Saturday, September 30, 2017

पंजाब के पूर्व मंत्री सुच्चा सिंह लंगाह पर बलात्कार का केस दर्ज

 पुलिस के अनुसार सतर्कता विभाग में कार्यरत महिला कर्मचारी ने शिकायत दी थी कि लंगाह  उसके साथ 2009 से दुष्कर्म कर रहे हैं। पीड़िता न पुलिस को पेनड्राइव में एक वीडियो भी सौंपा है। ध्यान रहे कि गुरदासपुर लोकसभा सीट पर 11 अक्तूबर को उपचुनाव भी है।  लंगाह 32 सालों से एसजीपीसी के भी सदस्य हैं। गुरदासपुर के पुलिस अधीक्षक हरचरन सिंह भुल्लर ने बताया कि महिला की लिखित शिकायत के बाद प्राथमिकी दर्ज की गयी है।

पीड़िता ने कहा कि पति की मौत के बाद वर्ष 2009 में नौकरी के लिए सुच्चा सिंह लंगाह से किसान भवन में मिली। लंगाह ने 2-3 दिन बाद वहीं बुलाया और गलत हरकतें  कीं। पीड़िता ने लंगाह से कहा कि वह उनकी बेटी जैसी ही है, लेकिन उन्होंने एक न सुनी। यही नहीं लंगाह ने उनके गांव की जमीन 30 लाख में बिकवा दी और उसे सिर्फ 4.50 लाख ही दिये।

शिकायत में यह भी कहा गया कि लंगाह उन्हें धमकाकर कभी चंडीगढ़, कभी अन्य स्थानों पर बुलाकर दुष्कर्म करते रहे। पुलिस अधीक्षक भुल्लर ने बताया कि मामले की प्रारंभिक जांच डीएसपी आजाद दविन्द्र सिंह तथा निरीक्षक सीमा देवी को सौंपी गई थी। उनकी जांच रिपोर्ट देखने और कानूनी राय लेने के बाद लंगाह पर आईपीसी की धारा 376 (बलात्कार, दोष सिद्ध होने पर अधिकतम सजा उम्रकैद), 384 (जबरन वसूली, अधिकतम सजा 3 साल), 420 (धोखाधड़ी, अधिकतम सजा 7 साल) तथा धारा 506 (आपराधिक धमकी, अधिकतम सजा 7 साल) के तहत मामला दर्ज किया गया।

राजनीतिक प्रतिशोध

पूर्व मंत्री सुच्चा सिंह ने इस्तीफा दे दिया है जिसे शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने स्वीकार कर लिया है। एक बयान में लंगाह ने आरोप लगाया कि यह ‘राजनीतिक प्रतिशोध’ है। उन्होंने कहा, ‘मैं एक जिम्मेदार नागरिक हूं। मुझे न्यायपालिका में पूरा विश्वास है। शनिवार को समर्पण करूंगा। पूरा विश्वास है कि सच सामने आयेगा और न्याय होगा।’

No comments:

Post a Comment

Search This Blog