Friday, September 29, 2017

700 रेलगाड़ियों की गति बढ़ाई जाएगी:



रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार  28 सितंबर 2017 को कहा कि रेलवे प्रभावी और तेज सेवाएं सुनिश्चित करने पर काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि एक नवंबर 2017 से करीब 700 रेलगाड़ियों की गति तेज करने का प्रस्ताव है। इससे 48 मेल एक्सप्रेस रेलगाड़ियों को सुपरफास्ट श्रेणी में बदलने में मदद मिलेगी। मंत्री ने कहा कि शुक्रवार से 100 नई रेल सेवाएं आरंभ की जाएंगी। इन 100 सेवाओं में से 32 नई सेवाएं पश्चिमी रेलवे में और 68 सेवाएं मध्­य रेलवे में शुरू की जाएंगी। उन्होंने कहा कि नयी सेवाओं के शुरू होने से 77 लाख लोगों को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि रेलवे की फ्लेक्सी किराया योजना में बदलाव किया जा सकता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि यात्रियों पर कर का बोझ लादे बगैर राजस्व कमाया जा सके। फ्लेक्सी योजना से एक वर्ष से भी कम समय में रेलवे को 540 करोड़ रुपए की अतिरिक्त कमाई हुई है।

गोयल ने यहां संवाददाताओं से कहा कि फ्लेक्सी किराया योजना मेरे संज्ञान में लाई गई है। इसे और बेहतर किया जा सकता है कि ताकि लोगों की जेब पर बोझ नहीं पड़े और राजस्व के लक्ष्य को भी हासिल किया जा सके। वे इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि इस महीने की शुरुआत में मंत्रालय का पदभार संभालने के बाद क्या उन्होंने फ्लेक्सी किराया योजना की समीक्षा की है। यह पूछने पर कि क्या योजना में कोई बदलाव होगा तो गोयल ने कहा कि कुछ बदलाव करने की संभावना है। पिछले वर्ष सितंबर में शुरू की गई योजना राजधानी, शताब्दी और दुरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनों के लिए लागू की गई थी। इसमें दस फीसद सीट सामान्य किराए पर बुक की जाती थी और इसके बाद हर दस फीसद सीट को दस फीसद बढ़ोतरी के साथ बुक किया जाता था। इसमें अधिकतम 50 फीसद की वृद्धि की जा सकती थी। आंकड़ों के मुताबिक फ्लेक्सी किराया योजना से रेलवे को सितंबर 2016 से जून 2017 के बीच 540 करोड़ रुपए की अतिरिक्त आमदनी हुई।

मंत्री ने कहा कि सभी स्टेशनों और रेलगाड़ियों में तेज वाई-फाई कनेक्टिविटी होगी लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि इसे कब लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए रेलवे सुरक्षा बल और टीटीई को ड्यूटी पर यूनिफॉर्म में रहना सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आरपीएफ कर्मी टिकट की जांच नहीं करेंगे, जो टीटीई का काम है लेकिन वे टिकट जांच दस्ते का सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि भारत के अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने रेलवे की सभी संपत्तियों का खाका खींचने की पेशकश की

No comments:

Post a Comment

Search This Blog