बुधवार, 24 अगस्त 2016

भैंसड़ा के पहाड़ पर जस्टिस फॉर छाबड़ा संगठन की पर्यावरण व् शराबबंदी पर चर्चा



भरतपुर24-8-2016
भरतपुर में बाबा हरिबोल दास जी 46 दिन से अनशन पर थे और उन्होंने पूनम अंकुर छाबड़ा व् पूर्व विधायक गोपी चंद गुर्जर के आग्रह पर अनशन त्याग दिया और वँहा तय किया था की भैंसड़ा के पहाड़ पर एक सामाजिक संगठनो की मीटिंग रखि जायेगी उसी वादे के तहत जस्टिस फॉर छाबड़ा जी संगठन पहाड़ी पर पहुँचा।

भैंसड़ा के पहाड़ पर बाबा हरिबोल दास के आश्रम में सर्वधर्म समाज व् समाजसेवियों की मीटिंग रखि गयी जिसमे मुस्लिम लोगों ने भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। सभा को संबोधन करते हुए पूनम अंकुर छाबड़ा ने बताया शराब हर धर्म में हराम करार दी गयी है और सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है राज्य इसका प्रचलन बंद करे मगर कुछ लोग राजनैतिक फायदे के लिए ऐसा होने नहीं दे रहे। बाबा हरीबोल दास का अनशन जनहित में था।  गोपी चंद गुर्जर ने कहा की शराब ने कितने घर उजाड़े है और राज्य सरकार सिर्फ आँख बन्द करके पैसा कमाना चाहती है उसे जनता की भलाई से कोई सरोकार नहीं है।

वँहा यह सर्वसम्मिति से तय किया की पर्यावरण व् शराबबंदी पर मिल कर कार्य किया जायेगा तथा आने वाली 2 तारीख को एक बड़ा प्रदर्शन किया जायेगा।


शराब ने कितने घर उजाड़े

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें