गुरुवार, 7 अप्रैल 2016

इन्दिरा गांधी नहर क्षेत्र के किसानों द्वारा मुख्यमंत्री वसुंधरा का आभारः


हनुमानगढ़, गंगानगर तथा बीकानेर जिले के सैकड़ों किसान व विधायक जयपुर में मिले
सूरतगढ, 7 अप्रेल। हनुमानगढ़, गंगानगर तथा बीकानेर जिले के सैकड़ों किसानों ने गुरूवार को मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे से मिलकर इन्दिरा गांधी नहर क्षेत्रा में सिंचाई सुविधाओं के विस्तार के लिए बजट एवं अन्य अवसरों पर की गई घोषणाओं के लिए उनका आभार व्यक्त किया।
पीलीबंगा, अनूपगढ़, हनुमानगढ़, करणपुर, सूरतगढ़, खाजूवाला आदि क्षेत्रों के जनप्रतिनिधियों के नेतृत्व में मुख्यमंत्री निवास पहुुंचे इन किसानों ने कहा कि श्रीमती राजे की ऐतिहासिक घोषणाओं से नहरी क्षेत्र की सालों पुरानी समस्याओं के दूर होने की उम्मीद जागी है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि राज्य सरकार नहरी क्षेत्र के किसानों की समस्याओं को दूर करने के लिए प्रतिबद्ध है। बरसों से जो समस्याएं दूर नहीं हुई वे अब प्राथमिकता के आधार पर शीघ्र दूर की जा रही है।
जल संसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप, श्रम एवं नियोजन राज्य मंत्री श्री सुरेन्द्रपाल सिंह टीटी, संसदीय सचिव डॉ. विश्वनाथ मेघवाल, विधायक श्री राजेन्द्र भादू, श्रीमती द्रोपती मेघवाल, शिमला बावरी आदि विधायकों एवं अन्य जनप्रतिनिधियों के नेतृत्व में किसानों ने कहा कि नहरी क्षेत्र की समस्याओं को दूर करने के लिए संकल्पित श्रीमती राजे ने बजट में इन्दिरा गांधी नहर प्रणाली के सुदृढ़ीकरण के लिए राजस्थान वाटर सेक्टर रि-स्ट्रक्चरिंग प्रोजेक्ट फॉर डेजर्ट एरिया की घोषणा की थी। इस प्रोजेक्ट से बाढ़़ के रूप में व्यर्थ बहने वाले रावी, ब्यास, सतलज एवं घग्घर नदियों के अतिरिक्त पानी को पाकिस्तान जाने से रोका जा सकेगा, जिसका लाभ इलाके के लाखों किसानों को होगा।
उन्होंने कहा कि सूरतगढ़ स्थित डिप्रेशन संख्या 6 पर पानी के रिसाव की समस्या के निराकरण के लिए इसके एक भाग में 40 करोड़ रुपये के लेमिनेशन कार्य, एटा-सिंगरासर माइनर के परीक्षण के लिए समिति के गठन, इन्दिरा गांधी मुख्य नहर एवं शाखाओं की रि-लाइनिंग तथा सूरतगढ़-अनूपगढ़ सीसी रोड को मंजूरी देने से इस क्षेत्र की बरसों पुरानी समस्या दूर होगी। 




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें