Thursday, June 22, 2017

सूरतगढ़ विद्युत वितरण निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों के निवासों पर एसीबी का छापा-




22 जून 2017 को एसीबी के एडिशनल SP रजनीश पूनिया ने सूरतगढ़ में रिकॉर्ड जप्त किया है।


--
उपभोग मीटरों में बहुत अधिक और रिकार्ड में बहुत कम का आरोप:
सहायक अभियंता से लेकर लाईनमैन तक पर बिजली चोरी का आरोप:
चार टीमों नें 11 स्थानों पर मारे छापे



सूरतगढ़ 29 सितम्बर 2016.


अपडेट 22-6-2017.



एसीबी द्वारा बिजली विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों के निवासों पर मीटरों की जाँच की कार्यवाही में चौंकाने वाले खुलासे हुए है। एसीबी के अनुसार विभाग के सहायक अभियंता से लेकर बाबू और लाईनमैन तक मीटर और खातों में गड़बड़ी कर विभाग को लाखों रूपए का चूना लगा रहे थे। एसीबी ने  चार टीमों में सहायक अभियंता चन्द्रशेखर औझा,जेईएन अकुश वासुदेव,एआरओ भूपेन्द्रसिंह, अधिशाषी अभियंता के पीए राजेन्द्र नरूला, लिपिक सविता छाबड़ा,मूलचंद खत्री, तजेन्द्र गाबा टेकनीसियन हैल्पर, सुबीरकुमार तकनीकी सहायक, श्रीप्रसाद मीटर रीडर और साहुकार लाईनमैन के साथ संविदाकर्मी नत्थूराम छाबड़ा के घर पर मीटरों की जांच की।

इसके अलावा भी विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के घर पर मीटर बंद मिले या उनसे छेड़छाड की हुई थी। फिलहाल एसीबी की टीम विद्युत विभाग कार्यालय में दस्तावेजों की जांच में जुटी हुई है।

गौरतलब है कि आज सुबह एसीबी की टीम नें विद्युत विभाग के चार अधिशाषी अभियंता स्तर के अधिकारियों को साथ लेकर चार टीमें बनाकर एक साथ विद्युत विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों के घरों और विभाग के कार्यालय में छापे की कार्यवाही शुरू की थी।

सहायक अभियंता चन्द्रशेखर औझा विशेष उपलब्धियों के कारण विभाग द्वारा सम्मानित भी किए हुए हैं। चन्द्र औझा के निवास का मीटर उनके पिता नरेन्द्र औझा के नाम पर है।

नरेन्द्र औझा से शाम को बात हुई तब उन्होंने बताया कि जाँच दल ने जाँच की है तथा मीटर अपने कब्जे में लिया है,लेकिन यूनिट अधिक होना व रिकार्ड में कम यूनिट दिखलाने जैसी कोई बात नहीं है। मीटर की लैब जाँच में स्थिति स्पष्ट हो जाएगी

----------------------

--------------------------------
ताजा जानकारी जो भी मिलेगी वह देने की कोशिश की जाएगी।






No comments:

Post a Comment

Search This Blog