शुक्रवार, 8 फ़रवरी 2019

निहालचंद ने लोकसभा मेंं उठाया ओलावष्टी का मुद्दा

*लोक सभा शून्य काल*

श्रीगंगानगर, 8 फरवरी2019.

 आज लोकसभा सांसद व पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्रा, भारत सरकार श्री निहाल चन्द के द्वारा श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले में कल हुई भारी वर्षा व ओलावृष्टि पर संसद का ध्यान आकर्षित किया और शून्य काल के दौरान अपनी बात रखी। 

    सांसद ने कहा कि जिला श्रीगंगानगर, राजस्थान का एक कृषि सम्पन्न और अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लगा हुआ जिला है और यहाँ बड़े पैमाने पर गेहूँ, सरसों चना, कपास, गन्ना, जौ आदि की पैदावार होती है। देश को खाद्यान्न संपन्न करने के उद्देश्य से किसान अपनी पूरी मेहनत व लगन से खेती करता है, और अपनी मेहनत का फल मिलने का इंतजार करता है, परन्तु अचानक आई प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसान को पुरे वर्ष परेशानियों का सामना करना पड़ता है । 

    कल मेरे संसदीय क्षेत्रा श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ में बहुत भयंकर वर्षा और भारी ओलावृष्टि हुई जिसके कारण किसान की पूरी सरसों, चना, जों व गेहूँ की लगभग तैयार फसलों को बहुत ही नुकसान हुआ है। बहुत से किसानों की लगभग शत-प्रतिशत फसल ख़राब हो गई है । क्षेत्रा के किसान ने अपनी पूरी मेहनत व लगन से खून-पसीना एक कर इन फसलों को सींचा है और अब जब फसल पूरी तरह से तैयार हुई तो अचानक हुई इस वर्षा व ओलावृष्टि ने किसानों की पूरी मेहनत को बर्बाद कर दिया है ।

    उन्होंने केंद्र सरकार से अनुरोध किया गया कि संसदीय क्षेत्रा के किसानों को अचानक हुई इस वर्षा व ओलावृष्टि से होने वाले नुकसान की भरपाई हेतु जल्द से जल्द राज्य सरकार से आंकड़े मंगवाकर उचित मुआवजे की व्यवस्था की जाए। इस संबंध में उन्होंने केन्द्रीय कृषि मंत्रा श्री राधामोहन सिंह जी से भी किसानों को उचित मुआवजा देने के संबंध में बात की। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें