गुरुवार, 21 दिसंबर 2017

गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति का 37 वां प्रांतीय व 7 वां राष्ट्रीय अधिवेशन अलवर में आयोजित हुआ






अलवर के इतिहास की सबसे बड़ी जनजागरण रैली का आयोजन

19 दिसम्बर 2017 में

-- गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति का 37 वां प्रांतीय व 7 वां राष्ट्रीय त्री दिवसीय अधिवेशन. 16 से 18 दिसंबर को महावर भवन अलवर में आयोजित हुआ।

 सम्मेलन में कार्यक्रम की अध्यक्षता चैन्नई से आए समिति संरक्षण मोतीलाल बिनानी ने की। मुख्य अतिथि भाजपा नेता ज्ञानदेव आहुजा थे। मुख्य वक्ता राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी थे। विशिष्ट अतिथी के रूप में प्रदेशाध्यक्ष राजकुमार राणियां वाला, महिला प्रदेश प्रभारी सरिता रूवाटियां, यूआईटी अलवर के चैयरमैन देवीसिंह शेखावत, प्रदेश मंहामंत्री लीलाधर पटवा व सरिता सरावगी मंचासिन थे। मेहमानों द्वारा सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलन के साथ शुरू हुए इस अधिवेशन में छात्रा प्राची ने 'औ री चिरैया अंगना में आजा रै' सुनाया। सबसे पहले अलवर संभाग प्रभारी प्रदेश के वरिष्ठ उपाध्यक्ष बाबुलाल शर्मा ने स्वागत उदबोधन दिया। 

 राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी ने अपने सम्बोधन में सबसे पहले बेमिशाल रैली के आयोजन के लिए अलवरवासियों की मुक्तकंठ से सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री भी यही नारा देते हैं  कि बेटी बचाओ तो क्या भ्रूण हत्या बेटों की नहीं होती। गर्भ में पलने वाले सभी जीवों की रक्षा होनी चाहिए। 

गिरजा व्यास, अर्जुनराम मेघवाल आदि सांसदों द्वारा विधेयक लाने के वादे को भूल जाने पर नाराजगी जताई क्योंकि भ्रूण हत्या जैसे गंभीर विषय पर हमारे प्रतिनिधी संवेदन नहीं है। मानवता के मुद्दों से उन्हे कोई लेना देना नहीं है। कुछ सरकारी कानून ऐसे हैं जिनके चलते हजारों बेटियों की हत्या गर्भ में हो जाती है। गर्भस्थ शिशु के संवैधानिक अधिकारों की रक्षा होनी चाहिए। मुख्य अतिथि रामगढ़ विधायक ज्ञानदेव आहुजा ने कहा कि हमारी भक्ति, हमारी शक्ति को परमात्मा इतनी शक्ति दे की हम सब इस जघन्य अपराध को रोकने में कामयाब हो सकें।



            साधक सम्मान से इन्हे किया गया सम्मानित


गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति की ओर से 37 वें प्रातीय अधिवेशन में विशेष कार्य करने के लिए समिति से जुड़े साधकों को मुख्य अतिथि ज्ञानदेव आहुजा व अन्य अतिथियों ने शाल ओढाकर व समृति प्रतीक देकर साधक सम्मान से सम्मानित किया। जिनमें महेन्द्र वर्मा चूरू, योगेन्द्र कुमार भाटी बीकानेर, गिरधारी बेनीवाल सरदारशहर, मनोज कुमार स्वामी सूरतगढ़, श्याम खेड़लवाल बांदीकुई, लीलाधर पटवा श्रीगंगानगर, सरिता सरावगी तारानगर, करणीदान मंत्री सुजानगढ़, श्याम मंत्री कुचामन, राजकुमार राणियांवाला नोहर, बाबुलाल शर्मा, प्राची पारीक, दलीप सिंह यादव अलवर शामिल थे। 

श्रीगंगानगर समिति की ओर से राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी को शॉल ओढाकर सम्मानित किया गया। 

इससे पहले विशाल जनजागरण रैली को कम्पनी बाग से डीएसपी यशपाल त्रिपाठी न हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। कार्यक्रम का संचालन धर्मवीर पारासर ने किया।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें