Thursday, February 23, 2017

अमरगढ़ (सादुल शहर) में नशा मुक्ति जन जागृति कार्यशाला आयोजित


श्रीगंगानगर, 23 फरवरी। जिला पुलिस प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे नशामुक्ति अभियान के अंतर्गत गुरूवार को पुलिस थाना, सादुल शहर द्वारा गांव अमरगढ़ के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में निशुल्क नशा मुक्ति परामर्श शिविर एवं नशामुक्ति जनजागृति कार्यशाला का आयोजन किया गया।        

                        कार्यक्रम में नशा मुक्ति परामर्श एवं उपचार केंद्र के प्रभारी डॉ. रविकांत गोयल ने मुख्य वक्ता के रूप में अपने संबोधन में कहा कि नशा बहुत सी बीमारियों की जड़ है l नशा करने से व्यक्ति अपना धन खोता है, अपने शरीर को बीमारियों का घर बना लेता है, साथ ही अपनी व अपने परिवार की प्रतिष्ठा खो बैठता है l डॉ. गोयल ने नशों से होने वाली विभिन्न हानियों की जानकारी देते हुए नशों से स्वयं बचने व नशा ग्रस्त लोगों का नशा छुड़वाने के वैज्ञानिक उपाय बताए तथा उपस्थित जनसमूह व विद्यार्थियों को जीवन भर नशा न करने की व नशा छुड़ाने की सामूहिक शपथ दिलाई l

         कार्यक्रम में पुलिस थाना, सादुल शहर के एसआई  श्री राजेंद्र कुमार  ने नशे की वजह से होने वाले विभिन्न अपराधों की जानकारी देते हुए नशों से दूर रहने हेतु प्रेरित किया व कहा कि आम जन को भी पुलिस द्वारा चलाए जा रहे इस नशा मुक्ति अभियान से जुड़कर नशे को मिटाने में अपना सहयोग देना चाहिए, जिससे नशे की बढ़ती हुई प्रवृत्ति को रोका जा सकेl

        कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि समाजसेवी श्री बनवारी लाल शर्मा (से.नि. व्याख्याता) ने अपने संबोधन में कहा कि मनुष्य जीवन बहुत ही श्रेष्ठ एवं दुर्लभ है जिसे नशों में नहीं गंवाना चाहिएl शर्मा जी ने पुलिस द्वारा चलाए जा रहे नशा मुक्ति अभियान की जानकारी दी व इसकी उपलब्धियों के बारे में बतायाl

        कार्यक्रम में से.नि. सूबेदार श्री जन्टा सिंह ने  अमरगढ़ गांव में पुलिस प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व शिक्षा विभाग के सहयोग से चलाए जा रहे इस नशा मुक्ति शिविर को बहुत ही उपयोगी बताया और कहा कि यह वर्तमान समय की मांग भी हैl उन्होंने विश्वास दिलाया कि आज का यह कार्यक्रम गांव में नशा मुक्ति का माहौल पैदा करेगा व आने वाले समय में नशा मुक्त ग्राम की अवधारणा को साकार करेगाl  

        कार्यक्रम में मेडिकल टीम की सदस्या श्रीमती चंद्रबाला सेंगर, हरी श्यामसुंदर आश्रम के बाबा रणजीत सिंह समेत बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि व ग्राम वासी उपस्थित रहेl कार्यक्रम में कार्य. प्रधानाध्यापक श्री भरपूर सिंह ने विद्यार्थियों व ग्राम वासियों को संबोधित करते हुए कहा कि नशा नाश का दूसरा नाम हैl नशा करने से व्यक्ति अपने मन पर से नियंत्रण खो बैठता है, जिससे अपराध कर बैठता है, जिसका नुकसान परिवार व समाज को झेलना पड़ता हैl इसलिए व्यक्ति को नशों से दूर रहते हुए सात्विक जीवन जीना चाहिएl

              कार्यक्रम के अंत में नशामुक्ति विशेषज्ञ डॉ. रविकांत गोयल ने शिविर में आए नशा पीड़ित लोगों की मौके पर जांच की वह उचित परामर्श प्रदान किया।




No comments:

Post a Comment

Search This Blog