गुरुवार, 9 जून 2016

गुरूशरण छाबड़ा जयंती पर पूजा छाबड़ा ने शराबबंदी का संकल्प कराया:


शराब बंदी आंदोलन के अग्रदूत स्व. गुरशरण छाबड़ा जी की जयंती 9 जून 2016 पर नशा मुक्ति का संकल्प
सूरतगढ़, 9 जून।   
 राजस्थान में संपूर्ण शराबबंदी के अनशन में शहीद हुए पूर्व विधायक  गुरूशरण छाबड़ा जी कि 70 वीं जयंती  सूरतगढ मे  छाबड़ा चौक पर मनाई गइ जिसमें वक्ताओं ने शराबबंदी आंदोलन को सक्ति से चलाने का संकल्प लिया और स्वर्गीय छाबड़ा को श्रद्धांजलि अर्पित की। छाबड़ा के प्राणत्याग के बाद में आमरणअनशन पर बैठ आंदोलन को गति देने वाली छाबड़ा की पुत्रवधु पूजा छाबड़ा इस अवसर पर मौजूद थी। पूजा छाबड़ा ने शराबबंदी का आह्वान करते हुए बताया कि राजस्थान में यह आंदोलन लगातार चल रहा है तथा लोगों का व्यापक समर्थन ीाी मिल रहा है। नाारी उतथान केन्द्र की अध्यक्ष एवं पार्षद श्रीमती राजेश सिडाना,श्याम मोदी सहित अनेक लोगों ने छाबड़ा के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किए।
इस कार्यक्रम में बसपा नेता डूंगरराम गेदर ने कहा कि शराब बंदी आन्दोलन के लिऐ शहिद हुए छाबड़ा जी के सपने को पूरा करना सूरतगढ के लोगों की जिम्मेदारी बनती है। श्रवण सिंगाठिया ने कहा नशे से दूर रहकर युवा  इस आन्दोलन को गति देने का काम करे। इस अवसर पर  श्रवण सिंगाठिया ने पूरे प्रदेश में चल रहे आन्दोलन की जानकारी दी। पवन सोनी ने कहा कि शराब बंदी से समाज मे नैतिक पतन रूकेगा । महिला नेता हरबक्सकौर ने कहा शराब बंदी से घरेलू हिंसा रूकेगी। राजेन्द्र मुदग्गल,पूर्व डायेरेक्टर हंसराज भाट, बसपा कार्यकर्ता लेखराम नायक, ईमीचन्द मेघवाल,वेदप्रकास,रामेश्वर भोभरिया,पृथ्वी मेघवाल,किसन पारीक,वकील दीपक शर्मा,वकील विष्णु शर्मा,राजपाल वर्मा,दीपक टाक,बलराज मेघवाल,पूनम सोनी,कृष्णा भाटिया आदि ने आन्दोलन तेज करने,शराब मुक्ति और प्रदेश से शराब का नामो निशान मिटाने का संकल्प लिया। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें