Thursday, April 6, 2017

रामनवमी पर सूरतगढ़ में अभूतपूर्व शोभायात्रा खंड-1


- करणीदानसिंह राजपूत-





 सूरतगढ़ 5 अप्रैल 2017. राम नवमी पर इस बार शोभायात्रा सैंकड़ों गुना जोश और उत्साह में निकली। हजारों राम भक्त नर, नारीयों व युवाओं ने अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया। राम के जयकारों के साथ एक ललकार भी दी जा रही थी मंदिर वहीं बनाएंगे।इस ऐतिहासिक अभूतपूर्व शोभायात्रा में रामदरबार सजीव झांकी, श्री राम लला के मंदिर के स्तंभ चित्र, वाल्मीकि का चित्र भी शोभायात्रा में प्रदर्शित था। आश्चर्यजनक और बहुत जोश में राम के नारे लगाते हुए तलवारें हाथों में लिए हुए लड़कियां भी शोभायात्रा में शामिल थी। शोभायात्रा में घुड़सवार लड़कियां लड़के युवा लोग किसी के हाथ में नंगी तलवार, किसी के हाथ में भगवा ध्वज तो किसी के हाथ में तिरंगा ध्वज। जोशीले नारे देखने सुनने के लिए सड़कों के किनारे और घरों की छतों पर लोग खड़े थे। जिन मार्गों से गुजरी वहां अनेक स्थानों पर जोरदार स्वागत हुआ। मिष्ठान्न खिलाए गए और जल व छाछ  पिलाई गई।


रेगिस्तानी जहाज ऊंटों का काफिला भी सजा-धजा यात्रा में शामिल था। इस यात्रा में विभिन्न समुदाय के लोग विभिन्न राजनीतिक दलों के लोग विभिन्न सामाजिक संगठनों के लोग शामिल थे। यह शोभा यात्रा बिश्नोई मंदिर जंभो जी के मंदिर से प्रारंभ हुई।जांभोजी को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है।उनके मंदिर से शुरू हुई यह शोभा यात्रा नगर के विभिन्न मार्गों से होती हुई भारत माता चौक पर पहुंचकर संपन्न हुई। इस यात्रा में जितने भी लोग शामिल हुए उनका एक अभियान तो स्पष्ट दृष्टिगोचर हो रहा था।वह था हिंदू एकता का।शोभायात्रा में गौ माता की रक्षा के नारे लग रहे थे और एक रथ जिसमें गौ माता भी मौजूद थी साथ में चल रहा था। केसरिया साफों का यह ऐतिहासिक मार्च था। भगवा ध्वज हाथों में लिए युवा लोगों का उत्साह अभूतपूर्व था। श्रीराम के जयकारे लगाते हुए युवाओं की ललकार थी। मंदिर वहीं बनाएंगे।इस शोभायात्रा में महिलाओं का अभूतपूर्व जोश दिखाई दे रहा था।इससे पहले कभी इतनी भारी संख्या में महिलाएं और लड़कियां किसी जुलूस में शोभायात्रा में नहीं देखी गई थी।महिलाएं भी जोर शोर से नारे लगाते हुए चल रही थी। शोभा यात्रा के स्वागत के लिए अनेक स्थानों पर बड़े-बड़े होर्डिंग लगे हुए थे। इस शोभायात्रा को करणी प्रेस इंडिया में कई खंडों में पाठकों के सामने रख रहे हैं।प्रत्येक खंड में अनेक चित्र हैं।ये चित्र इस शोभायात्रा की जान हैं। आपसे अपेक्षा की जाती है, अनुरोध किया जाता है कि आप इस ऐतिहासिक शोभा यात्रा के प्रत्येक खंड के चित्र देखेंगे। हमें विश्वास है कि आपको हर खंड के चित्र अच्छे लगेंगे।आप अन्य लोगों अपने निकटतम लोगों अपने परिचितों को शेयर/ सांझा भी करेंगे ताकि वे  लोग भी इस शोभा यात्रा को देखकर आनंद महसूस कर सकें।








































No comments:

Post a Comment

Search This Blog