शुक्रवार, 21 दिसंबर 2018

ढाबांझलार में नशामुक्ति जनजागृति कार्यशाला का आयोजन



श्रीगंगानगर, 21 दिसम्बर। जिला पुलिस अधीक्षक श्री योगेश यादव के निर्देशानुसार पुलिस प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग के सहयोग से जिला स्तर पर चलाये जा रहे नशामुक्ति अभियान के अंतर्गत शुक्रवार को राजकीय उच्च माध्यमिक विधालय ढाबांझलार में नशामुक्ति जनजागृति कार्यशाला का आयोजन पुलिस थाना सूरतगढ सदर के सहयोग से किया गया।
कार्यक्रम में नशामुक्ति विशेषज्ञ डा0 रविकांत गोयल ने मुख्य वक्ता के रूप में अपने संबोधन में कहा कि नशा किसी भी पदार्थ का हो, नशे की लत कितनी भी पुरानी क्यों न हो, बिना किसी तकलीफ के नशा छोडा जा सकता है। डा0 गोयल ने नशीले पदार्थों के दुष्प्रभावों की जानकारी देते हुये नशे से स्वयं बचने, नशा छोडने व नशा छुडवाने के सरल उपायों की जानकारी देते हुये उपस्थित जनसभा से समाज को नशामुक्त करने का आह्वान किया।
 पीएलवी इन्द्रमोहन सिंह जुनेजा ने अपने संबोधन में विद्यार्थियों को नशीले का कंटीला मार्ग त्याग कर विद्यार्जन के साथ साथ प्रतिदिन व्यायाम करने तथा समाज को नशे से बचाने हेतु अपना योगदान देने की प्रेरणा प्रदान की। ग्राम सरपंच सतपाल नायक ने प्रत्येक ग्रामवासी नशामुक्ति की शुरूआत अपने घर से ही करने की प्रेरणा देते हुये सम्पूर्ण ग्राम को नशामुक्त ग्राम बनाने का आह्वान किया।
 पुलिस थाना सूरतगढ सदर के एच0 एम0 छोटुराम ने विद्यार्थियों को अपने जीवन में अनुशासन का कडाई से पालन करने, नशे से दूर रहने तथा समाज में व्याप्त बुराइयों को समाप्त करने हेतु प्रेरित किया।

 प्रधानाचार्य मुकेश वर्मा ने विद्यार्थियों एवं ग्रामवासियों को नशे की बुराइयों से अवगत कराते हुये नशे से दूर रहने तथा अपने आसपास को नशामुक्त बनाने की प्रेरणा प्रदान की, जिससे आने वाली पीढी नशामुक्त वातावरण में सांस ले सकें। कार्यक्रम में राबामावि ढाबांझल्लार व रा उमावि ढाबांझल्लार के विद्यार्थियों ने, अभिभावकों व ग्रामवासियों को डा0 गोयल ने जीवन भर नशा न करने की शपथ दिलवायी। 
 -----------




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें