बुधवार, 23 दिसंबर 2020

👍 वसुंधरा राजे के मुख्यमंत्री काल मेें बारानी ( असिंचित)भूमि दो मुरब्बा तक किसानों को निशुल्क आवंटित की गई थी.




* करणीदानसिंह राजपूत *

लाखों किसानों ने राजस्थान में यह लाभ उठाया  जो 40 -50 सालों से अस्थाई रूप * (TC)से खेती कर रहे थे।
वसुंधरा राजे सरकार ने उन्हें निशुल्क मालिकाना अधिकार देखकर बहुत बड़ा कार्य किया जो पहले किसी भी मुख्यमंत्री के काल में नहीं हो पाया था।
यह फैसला ऐतिहासिक है और हमेशा याद किया जाता रहेगा कि बारानी खेती करने वालों को पुख्ता आवंटन करके हमेशा के लिए उनकी समस्या का हल किया गया।
*वसुंधरा राजे ने महिला होते हुए भी इंदिरा गांधी नहर शुरू से लेकर अंतिम सिरे तक भयानक गर्मी में यात्रा की ताकि नहर के जो समस्या और परेशानियां हो उन्हें दूर किया जा सके।
वसुंधरा राजे सरकार के कार्यकाल में ही इंदिरा गांधी नहर की सफाई का कार्य भी करवाया गया था।
* उस समय सूरतगढ़ तहसील का बड़ा क्षेत्र पीलीबंगा विधानसभा क्षेत्र में था। उस समय रामप्रताप कासनिया पीलीबंगा के विधायक थे जिन्होंने टिब्बा क्षेत्र में करीब 7 हजार किसानों को निशुल्क पुख्ता आवंटन करवाया था। आज यह क्षेत्र सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में है।
* उस समय सूरतगढ़ विधायक अशोक नागपाल ने भी अपने इलाके में सूरतगढ़ तहसील में करीब 1 हजार किसानों को निशुल्क पुख्ता आवंटन करवाया था।

** बालिग पुत्र और अन्य आवंटन भी बहुत हुए थे*
** एक पत्रकार की नजर और ये सभी समाचार उस समय  राजस्थान पत्रिका में मेरे द्वारा प्रकाशित किए गए थे।

💐 आज 23 दिसम्बर किसान दिवस*

करणीदानसिंह राजपूत,
स्वतंत्र पत्रकार( राजस्थान सरकार से अधिस्वीकृत)
सूरतगढ़ जिला श्री गंगा नगर.
94143 81356.
*****







कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें