे जांच के लिए पठानकोट एयरफोर्स बेस में दाखिल क्यों होने दिया ?’’ कांग्रेस प्रवक्ता ने ‘‘गुरदासपुर और उधमपुर में पाकिस्तान प्रायोजित हमलों के तुरंत बाद’’ पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पोती की शादी में ‘‘बगैर किसी पूर्व योजना’’ के मोदी के जाने पर सवाल उठाए 

+

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात में पार्टी के जोरदार नतीजों का पूर्वानुमान जाहिर करते हुए कहा है कि, “राज्य में बीजेपी के खिलाफ जबरदस्त लहर है।” 14 दिसंबर को होने जा रहे दूसरे चरण के मतदान के लिए चल रहे प्रचार के आखिरी दिन राहुल ने दावा किया कि लोगों के मूड में बड़ा बदलाव आया है और समाज के सभी तबके बीजेपी से नाराज हैं। राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी के इस आरोप को भी खारिज कर दिया कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस के कुछ अन्य नेताओं ने पाकिस्तान के साथ मिलकर गुजरात विधानसभा चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की। राहुल ने कहा कि यह आरोप स्वीकार नहीं किया जा सकता।


राहुल ने कहा, “किसी चुनाव में ऐसा पहली बार हुआ है कि मोदीजी ने भ्रष्टाचार के बारे में और किसानों के बारे में कुछ नहीं बोला। बीजेपी के खिलाफ जबरदस्त लहर है। चाहे पाटीदार हों, ओबीसी हों, दलित हों या किसान हों, सभी नाराज हैं। लोगों के मूड में भारी बदलाव आया है। कांग्रेस चुनाव जीतेगी, नतीजे जबरदस्त होंगे।” कांग्रेस अध्यक्ष पद पर निर्वाचित होने के बाद पहली बार प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि अपनी नई भूमिका में वह देश में “विकृत” हो चुके राजनीतिक विमर्श की प्रकृति में बदलाव का प्रयास करेंगे।

राहुल ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह के खिलाफ लगे आरोपों पर मोदी की चुप्पी पर भी सवाल उठाए। राहुल ने गुजरात में चुनाव प्रचार के दौरान बार-बार इस मुद्दे को उठाया। राहुल ने आरोप लगाया कि राफेल लड़ाकू विमान करार में भी अनियमितताएं हुईं। गुजरात चुनावों में पाकिस्तान की कथित दखलंदाजी की बाबत मोदी के बयान पर राहुल ने कहा, “मैंने पहले दिन से ही कथनी और करनी में अपना रुख साफ कर दिया है। मोदी जी हमारे देश के प्रधानमंत्री हैं। मणिशंकर अय्यर ने कुछ कहा और मैंने साफ कर दिया कि मैं यह बर्दाश्त नहीं करूंगा। आपने कार्रवाई देखी है।”


उन्होंने कहा, “लेकिन मोदी जी ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बारे में जो कुछ कहा है वह स्वीकार्य नहीं है। मनमोहन सिंह जी भी इस देश के प्रधानमंत्री थे, उन्होंने देश की सेवा की और त्याग किया।” रविवार को गुजरात के पालनपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने यह बताने की कोशिश की थी कि पाकिस्तान राज्य में विधानसभा चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें