Saturday, June 24, 2017

सूरतगढ़ में बनवारी के पत्र से पट्टे वालों में खलबली:8 पेज:

 कई भूखंडों का प्रभावशाली लोगों का घोटाला:
जाँच और मुकद्दमें होने की तलवार लटकी हुई है:
कोई भी उठा सकता है मामला,अभी तक किसी ने यह मामला एसीबी में नहीं दिया। बनवारी लाल और कांग्रेस चुप है। भाजपा, अन्य दल आप आदि भी कुछ भी करना नहीं चाहते।
------------------------------------------
पहली बार करणी प्रेस इंडिया पर:
17-5-2015. यह" ब्लास्ट की आवाज" में भी छपा:
अप डेट 24-6-2017.
-------------------------------

कांग्रेसी,भाजपा,धनकुबेरों,कर्मचारियों ने नगरपालिका को जीमा:
7 साल पहले का पालिकाध्यक्ष बनवारीलाल मेघवाल का पत्र:

                                       बनवारीलाल मेघवाल


                                      गंगाजल मील
 

स्पेशल रिपोर्ट- करणीदानसिंह राजपूत

सूरतगढ़,29 जून 2015.
नगरपालिका की बेशकीमती जमीनें जिनकी 

कीमत बाजार भाव से कई करोड़ रूपयों की होगी। कानूनों को तोड़ कर पट्टे काट दिए गए। राष्ट्रीय उच्च मार्ग नं 15 का प्रकरण लोकायुक्त में विचाराधीन था उसमें भी पट्टे जारी कर दिए गए। आवासीय और व्यावसायिक पट्टे गैर कानूनी रूप से भाजपा कांग्रेस नेताओं कार्यकर्ताओं,प्रभावशाली पैसे वालों को पट्टे जारी कर दिए गए। खांचा भूमि में भी लोगों को मालामाल कर दिया गया जबकि खांचा में जगह ही नहीं थी।
यह गैर कानूनी कार्य ईओ मदनसिंह बुडानिया ने किया और उस समय अध्यक्ष कांग्रेस पार्टी का था। मदनसिंह बुडानिया यहां पर दुबारा लाया गया और फिर कई गोलमाल हुए। मदनसिंह बुडानिया यहां से सेवानिवृत हो गया व इस दुनिया से कूच कर गया। उसकी पुत्री प्रियंका बुडानिया यहां पर ईओ पद आई उस समय सनसनी पैदा करने वाला पत्र सामने आया है। 

यह पत्र पांच साल पहले लिखा गया (अब 7साल बीत गए) जिसमें विधिवत उन लोगों के नाम हैं जिन्होंने करोड़ों रूपयों का लाभ उठाया।
इन पर सख्त कार्यवाही हुई तो ये सारे पट्टे निरस्त होंगे व झूठे फर्जी तथ्यों से प्राप्त करने वालों पर भी अपराधिक मुकद्दमें बनने की संभावनाएं प्रबल होगी।
पत्र की आठ फोटो हैं जो पाठकों को यहां दी जा रही हैं।














No comments:

Post a Comment

Search This Blog