Friday, June 2, 2017

वर्षा जल का संग्रहण






श्रीगंगानगर, 2 जून। मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान राजस्थान जैसे मरूस्थलीय क्षेत्र के लिये एक वरदान के रूप में साबित होगा। राजस्थान जैसे प्रदेश में बूंद-बूंद पानी को तरसने वाले लोगों के जीवन में एक नई बहार लेकर आयेगा। प्रदेश में कई बार सामान्य से भी कम वर्षा होने से या वर्षा जल को संग्रहित नही करपाने के कारण पानी का संकट अकसर बना रहता है।

मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान से जोहड़ों डिग्गियों, वर्षा जल को भूमि में­ डालने जैसे कार्यों से जल प्रबंधन के क्षेत्र में उल्लेखनीय कहा जायेगा। वर्षा की एक बूंद व्यर्थ न जाये, इसके लिये गंगानगर जिले की घड़साना पंचायत समिति की ग्राम पंचायत 24 एएससी में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के तहत 51 कार्य स्वीकृत कर गलियों में सोखता गडढ़ों का निर्माण किया गया। वर्षा के दौरान घरों व गलियों का पानी इन सोखता गड्ढ़ों के माध्यम से भूमि में समाहित किया जाता है, जिससे भूमि का जल स्तर बढ़ेगा तथा जरूरत के अनुसार नागरिक भू-जल का उपयोग कर सकेंगे। सार्वजनिक क्षेत्र में­ पेयजल डिग्गियों का भी निर्माण किया गया। ये डिग्गियां भी जल प्रबंधन में मद्दगार बनेगी तथा वर्षा की एक-एक बूंद संग्रहित की जा सकेगा।


No comments:

Post a Comment

Search This Blog