Sunday, December 6, 2015

जमीन को नशीला होने से बचाओ और जनता को नशा पिलाओ:


सुरेन्द्रपालसिंह टीटी राजस्थान के श्रम मंत्री का बयान- कीटनाशकों से जमीन नशीली होकर खराब हो रही है:
राजस्थान सरकार को जमीन की चिंता है और जनता की चिंता नहीं जिसे दारू पिला रही है:
- करणीदानसिंह राजपूत -
राजस्थान सरकार के श्रममंत्री सुरेन्द्रपालसिंह टीटी ने विश्व मृदा स्वास्थ्य दिवस 5 दिसम्बर पर जमीन के स्वास्थ्य को सही रखने के लिए अपना बयान दिया। किसानों को यह संबोधन था।
मंत्रीजी ने कहा- अधिक कीटनाशकों से जमीन नशीली होकर खराब हो रही है। जमीन को नशीला होने से बचाओ।
जमीन आदमी यानि जनता के लिए ही है।
सरकार को जमीन के नशीला होने की चिंता है,लेकिन जनता की चिंता नहीं है जिसके लिए जमीन है।
राजस्थान सरकार जनता को दारू पिलाने को कटिबद्ध है। जनता को दारू पिलाने में कोई संकोच नहीं है। जनता दारू पी कर अपने स्वास्थ्य को खराब करे चाहे अपराध करे। दारू से सरकार के खजाने में रकम आती रहनी चाहिए। जनता चाहे नशीली होती जाए।
राजस्थान में संपूर्ण शराबबंदी के लिए आमरण अनशन करते हुए गुरूशरण छाबड़ा का बलिदान हो गया लेकिन सरकार की इतनी बेशर्मी रही है कि दारू को बंद करने का निर्णय नहीं लिया।
बिहार और महाराष्ट्र ने अगले साल से दारू बंद करने की घोषणा करदी लेकिन फिर भी राजस्थान की संस्कार वाली सरकार ने दारू बंद की घोषणा नहीं की।
सरकार चलाने वालों को मालूम है कि दारू से संस्कार गड़बड़ाते हैं लोग बिगड़ते हैं परिवार बरबाद होते हैं, लेकिन इसके बावजूद ीाी सरकार संस्कार चरित्र बिगाडऩे में लगी है।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog