सोमवार, 26 मार्च 2018

सूरतगढ में बिश्नोई समाज को 20 बीघा भूमि का आवंटन

- करणीदानसिंह राजपूत -

सूरतगढ़ 26 मार्च 2018.

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के सूरतगढ़ सहित श्रीगंगानगर जिले के जिले के जिले के दौरे से पूर्व 25 मार्च को श्री गंगानगर जिले में जिले में श्री गंगानगर हनुमानगढ़ हनुमानगढ़ जिलों के बारे में स्वायत्तशासन मंत्री श्री चंद कृपलानी कृपलानी की अध्यक्षता में हुई। बैठक में विधायक राजेंद्र सिंह भादू के मुंहसे यह वक्तव्य आया। 

 श्री गंगानगर के जनसंपर्क अधिकारी द्वारा जारी समाचार सूचना में यह समाचार भी है जो हम पूरा यहां लगा रहे हैं।


((राजस्थान सरकार

सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय

आगामी तीन माह में सफाई कर्मियों की होगी भर्ती 

शहरी क्षेत्र में निवास करने वाले अधिकतम परिवारों के पट्टे दिये जाये

कही नियमों में बदलाव की आवश्यकता है तो किया जायेगाः- श्रीचंद कृपलानी

पुरानी एलएनपी नहर की जगह गाजर मंडी व सोलिड वेस्ट प्लांट लगेगाः- डॉ. रामप्रताप

श्रीगंगानगर, 25 मार्च। स्वायत शासन एवं नगरीय विकास मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा शहरी क्षेत्र में निवास करने वाले नागरिकों, कच्ची बस्तियों में रहने वाले परिवारों को पट्टे देने की है। इसी के अनुरूप सभी स्थानीय निकाय पट्टे जारी करने की प्रक्रिया में तेजी लाये। इसके लिये पूर्व में आदेश दिये गये है फिर भी कही नियमों में बदलाव की आवश्यकता है, तो जरूरत के अनुसार किये जायेगें। उन्होंने कहा कि स्टेट ग्रांट के तहत पट्टे देने की अवधि 30 जून 2018 तक बढ़ा दी गई है। 

श्रीचंद कृपलानी एवं जल संसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप रविवार को कलेक्ट्रेट सभाहॉल में हनुमानगढ़ व गंगानगर जिले के अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। स्वायत शासन मंत्री ने कहा कि सभी नगरपरिषदों व नगरपालिकाओं में सफाई कर्मचारियों की भर्ती की जायेगी। इसके लिये आगामी तीन माह में भर्ती की कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। उन्होंने कहा कि जिन नागरिकों ने पट्टों के लिये आवेदन किया है, उनके आवेदन निरस्त नही करें तथा ईम्पॉवर कमेटी में ऐसे प्रकरणों को रखकर पट्टे जारी किये जाये। उन्होंने कहा कि स्थानीय निकायों को पट्टे जारी करने में कही परेशानी हो, तो इसके लिये ले आउट प्लान के निर्देश जयपुर स्तर से जारी करवा दिये जायेगें। 

श्रीचंद कृपलानी ने कहा कि जो गरीब परिवार कई वर्षों से अपना कच्चा-पक्का मकान बनाकर निवास कर रहे है, ऐसे परिवारों को  पट्टा मिलने से उनके घर में खुशी का माहौल बनेगा तथा वे मन से दुआएं देगें। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 62 शहरों में जहां वर्षा के समय जल भराव होता है कि निकासी की कार्य योजना बनाई गई है, जिसमें गंगानगर जिले की नगरपालिकाओं व नगरपरिषद के लिये 110 करोड़ रूपये दिये जायेगें, जिसकी डीपीआर तैयार की जा रही है। श्रीगंगानगर में सड़कों के लिये 10 करोड़ तथा हनुमानगढ़ में सड़कों के लिये 15 करोड़ रूपये की राशि जारी की गई है। वॉटर लॉकिंग के लिये श्रीगंगानगर को 10 करोड़ रूपये की राशि दी गई है। उन्होंने कहा कि जिन शहरों में बिजली सेज वसूल किया जाता है, वहां पर सरकार द्वारा एलईडी की व्यवस्थाएं की जायेगी। उन्होंने कहा कि श्रीगंगानगर शहर के लिये नगरपरिषद व नगरविकास न्यास एक प्लान बनाकर स्थानीय निकाय को सौंपे। 


जल संसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप ने कहा कि पुरानी एलएनपी नहर की लगभग 28 बीघा भूमि बनती है, जिसमें से 4 बीघा भूमि को गाजर मंडी के लिये आवंटित की जायेगी तथा 20 बीघा भूमि का उपयोग सोलिड वेस्ट के लिये किया जायेगा तथा 4 बीघा भूमि अन्य उपयोग के लिये रखी गई है। उन्होंने कहा कि इसका पूरा प्रस्ताव तैयार कर राज्य सरकार को भिजवाये।  


डॉ. रामप्रताप ने कहा कि पेयजल विभाग की पहली प्राथमिकता आमजन को पेयजल मुहैया करवाना है, जहां कही कॉलोनियों में बस्तियों में पाईप लाईन नही है, वहां पाईपलाईन डाली जाये। इस कार्य में किसी तरह की लापरवाही असहनीय होगी। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण जहां हटाये जाते है, वहां साथ के साथ सड़क व नाली का निर्माण होना चाहिए। हनुमानगढ़ जंक्शन व टाउन में एसटीपी लगभग तैयार है, 1200 फीट लम्बाई के पाईपलाईन डालकर जिसे शीघ्र प्रारम्भ करने के निर्देश दिये गये। श्रीगंगानगर में जिस क्षेत्र में सीवरेज लाईन डाल दी गई है। उस क्षेत्र में 7 हजार परिवारों को पेयजल कनेक्शन दिये जाने है, इसके लिये अतिरिक्त 4 करोड़ रूपये की राशि सरकार द्वारा जारी की जायेगी। 


पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री एवं सांसद श्री निहालचंद ने कहा कि रायसिंहनगर में वृक्षकुंज स्थापित करने के लिये 12 बीघा भूमि दी गई है, जिस पर तत्काल वृक्षारोपण किया जाये। साथ ही अनूपगढ़-सूरतगढ़ सड़क मार्ग तथा रायसिंहनगर-विजयनगर सड़क व गौरव पथ के मध्य खड़े खम्बों को हटाने के निर्देश दिये गये। उन्होंने बताया कि रायसिंहनगर में इसी सड़क पर तीन-तीन खम्बों की लाईनें है, जिनमें 2 लाईनें बिना उपयोग वाली है, जिन्हें हटाया जाये। 

**************

सूरतगढ़ विधायक श्री राजेन्द्र सिंह भादू ने कहा कि सूरतगढ़ में बिश्नोई समाज के लिये 20 बीघा भूमि का आवंटन सराहनीय है। उन्होंने सूरतगढ़ क्षेत्र में पट्टे जारी करने की बात रखी। उन्होंने कहा कि पट्टे जारी करने के नियमों में थोडा संशोधन करने से बहुत सारे परिवारों को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि कच्ची बस्तियों को राज्य स्तर से डी-नोटिफिकेशन करवाया जाये, जिससे पट्टे देने में आसानी होगी।

***********

 पीलीबंगा विधायक श्रीमती द्रोपती ने भी एक बस्ती में पानी नही पहुंचने की समस्या रखी तथा आमजन के पट्टे जारी करने पर जोर दिया। 


स्वायत शासन विभाग के शासन सचिव श्री मनजीत सिंह ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत जो गांव व शहर ओडीएफ घोषित हो गये है, उनका दुबारा भी सर्वें होगा। सार्वजनिक शौचालयों के निर्माण, घर-घर कचरा संग्रहण पर अधिक जोर दिया जाये। सभी स्थानीय निकाय ठोस कचरा के लिये जगह चिन्हित करें तथा गरीब परिवारों को संबल प्रदान करने के लिये उन्हें मकान, रोजगार तथा स्वयं सहायता समूह बनाकर लाभान्वित किया जाये। उन्होंने कहा कि सभी तरह के भुगतान ऑनलाईन किये जाये। नक्शे, म्यूटेशन, विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्रों को भी ऑनलाईन जारी करने की प्रक्रिया अपनाई जाये।


बैठक में पूर्व राज्यमंत्री एवं सादुलशहर विधायक श्री गुरजंट सिंह बराड़, गंगानगर विधायक श्रीमती कामिनी जिंदल, अतिरिक्त मुख्य सचिव नगरीय विकास श्री मुकेश कुमार शर्मा, अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन श्री नख्तदान बारहठ, न्यास अध्यक्ष श्री संजय महिपाल सहित गंगानगर व हनुमानगढ़ जिले के वरिष्ठ अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने भाग लिया।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें