Monday, June 13, 2016

पालिकाध्यक्ष जेठ पालिका में बाबू राजकुमार छाबड़ा रिश्वत में गिरफ्तार:


80 हजार रूपए रिश्वत मनोज कुमार से ली गई:
ठेकेदार राकेश उपनेजा भी गिरफ्तार:बीकानेर एसीबी एडीशनल एसपी पर्वतसिंह ने छापा मारा:
- स्पेशल न्यूज -
सूरतगढ़। नगरपालिका कार्यालय में लिपिक राजकुमार छाबड़ा और एक ठेकेदार राकेश उपनेजा को 80 हजार रूपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की बीकानेर टीम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पर्वतसिंह ने यह गिरफ्तारियां की। 


लिपिक राजकुमार छाबड़ा पालिकाध्यक्ष काजल छाबड़ा का जेठ लगता है।
पुराने मोटर मार्केट में एक दुकानदार मनोज है जिसकी दुकान के मामले में राजकुमार ने 1 लाख रूपए रिश्वत मांगी थी। इसकी शिकायत भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को की गई। बातचीत में 20 हजार रूपए कम करके 80 हजार रूपए देने का कहा गया। एसीबी ने इसकी पुष्टि की। तेरह जून को मनोजकुमार ने रूपए देने चाहे तब राजकुमार ने पार्क में उपस्थित एक ठेकेदार राकेश उपनेजा को रकम देने के लिए कहा।  मनोज ने 80 हजार रूपए ठेकेदार राकेश उपनेजा को दे दिए। इसके बाद इशारा होते ही एसीबी टीम ने छापा मारा। राजकुमार छाबड़ा और ठेकेदार दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। सूरतगढ़ में यह खबर बिजली के करंट की तरह फैली।
नगरपालिका में खुली रिश्वत चलने का आरोप एक पालिका बैठक में लगाया गया था लेकिन भाजपा ने कोई कदम नहीं उठाया। पालिकाध्यक्ष काजल छाबड़ा भाजपा की है और भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरी हुई है।
कुछ दिन पहले श्रीगंगानगर में भाजपा की जिला उपाध्यक्ष पार्षद रिश्वत में पकड़ी गई थी।
समाचार दिए जाते हुए कार्यवाही चल रही थी।

सूरतगढ़ का शर्मनाक खुलासा:विधायकजी कहां हो?

 

-------------------------------------------------------------- 

 




 

No comments:

Post a Comment

Search This Blog