Friday, September 22, 2017

क्या यौन शोषण मुकदमें के आरोपी फलाहारी बाबा की गिरफ्तारी सत्ताधारी नेताओं के दबाव में रूकी है?






-  करणीदानसिंह राजपूत. -

 राजस्थान अलवर के फलाहारी बाबा के दर्शन करने और चरणों में शीश नवाने के लिए राजस्थान के अलावा अन्य प्रांतों के केंद्र में स्थापित बड़े-बड़े नेताओं की भीड़ है। बाबा का करोड़ों का साम्राज्य राजस्थान व अन्य राज्यों में और विदेश में फैला हुआ है। वर्तमान में राजस्थान और केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा के नेताओं कार्यकर्ताओं भी फलाहारी बाबा से संपर्क रहा है।नेताओं को जहां वोटों की पोटली दिखाई पड़ती है वहां पर शीश नवाने में देरी नहीं करते चाहे किसी भी दल में हो।सत्ता में होते हैं चर्चा उनकी होती है।बाबा लोग भी सत्ताधारी नेताओं से संपर्क रखने में लाभ समझते हैं और अपराध होने पर सत्ता धारी नेताओं के दबाव से बचने की कोशिश भी करते हैं।

कितने दिन बच पाते हैं? एक दिन संकेत होता है और पुलिस गिरफ्तार कर लेती है।


क्या यौन शोषण मुकदमें के आरोपी  फलाहारी बाबा की गिरफ्तारी सत्ताधारी नेताओं के दबाव में रूकी है?















No comments:

Post a Comment

Search This Blog