शुक्रवार, 4 दिसंबर 2020

साधुवाली में नशा मुक्ति जन-जागृति कार्यशाला का आयोजन

 



श्रीगंगानगर, 4 दिसम्बर 2020.

 जिला कलक्टर श्री महावीर प्रसाद वर्मा एवं जिला पुलिस अधीक्षक श्री राजन दुष्यन्त के निर्देशानुसार भारत सरकार द्वारा संचालित एवं डीजीपी राजस्थान श्री एम.एल. लाठर द्वारा निर्देशित  आप्रेशन प्रहार के अन्तर्गत  पुलिस थाना जवाहर नगर द्वारा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय साधुवाली में नशा मुक्ति जन-जागृति कार्यशाला का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एडीशनल एस.पी.श्री सही राम बिश्नोई ने कहा कि नशा प्रवृति आज एक महामारी का रूप ले चुकी है, नशा करने से युवा पीढी पथ भ्रष्ट होकर अनुचित कार्यो, अपराधों इत्यादि में संलिप्त हो रही है, अपना भविष्य बरबाद कर रही है तथा समाज के लिए विकराल समस्या का रूप ले रही है। नशे को काबू करने के लिए जिला प्रशासन एवं पुलिस द्वारा नशा मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है जिसमें जन-जन को जुड़ कर समाज को नशा मुक्त करने के पावन उद्देश्य से अपना हर सम्भव सहयोग प्रदान करना चाहिए जिससे नशे को मिटाया जा सके। 

कार्यक्रम में नशा  मुक्ति विशेषज्ञ डा0 रविकान्त गोयल ने कहा कि नशे की एक लत व्यक्ति से उसका तन-मन-धन, सामाजिक प्रतिष्ठा छीन लेती है तथा बदले में दुख-दर्द, तकलीफे मुसीबते प्रदान करती है। दिहाड़ी मजदूरी करने वाले अनेक लोग नशे में अपनी सारी कमाई बरबाद कर देते है तथा घर जा कर परिवार के साथ मारपीट, गाली-गलौच इत्यादी करते है जिससे उनके घर  में गरीबी, लाचारी, अभाव इत्यादि समस्यायें डेरा डाल लेती है, बच्चे छोटी छोटी वस्तुओ के लिए तरसते है। डा0 गोयल ने बताया कि ऐसे व्यक्ति जब उनसे ईलाज लेकर नशा छोड़ देते हैं तो उनके जीवन में सुखद परिवर्तन स्पष्ट दृष्टिगोचर होने लगते है, बच्चो की आवश्यकताओं की पूर्ति होने लगती है, प्रेम एवं उल्लास का वातावरण बन जाता है तथा सुन्दर भविष्य की आशा के दीप टिम-टिमाने लगते है। डा0 गोयल ने उपस्थित लोगो को नशे के दुुष्प्रभावों से अवगत करवा कर नशे से बचने के उपाय बताये तथा जीवन भर नशा न करने की शपथ दिलवाई।



कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि पुलिस वृताधिकारी श्री ईस्माइल खान ने कहा कि नशा सभ्य समाज पर एक कलंक है जिसे हमें जड़ से उखाड़ना है, जिसके लिए प्रशासन के साथ-साथ समाज की जागरूकता एवं सहभागिता अत्यन्त आवश्यक है। सामूहिक प्रयासो से ही इस दानव रूपी नशे की समस्या पर काबू पाया जा सकता है। उन्होंने समाज को प्रशासन का सहयोग करने का आहवान किया। कार्यक्रम में पैरा-लीगल वालन्टीयर एवं चेस कोच श्री इन्द्रमोहन सिंह जुनेजा ने कहा कि नशे का मार्ग व्यक्ति को पतन की ओर ले जाता है। 

कार्यक्रम में शाला प्रधानाचार्य सुश्री रजनी बब्बर ने कहा कि नशा चाहे ज्यादातर पुरूष ही करें लेकिन उसका प्रकोप न केवल परिवार पर बल्कि पुरे समाज पर पड़ता है विशेष तौर पर महिलाऐं इस से ज्यादा पीड़ित होती है। इस अवसर पर सरपंच श्रीराम ने भी अपने विचार व्यक्त किये। पुलिस थाना जवाहर नगर के थानाधिकारी श्री विश्वजीत द्वारा सभा को नशे से बचने एवं अनुशासित जीवन जीने हेतु संदेश दिया गया। 

----------






कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

यह ब्लॉग खोजें