Wednesday, January 6, 2016

पुस्तक मनुष्य का निर्माण करती है-साहित्यकार डा.कृष्ण आशू- पुस्तक प्रदर्शनी

 


सूरतगढ़ 6 जनवरी 2015- पुस्तक प्रदर्शनी एवं साहित्य समारोह के पांचवें समापन दिवस पर मुख्य अतिथि डा. कृष्ण कुमार आशू ने कहा कि पुस्तकें मनुष्य का निर्माण करती हैं संस्कार देती हंै। आप भले ही ही मंदिर या किसी भी धार्मिक स्थान पर नहीं गए हों लेकिन पुस्तकालय गए हों तो आपका जीवन सार्थक है।
डाक्टर मंगत बादल ने कहा कि लिखे हुए अक्षरों की कीमत सदैव रहती है। इसकी बराबरी व्हाटसअप या फैसबुक नहीं कर सकते।
वरिष्ठ कवि जनक राज पारीक ने गीत प्रस्तुत कर समाबांधा।
इस समारोह में मुख्य अतिथि भारत विकास परिषद के डा.के.एल बंसल थे। समारोह की अध्यक्षता व्यापार मण्डल सचिव दर्शन भगत परनामी ने की। संयोजन राजेश चड्ढा का था।


समापन समारोह से पहले टैगोर महिला बीएड कॉलेज की छात्राअध्यापिकाओं ने कार्यक्रम में भाग लिया।
इस मौके पर व्याख्याता महेन्द्र सिंह शेखावत, मनोजकुमार स्वामी ने अपने विचार रखे।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog