Sunday, February 12, 2017

सूरतगढ़ को जिला बनाओ मांग 41 साल पुरानी- करणीदान सिंह राजपूत

गुरूशरण छाबड़ा विधायक थे और उनके निवास पर  मुख्यमंत्री भैरोंसिंह शेखावत का भोजन था तब सूरतगढ़ को जिला बनाने का ज्ञापन दिया गया था। मैं उस समय मौजूद था।



सूरतगढ़ 12 फरवरी 2017.

 राजस्थान में नए जिले की मांग में सूरतगढ़ को जिला बनाने की मांग 41 वर्ष पुरानी है और यह मान वर्तमान मांगों में सबसे पुरानी है।
 वे लोग  जिनकी आयु अब  लगभग 50 वर्ष के करीब है उनको सबसे पहले उठाई गई मांग और ज्ञापन आदि का मालूम नहीं है, इसलिए करणी प्रेस इंडिया पर पुरानी रिपोर्टें एक बार फिर पाठकों के सामने दी जा रही है और उनके लिंक facebook पर भी दिए गए हैं।
सूरतगढ़ को जिला बनाने की मांग  जनता पार्टी,भाजपा और कांग्रेस पार्टियों के राज में निरंतर उठती रही है।
इन मांगों में प्रदर्शनों आदि में सभी राजनीतिक दलों और सामाजिक संगठनों छात्र संगठनों व्यापारियों मजदूरों किसानों आदि का भरपूर सहयोग मिलता रहा है।

अब कुछ लोग शहर वासियों को बार-बार उलाहना दे रहे हैं की वे जिले की मांग को लेकर कुछ भी नहीं कर रहे  हैं। सच्चाई यह है कि यह उलाहने झूठे हैं । सच से परे हैं। सच्चाई यह है कि मांग निरंतर उठती रही है जिसके वे जानकार नहीं हैं।
मैं  राजस्थान पत्रिका से जुड़ा हुआ था, तब अनेक बार रिपोर्टिंग छपी।
 आजकल मेरे खुद के ब्लॉग करणी प्रेस इंडिया पर यह रिपोर्ट बहुत बार छपी है।
मेरा यह आग्रह है कि रिपोर्ट पढें और  उनमें चित्र भी हैं।समीक्षा करें की जनता ने और राजनीतिक दलों ने वास्तव में इस आंदोलन को सालों से चलाया हुआ है।
आपने पहले साथ नहीं दिया या किसी कारण से नहीं दे पाए हों तो अब साथ देने में जुट जाएं।
**************************************




No comments:

Post a Comment

Search This Blog