शुक्रवार, 30 नवंबर 2018

अभय शर्मा उत्तर पश्चिम रेलवे के नये मुख्य जन संपर्क अधिकारी





श्रीगगंगानगर, 30 नवम्बर 2018.

श्री अभय शर्मा ने उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जन संपर्क अधिकारी का कार्यभार ग्रहण किया। अभय शर्मा, भारतीय रेल यातायात सेवा के 2011 बैच के अधिकारी है। इससे पूर्व अभय शर्मा वरि. मण्डल वाणिज्य प्रबंधक-बीकानेर के पद पर कार्यरत थे। 

अभय शर्मा ने आई. आई. टी. - दिल्ली से यांत्रिक अभियान्त्रिकी में स्नातक शिक्षा प्राप्त की है। अभय शर्मा को भारतीय रेलवे में वरि. मण्डल वाणिज्य प्रबंधक-बीकानेर, उप मुख्य वाणिज्य प्रबंधक-माल विपणन व दावा, उत्तर पश्चिम रेलवे-मुख्यालय, जयपुर, मण्डल परिचालन प्रबन्धक-जयपुर मण्डल, सहायक क्षेत्रिय अधिकारी-रेवाडी, सहायक परिचालन प्रबंधक-जयपुर व बिलासपुर के पदों पर कार्य करने के अनुभव प्राप्त है। जेडआरयूसीसी के पूर्व सदस्य भीम शर्मा ने श्री अभय शर्मा की पदोन्नति पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए उन्हें बधाई दी। 

अशोक नागपाल के कांग्रेस में जाने के झूठे समाचार सोशल मीडिया पर छाए

आजकल कुछ खास

 * करणीदानसिंह राजपूत *

 
पूर्व विधायक अशोक नागपाल के कांग्रेसमें जाने के समाचार सोशल मीडिया में सूरतगढ़ से संचालित ग्रुपों में चल रहे हैं। 
जबकि सच यह है कि नागपाल का त्याग पत्र भारतीय जनता पार्टी ने स्वीकार नहीं किया है।
कांग्रेस पार्टी से जुड़े लोग अपने नाराज टिकटार्थियों में से किसी एक को ही मना नहीं पाए हैं और वे अपने घरों में नाराजगी लिए बैठे हैं या फिर अन्य विधानसभा क्षेत्रों में जाकर कांग्रेस पार्टी के लिए वोट मांग रहे हैं।
नाराज हुए नेता यहां सूरतगढ़ में कांग्रेस प्रत्याशी हनुमान मील को सहयोग नहीं कर रहे।
जो लोग अशोक नागपाल के कांग्रेस ज्वाइन करने के समाचार फैला रहे हैं वे लोग इतना तो समझते ही होंगे कि  कांग्रेस से अपने लोग ही नहीं संभाले जा रहे हैं। 
आठ 10 टिकटार्थी नाराज घरों में बैठे हैं।  कुछ सूचनाएं यह भी है कि नाराज कांग्रेसी हाथी के लिए वोट मांग रहे हैं।


 

आजकल कुछ खास

 आजकल कुछ खास

आजकल कुछ खास

 आजकल कुछ खास


आजकल कुछ खास


आजकल कुछ खास


आजकल कुछ खास

मंगलवार, 27 नवंबर 2018

भाजपा चुनाव घोषणा पत्र: पत्रकारों को अनेक सुविधाओं का संकल्प



* करणी दान सिंह राजपूत *

भारतीय जनता पार्टी राजस्थान ने आगामी 2018 के विधानसभा चुनाव के घोषणा पत्र में पत्रकारों को अनेक प्रकार की सुविधाएं घोषित की है।







श्रीगंगानगर जिले में विधानसभा वार मतदाता: ताजा स्थिति

श्रीगंगानगर, 27 नवम्बर। विधानसभा आम चुनाव 2018 के दौरान जिले के 6 विधानसभाओं में 13 लाख 61 हजार 399 मतदाता है, जिसमें 7 लाख 14 हजार 804 पुरूष तथा 6 लाख 45 हजार 285 महिला मतदाता है। 

सादुलशहर में 216780, 

श्रीगंगानगर में 220166, 

श्रीकरणपुर में 223817,

सूरतगढ़ में 229094, 

रायसिंहनगर में 246023,

अनूपगढ़ में 225519

 मतदाता है। 

------------

सोमवार, 26 नवंबर 2018

सूरतगढ़:लूट करने से पहले 6 हथियारबंद गिरफ्तार: तीन हरियाणवी तीन राजस्थानी


* करणी दान सिंह राजपूत *

 सूरतगढ़ 26 नवंबर 2018.

लाखों रूपये लूटने की घटनाओं से पहले 6 व्यक्तियों को हथियारों सहित गिरफ्तार कर लिया गया।

 सूरतगढ़ थर्मल जाने वाले बैंक खजाने को,एपेक्स हॉस्पिटल के खजाने को और सहारा इंडिया एजेंट कार्यालय के खजाने को लूटने की योजना बनाई हुई थी।थर्मल जाने वाले खजाने को लूटने के लिए दो बार रेकी भी कर चुके थे।

पुलिस की अपराधियों की खोजबीन में लगाई गई टीम को इसकी सूचना मिली तब सूरतगढ़ सदर थाना पुलिस ने घेराबंदी कर छह अभियुक्तों को गिरफ्तार किया। सूरतगढ़ से श्री गंगानगर जाने वाले राष्ट्रीय उच्च मार्ग नंबर 62 पर पालीवाला के पास होटल सतनाम सिंह वाला में अभियुक्तों की गिरफ्तारी हुई। अभियुक्त सोमवार को यानी 26 नवंबर 2018 को लूटपाट करने वाले थे मगर 1 दिन पहले 25 नवंबर को दोपहर में इनकी गिरफ्तारी हो गई। इनमें तीन अभियुक्त हरियाणा के रहने और तीन अभियुक्त राजस्थान के रहने वाले हैं।एक अभियुक्त हत्या के मामले में जेल में बंद था और अब जमानत पर था।अभियुक्तों के पास खतरनाक हथियार थे और लूटपाट करते वक्त कोई अनहोनी भी हो सकती थी लेकिन पूर्व में गिरफ्तारी हो जाने से कोई कांड नहीं हो पाया।

1. जोगेंद्र उर्फ जोगा प्रधान पुत्र रमेश कुमार जाट उम्र 24 वर्ष निवासी ढाणी पानीपूरिया हांसी हरियाणा के पास एक देसी पिस्तौल और तीन कारतूस बरामद हुए।

2.अमित कुमार जाट पुत्र सुरेंद्र जाट निवासी खांडाखेड़ी नारनौल हरियाणा के पास एक देसी पिस्तौल और कारतूस बरामद हुए।

3.नरेंद्र मेहरा पुत्र अजीत सिंह जाट निवासी ढाड बरवाल हिसार  हरियाणा से मिर्ची पाउडर और सूत की रस्सी बरामद हुई।

4.सुनील कुमार पुत्र रामनिवास सुथार निवासी मल्लरखेड़ा संगरिया राजस्थान के पास से धारदार कांपा बरामद हुआ। 

5.सोहनलाल उर्फ सोनू पुत्र पूर्ण राम सुथार निवासी चक 1 के एस आर तहसील सूरतगढ़ राजस्थान के पास से मिर्च पाउडर और सूत की रस्सी बरामद हुई। 

6.नरेंद्र कुमार स्वामी पुत्र मोहनलाल निवासी जानकीदासवाला तहसील सूरतगढ़ थाना जैतसर के पास से बांस का डंडा बरामद हुआ।

 पुलिस के अनुसार पूछताछ में प्रारंभिक स्तर पर मालूम हुआ है कि ये लोग थर्मल बैंक में जाने वाले रुपयों को सहारा एजेंट कार्यालय के रूपों को व एपेक्स हॉस्पिटल सूरतगढ़ के रूपयों को लूटने के फिराक में थे।

आरोपियों ने थर्मल बैंक जाने वाले खजाने को लूटने के लिए  28 सितंबर 2018 को और 2 अक्टूबर 2018 को रैकी भी कर चुके थे।

 इन अभियुक्तों में जोगेंद्र उर्फ जोगा प्रधान दोहरे हत्याकांड में जेल में भी रह चुका है और अब जमानत पर बाहर आया हुआ है।ण सूरतगढ़ सदर पुलिस ने इनको फिलहाल भारतीय दंड संहिता की धारा 399 और 402 में गिरफ्तार किया है।

रविवार, 25 नवंबर 2018

पूर्व केंद्रीय मंत्री के ठिकानों पर ईडी का छापा, 5700 करोड़ रुपये के गबन के सुराग मिले


* ईडी का केस सीबीआई द्वारा एम एस बीस्ट और क्रॉम्प्टन इंजीनियरिंग प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, चेन्नई (बीसीईपीएल) के खिलाफ सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और एक कॉरपोरेशन बैंक के साथ धोखाधड़ी कर 364 करोड़ रुपये के लोन प्राप्त करने को लेकर दायर तीन एफआईआर पर आधारित है।*

 25 नवंबर 2018.

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और आयकर विभाग (आईटी) ने शुक्रवार (23 नवंबर) तथा शनिवार (24 नवंबर) को पूर्व केंद्रीय मंत्री वाई सत्यनारायण चौधरी के हैदराबाद स्थित कई ठिकानों पर तलाशी ली। यह तलाशी मनी लाउंडरिंग के मामले में की गई है। चौधरी सुजाना ग्रुप ऑफ कंपनी के मालिक हैं। उन्हें सुजाना चौधरी के नाम से भी जाना जाता है। ईडी ने इससे संबंधित अन्य कंपनियों के ठिकानों पर भी छापेमारी की। इसमें दिल्ली का एक ठिकाना भी शामिल है। ईडी द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि इस जांच में बैंकों के साथ 5700 करोड़ रुपये के हेरफेर का सुराग मिला है। एजेंसी ने यह भी दावा किया कि इन कंपनियों को कुछ लोन वाई एस चौधरी के पर्सनल गारंटी पर दी गई थी।

ईडी ने अब चौधरी से जांच में शामिल होने को कहा है और 27 नवंबर को हाजिर होने के लिए सम्मन जारी किया है। ईडी के अनुसार, “वाई एस चौधरी के आवास पर 6 कीमती गाड़ी (फेरारी, रेंज रोवर, बेंज, इत्यादी) पाए गए हैं, जिनका रजिस्ट्रेशन फर्जी कंपनी के नाम पर किया गया है।” जिन ठिकानों पर छापेमारी की गई है, उनमें स्पेंलडीड मेटल्स और सुजाना यूनिवर्सल शामिल हैं। ये दोनों चौधरी से संबंधित हैं और हैदराबाद के नार्गाजुना हिल्स व जुबली हिल्स में स्थित हैं।


ईडी ने दावा किया कि छापेमारी के दौरान कई ऐसे दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं, जो यह खुलासा करते हैं, “इन कंपनियों के समूह के खिलाफ फेमा, डीआरआई और सीबीआई के कई केस पहले से ही दर्ज हैं। साथ ही विदेशी मुद्रा व्यापार से संबंधित दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं। जब्त दस्तावेजों से यह भी पता चला है कि वे करीब 120 कंपनियों को नियंत्रित कर रहे हैं। इनमें से अधिकांश कंपनियां या तो बंद है या फिर सिर्फ कागजों पर चल रही है।” ईडी का केस सीबीआई द्वारा एम एस बीस्ट और क्रॉम्प्टन इंजीनियरिंग प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, चेन्नई (बीसीईपीएल) के खिलाफ सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और एक कॉरपोरेशन बैंक के साथ धोखाधड़ी कर 364 करोड़ रुपये के लोन प्राप्त करने को लेकर दायर तीन एफआईआर पर आधारित है।

ईडी ने 8 अक्टूबर को चेन्नई, बैंगलोर और हैदराबाद में बीसीईपीएल के प्रमुख अधिकारियों के आवासीय और कार्यालय परिसर में छापेमारी की थी। ईडी के अनुसार, “छापेमारी में प्लाट नं .8, नागार्जुन हिल्स, पुंजगुट्टा, हैदराबाद -500082 स्थित ठिकाने से विभिन्न शेल कंपनियों के 126 रबड़ स्टांप जब्त किए गए थे। साथ ही यह भी पाया गया था कि ये ठिकाने सुजाना ग्रुप की कई कंपनियों से जुड़े हुए थे।” ईडी के अनुसार, जब्त दस्तावेजों से यह संकेत मिला कि कि सुजाना समूह की कंपनियों के साथ बीसीईपीएल वाईएस चौधरी के नियंत्रण में काम कर रहा था।  ईडी ने संदिग्ध कंपनियों के साथ चौधरी के कनेक्शन के सबूत मिलने का भी दावा किया। वाई एस चौधरी तेलुगु देशम पार्टी के हैं।

8 अक्टूबर के बाद यह दूसरी बार है जब ईडी और आईटी की टीम ने चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी की है। इसके साथ ही टीडीपी के छह अन्य नेता भी सेंट्रल एजेंसियों के निशाने पर हैं। वहीं, आध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने आरोप लगाया है कि, “भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टीडीपी को टारगेट करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग कर रहे हैं। यह तब हो रहा है कि जब टीडीपी एनडीए गठबंधन से हट चुकी है।”


शनिवार, 24 नवंबर 2018

राममंदिर मुद्दे पर गरमाई अयोध्या:पहुंच रहे शिव सैनिक:

अयोध्या में शिवसेना प्रमुख के कार्यक्रम ने धर्मसभा से पहले ही माहौल गर्मा दिया है। देश भर से शिव सैनिक अयोध्या पहुंच रहे हैं। उधर विहिप व संघ ने धर्मसभा को सफल बनाने के लिए ताकत झोंक दी है। शुक्रवार को लखनऊ  एयरपोर्ट पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने संघ प्रतिनिधियों से मंत्रणा कर धर्मसभा को सफल बनाने का संदेश दिया। उन्होंने राम मंदिर के लिए कानून बनाने के मुद्दे पर आम लोगों को जागरूक करने की बात कह कर सियासी पारा और गर्मा दिया। 

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट को अयोध्या के ताजा घटनाक्रम का संज्ञान लेना चाहिए और अयोध्या में सेना भेजनी चाहिए। 

 अयोध्या में कैंप कर रहे शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि हमने 17 मिनट में बाबरी मसजिद तोड़ दी थी तो कानून तोड़ने में कितना वक्त लगेगा।


उद्धव के भाषण पर सबकी निगाहें

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या में दो दिन रहेंगे। वह शनिवार को दोपहर दो बजे लक्ष्मण किला पहुंचेंगे। वहां पर आयोजित आशीर्वाद समारोह में शिरकत करेंगे। माना जा रहा है कि इस बहाने शिवसेना प्रमुख राम मंदिर निर्माण में देरी पर भाजपा को घेर सकते हैं। उनके भाषण पर सभी की नज़रे रहेंगी। उद्धव समय-समय पर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को भी निशाने पर लेते रहे हैं। समारोह में अयोध्या के संत-महंत व शीर्ष धर्माचार्य शिवसेना प्रमुख ठाकरे को आशीर्वाद देंगे।

आशीर्वाद सभा में होंगे धर्माचार्य 

शिवसेना प्रमुख हिन्दू धर्माचार्यों से राम मन्दिर निर्माण के मुद्दे पर बात भी करेंगे। वह शाम 5 बजे अयोध्या के लक्ष्मण घाट पर सरयू आरती करेंगे। 25 नवम्बर को भी वह अयोध्या में मौजूद रहेंगे। इसी दिन विश्व हिन्दू परिषद की धर्मसभा भी है। उद्धव धर्मसभा में शामिल होंगे या नहीं, इसके बारे में अभी विहिप या शिवसेना ने स्पष्ट नहीं किया है।


रामलला के दर्शन करेंगे


उद्धव ठाकरे 25 नवम्बर को सुबह नौ बजे श्रीरामजन्मभूमि में विराजमान रामलला का दर्शन करेंगे। इसके बाद सुबह 11 बजे लक्ष्मण किला में पत्रकारों से बात करेंगें। बड़ी संख्या में महाराष्ट्र व अन्य राज्यों से आए शिवसेना पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी अयोध्या पहुंच गए हैं। अयोध्या व फैजाबाद के लगभग सभी होटल शिवसेना नेताओं और शिवसैनिकों के लिए बुक कराए जा चुके हैं। 


2000 से ज्यादा शिवसैनिक पहुंचे अयोध्या


शुक्रवार को एक विशेष ट्रेन से करीब 2000 शिवसैनिक अयोध्या पहुंच गए। दूसरी विशेष ट्रेन शनिवार की सुबह महाराष्ट्र से शिवसैनिकों को लेकर अयोध्या पहुंचेगी। शिवसेना प्रमुख के दो दिवसीय अयोध्या प्रवास के दौरान के आयोजनों की तैयारियों को शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत के निर्देशन में अन्तिम रूप दे दिया गया है।  


कड़ी सुरक्षा व्यवस्था


अयोध्या में शिवसेना व विहिप के प्रस्तावित कार्यक्रमों के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई है। अयोध्या को नौ जोन, 16 सेक्टर और 30 माइक्रो सेक्टर में बांटा गया है। ड्रोन कैमरा, सीसीटीवी कैमरा व एटीएस की टीम भी लगाई गई है। सुरक्षा व्यवस्था के सुपरविजन के लिए पांच आईपीएस अफसर व पीएसी के तीन कमांडेंट रैंक के अधिकारी भी पहुंच गए हैं।

हिन्दुस्तान आन लाइन 23-11-2018..


शुक्रवार, 23 नवंबर 2018

सूरतगढ़: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे 26 को आऐंगी


* करणी दान सिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 23 नवंबर 2018. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे बिश्नोई धर्मशाला परिसर में भाजपा बूथ  कार्यकर्ताओं व भाजपा कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगी व बातचीत करेंगी। यह कार्यक्रम 26 नवंबर शाम 6 बजे की सूचना है। विदित रहे कि पूर्व राज्यमंत्री रामप्रताप कासनिया सूरत गढ से चुनाव मैदान मेंं हैं। 





 

वसुंधरा राजे सूरतगढ़ मेंं 26 नवंबर को आएंगी


* करणी दान सिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 23 नवंबर 2018. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे बिश्नोई धर्मशाला परिसर में भाजपा बूथ  कार्यकर्ताओं व भाजपा कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगी व बातचीत करेंगी। यह कार्यक्रम 26 नवंबर शाम 6 बजे की सूचना है। विदित रहे कि पूर्व राज्यमंत्री रामप्रताप कासनिया सूरत गढ से चुनाव मैदान मेंं हैं। 





 

गुरुवार, 22 नवंबर 2018

सूरतगढ़:गुरु नानक जयंती 2018.नगर कीर्तन निकाला गया.



करणी दान सिंह राजपूत *

 सूरतगढ़ 22 नवंबर 2018.

 गुरु नानक जयंती के पूर्व दिवस पर यहां गुरु नानक दरबार गुरुद्वारा से नगर कीर्तन निकाला गया जो शहर के विभिन्न मार्गों से गुजरा।

गुरु ग्रंथ साहब की सवारी का शहर में जगह-जगह अभिनंदन हुआ। जयकारों से पुष्प वर्षा हुई। 

गुरुनानक जयंती के नगर कीर्तन में महिलाएं और लड़कियां ग्रंथ साहब की सवारी के आगे आगे सड़क मार्ग को साफ करती हुई चल रही थी। गुरुवाणी का उपदेश हरनेक सिंह गिल की ओर से दिया जा रहा था।





पालकी के आगे दो पहिया वाहनों पर युवक पटाखे बजाते हुए निकले।  नगर कीर्तन में पंज प्यारे तलवारें हाथ में लिए हुए आगे आगे चल रहे थे। हर्षोल्लास था।



बुधवार, 21 नवंबर 2018

सूरतगढ़:बसपा डूंगरराम गेदर का चुनाव कार्यालय खुला

* करणीदानसिंह राजपूत *

 सूरतगढ़ 21 नवंबर 2018.

बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी डूंगरराम गेधर का चुनाव कार्यालय आज केंद्रीय बस स्टैंड के पास बीकानेर रोड पर शुरू हुआ।

 इस अवसर पर डूंगरराम गेधर ने कहा कि वे जनता के साथ रहे हैं और आगे भी जनता के साथ रहेंगे। 

गेधर ने लोगों को बुलावे पर तुरंत पहुंचने पर आभार प्रगट किया और 2 दिसंबर को मायावती की आमसभा में भी आने का आग्रह किया। बताया गया कि बहन मायावती की सभा स्टेडियम ग्राउंड में होगी।







मंगलवार, 20 नवंबर 2018

सूरतगढ़ से प्रत्याशी: किस किस का हुआ नामांकन वैध

सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में राजनैतिक दलों एवं स्वतंत्र प्रत्याशियों के नाम निम्न प्रकार से हैं।

1.डूंगरराम गेदर बहुजन समाज पार्टी 2.रामप्रताप कसनिया  भारतीय जनता      पार्टी 

3.हनुमान मील  इंडियन नेशनल कांग्रेस 4.कृष्ण कुमार भारतीय युवा शक्ति 5.गोपीराम  महाराणा क्रांति पार्टी 6.नंदकिशोर ऑल इंडिया हिंदुस्तान कांग्रेस पार्टी 

7.सत्य प्रकाश आम आदमी पार्टी 

8.ओम राजपुरोहित स्वतंत्र 

9.धर्मपाल स्वतंत्र 

10.पवन कुमार मिश्रा स्वतंत्र

11.पितांबर दत्त शर्मा स्वतंत्र 

12.भवानी शंकर स्वतंत्र

13.महावीर प्रसाद पारीक उर्फ तिवाड़ी स्वतंत्र 

14.श्रवण राम  स्वतंत्र 

15.सत्यपाल मेघवाल स्वतंत्र 

 ( निर्वाचन अधिकारी सूरतगढ़ कार्यालय की सूची अधिकृत मानी जाए) 

सिख विरोधी दंगा केसः 34 साल बाद 1 को फांसी, दूसरे को उम्रकैद; 35-35 लाख का जुर्माना भी लगा

* साल 1984 में दक्षिणी दिल्ली के महिपालपुर इलाके में दो लोगों (हरदेव सिंह और अवतार सिंह) की हत्या हुई थी। कोर्ट ने इसी मामले में सबूतों के आधार पर माना था कि आरोपियों का मकसद हत्या करना ही था।*

* 2 नवंबर 1984 को सिख विरोधी दंगों के दौरान कुछ इस तरह नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के पास सिख फंस गए थे।*

साल 1984 में हुए सिख विरोधी दंगा केस में 34 साल बाद बड़ा फैसला आया है। मंगलवार (20 नवंबर 2018) को इससे जुड़े एक मामले में पहली सजा का ऐलान हुआ। नई दिल्ली में पटियाला हाउस कोर्ट ने दो दोषियों में यशपाल सिंह को फांसी, जबकि दूसरे नरेश सहरावत को उम्रकैद की सजा सुनाई।अडिश्नल सेशन जज अजय पांडे ने नरेश व यशपाल को दंगों के दौरान हरदेव सिंह व अवतार सिंह की हत्या का दोषी ठहराते हुए कहा कि इस नरसंहार के पीड़ितों के साथ न्याय होना जरूरी है। उन्हें बीच में यूं लटका कर छोड़ा नहीं जा सकता।

एडिश्नल डिप्टी कमिश्नर पुलिस कुमार ज्ञानेश के हवाले से एएनआई ने बताया कि सजा के ऐलान के साथ यशपाल-नरेश पर 35-35 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया। यह फैसला कोर्ट के बजाय तिहाड़ जेल में सुनाया गया।*

यह मामला इन दोनों पर हरदेव के भाई संतोख सिंह ने दर्ज कराया था। कोर्ट का रिकॉर्ड बताता है कि तब दोनों दोषियों समेत तकरीबन 500 लोगों की भीड़ ने इलाके में दुकानों में आग लगा दी थी और लूटपाट की थी। घटना के बाद तब महरौली पुलिस थाने में मामला दर्ज हुआ था।

आगे जांच-पड़ताल भी हुई, जिसके बाद एक आरोपी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई थी। पर दो साल बाद (1986 में) उसे बरी कर दिया गया था। साल 2015 में बनी स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने इस मामले की जांच की थी।

आपको बता दें कि तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद देश में हिंसा भड़की थी। 31 अक्टूबर से तीन नवंबर के बीच विभिन्न हिस्सों में दंगे हुए थे। उसी दौरान 1984 में दक्षिणी दिल्ली के महिपालपुर इलाके में दो लोगों (हरदेव सिंह और अवतार सिंह) की हत्या हुई थी। कोर्ट ने इसी मामले में सबूतों के आधार पर माना था कि आरोपियों का मकसद हत्या करना ही था। 14 नवंबर को कोर्ट ने यशपाल और नरेश को दोषी ठहराया, जबकि आज उन्हें सजा सुनाई गई।

जनसत्ता ऑनलाइन

November 20, 2018.

सोमवार, 19 नवंबर 2018

सूरतगढ़:कांग्रेस प्रत्याशी हनुमान मील की सभा:लोगों की कम उपस्थिति चर्चा बनी

 

   * करणीदानसिंह राजपूत *

कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी हनुमान मील की सभा आज नामांकन दर्ज कराने से पहले पुरानी धान मंडी में हुई। सभा में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी रामप्रताप कासनिया और बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी डूंगरराम गेदर व उनकी पार्टियों की नीतियों को जमकर कोसा गया।

डूंगर राम गेदर पर भ्रष्टाचार का व्यक्तिगत गंभीर आरोप लगाया

गया।

सभा में हनुमान मील ने मंच पर आकर हाथ जोड़े और हाथ हिलाकर उपस्थित लोगों का स्वागत किया। वे मंच पर आगे होकर बैठे। हनुमान मील से हाथ मिलाने वालों की संख्या लगातार रही।

 इस मंच पर पूर्व विधायक गंगाजल मील और कांग्रेस पार्टी के कई कार्यकर्ता मौजूद थे। 

सभा के मंच पर हनुमान मील और गंगाजल मील का फोटो लगा था। सभा स्थल के प्रवेश द्वार पर भी एक तरफ हनुमान मील और दूसरी तरफ गंगाजल मील का चित्र छपा हुआ था।यह प्रदर्शित हो रहा था कि हनुमान मील चुनाव लड़ रहे हैं और गंगाजल मील का हर कदम पर सहयोग रहेगा। मंच से एक वक्ता ने भी कहा कि पुरानी गलतियों को दोहराया नहीं जाएगा।जनता के काम कराए जाएंगे हनुमान मील चाहे जयपुर रहें लेकिन सूरतगढ़ में हर वक्त गंगाजल मील जनता को उपलब्ध रहेंगे।

सभा में अन्य दलों को छोड़कर आए लोगों को हरियाणा  रोहतक के सांसद  दीपेन्द्र हुड्डा, राजस्थान कांग्रेस प्रभारी  काजी मोहम्मद   निजामुद्दीन की अध्यक्षता में कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण करायी गई और पार्टी को मजबूत बनाने और सबके साथ चलने का वादा किया I  कांग्रेस की सभा को दीपेंद्र हुड्डा,काजी निजामुद्दीन,भरत मेघवाल,गंगाजल मील, राजाराम मील और प्रत्याशी हनुमान मील ने  संबोधित किया। हनुमान मील ने कहा कि सेवा का मौका मिला है और यह कार्य सेवक के रूप में करूंगा

दीपेन्द्र हुड्डा जी,काजी मोहम्मद निजामुद्दीन,पूर्व विधायक गंगाजल  मील,कांग्रेस पार्टी के जिला अध्यक्ष संतोष सहारण, पूर्व सांसद भरत मेघवाल,सूरतगढ  ब्लोक अध्यक्ष परसराम भाटिया,राजियासर ब्लोक अध्यक्ष बनवारी थोरी,पूर्व पार्षद राजाराम गोदारा,उप प्रधान रामकुमार भांभू,हाजी खुदाबकस ,जिला परिषद सदस्य  कमला अठवाल,आदि मौजूद थे। 

कांग्रेस की इस सभा में लोगों की कम उपस्थिति पर सवाल उठ रहे थे कि डूू़ंंगर गेदर की सभा में संख्या अधिक थी। लोगों में यही सवाल हो रहे थे कि बसपा की सभा से भीड़ ज्यादा होनी चाहिए थी।टिकट नहीं मिलने सै नाराज नेता सभा मेंं नहीं आए। वे किधर जाएंगे कि चर्चा एं भी हो रही थी। टिकट न मिलने से नाराज कुछ नेताओं के हाथ के बजाय हाथी के पक्ष में जाने के समाचार इलाके में फैल रहे हैं। उनके बैठकें करने की सूचनाएं भी इधर उधर हो रही हैं।नाराज नेताओं और कार्य कर्ताओं के सभा में नहीं आने से समाचारों को बल मिल रहा है।







7777777777777777777777777777





रविवार, 18 नवंबर 2018

चुनाव:सूरतगढ़ बाईपास पर एक लाख रूपये की राशि जब्त:निगरानी दल की कार्रवाई


श्रीगंगानगर, 18 नवम्बर 2018.

विधानसभा आम चुनाव 2018 के दौरान लगाए गए स्थैनिक निगरानी दल ने आज एक लाख रूपये की राशि जब्त की है। 

रिटर्निंग अधिकारी श्री सौरभ स्वामी ने बताया कि सूरतगढ बाईपास पर स्थैनिक निगरानी दल प्रथम ने कार नम्बर एचआर 29 आर 4235 की तलाशी के दौरान एक लाख रूपये की राशि जब्त की गई है। इस दल के प्रभारी श्री जीतेन्द्र खुराना है। 

वसुंधरा के सामने कांग्रेसी प्रत्याशी को नहीं मिला अपनों का साथ,


* विरोध में लगे ‘वापस जाओ’ के नारे कांग्रेस ने भाजपा से आए मानवेंद्र सिंह को वसुंधरा के खिलाफ टिकट दिया है।*


राजस्थान विधानसभा चुनाव में इन दिनों कांग्रेस कार्यकर्ताओं का गुस्सा चरम पर है। उनके गुस्से से न प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट बच पाए हैं और न ही राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी। 

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ कांग्रेस ने इस बार यहां से मानवेंद्र सिंह को उतारा है। मानवेंद्र कद्दावर भाजपा नेता जसवंत सिंह के बेटे हैं जो हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए हैं। मानवेंद्र खुद शिव विधानसभा से भाजपा के वर्तमान विधायक भी हैं।

खुद राहुल गांधी ने किया था प्रोजेक्ट

भाजपा से कांग्रेस में आने के बाद मानवेंद्र सिंह को खुद राहुल गांधी की रणनीति के तहत वसुंधरा के खिलाफ उतारा गया है, लेकिन सालों से पार्टी के लिए काम कर रहे स्थानीय कांग्रेसियों को आलाकमान का यह फैसला रास नहीं आया और बगावत के सुर तेज हो गए।

झालरा पाटन से कांग्रेस का टिकट अपने लिए फाइनल मानकर चल रहे नेता शैलेंद्र यादव के समर्थकों ने झालावाड़ जिला कांग्रेस कार्यालय पर एकत्रित होकर राहुल के इस फैसले का विरोध करते हुए ‘मानवेंद्र वापस जाओ’ के नारे लगाए और पुतला दहन किया।

मानवेंद्र कद्दावर भाजपा नेता और अटल सरकार में केंद्रीय मंत्री रह चुके जसवंत सिंह बेटे हैं। उन्होंने पार्टी में अपनी उपेक्षा से नाराज होकर कांग्रेस का दामन थाम लिया है।


 


मोदी की सभा: मंच पर चढ़े प्रत्याशियों के खातों में जोड़ा खर्च


* छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से भाजपा प्रत्याशियों को कितना फायदा होगा ये तो 11 दिसंबर को पता चलेगा लेकिन अभी नुकसान हो गया।*


छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के मतदान से पहले भाजपा के उन नौ प्रत्याशियों को चुनाव आयोग ने तगड़ा झटका दिया है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में मंच पर चढ़े थे। दरअसल आयोग ने सभा पर हुए खर्च को इन सभी प्रत्याशियों के चुनावी खर्च में जोड़ दिया है। दूसरे चरण के मतदान से ठीक तीन दिन पहले आयोग के इस कदम से भाजपा के खेमे में खलबली मच गई है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के जगदलपुर में एक रैली की थी जिस पर करीब 35 लाख रुपए का खर्च आया था।

…इन नौ प्रत्याशियों को लगी चपत

निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक जगदलपुर के लालबाग में हुई प्रधानमंत्री की रैली पर 34 लाख 83 हजार 507 रुपए का खर्च हुआ था। इसे नौ प्रत्याशियों में बराबर-बराबर बांट दिया गया है। इस कार्यक्रम में मंच पर चढ़ने वाले नौ प्रत्याशियों में महेश गागड़ा, भीमा मंडावी, लता उसेंडी, केदार कश्यप, धनीराम बारसे, संतोष बाफना, लच्छूराम कश्यप, डॉ सुभाऊ कश्यप और हरिशंकर नेताम मौजूद थे। सभी के चुनावी खर्च में 3 लाख 87 हजार 56 रुपए जुड़ गए हैं। इस मामले में कांग्रेस प्रत्याशी बच गए क्योंकि वे राहुल गांधी की सभा में मंच पर गए ही नहीं।

यह है प्रत्याशी के चुनाव खर्च की सीमा

पांच राज्यों में हो रहे मौजूदा विधानसभा चुनाव में सभी प्रत्याशियों के लिए अधिकतम खर्च की सीमा 28 लाख रुपए तय की गई है। आयोग का कहना है कि सभी प्रत्याशियों के खर्च पर कड़ी नजर रखी जा रही है। सीमा से अधिक खर्च करने वालों पर कार्रवाई भी की जाएगी।

जनसत्ता आन लाइन 18-11-2018.


शनिवार, 17 नवंबर 2018

वसुंधरा राजे के सामने कांग्रेस ने मानवेंद्र सिंह को प्रत्याशी उतारा


* करणी दान सिंह राजपूत *

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की ओर से आज 17 नवंबर को झालरापाटन सीट से नामांकन दाखिल किया गया।

वसुंधरा राजे के सामने कांग्रेस पार्टी ने मानवेंद्र सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया है।

मानवेंद्र सिंह ने हाल ही में भारतीय जनता पार्टी छोड़ कर कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है। इस सीट पर अब मुकाबला रोचक हो गया है। देखना है कि जीत किसकी होती है? जनता का समर्थन सबसे ज्यादा किसे मिल पाता है?

 

शुक्रवार, 16 नवंबर 2018

सूरतगढ़:रामप्रताप कासनिया का चुनाव कार्यालय खुला सूरत गढ 16-11-2018.


महाराणा प्रताप चौक पर भाजपा प्रत्याशी रामप्रताप कासनिया का कार्यालय का उदघाटन हुआ।


झलकियां।





बसपा प्रत्याशी डूंगरराम गेदर ने नामांकन भरा:सभा की




सूरतगढ़ 16 नवंबर 2018.

 बहुजन समाज पार्टी सूरतगढ़ से प्रत्याशी के रूप में डूंगरराम गेदर ने पुरानी धानमंडी सूरतगढ़ में हजारों समर्थकों के साथ जनसभा कर रैली रूप में उपखंड कार्यालय पहुंचकर नामांकन पत्र भरा।  जनसभा की अध्यक्षता पूर्व सरपंच इंद्राज बिश्नोई ने की।


 जनसभा को डूंगरराम गेदर ने संबोधित करते हुए कहा कि मैंने जीवन में जो तीन महासंकल्प लिए थे उन तीनों महासंकल्पों की संपूर्णता सूरतगढ़ विधानसभा की सेवा है। पिछले 5 वर्षों से जनता ने जो विपक्ष की भूमिका दी थी उस भूमिका को हमने निस्वार्थ भाव से बड़े ही मजबूती के साथ निभाया है।हमारा मिशन आमजन की सेवा गरीब, किसानों व युवाओं को शिक्षा रोजगार का है।सूरतगढ़ क्षेत्र में शुद्ध जल बिजली  सड़क के साथ-साथ एटा सिंगरासर माइनर का निर्माण के लिए संघर्ष किया है इन मुद्दों को लेकर राजस्थान की विधानसभा में हम संघर्ष करेंगे ।

श्रीगंगानगर जिले की प्रत्येक विधानसभा के कितने मतदाता हैं-जानिए

* जिले में 13,50,022 मतदाता है*

श्रीगंगानगर, 28 सितम्बर2018.

जिला कलक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ज्ञानाराम ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 6 विधानसभा क्षेत्रों की मतदाता सूचियों का अन्तिम प्रकाशन कर दिया गया है। इसके बाद भी नाम जोड़ने व हटाने का क्रम जारी रहेगा। 6 विधानसभा क्षेत्रों में कुल अब तक 13 लाख 50 हजार 22 मतदाता है। 

    श्री ज्ञानाराम शुक्रवार को कलैक्ट्रेट कक्ष में मीडिया से बातचीत के दौरान यह बात कही। उन्होंने बताया कि

 

सादुलशहर विधानसभा क्षेत्र में पुरूष मतदाता एक लाख 13 हजार 238, महिला मतदाता एक लाख 2 हजार 158 है। 

श्रीगंगानगर विधानसभा क्षेत्र में पुरूष मतदाता एक लाख 13 हजार 585 तथा महिला मतदाता एक लाख 4 हजार 8 है। 

श्रीकरणपुर विधानसभा क्षेत्र में पुरूष मतदाता एक लाख 15 हजार 901, महिला मतदाता एक लाख 5 हजार 202 है। 

सूरतगढ विधानसभा क्षेत्र में पुरूष मतदाता एक लाख 20 हजार 634, महिला मतदाता एक लाख 6 हजार 719 है।

रायसिंहनगर विधानसभा क्षेत्र में पुरूष मतदाता एक लाख 28 हजार 535 तथा महिला मतदाता एक लाख 15 हजार 984 है।

अनूपगढ विधानसभा क्षेत्रमें पुरूष मतदाता एक लाख 18 हजार 471 तथा महिला मतदाता एक लाख 5 हजार 588 है।

इस प्रकार जिले में कुल पुरूष मतदाता 7 लाख 10 हजार 420 तथा महिला मतदाता 6 लाख 39 हजार 602 है। 

जिला कलक्टर ने बताया कि 2 अक्टूबर को विशेष ग्राम सभाएं होगी, जिसमें मतदाता सूचियों का पठन होगा तथा नये मतदाता बनाने के आवेदन, नाम हटाने के आवेदन भी लिए जाएंगे। ग्राम सभा 3 व 4 को भी लगातार रहेगी। 7 अक्टूबर 2018 को प्रातः से सायं 7 बजे तक राजनैतिक दलों के बीएलए के साथ भी मतदाता सूचियों की जानकारी दी जाएगी। 

    जिला कलक्टर ने एमसीएमसी पैड न्यूज एवं मीडिया प्रकोष्ट की जानकारी दी। किसी भी दल व उम्मीदवार की ओर अधिक झुकाव वाली खबर या विशेषण की खबर पैड न्यूज की श्रेणी में आती है। रेडियो व टीवी पर विज्ञापन के लिए उम्मीदवार को कमेटी से प्रमाणीकरण करवाना होगा। इसके लिए तीन दिन पूर्व आवेदन करना होगा। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला निर्वाचन अधिकारी श्री नखतदान बारहठ भी उपस्थित थे।

सूरतगढ:कांग्रेस टिकट हनुमान मील को मिली

* करणीदानसिंह राजपूत *

युवा चेहरे  हनुमान मील को सूरत गढ से प्रत्याशी बनाया 





 


गुरुवार, 15 नवंबर 2018

पूर्व विधायक अशोक नागपाल ने भाजपा छोड़ी:पार्टी अध्यक्ष को त्याग पत्र भेजा


- करणीदानसिंह राजपूत -

सूरतगढ 15-11-2018.
भाजपा टिकट के प्रबल दावेदार अशोक नागपाल ने टिकट नहीं मिलने पर भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया है।
सूरत गढ से वर्तमान विधायक राजेंद्र सिंह भादू की टिकट काटी गई और पूर्व राज्य मंत्री रामप्रताप कासनिया को देदी। अनूप गढ में प्रियंका बेलान को भी टिकट नहीं दिया गया।
नागपाल श्री गंगानगर से निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं।






मंगलवार, 13 नवंबर 2018

औरतों से पेच:औरतों ने ही मरवा दिया-सूरतगढ़ पुलिस का खुलासा



* करणी दान सिंह राजपूत *

 सूरतगढ़ 12 नवंबर 2018.

पराई औरतों से संबंधों के चलते उन्हीं से हुए विवाद से  हनुमानगढ़ में हुई हत्या और  सूरतगढ़ के पास नहर में थैले मे हाथ पैर बांधी मिली लाश की जांच में 2 औरतों व 3 आदमियों को गिरफ्तारियां और फरार दो अभियुक्त बार-बार नाम बदलते रहे जगह बदलते 

रहे लेकिन गिरफ्तार कर लिए गए

सूरतगढ़ के थाना अधिकारी सीआई निकेत पारीक ने घटनाक्रम गिरफ्तारियां पत्रकारों के समक्ष रखी और यह दावा किया कि अपराध कभी छुपता नहीं तथा अपराधियों की पकड़ जरूर हो जाती है। चाहे वे कितनी ही जगह बदले, कितने ही नाम और काम बदलें। 

सीआई निकेत पारीक


थाना अधिकारी ने सूरतगढ़ के पास 22 दिसंबर 2016 को भाखड़ा नहर की पीलीबंगा ब्राच चक 35 में नहर के अंदर एक प्लास्टिक थैले में बंद हाथ पैर बांधी हुई और पूरी तरह से मारपीट किए हुए एक व्यक्ति की लाश बरामद की। पुलिस ने आसपास मालूम किया मगर कोई पता नहीं चला तब पुलिस थानों को सूचित किया गया व सोशल मीडिया पर भी सूचना जारी की गई। तब लाश की पहचान हुई। 

 मृतक हनुमानगढ़ जंक्शन के वार्ड नंबर 42 में सुरेशिया मोहल्ला निवासी पचपन वर्षीय हरजिंद्र सिंह था। पुलिस जांच में पाया गया कि उसका कोई वारिस नहीं था वह पिछले 10- 12 सालों से सुरेशिया में रह रहा था। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर उसी वार्ड के पार्षद व अन्य लोगों को शव सुपुर्द कर दिया था। 

पुलिस जांच के अंदर यह मालूम हुआ कि हरजिंदर सिंह कुछ समय तक पाठी के रूप में कार्य कर रहा था। 

रहस्य उजागर हुआ के हरजिंद्र सिंह वहीं पर रहने वाली 55 वर्षीय आशा पत्नी मक्खन लाल अरोड़ा के संपर्क में था। हरजिंद्रसिंह और आशा के बीच एक प्लाट को लेकर विवाद हुआ था। इस मामले में समझौता हो गया। वहीं

सुरेशिया मोहल्ले में एक और स्त्री परमजीत कौर उर्फ पम्मी उर्फ  चरणजीत कौर 45 वर्षीय पत्नी मलकीत सिंह किराए के मकान में रहती थी। वह चट्ठा गांव थाना मंडी डबवाली सिरसा की रहने वाली थी लेकिन सुरेशिया में जगजीत सिंह उर्फ विक्की 36 वर्षीय के साथ रहती थी। हरजिंदर सिंह उस स्त्री के साथ छेड़खानी करता था। यह आरोप विवाद और झगड़े का कारण बना। 

हरजिंदर सिंह का एक झगड़ा आशा के साथ हुआ दूसरा झगड़ा परमजीत कौर के साथ हुआ। उनके संगी भी हरजिंदर के विरोधी हो गए। यह रंजिश बढ़ती हुई हरजिंद्र सिंह की हत्या तक पहुंच गई।

20 दिसंबर 2016 को दोपहर में हरजिंद्र सिंह को पकड़ कर जगजीतसिंह के किराए के घर में लाया गया और बुरी तरह से मारपीट की गई। करंट लगाया गया। बाद में लाठियों से पीटकर हत्या कर डाली। घटनाक्रम में जगजीत सिंह ने अपने मित्र युसूफ पुत्र गुल्ले खान जितेंद्र पुत्र सोहनलाल बावरी के साथ मिलकर हरजिंद्र को ठिकाने लगाया। उस कार्य में वहां पर आशा और परमजीत कौर भी मौजूद थी। इन सभी ने मिलकर  हरजिंद्र को मार डाला। उसकी लाश वाला थैला मोटर सायकिल पर  लाद कर निकले और  थैला सूरतगढ़ के पास नहर में डाल दिया गया। 

पुलिस ने जांच शुरू कर 13 जनवरी 2017 को हत्या का खुलासा किया और युसूफखान,जितेंद्र और आशा को गिरफ्तार कर लिया,लेकिन जगजीत सिंह और परमजीत कौर फरार हो गए। यह मामला जांच में पेंडिंग पड़ा था खोजबीन में मालूम नहीं चल रहा था कि ये दोनों कहां रह रहे हैं।

 अब जिला पुलिस अधीक्षक आदेश पर इन फरार अभियुक्तों की गहन तरीके से खोजबीन शुरू हुई। 

थाना अधिकारी निकेत कुमार पारीक ने इसके लिए एक टीम का गठन किया जिसमें हेड कांस्टेबल रतनलाल कांस्टेबल इंद्राज और कांस्टेबल कांता देवी को लगाया गया। 

कई दिन तक रैकी करते रहे और उन्हें पता लगा कि बठिंडा रिफाइनरी के पास फरार अभियुक्त जगजीत सिंह कोई चाय का खोका किया करता था लेकिन वह दुकान बंद कर कहीं चला गया। अब खोजबीन फिर आगे चली और इस खोजबीन में पता लगा कि यह दोनों बबहमण जैसासिंह वाला थाना तलवंडी साबो बठिंडा अंदर रह रहे हैं।

पुलिस ने इन दोनों को 11 नवंबर 2018 वहां गिरफ्तार किया।

 थाना अधिकारी निकेत कुमार पारीक ने बताया कि समस्त पांचो अभियुक्तों की गिरफ्तारी हो चुकी है। अपराध कैसे भी किया जाए कोई भी करें कहीं भी गायब हो जाए लेकिन एक न एक दिन वह पुलिस की गिरफ्त में आ जाता है और पुलिस उसे न्याय के लिए अदालत को सौंप देती है। 

यहां पर गिरफ्तार जगजीत सिंह और परमजीत कौर के फोटोग्राफ्स दिए जा रहे हैं पास में उपस्थित है टीम लीडर रतनलाल हेड कांस्टेबल।

 

 


यह ब्लॉग खोजें