शनिवार, 17 मार्च 2018

श्रीगंगानगर बीकानेर बाड़मेर जैसलमेर को जोड़ती सड़क:बहुत खास होगी

श्रीगंगानगर,16 मार्च ।  जम्मू से कांडला तक बनने वाली भारत माला प्रोजेक्ट में अब श्रीगंगानगर, बीकानेर, बाड़मेर व जैसलमेर सरहदी जिलों को भी शामिल किया गया है। इसके तहत चारों जिलों में उच्च गुणवत्ता की 10 मीटर चौड़ी सड़क बनाई जाएगी। यह सड़क बनने के बाद लड़ाकू विमान भी युद्ध एवं आपदा की परिस्थितियों में उतर सकेंगे। केंद्र सरकार ने प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है। अकेले श्रीगंगानगर जिले में ही 256 किमी. सड़क बनेगी और 650 करोड़ रुपए इस पर खर्च होने प्रस्तावित हैं। सड़क का प्रोजेक्ट फाइनल हो चुका है। अब बजट मंजूरी के लिए इसे केंद्र सरकार के पास भेजा जा रहा है। प्रोजेक्ट डायरेक्टर कुलवंत कटारिया ने बताया कि 2018 के अंत तक इस सड़क का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। श्रीगंगानगर में ही इसके तहत जहां चार नए बाईपास बनाए जाने हैं, उन जगहों का चयन हो चुका है। किसानों को जमीनों का वर्तमान डीएलसी से चार गुना अधिक मुआवजा दिया जाएगा। जहां सड़क क्रॉस व रेलवे क्रांसिंग होगी वहां-वहां बनेंगे फ्लाईओवर, नहरों के पुल भी बड़े होंगे इस प्रोजेक्ट का रोडमैप तैयार कर रहे वरिष्ठ अभियंता कुलवंत कटारिया ने बताया कि श्रीगंगानगर में साधुवाली से घड़साना मंडी तक चार बड़े और एक छोटा बाईपास बनाया जाएगा। इससे इन शहरों में जाने की जरूरत नहीं रहेगी और भारी वाहन सीधे आ-जा सकेंगे। नेशनल हाईवे से तीन गुना अधिक होगी मजबूत  प्रोजेक्ट से जुड़े अभियंता कुलवंत कटारिया ने बताया कि भारत माला रोड 10 मीटर चौड़ी होगी जबकि नेशनल हाईवे 7 मीटर चौड़े होते हैं। भारत माला रोड की स्ट्रेंथ 50 सेंटीमीटर और कई जगह इससे भी ज्यादा मजबूत होगी जबकि नेशनल हाईवे 20 सेंटीमीटर स्ट्रेंथ के ही होते हैं। नेशनल हाईवे की न्यूनतम गति 60 किमी प्रति घंटा जबकि भारत माला रोड की 90 किमी प्रति घंटा होगी। इस रोड की मजबूती इतनी अधिक होगी कि फाइटर प्लेन भी उतारे जा सकेंगे। साधुवाली से 682 आरडी से होकर बीकानेर में प्रवेश करेगी भारत माला रोड प्रोजेक्ट डायरेक्टर कुलवंत कटारिया ने बताया कि यह रोड साधुवाली राज्य सीमा में प्रवेश के साथ ही शुरू होगी जो कोकाकोला फैक्ट्री के पास रेलवे फाटक के पास श्रीकरणपुर रोड पर मिलेगी। इसके बाद श्रीकरणपुर, गजसिंहपुर, रायसिंहनगर, अनूपगढ़, घड़साना,रोजड़ी, छतरगढ़, सत्तासर फांटे से 682 आरडी होकर बीकानेर जिले में रोड प्रवेश करेगी। यह रोड श्रीगंगानगर जिले में 256 किमी लंबी होगी। कई फ्लाईओवर व नए पुल बनेंगे ताकि बड़े वाहनों को कहीं पर रूकना न पड़े पंजाब से राजस्थान में प्रवेश करते ही साधुवाली के लिंक नहर के पुल से यह सड़े 90 डिग्री पर पश्चिम की ओर मुड़ेगी। गंगनहर के पुल को चौड़ा किया जाएगा। श्रीगंगानगर से हिंदुमलकोट रोड पर ओवरब्रिज, कोकाकोला फैक्ट्री के पास रेलवे फाटक पर ओवरब्रिज बनेगा। रायसिंहनगर से पहले जलौकी रोड पर ओवरब्रिज बनेगा जो आरबी नहर के ऊपर से होकर बीएसएफ कैंप के पीछे जमीन पर उतरेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें